Browsing "Older Posts"

  • तत्काल टिकट बुकिंग में बड़े घपले का सीबीआई ने किया पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    तत्काल टिकट बुकिंग में बड़े घपले का सीबीआई ने किया पर्दाफाश ! 

    रेलवे के सॉफ्टवेयर प्रोग्रामर गर्ग  व दलालो की मिलीभगत से चल रहा था ये गोरखधंधा!

    ऐसे सभी सॉफ्टवेयर जांच कर रही सीबीआई !

    नई दिल्ली- सीबीआई द्वारा रेलवे के तत्काल रिजर्वेशन सिस्टम में सेंधमारी कर एक ही बार में सैकड़ों टिकटों का रिजर्वेशन करने का खुलासा किए जाने के बाद ट्रैवल एजेटों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कई सारे ऑनलाइन सॉफ्टवेयर जांच के दायरे में आ गए हैं. एजेंसी सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने अपने ही प्रोग्रामर अजय गर्ग के खिलाफ जांच के दौरान पाया कि काफी संख्या में ऐसे ही सॉफ्टवेयर एक तय कीमत पर आसानी से उपलब्ध हैं. गर्ग ने ऐसा ही एक अवैध सॉफ्टवेयर बनाया था. सीबीआई सूत्रों ने बताया कि रेलवे टिकटिंग प्रणाली में सेंध लगाने के लिए इन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जा रहा है. इनके जरिए बुकिंग प्रक्रिया की गति बढ़ जाती है और कई टिकट बुक हो जाते हैं. सूत्रों ने बताया कि 'नियो' सॉफ्टवेयर गर्ग ने बनाया. इस सॉफ्टवेयर की तरह कई प्रोग्राम हैं, जो ऑनलाइन उपलब्ध हैं.एक अधिकारी ने बताया, 'ऐसे सभी सॉफ्टवेयर जांच के दायरे में हैं. हम उनकी छानबीन कर रहे हैं और उनके संचालन में कोई अवैधता पाए जाने पर जल्द ही कार्रवाई करेंगे.' सूत्रों ने बताया कि सॉफ्टवेयर 'ऑटो फिल' प्रणाली पर काम करते हैं, जिसके तहत काफी संख्या में टिकट चाहने वाले लोगों का ब्योरा डाल दिया जाता है और आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर सुबह 10 बजे तत्काल टिकट की बुकिंग शुरू होने से पहले उन्हें तैयार रखा जाता है.
    उन्होंने बताया कि ये सॉफ्टवेयर पीएनआर जारी करने की प्रक्रिया तेज कर देते हैं और इनमें आईआरसीटीसी का कैप्चा भी नहीं डालना पड़ता. साथ ही, कई आईडी से लॉगिन हो जाता है और एक ही समय पर महज एक क्लिक से काफी संख्या में टिकट बुक हो जाते हैं.सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने कहा कि इस तरह के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल आईआरसीटीसी नियम कायदों के मुताबिक अवैध है. यह रेल अधिनयम के तहत भी अवैध है. यह भी आरोप है कि आरोपी कुछ बुकिंग एजेंटों द्वारा ऐसे सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल पर पैसे लिया करता था और इन हरकतों से काफी धन जमा किया. उन्होंने बताया था कि सीबीआई ने इसके सॉफ्टवयेर बनाने और एक तय कीमत पर उसे एजेंटों को उपलब्ध कराने को लेकर असिस्टेंट प्रोग्रामर और उसके एक सहयोगी अनिल गुप्ता को गिरफ्तार किया है. गौरतलब है कि गर्ग (35) एक चयन प्रक्रिया के जरिए 2012 में सीबीआई में शामिल हुआ था और एक असिस्टेंट प्रोग्रामर के तौर पर काम कर रहा था.
  • हुक्का पार्लरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मनपा को लिखा भाजपा सांसद ने खत !

    By fast headline india →
     हुक्का पार्लरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मनपा को लिखा भाजपा सांसद ने खत !

     मुंबई-बीजेपी सांसद किरीट सोमैया ने शहर के स्थानीय निकाय को पत्र लिखकर उपनगरीय मुलुंड के हुक्का पार्लरों में कथित तौर पर ग्राहकों को ड्रग्स पेश किए जाने के संबंध में शिकायत की है। 
    बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अडिशनल कमिश्नर को संबोधित करते हुए सोमैया ने एक खत लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि उन्हें ऐसी शिकायतें मिली है कि मुलुंड क्षेत्र के तीन हुक्का पार्लरों में ग्राहकों को मादक पदार्थ पेश किया जाता है। मुंबई के उत्तर-पूर्व क्षेत्र के लोकसभा सांसद ने यह खत शनिवार को जारी किया है। उन्होंने खत में इन पार्लरों पर कार्रवाई की अपील की है। किरीट ने खत में लिखा, 'इस तरह की गतिविधियों के खिलाफ कड़े नियम और कार्रवाई होनी चाहिए।' इस महीने 29 दिसंबर को मुंबई के एक पब में आग लगने की वजह से 14 लोगों की मौत के बाद बीएमसी रेस्ट्रॉन्ट्स पर कार्रवाई कर रहा है।
  • कमला मिल पब आग कांड मामले में दूसरी FIR दर्ज !

