Latest News

महाराष्ट्र

मुंबई

ठाणे

देश-विदेश

प्रादेशिक खबर

खेल समाचार

व्यापार

लाइफस्टाइल

मनोरंजन

Recent Posts

  • पुलिस हवलदार की नीयत हुई खराब जप्त किये करोड़ो की विदेशी सिगरेट को चोरी करके बेच डाला !

    By fast headline india →
    पुलिस हवलदार की नीयत हुई खराब जप्त किये करोड़ो की विदेशी सिगरेट को चोरी करके बेच डाला ! 

    उसी पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ चोरी का मामला ! 

    कोर्ट ने सोमवार तक पुलिस रिमांड पर भेजा !

     विभागीय जांच में पुलिस स्टेशन के बड़े अधिकारी पर लटकी कार्यवाई तलवार ! 

    तस्करों से 2 करोड़ की पकड़ी गई थी विदेशी सिगरेट ! 

    पालघर- पालघर जिले के वसई - वालिव पुलिस स्टेशन के कुछ अधिकारियों की मिली भगत से पालघर जिले मे कुछ पुलिस वालों के द्वारा एक नायाब कारनामा करके पूरे पुलिस डिपार्टमेंट को शर्मसार करने वाली घटना को अंजाम देने का मामला सामने आया है. अपने ही पुलिस स्टेशन में ही चोरी की वारदात को अंजाम देकर करोड़ो रूपये की ब्रांडेड सिगरेट चोरी करने के मामले में वसई वालिव पुलिस स्टेशन का कॉन्स्टेबल शरीफ शेख को गिरफ्तार किया गया है जिन्हें शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया न्यायालय ने सोमवार तक पुलिस की रिमांड पर भेज दिया है. 
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वसई वलिव पुलिस ने अपने ही पुलिस स्टेशन में तैनात एक पुलिस कांस्टेबल को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है।पुलिसकर्मी पर आरोप है कि उसने पुलिस के मुद्देमाल कक्ष में रखे गए 2 करोड़ 16 लाख की विदेशी ब्रांड की सिगरेट की चोरी कर उसे बेच दिया ।दरअसल वलिव पुलिस ने कुछ दिनों पहले एक कार्रवाई के दौरान विदेशी ब्रांड के सिगरेट की तस्करी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया था और उनके पास से ये माल जप्त किया था।कांस्टेबल ने कुछ लोगो की मदत से उसे गायब कर बेच दिया। जब इस मामले खुलासा हुआ तो आरोपी कॉन्स्टेबल पर भारतीय दंड कानून सहित धारा ४०९ के तहत मामला दर्ज कर कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है।इस मामले में एक पुलिसकर्मी को सस्पेंड भी किया गया है और इस मामले में कई अधिकारी नपना तय है, जीन पर सक है उन सभी लोगो के खिलाफ विभागीय जांच चल रही हैं दोषी मिलने पर उनकी गिरफ्तारी भी तय है.इस मामले की वजह से पूरे पुलिस महकमे की बड़ी बदनामी भी हो रही है जब सिगरेट के लिए ऐसा हो सकता है यदि कीमती वस्तु पुलिस पकड़ती है तो उसके देखभाल को लेकर भी सवाल खड़ा होना लाजमी है !
  • उल्हासनगर और कल्याण एडोकेट संघटना के द्वारा शुरू है अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर और कल्याण एडोकेट संघटना के द्वारा शुरू है अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन !

    एडोकेट वासवानी के द्वारा पुलिस स्टेशन बुलाकर मारपीट करने का किया गया है आरोप !

    वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के विरुद्ध लामबन्द हुए ज़िले के सभी एडोकेट !

