Latest News

महाराष्ट्र

मुंबई

ठाणे

देश-विदेश

प्रादेशिक खबर

खेल समाचार

व्यापार

लाइफस्टाइल

मनोरंजन

Recent Posts

  • मनपा सफाई कर्मचारी ने ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी को पीटा !

    By fast headline india →
    मनपा सफाई कर्मचारी ने ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी को पीटा ! 

    ट्रैफिक पुलिस ने दर्ज कराया एफआईआर,सफाई कर्मी को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

     एक ही दिन में दो ट्रैफिक पुलिस कर्मी की हुई पिटाई ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर महापालिका के सफाई कामगार ने टोइंग वाहन पर काम करने वाले ट्रैफिक पुलिस के हवलदार को पीटने का मामला सामने आया है,उल्हासनगर शहर में एक ही दिन पर दो ट्रैफिक पुलिस कर्मी के साथ मारपीट होने का मामला सामने आया है,एक नम्बर पुलिस ने ट्रैफिक पुलिस कर्मी की शिकायत पर मामला दर्ज किया है और आरोपी सफाई कर्मी को गिरफ्तार किया है !        
     बता दे कि    शुक्रवार की शाम को उल्हासनगर के कैम्प क्रमांक एक के शिवरोड परिसर पी-1 और पी-2 नो पार्कीग है. इस पार्किंग में मोटर सायकल क्रमांक एम.एच.05 बी.डब्ल्यू 7316 यह गलत जगह पार्किंग किया गया था. जिसके चलते इस गाडी को पुलिस हवलदार मायकल फ्रान्सिस की ट्यूटी वाली टोइंग वाहन ने उठाया और वाहतूक शाखा के बगल में लाये थे. तभी कुछ देरी में राजेश कांजनीया यह मनपा के सफाई कर्मचारी आया और उसने मोटर सायकल का टोईंग क्यो किया इसको लेकर वाद विवाद करने लगा और बोला कि तुम्हे पता नही की मै उल्हासनगर महानगरपालीका का सफाई कर्मचारी है . मेरी गाड़ी को छोड़ दे वरना अच्छा नही होगा ऐसा धमकी देकर वाद विवाद करने लगा . इसके जवाब में ट्रैफिक पुलिस के फ्रान्सिस इन्होंने नकारात्मक उत्तर देते हुए दंड की पावती फाडो और गाडी ले जाओ ऐसा बोले इस बात से नाराज राजेश ने कहा तू मेरेको मादरचोर की गाली और, जातीवाचक शब्द क्यो बोला ऐसा बोलते हुए राजेश ने पुलिस हवलदार फ्रान्सनीस की कॉलर पकड लिया और गाली देते हुए मरना शुरू कर दिया.किसी तरह से लोगो के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ,इस मामले में उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और राजेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,वही इसी तरह का दूसरा मामला उल्हासनगर के चार नम्बर में सामने आया वहा पर भी स्थानीय ब्यापारियों के द्वारा एक ट्रैफिक हवलदार को पीटने का मामला भी सामने आया है उसकी शिकायत दर्ज हुआ है कि अभी तक उसकी जानकारी सामने नही आ पाया है.कुल मिलाकर इस तरह की घटना की जितनी निदा की जाय वह कम है इस तरह की घटना आगे न हो इस लिए दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही होनी चाहिये !   
  • भाजपा पदाधिकारी व उसके परिवार के लोगो पड़ोसी पर किया हमला !

    By fast headline india →
    भाजपा पदाधिकारी व उसके परिवार के लोगो पड़ोसी पर किया हमला ! 

     कर्ज का समय पर भुगतान नही होने से जुड़ा पूरा मामला ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में बीजेपी के पदाधिकारी और उनकी पत्नी और बेटे ने जमानतदार पर ही हमला कर दिया। आरोपी बीजेपी पदाधिकारी ने क्रेडिट संस्थान से 6 लाख रुपए का ऋण लिया था, लेकिन इस ऋण का हफ्ता वो नहीं दे रहा था, इसकारण यह पैसा जमानतदार के वेतन से काटा जा रहा था,इसी को लेकर उनमें विवाद हो गया था। 
    बता दे कि उल्हासनगर -१ के कमलनेहरु नगर क्षेत्र के निवासी दिलीप लक्ष्मण फुंदे भाजपा के उल्हासनगर शहर जिला सचिव (ओबीसी सेल) हैं। फुंदे ने शहर में स्थित जगदंबा नगरी सहकारी क्रेडिट सोसाइटी से ६ लाख रुपए का ऋण लिया था। पड़ोस में रहनेवाले सेंचुरी रेयान कंपनी में कार्यरत संतोष राय ने इस ऋण के लिए जमानत दी थी। चूंकि ऋण समय से नहीं भरे गए थे, इसलिए राय के वेतन से २५०० रुपए प्रति माह की कटौती की जा रही थी। राय ऋण राशि का वेतन से होनेवाली कटौती से बचने के लिए कठिन प्रयास कर रहे थे, जिसके लिए उन्होंने जगदंबा क्रेडिट सोसाइटी में दिलीप फुंदे की आय के आधार पर लिए गए दस्तावेजों की मांग की थी,यह बात फुंदे को मालूम हो गई थी। शनिवार शाम जब संतोष राय दिलीप फुंदे के घर से बाहर जा रहे थे, तो फुंदे ने राय को लोहे की छड़ों से पीटकर मारने की कोशिश की, जिसके बाद उनकी पत्नी और बेटे ने भी राय को पीटा। इस मामले में राय ने उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में शिकायत की, पुलिस ने आरोपी दिलीप फुंदे और उनकी पत्नी और बच्चों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस बारे में पूछे जाने पर दिलीप फुंदे ने कहा कि उन्होंने संतोष राय को समय-समय पर पैसे दिए हैं, लेकिन वह मेरे खिलाफ पुलिस थाने में झूठे आरोप लगा रहे हैं। कभी-कभी, राय कुछ गुंडों को भी लेकर आता है और मुझे और मेरे परिवार को डराने की कोशिश करता है ।
  • उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    नाले के प्रवाह में बदलाव के कारण स्थानीय लोगो पर बढ़ा बाढ़ का खतरा ! 