    By fast headline india →
    कमला मिल पब आग कांड मामले में दूसरी FIR दर्ज ! 

    रेस्तरां मालिकों के खिलाफ पुलिस ने जारी किया लुकआउट नोटिस !

    पब के मालिकों समेत कई लोगो के खिलाफ पुलिस गैर इरादतन हत्या मामला दर्ज !

    मुंबई -मुंबई के कमला मिल कंपाउंड में लगी आग के बाद अब प्रशासन और पुलिस हरकत में आए हैं। मुंबई पुलिस ने आज इस मामले में दूसरी एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर बीएमसी की शिकायत के बाद दर्ज की गई है। शिकायत में बीएमसी ने कहा है कि कमला मिल के मालिक और वहां मौजूद पब-रेस्तरां (1 एबव-मोजो बिस्रो) ने नियमों का उल्लंघन किया था। बीएमसी ने शिकायत में कहा है कि उन सभी ने महाराष्ट्र रीजनल टाउन प्लानिंग (MRTP) एक्ट का उल्लंघन किया है। शिकायत एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है।
    बता दें कि शनिवार को ही बीएमसी ने कमला मिल कंपाउंड और रघुवंशी मिल कंपाउंड में कार्रवाई करते हुए कई अवैध निर्माणों को गिराया था। इसके साथ ही अलग-अलग टीमें अलग-अलग क्षेत्रों में ऑडिट कर रही हैं। हर अवैध निर्माण को ध्वस्त करने का आदेश दिया गया है। इससे पहले पुलिस ने '1 एबव' रेस्तरां के दो मालिकों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। इसी रेस्तरां में आग लगी थी। फिलहल इस बात की जांच की जा रही है कि आग किस वजह से लगी होगी। माना जा रहा है कि बारटेंडर द्वारा किए गए किसी फायर स्टंट, हुक्के के लिए जल रहे कोयले या फिर शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी जिसने बाद में इतना भयानक रूप ले लिया था। सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया है कि उन्होंने 1 एबव के मालिक हितेश संघवी और जिगर संघवी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। दोनों रेस्तरां के को ओनर हैं, जिसे सी ग्रेड की सुविधाओं के साथ चलाया जा रहा था। इससे पहले पुलिस ने संघवी भाईयों के साथ-साथ एक और मालिक अभीजीत मनका समेत कुछ और लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। केस आईपीसी की धारा 304 (हत्या), 337 (किसी की जान खतरे में डालना) और 338 (किसी को चोट पहुंचाना के तहत दर्ज किया गया था। दूसरी तरफ, रेस्तरां अपनी सफाई में कहता रहा है कि उसकी कोई गलती नहीं है और उन्होंने तो सभी सुरक्षा मानदंड़ों का पालन किया हुआ था। उन्होंने घटना का सारा दोष मोजो बिस्रो रेस्टोरेंट पर डाला है। बता दें कि इस हादसे में 14 लोगों की जान चली गई, वहीं 21 लोग जख्मी हुए थे। बताया गया था कि अधिकतर लोगों की जान आग लगने की वजह से नहीं बल्कि दम घुटने से गई थी।
  • 3 जनवरी की महासभा का हो लाइव प्रसारण, नही हुआ प्रसारण तो नही होने देंगे महासभा - मनसे

    By fast headline india →
    3 जनवरी की महासभा का सीधा प्रसारण करने की मनसे की आयुक्त से मांग ! 

    मांग नही मानी गई तो नहीं होने देंगे महासभा मनसे ने दी चेतावनी !

    उल्हासनगर-शासन द्वारा उल्हासनगर शहर के विकाश के लिए डीपी (विकास आराखडा) के नाम पर ब्लॉक्स,बैरक पर बुलडोजर घूमने जाने वाला है. इस डीपी में कई दुकान और मकान टूटने से सैकड़ो लोग बेघर हो जाएंगे. जब तक डीपी से बाधित होने वाले लोगो का पुनर्वस करने का विचार नही किया गया.डीपी को लेकर दो महासभाएं रद्द हो जाने से शहर वासियों में असमंजस की स्थित बन हूई है कि उनके द्वारा चुनकर भेजे गए प्रतिनिधि उनके मुद्दे उठाते है कि नही,इसी बात को ध्यान में रखते हुए मनसे ने मनपा आयुक्त निम्बलकर और महापौर को पत्र देकर महासभा का सीधा प्रसारण करने की मांग की हैं मांग नही मानी गई तो महासभा नही होने देने की चेतावनी भी दी है। 
    डीपी के आड़ में शहर वासियों में अपना आशियाना उजड़ता दिख रहा है वह असमंजस में है कि अब क्या होगा,उनके द्वारा चुनकर भेजे गए प्रतिनिधि उनके मामले में महासभा में उठते हैं कि नही पिछली दो महासभा रद्द हो चुकी है और तीसरी महासभा 3 जनवरी को हैं उल्हासनगर शहर वासी अब यह घर बैठे अपने उजड़ते हुए आशियाने को लेकर उनके द्वारा चुने गये प्रतिनिधि किस प्रकार से महासभा में उठते हैं वह देख सके, इसी बात को ध्यान में रखते हुए मनसे ने मनपा मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बलकर ,मनपा महापौर मिना आयलानी व उप महापौर जीवन इदनाणी को पत्र देकर महासभा का लोकल चैनल पर सीधा प्रसारण करने की मांग की है.इस मौके पर मनसे शहर अध्यक्ष प्रदीप गोडसे.संजय घुगे,बंडू देशमुख. सचिन कदम,शालिग्राम सोनावणे,दिलीप थोरात, मैनुद्दीन शेख, मनोज शेलार, मुकेश चौहान सहित मनसे कार्यकर्ता उपस्थित थे।
  • उल्हासनगर शहर कचरामुक्त करने के लिए बाजारों में सूखा व गीला कचरा को रखने को लगाई कचरा कुंडी !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर कचरामुक्त करने के लिए बाजारों में सूखा व गीला कचरा को रखने को लगाई कचरा कुंडी !      