     वासवानी द्वारा लगाया गया सारा आरोप ही झूठा है-वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुराडकर 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में हुई एडवोकेट सागर वासवानी को उनके पारिवारिक मामले में जांच पड़ताल व पुछताछ करने के लिए उल्हासनगर तीन के सेंट्रल पुलिस स्टेशन में बुलाया गया था, वहां उपस्थित वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधाकर सूराडकर के द्वारा एडवोकेट वासवानी के साथ दुर्व्यवहार करते हुए मारपीट किया गया और उनके ख़िलाफ़ झूठी एफआईआर दर्ज की किया गया है, ऐसी शिकायत एडोकेट वासवानी द्वारा किये जाने के बाद उल्हासनगर तहसील वकील संघटना के द्वारा गुरुवार 12 सितम्बर से 13 सितम्बर को दोनों दिन कामबंद आंदोलन किया गया और चोपड़ा कोर्ट के सभी वकीलों ने समर्थन देते हुए अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन किया जाएगा जबतक पोलिस अधिकारी पर कार्रवाई नही की जाती तबतक आंदोलन चलेगा ऐसी जानकारी उल्हासनगर तहसील एडोकेट संघटना के अध्यक्ष छोटु पेन्थालिया द्वारा दी गयी है, उन्होंने कल्याण वकील संघटना का भी सहयोग मिलने की जानकारी दी है, बता दे कि इस विषय में महाराष्ट्र के विधानसभा सदस्य विधायक ओमप्रकाश कडू ने भी पुलिस उपायुक्त परिमण्डल 4 को पत्रव्यवहार करके पुलिस अधिकारी पर कार्रवाई करने की मांग की है,     बहरहाल एडोकेट लोगो की पुलिस उपायुक्त व सहायक पुलिस आयुक्त के साथ मिलकर कार्यवाई करने को लेकर मुलाकात करके लिखित पत्र दिया गया है, उल्हासनगर व कल्याण एडोकेट संघटना ने कहा है कि जबतक वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक पर कार्रवाई नही किया जाता है तबतक यह अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन चलता रहेगा।
    वही इस विषय पर जब सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर पीआई, सुधाकर सुराडकर से बात किया गया तो उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला झूठा है,यह उनका पारिवारिक मामला था इसी लिए हमने उनको टाइम दिया था कि आप लोग आपस बैठकर झगड़े को खत्म करलो,जब ऐसा नही हुआ तब पुलिस ने मामला दर्ज किया है,और जब वह पुलिस स्टेशन में आये थे तब सागर वासवानी ने पुलिस को यह भी नही बताए कि वह वकील है उनके द्वारा किए गए सारे आरोप झूठा है, जब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार ही नही किया तो मारपीट होने का कोई सवाल ही नही है !
  • बप्पा के विसर्जन के दौरान 12 लोग डूबे !

    By fast headline india →
    गणपति बप्पा मोर्या अगले बरस तू जल्दी आ के जयघोष के साथ विदा हुए बप्पा,,,,

     विसर्जन के दौरान रत्नागिरी में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा ज में एक-एक व्यक्ति की डूबने से हुई मौत !

     विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात थे ! 

    मुंबई-मुंबई समेत महाराष्ट्र में गणेश उत्सव के अंतिम दिन गुरुवार को प्रतिमा विसर्जन के दौरान 12 लोगों की डूबने से मौत हो गई। गुरुवार को समूचे महाराष्ट्र में भगवान गणेश की प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया और इसके साथ ही 10 दिनों तक चलने वाला गणेश उत्सव ‘अनंत चतुर्दशी’ के अवसर पर संपन्न हो गया, लेकिन विसर्जन के दौरान लोगों के डूबने और लापता होने की घटनाओं ने कुछ जगहों पर माहौल को गमगीन कर दिया।
    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विसर्जन के दौरान रत्नागिरी जिले में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा जिलों में एक-एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई। इसके अलावा विसर्जन के लिए गए करीब छह अन्य लोग लापता हैं और उनके भी डूबने की आशंका है।गणेश चतुर्थी के साथ 2 सितंबर को गणपति उत्सव शुरू हुआ था। प्रतिमा विसर्जन के लिए मुंबई महानगर,राज्य की सांस्कृतिक राजधानी पुणे के विभिन्न मंडलों और प्रदेश के अन्य हिस्सों में ढोल-ताशों के साथ श्रद्धालुओं ने पारंपरिक श्रद्धा एवं उल्लास के साथ झांकियां निकालीं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा के विसर्जन से पहले पूजा-अर्चना की।मुंबई में गिरगांव चौपाटी, शिवाजी पार्क, जुहू, वर्सोवा और मार्वे बीच तथा कई तालाबों सहित 129 स्थानों पर प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया। नगर पालिका के एक अधिकारी ने बताया कि दोपहर तक करीब 587 गणेश प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। 5,000 से अधिक सीसीटीवी कैमरों से भी झांकियों की निगरानी की गई।
  • 25 लाख का प्रतिबंधित गुटखा को क्राइम ब्रांच व एफडीए ने मिलकर पकड़ा !