     भाजपा नगरसेविका व परिवहन सभापति ने आयुक्त को पत्र लिखकर बिल्डर मामला दर्ज करने किया मांग ! 

    मनपा के बिना अनुमति के बनाया जा रहा यह नाला ! 

    प्रोजेक्ट को बचाने के चक्कर में लाखो लोगो को डुबाने के चली गई यह चाल ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में नाले के प्रवाह को एक बड़े प्रोजेक्ट के लिए हाउस कॉम्प्लेक्स के एक डेवलपर द्वारा प्रतिस्थापित किया जा रहा है, जिसके कारण यह आरोप लगाया गया है कि नाले के दिशा में बदलाव के वजह से आने वाली बाढ़ के कारण बड़े पैमाने पर जीवित और वित्तीय नुकसान की संभावना है, ऐसा डर स्थानीय नागरिकों और राजनीतिक नेताओं द्वारा व्यक्त किया जा रहा है।
    बता दे कि हरमन मोहता नामक उल्हासनगर -१ में स्थित कंपनी के बंद हो जाने के बाद इस पर बड़े रिहायशी काम्प्लेक्स का निर्माण शुरू होने के कारण डेवलपर द्वारा इस जगह पर स्थित नाले के दिशा को बदला जा रहा है। इससे बाढ़ की स्थिति पैदा होने की संभावना है, जिससे स्थानीय निवासियों में गुस्से की लहर है। भाजपा नगरसेविका चंद्रावती देवी सिंह और उल्हासनगर मनपा के परिवहन  सभापति संतोष पांडेय
     ने नाले के बहाव में बदलाव का विरोध किया है। इस संबंध में, उन्होंने मनपा आयुक्त अच्युत हांगे को एक लिखित बयान दिया है कि संबंधित कार्य के कारण बाढ़ प्रभावित स्थिति पैदा हो सकती है और जीवन और संपत्ति के नुकसान हो सकता है, इसलिए नाले की दिशा बदलने के काम को तुरंत रोका जाए, अगर काम नहीं रोका गया, तो जन आंदोलन किया जाएगा और प्रशासन इसका जिम्मेदार होगा।
  • शादीशुदा महिला हुई छेड़खानी का शिकार !

    By fast headline india →
    शादीशुदा महिला हुई छेड़खानी का शिकार ! 

     पुलिस मामला दर्ज करने में कर रही है आनाकानी !

     कायद्या ने वागा संस्था ने संबंधित पुलिस के अधिकारियों पर किया कार्यवाई की मांग ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर की एक विवाहित महिला को प्रताड़ित करने और यौन उत्पीड़न करने वाले अपराधी पर मामला दर्ज करने में पुलिस द्वारा आनाकानी का आरोप महिला ने लगाया है। इस मामले में, कायद्या ने वागा संगठन ने संबंधित पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को निलंबित करने की मांग की है।
     बता दे कि उल्हासनगर के दीपक दरबार होटल के पास रहने वाली महिला सुबह 10 बजे मंदिर जाने के लिए घर से निकली, जब राहुल नाम के एक युवक ने सड़क पर उलझने की कोशिश की और छेड़खानी करने लगा,महिला ने कहा कि तुम मेरे बेटे समान हो,लेकिन राहुल बदतमीजी कर रहा था। महिला घर आई और अपनी सास को यह बात बताई। जब उसके पति को इस बारे में पता चला, तो वह राहुल के घर गया,जहां राहुल और उसके परिवार ने महिला के पति की पिटाई कर दी। शिकायतकर्ता महिला और उसका पति इस बारे में शिकायत करने के लिए विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन गए, लेकिन पुलिस शिकायत दर्ज करने में आनाकानी कर रही थी। पुलिस ने शिकायत दर्ज करने के लिए सुबह तीन बजे तक इस दंपती को पुलिस स्टेशन में बिठाकर रखा।रविवार को कायदे ने वागा संगठन के एडवोकेट स्वप्निल पाटिल ने हस्तक्षेप करके विनयभंग का मामला राहुल के खिलाफ़ दर्ज कराई। कायदे ने वागा के संस्थापक राज असरोडकर, एडवोकेट अमेय बाकरे, प्रफुल्ल केदारे, कुणाल वाघ और नितिन महाजन की एक प्रतिनिधि मंडल ने वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश भामे से मुलाकात की और एक लिखित बयान प्रस्तुत किया, इस मामले में अपराध दर्ज नहीं करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस संबंध में जब रमेश भामे से पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि "मैंने पहले से ही निवारक उपायों के साथ-साथ हमारे कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए हैं, और निवारक उपायों और इस तरह के अभियान को हमारे संबंधित क्षेत्रों में लागू किया जाएगा, अगर कोई पुलिस कर्मी दोषी पाया जाता है, तो उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।