    उल्हासनगर- उल्हासनगर एक ब्यवसायिक शहर है जब रात में दुकाने बंद करते उस निकलने वाले कचरे को व्यापारी रोड पर डाल देते है. जिसको ध्यान में रखते हुए शहर हो रही खराब हालत सुधारने के लिए मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर ने व्यापारी परिसर में तीन सौ कचरा डालने वाले लटकते डब्बे लगाने का काम सुरू किया है.      उल्हासनगर शहर में बड़े पैमाने पर व्यापारी क्षेत्र है . जिसमें दुकानो में निर्माण होने वाले कचरे को जमा करने के लिए रात में पालिका प्रशासन और ठेकेदार आते नही जिसके चलते व्यापारी लोग रोड़ पर कचरा टाल के चले जाते है. वही कचरा भटकटे कुत्ते पूरे रोड पर फैला देते है जिससे पूरे शहर में सर्वत्र दुर्गंन्ध फैलती रही है . यह परिस्थिती सुबह 11 बजे तक कायम रहता है. इसका उपाय करने के लिए मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर, उपायुक्त संतोष देहेरकर इन्होंने मुख्य स्वच्छता निरीक्षक विनोद केने, एकनाथ पवार इनको शहर के व्यापारी भागो में और मुख्य चौक में ऐसे तीन सौ डब्बे लगा कर गीला और सुखा कचरा रखने के लिए डब्बे लगाने का आदेश दिया था. उसी आदेश पर आने वाले हप्ते भर में शहर में डब्बे लगाने का काम चालू है. 4 जनवरी तक किसी भी समय शहर का स्वच्छ सर्वेक्षण समिती का पाहनी दौरा होने के चलते ये काम युद्ध स्तर होने दावा मुख्य स्वच्छता निरीक्षक विनोद केने कहा है. 
  • मुंबई के कमला मिल कंपाउंड में भीषण आग, 14 लोगों की मौत !

    By fast headline india →
    मुंबई के कमला मिल कंपाउंड में भीषण आग, 14 लोगों की मौत !