    By fast headline india →
    25 लाख का प्रतिबंधित गुटखा को क्राइम ब्रांच व एफडीए ने मिलकर पकड़ा ! 

    ड्राइवर समेत दो को किया गिरफ्तार ! 

    गुजरात से हो रही गुटखा तस्करी के खेल का यह एक नमूना आया सामने ! 

    उल्हासनगर के गली गली खुलेआम बिकता है यह गुटखा ? 

    जोन चार की पुलिस द्वारा तीन दिन पहले ही चारों पुलिस ठाणे दर्ज हुआ है मामला ! 

     मुंबई-मुंबई में प्रतिबंधित गुटखा की एक बड़ी खेप को मुंबई क्राइम ब्रांच व एफडीए की संयुक्त कार्यवाई के द्वारा पकडने में बड़ी कामयाबी मिली है। यह गुटखा गुजरात से एक कंटेनर के जरिये मुंबई लाया जा रहा था। जिसे मुंबई पहुचने के पहले बोरीवली में जाल बिछाकर पकड़ा गया है। 
    गौरतलब हो कि अन्न व औषधि प्रशासन व जोन 12 के अपराध शाखा से प्राप्त जानकारी के आधार पर विभिन्न निषिद्ध खाद्य लेखों के पांच प्रतिनिधि नमूने जैसे विमल पान मसाला, शुध प्लस पान मसाला, वी -1 सुगंधित तंबाकू (3 वेरिएंट) विश्लेषण व जांच के लिये, लिये गये।प्रतिबंधित गुटखा की कुल क़ीमत 23,06,000 रुपए है। गुटखा से लदे कंटेनर बॉडी ट्रक वाहन एमएच 04 एचवाई 9672 के साथ साथ वाहन चालक सलमान, नसीम अहमद शेख जो वापी, गुजरात। के रहने वाले हैं, को भी हिरासत में लिया गया। कंटेनर की लागत लगभग 25,00,000 रुपया हैं। वाहन को सील करके जांच के लिए हिरासत में लेकर कार्यालय परिसर में सुरक्षित रूप से पार्क करा दिया गया। कार्यालय परिसर में निषिद्ध लेखों का भंडार भी रखा गया है।मामले को एफआईआर नंबर 429/2019 एयूसीड यू / एस के खिलाफ दर्ज किया गया है। दहिसर पुलिस स्टेशन में 34, 188, 272, 273,आईपीसी के 328 और एफएसएस अधिनियम की धारा में संलिप्त आरोपी को दहिसर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई को एफएसओ छीरसागर द्वारा सहायक आयुक्त अजित मैत्रे के निर्देशन व सह आयुक्त शैलेश आढाव के मार्गदर्शन में किया गया। जब से गुटखा बंद हुआ तब से ही मुंबई, ठाणे,उल्हासनगर, कल्याण, अम्बरनाथ, बदलापुर, डोम्बिवली, कलवा,इन सभी जगहों पर चोरी छुपे गुटखा बेचा जाता है इसका प्रमाण कई बार हुई स्थानीय पुलिस के कार्यवाई के जरिये सामने आया है,इसका मतलब ले देकर यह गोरखधंधा को अंजाम दिया जा रहा है यही कारण है कि इतने बड़े पैमाने पर गुटखा लाने का काम किया जा रहा है !