• लातूर पहुंची 'वाटर ट्रेन', लेकिन पानी के लिए अब भी करना होगा इंतजार

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    लातूर। पानी की कीमत क्या होती है, यह भयंकर सूखे से जूझ रहे महाराष्ट्र के लातूर के बाशिंदों से पूछा जा सकता है। मंगलवार सुबह पानी के दस टैंकर लेकर स्पेशल ट्रेन यहां पहुंची तो लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। कई लोग तो इतना उत्साहित थे कि रात भर पटरियों पर बैठे रहे।
    लेकिन, अभी भी स्थानीय लोगों को पानी के लिए थोड़ा इंतजार करना होगा। बता दें कि पानी लेकर लातूर पहुंची ट्रेन के वैगन को पाइप्स के जरिये खाली किया जा रहा है। फिर इस पानी को फिल्टर किया जाएगा जिसके बाद लोगों तक इसे पहुंचाया जाएगा।
    इससे पहले, यह 'वाटर ट्रेन' सोमवार दोपहर मिराज स्‍टेशन से रवाना हुई थी। ट्रेन में 10 टैंकर लगे हैं जिनमें हर एक में 54 हजार लीटर पीने का पानी भरा हुआ है। यह पानी मिराज स्‍टेशन पर उजानी बांध से भरा गया है।
    जैसे ही ट्रेन लातूर पहुंची, ड्राइवरों का हार-फूल से स्वागत किया गया। लातूर के मेयर शेख अख्तर के मुताबिक, यह लातूर निवासियों के लिए बेहद अहम दिन है।
    रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार कोटा वर्कशाप को 50-50 टैंक वैगन वाली दो ट्रेनें मिली थीं। दोनों ट्रेनों को गर्मियों के दौरान सूखाग्रस्त लातूर के लिए भेजा जा रहा है। बताया गया है कि आवश्यकता के अनुसार तीसरी ट्रेन का भी प्रबंध किया जाएगा। ट्रेन के एक वैगन में 54,000 लीटर पानी आता है।

    Subjects:

  • No Comment to " लातूर पहुंची 'वाटर ट्रेन', लेकिन पानी के लिए अब भी करना होगा इंतजार "