    मुंबई- मुंबई के कमला मिल कंपाउंड स्थित 1-अबव रेस्तरां, लंडन टैक्सी बार और मोजो पब में गुरुवार देर रात भीषण आग लग जाने से 14 लोगों की मौत हो गई और 16 लोग घायल हो गए। मरने वालों में 12 महिलाएं और 3 पुरुष हैं।
    घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जिनमें दो की हालत गंभीर है। किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल (KEM) ने 14 लोगों की मौत की पुष्टि की है। पुलिस ने 1-अबव रेस्तरां के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत केस दर्ज कर लिया है। आग लगने की वजह का पता फिलहाल नहीं चल पाया है। आग पर काबू पा लिया गया है और कूलिंग का काम चल रहा है।  आग सबसे पहले 1-अबव रेस्तरां में लगी। इसका बांस और प्लास्टिक से बना शेड जलने लगा। यह आग फिर दूसरे बिल्डिंग में मौजूद दो बारों-मोजो और लंडन टैक्सी में फैल गई। रेस्तरां में मौजूद लोग वॉशरूम में छुपकर खुद को बचाने की कोशिश करने लगे और उसमें फंस गए। उन्हें जाने का रास्ता नहीं मिला। अधिकांश लोग वॉशरूम एरिया में मारे गए हैं। जो लोग ऊपरी मंजिल में फंस गए थे वे किसी तरह साथ की बिल्डिंग में जाने में कामयाब रहे जहां से उन्हें फायर ब्रिगेड ने स्पेशल लैडर के सहारे बचाया। पुलिस अधिकारी ने बताया, 'मृतकों में अधिकांश महिलाएं हैं जो टेरेस पर स्थित रेस्तरां में एक पार्टी में शामिल होने आई थीं।' घटना की जानकारी मिलते ही दमकल की 8 गाड़ियां मौके पर भेजी गईं। KEM हॉस्पिटल के डीन ने बताया कि घायल अवस्था में 21 लोगों को यहां लाया गया था। उधर, ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल ने 10 से 15 घायलों के लाए जाने की पुष्टि की है। एक अधिकारी ने बताया, 'कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि कुछ को सांस लेने में दिक्कत हो रही है।'  बीएमसी के आयुक्त अजय मेहता और मनपा के अतिरिक्त आयुक्त आई.ए. कुंदन ने भी घटनास्थल का दौरा किया। इधर, दमकल कार्यालय के डेप्युटी चीफ के.वी.हिवराले ने कहा है कि लंडन टैक्सी बार हादसे की जांच कराई जाएगी। बीएमसी की आपदा प्रबंधन इकाई ने बताया, 'मौके पर दमकल की आठ गाड़ियां, 3 जेटी और पांच टैंकर तुरंत भेजे गए।' फायर ब्रिगेड के कर्मचारी आसपास स्थित ऑफिस इमारतों को भी बचाने में जुट गए। आग लगते ही कर्मचारी बाहर की तरफ भागे, वे इतनी दहशत में थे कि घटना के बारे में कुछ बता नहीं पा रहे थे। फायर ब्रिगेड को रात 12.30 बजे आग लगने की जानकारी मिली। आग बेहद भीषण था कि ऊपरी मंजिल तक पहुंचने के लिए दमकलकर्मियों को स्पेशल सीढ़ियों का इस्तेमाल करना पड़ा।  हाल में खुला टेरेस बार 'लंडन टैक्सी' मुंबई युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। दूसरी मंजिल की खुली छत को कुछ दिनों पहले ही ढंका गया था। निर्माण कार्य के बाद काफी बेकार लकड़ी भी पड़ी हुई थी और संभवतः आग इसलिए बढ़ गई। शुक्रवार और शनिवार की रात इस पब में प्रवेश के लिए लंबी लाइन लगती है।
  • डीपी प्लान की कमियां जबतक दूर नही होती इस प्लान को रद्द किया जाय -स्थाई समिति चेयर कंचन लुंड

    By fast headline india →
     डीपी प्लान की कमियां जबतक दूर नही होती इस प्लान को रद्द किया जाय -स्थाई समिति चेयर कंचन लुंड 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका में गुरुवार की महासभा में स्थाई समिती सभापती कंचन अमर लुंड ने शहर हित को देखते हुए डेवलपमेंट प्लान (डीपी) का विरोध किया इसके साथ उन्होंने कुछ अहम मुद्दे पर सवाल भी उठाएं जिसमें था शहर के पहले डीपी प्लान 1974 में जो एरिया रेसिडेंशियल ज़ोन का कुल ज 536 हेक्टर था जिसको घटाकर 513 हेक्टर कर दिया गया है यह बात बिल्कुल शहर हित में नही है बता दे कि 1974 में उल्हासनगर की जनसंख्या 1लाख 68 हजार462 लोगों की थी और अब करीब करीब 7 लाख से ज्यादा लोग शहर में रहते हैं इसको देखते हुए रेसीडेंस जोन ज्यादा होना चाहिए था उसको कम कर दिया है दूसरे आरक्षण जो कम होने चाहिए था उसको ज्यादा किया गया है! 2005 में सभी अवैध बांधकाम रेगुलाईज करने का स्पेशली उल्हासनगर शहर के लिए ऑर्डिनेंस 2006 एक्ट के अनुसार लाया गया था जिसमें कई प्रॉपर्टीज को लीगल किया गया था तो सवाल यह है कि आज उन प्रॉपर्टी के ऊपर नए रिजर्वेशन कैसे लगाया जा सकता हैं और मनपा द्वारा प्लान देकर बनाइ गई नई इमारतों को नजर अंदाज करते हुए उन्ही एरिया से नए रोड़ की बनाने की मंजूरी इस नए डेवलपमेंट प्लान में दिया गया है इसको देखते हुए यह पता लगता है कि यह जिस एजेंसी ने शहर का डीपी प्लान बनाया है उसने इस शहर का सही सर्वे ठीक ढंग से नहीं किया है 
    और उसने सभी चीजों को नजरअंदाज करके सिर्फ ऑफिस में बैठ कर अपना काम किया है जिसकी वजह से शहरवासियों को बड़ी मुसीबत का सामना करना आने वाले समय में करना होगा इसी को ध्यान में रखते हुए हमनें अपना विरोध जताते चिंता जताई उन्होंने सभागृह में कहा कि आज उन्होंने रास्तों पर मोर्चे बाइक रैली डीपी प्लान के विरुद्ध देखी और उन्होंने विशेष तौर पर पुणे महानगरपालिका मैं जब डीपी प्लान लागू हुआ था उस समय ग्राउंड रियलिटी और डीपी में जमीन आसमान का फर्क था इक्जेसिंग ग्राउंड एंड गार्डन की रिजर्वेशन को चेंज किया था और रेजिडेंशियल जॉन को ग्रीन जोन में डाला गया था इस वजह से सुप्रीम कोर्ट ने इस डीपी को रद्द करने का आदेश दिया था तो फिर उल्लासनगर के डीपी को रद्द क्यों नहीं किया जाए ऐसे ही हमारे डीपी में दिख रहा है ग्राउंड रियलिटी और डीपी में जमीन आसमान का फर्क है इक्जेसिंग ग्राउंड और गार्डन की रिजर्वेशन को चेंज किया है और रेजिडेंशियल जोन को ग्रीन जोन में डाला गया है हमारा शहर एक व्यापारी वर्ग वाला शहर माना जाता है इस डीपी में बहुत सारे मार्केट जैसे कि 17 सेक्शन का मोबाइल बाजार उल्हासनगर 4 और 5 का मेन बाजार गाउन बाजार जापानी बाजार इन को बहुत सारा नुकसान होने के आसार दिख रहे हैं और उन्होंने बताया कि हमारे महानगरपालिका के पास ऐसी कोई पॉलिसी तैयार नहीं है जो कि उन दुकानदारों को या घरों को पुनरवसन के लिए कोई जगह दे पाए आज तक के बी रोड में जिन लोगों की प्रॉपर्टी ओ को तोड़ा गया था वह लोग आज भी अपने फाइल लेकर महानगरपालिका के चक्कर काट रहे हैं आज तक उन को इंसाफ नहीं मिल रहा है और उन्होंने कहा कि हम इस डीपी के खिलाफ नहीं हैं हम विकास के खिलाफ नहीं है हम खिलाफ हैं उन गलतियों के जो इस डीपी में की गई हैं उन्हें सुधारा जाए या तब तक डीपी रद्द किया जाए !
  • शिवसेना के जन आक्रोश मोर्चा में उमड़ा जनसैलाब !

    By fast headline india →
    शिवसेना के जन आक्रोश मोर्चा में उमड़ा जनसैलाब !

    डीपी प्लान को रद्द करने के लिए कई संगठनों ने भी निकाला मोर्चा ! 

    उल्हासनगर- गुरुवार को मनपा में विपक्ष की भूमिका निभा रही शिवसेना ने महाराष्ट्र सरकार द्वारा मंजूर किये गये उल्हासनगर विकास के डीपी प्लान के विरोध में मनपा मुख्यालय के सामने जन आक्रोश मोर्चा निकाला ।जिस मोर्चा में हजारों की संख्या में शिवसैनिक व सेना के वरिष्ठ नेता नगरसेवकों के साथ विधायक बालाजी किनीकर समेत शिवसेना के उप जिला प्रमुख  चंद्रकांत बोडारे,शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी,विरोधी पक्ष नेता धनंजय बोडारे,गट नेता रमेश चव्हाण,ग्राहक संरक्षण कक्ष शहर प्रमुख जयकुमार केणी,उपशहरप्रमुख परशुराम पाटील,राजेंद्र साहू,दिलीप गायकवाड,नगरसेवक अरुण आशान,महिलाआघाडी संघटक मनिषा भानूशाली,युवासेना उपजिलाधिकारी सोनू चानपूर,युवासेना अधिकारी बाळा श्रीखंडे,सुमित सोनकांबळे,कल्याण ,उत्तर भारतीय सेल शहरप्रमुख के.डी.तिवारी,रिपाई नेता व्ही.बी.ससाणे,सेवानिवृत्त उपजिल्हाधिकारी एस.एस.ससाणे,व्यापारी असोसिएशन के अध्यक्ष नरेश दुर्गानी समेत भारी संख्या में शहर के व्यापारी व रहिवासी नागरिक मोर्चा में उपस्थित थे।
    बता दे की इसके पूर्व शिवसेना विधायक बालाजी किनीकर समेत शिवसेना के विधायकों ने नागपुर अधिवेशन के दौरान भाजपा के साथ सत्ता में शामिल होने के बाद भी उल्हासनगर के मंजूर डीपी प्लान के विरोध में मोर्चा खोला था। वही मोर्चा में शामिल शिवसेना नेता गोपाल लांडगे ने आरोप लगाया की मंजूर डीपी प्लान से उल्हासनगर के गरीब तबके के लोग बेघर हो जाएंगे। उन्होंने कहा की  शिवसेना के विरोध को डीपी प्लान को मामले को गंभीरता से नही लिया गया तो शिवसेना मंत्रालय पर भी धड़क मोर्चा निकालेगी । मोर्चा के एक प्रतिनिधि मंडल ने मनपा मुख्यालय उपायुक्त संतोष देहरेकर को मुलाकात कर ज्ञापन दिया। बता दे की डीपी प्लान के विरोध में शहर के व्यापारियों नागरिको ने जन आक्रोश मोटरसाइकिल रैली निकाली विकास हवा विकास नही घोषणा किया। वही गुरुवार को।मनपा महासभा में डीपी प्लान को लेकर हंगामा होने की आशंका के चलते महासभा 3 जनवरी तक स्थगित कर दिया गया वही शिवसेना नगरसेवक अरुण आसान न कहा की डीपी प्लान को लेकर शिवसेना के मोर्चे को देखकर मनपा आयुक्त और महापौर महासभा में नही पहुचे और नही सम्बंधित विभागीय अधिकारी ही सभा मे मौजूद हुए।  इसकी शिकायत शासन करेंगे,यह ठहराव सरकार ने दबाकर कर रखा है,। की सभा मे सत्ताधारी बोलने नही देते है। मोर्चा में शामिल शिवसेना नेताओ ने आरोप लगाया की उल्हासनगर शहर का डीपी प्लान एक बंद एसी कमरे में मात्र चार लोगों ने मिलकर सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए बनाया है। जो सिर्फ बड़े बिल्डर ओर अधिकारी के फायदा  के लिये बनाया गया है। जिसमे बड़ी बड़ी संख्या में गरीब,और व्यापारी प्रभावित होंगे जबकी.विकास परियोजना सभी शहर के निवासियों के हित के लिए होता है। डीपी प्लान से अगर लोगो को घर से बेघर करता हो तो ऐसे डीपी पालन का शिवशेना निषेध करती है।उक्त बात शिवसेना शहर प्रमुख नगरसेवक  राजेन्द्र चौधरी ने अपने भाषण में कहा,  
  • क्रिकेट बैटिंग के गोरखधंधे में सामने आया नया जुआड सटोरिये अब महिलाओ को बनायेगे अपनी ढाल !

    By fast headline india →
    क्रिकेट बैटिंग के गोरखधंधे में सामने आया नया जुआड सटोरिये अब महिलाओ को बनायेगे अपनी ढाल !

     अपेक्षा से अधिक पैसा देकर महिलाओ को सट्टे के धंधे में कर रहे है सक्रिय !

     ( स्पेशल स्टोरी-दबंग दिलीप मिश्रा ) 

     उल्हासनगर-कल्याण क्राइम ब्रांच व खडकपाडा पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में पुलिस के हत्थे चढ़े तीनो इंटरनेशनल बुकियों की गिरफ्तारी से ठाणे जिले के बुकियों में हड़कंप मचा हुआ है।शहर के सटोरिये अब पंटरों से पैसा वसूली से लेकर बुक चलाने तक धंधे पर बुकी महिलाओ का इस्तेमाल करेंगे बताया जा रहा है कि इस काम के लिए महिलाओ को अपेक्षा से ज्यादा वेतन तय किया गया है।              
      ठाणे पुलिस के रिकार्ड में जिले का सबसे बड़ा इंटरनेशनल सटोरिया अनिल जयसिंघानी के बाद हीरो तलरेजा को माना जाता है ।गोवा और पश्चिम बंगाल में किशोर केशवानी द्वारा दर्ज किए गए मामले के बाद से ही जयसिंघानी अब तक वांटेड है,सूत्रों के मुताबिक वॉन्टेडी में अनिल जयसिंघानी को हीरो तलरेजा ने ही अपने फार्म हाउस पर आश्रय दिया था,बताया जाता है कि एक पूर्व कांग्रेसी नगरसेवक सहित शहर के कई इन्वेस्टरों से हीरो तलरेजा ने करीबन 15 करोड़ रुपये बतौर व्याज पर लिया हुआ है उसकी एवज में हीरा ने उन सभी को चेक दिया है।3 महीने पहले जैसे ही हीरा से कर्जदारों ने तगादा शुरू किया वैसे ही हीरा भूमिगत हो गया और उसके भाई महेश तलरेजा व बेटा कुणाल व दिनेश ने यह अफवाह फैला दी कि वह दुबई में शिफ्ट हो गया है।जैसे ही कर्जदारों को पता चला कि हीरा शहर छोड़कर वॉन्टेड हो गया वैसे ही कर्जदारों ने न्यायालय में चेक बाउंस का केस करना शुरू कर दिया और अब तक हीरा के ऊपर एक दर्जन नान वैलेबल वारंट ईशु हो चुका है जिसमे स्थानीय पुलिस को उसकी तलाश है इसलिए जमानत होते ही हीरा वापस फरार हो गया।सूत्रों के मुताबिक शहर के सटोरिये परसराम उर्फ परसा,घनश्याम,जीतू (पॉलिहिल),खान,सुरेश पिन्ना,राहुल (उद्धि),रवि (चिक्की),उद्धव ,टिमकी,अनिल (रायपुर) ,कुणाल व दिनेश तलरेजा अब पंटरों से पैसा वसूली से लेकर इस गोरखधंधे को आपरेट करने तक के लिए महिलाओ का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है,बताया जाता है की मैच में लाखों रूपये हारा हुआ जो  पंटर पैसा देने में आनाकानी करता है या समय पर पैसा नही देता ऐसे पंटरों से पैसा वसूलने के लिए पहले तो पाले हुए गुर्गों का इस्तेमाल किया जाता है और यदि तभी भी पैसा नही वसूल हुआ तो पंटरों के घर,दुकान या ऑफिस पर 3-4 महिलाओं को भेजकर झूठा केस करवाने की धमकी देकर पैसा वसूल किया जाता है,वसूली के पैसे में या तो गुर्गों को परसेंटेज दी जाती है या फिर अपेक्षा से अधिक वेतन देकर उन्हें पाला जाता है।सूत्रों के मुताबिक कल्याण क्राइम ब्रांच की कार्यवाही के बाद अब उल्हासनगर यूनिट सहित डीसीपी स्काट भी अपने-अपने मुखबिरों के जरिये बुकियों की तलाश में जुट गए है।
  • 15 करोड़ डुबाने के लिए रचे षड्यंत्र का हुआ पर्दाफाश ! टॉप मोस्ट सटोरिये ने बीबी को ही दे दिया था झूठा तलाक !

    By fast headline india →
    15 करोड़ डुबाने के लिए रचे षड्यंत्र का हुआ पर्दाफाश ! टॉप मोस्ट सटोरिये ने बीबी को ही दे दिया था झूठा तलाक !

     कर्जदारों से बचने के लिए दुबई में शिफ्ट हो जाने का फैलाई थी झूठी अफवाह !

     जमानत मिलते ही वापस भूमिगत हो गया टॉप मोस्ट बुकी हीरा तलरेजा !

     बिग-बैच 20-20 मैच में सक्रिय है शहर के दर्जनों सटोरिये !


    (दिलीप मिश्रा )
     उल्हासनगर-उल्हासनगर का टॉप मोस्ट सटोरिया हीरो तलरेजा ,भाई महेश तलरेजा तथा बेटे कुणाल तलरेजा को कल कल्याण क्राइम ब्रांच ने  गिरफ्तार किया था और जैसे ही उनकी जमानत हुई वह भूमिगत हो गया।हीरो तलरेजा के भूमिगत होने की वजह 15 करोड़ रुपये का दिवालिया देना है जब कि हीरा का पार्टनर मनीष चेलानी (इंदौर) की भी स्थानीय पुलिस को तलाश है।यदि पुलिस को न्यायालय से गिरफ्तार बुकियों की पुलिस कस्टडी मिलती तो पुलिस हीरा से फरार इंटरनेशनल बुकी अनिल जयसिंघानी के विषय मे भी पूछताछ करती थी क्योंकि कुछ दिनों तक अनिल जयसिंघानी को हीरा बुकी ने अपने फार्म हाउस पर शरण दिया था।                  
    गौर तलब हो कि हीरा तलरेजा ठाणे जिले का सबसे बड़ा सटोरिया माना जाता था हाल ही में हीरा और उसका पार्टनर मनीष चेलानी (इंदौर) ने मिलकर पंटरों का 4 करोड़ रुपये ढकार गए और हीरा ने मनीष को यहां से भगाकर इंदौर से सट्टे का काम शुरू करवाया और जिनका पैसा था उनको बोल दिया कि मनीष मेरा भी पैसा लेकर फरार हो गया। इस मामले ने जमकर तूल पकड़ा तब पंटरों को झांसा देने के लिए हीरा ने वापस सट्टे का गोरखधंधा शुरू किया और सभी को अश्वाशन दिया कि थोड़ा-थोड़ा पैसा सबको धीरे-धीरे रिटर्न करूंगा।सूत्रों के मुताबिक सट्टे का गोरखधंधा शुरू करने के लिए हीरा ने शहर के कई इन्वेस्टर सहित सफेदपोश लोगो से करीबन 15 करोड़ रुपये बतौर ब्याज पर उठाया हुआ है।बताया जाता है कि पैसा और व्याज समय पर नही दे पाने की वजह कर्जदार तगादा करने उसके घरों पर जाने लगे है इसलिए बीबी से मेरा कोई सम्बन्ध नही है ऐसा एक अग्रीमेंट बनाकर हीरा ने बीबी को दे दिया और कर्जदारों को भगाने के लिए हीरा की पत्नी उस अग्रीमेंट का सहारा ले रही है। कर्जदारों से बचने और उन्हें भृमित करने  के लिए 3 माह पहले हीरा तलरेजा भूमिगत हो गया और उसका भाई महेश,बेटा कुणाल व दिनेश ने हाल ही में यह अफवाह फैला दी कि हीरा दुबई में शिफ्ट हो गया,हीरा को भगोड़ा समझ लोग शांत हो गए परंतु कल जैसे ही हीरा गिरफ्तार हुआ वैसे ही सभी कर्जदार अपना-अपना पैसा वसूलने के लिए सक्रिय हुए लेकिन जमानत मिलते ही हीरा वापस भूमिगत हो गया।बताया जाता है कि हीरा ने मनीष इंदौर के साथ मिलकर इंदौर में कई प्लाट और बंगले खरीद लिया है।सूत्रों के मुताबिक बिग बैच 20-20 के अलावा नए वर्ष में 5 जनवरी से इंडिया--अफ्रीका वनडे क्रिकेट मैच शुरू होने जा रहा है उसके पहले टॉप मोस्ट बुकी  खान (जो कि कैम्प 4 में बैठकर सट्टे के धंधे को अंजाम दे रहा है ,सोनू चावला,जीतू (पालीहिल)उसका पार्टनर प्रेम (पीएम),सुरेश पिन्ना,परसराम, घनश्याम,उद्धि (कोल्हापुर में बैठता है,, अनिल (रायपुर),राहुल (उद्धि) (जो 2-3 बार अब तक पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है,कुणाल व दिनेश तलरेजा जमानत मिलते ही बिग बैच के गोरखधंधे में जुट गए है जब कि रवि (चिक्की) एक बड़े बुकी का बेटा बताया जा रहा है।अहम बात यह है कि सटोरिये के धंधे में अब शहर की कुछ टॉप मोस्ट महिलाये भी सक्रिय हो गयी है।।कल हुई छापेमारी के बाद अब शहर के बुकी कोल्हापुर, गोवा, शिरडी,महाबलेश्वर तथा इंदौर शहर से सट्टे के धंधे को अंजाम देने के लिए नए मुकाम की तलाश में जुट गए है।जब कि महिलाएं सटोरी अपनी-अपनी सहेलियों के यहां घर बदल बदल कर सट्टे के धंधे को अंजाम दे रही है,जल्द ही महिला सटोरियों के नामो का खुलासा किया जायेगा
  • उल्हासनगर का क्रिकेट बुकियों का सरदार, भाई और बेटे के साथ गिरफ्तार ! शहर के अन्य बुकी हुए भूमिगत !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर का क्रिकेट बुकियों का सरदार, भाई और बेटे के साथ गिरफ्तार ! 

    अंडरवर्ल्ड माफिया सुरेश पुजारी भी  गिरफ्तार बुकी को फिरौती के लिए धमका चुका है !

     शहर के अन्य बुकी हुए भूमिगत !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर का टॉप मोस्ट बुकी हीरो तलरेजा जिसे कुछ माह पहले ही फिरौती की मांग को लेकर अंडरवर्ल्ड माफिया सुरेश पुजारी ने धमकाया था।जिसे कल कल्याण क्राइम ब्रांच व खड़कपाड़ा पुलिस ने संयुक्त आप्रेसन में इंडिया और श्रीलंका के बीच सट्टेबाजारी करते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया,हीरा के साथ उसका भाई और बेटा भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए।पुलिस के इस कार्यवाही से बुकियों में हड़कंप मच गया है।        
    गौर तलब हो कि सटोरिया हीरो तलरेजा हमेशा सुर्खियों में रहा है,शहर का सबसे बड़ा सटोरिया होने की वजह से हीरो तलरेजा को कुछ माह पहले अंडरवर्ल्ड माफिया सुरेश पुजारी ने फिरौती के लिए धमकाया था जिसका हीरो ने मुंह तोड़ जवाब भी दिया था।इस धमकी के बाद से ही हीरा छुप-छुपाकर निजी बॉडीगार्ड के साथ रहता था।हीरो तलरेजा तब जादा सुर्खियों में आया था जब उसका इन्दौर निवाशी पार्टनर मनीष मैच के पंटरों से वसूली कर हीरा को 4 करोड़ रुपये की चपत लगाकर फरार हो गया था। पार्टनर मनीष द्वारा की गई धोखाधड़ी के बाद से ही हीरो तलरेजा के ऊपर कर्ज हो गया और तब से ही हीरो ने अपना मोबाइल नंबर बदल दिया और शहर तथा मैच के पंटरों में यह मैसेज फैला दिया कि हीरो दुबई में शिफ्ट हो गया और अपने भाई महेश तलरेजा और बेटे अनिल द्वारा चलाये जाने वाले सट्टे के कारोबार को खुद आपरेट करने लगा।सूत्रों के मुताबिक उल्हासनगर का पुलिस इन्फॉर्मर कई दिनों से हीरो के भाई महेश और उसके बेटे को फॉलो कर रहा था।महेश और हीरो व उसका बेटा तीनो कल्याण के रिहायसी इलाके महावीर व्हेली नामक इमारत में फ्लैट लेकर इंटर नेट और टीवी के जरिये कल इंडिया और श्रीलंका के 20-20 मैच पर पंटरों का सट्टा ले रहे थे तभी देर रात पुलिस इन्फॉर्मर ने इसकी सूचना कल्याण क्राइम ब्रांच सहित खड़क पाडा पुलिस को दी।जानकारी मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम ने फ्लैट पर छापा मारकर हीरा,महेश और अनिल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।गिरफ्तार बुकियों के पास से पुलिस ने तीन लैपटॉप,आधा दर्जन मोबाइल फोन सहित 1 लाख रुपये नकद जब्त कर लिया, गिरफ्तार बुकियों को आज न्यायालय ने मजिस्टेट कस्टडी के बाद जमानत पर रिहा कर दिया।शहर के सबसे बड़े सटोरियों पर की गई पुलिसिया कार्यवाही से उल्हासनगर के बुकियों में हड़कंप मच गया है।इस घटना के बाद एक महीने तक चलने वाली ऑस्ट्रेलिया की बिग बैच 20-20 मैच के सटोरिया अब भूमिगत होकर अब कोल्हापुर ,शिरडी और गोवा से सट्टेबाजी के कारोबार को अंजाम देगे।
  • फिल्म अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने वाल्मीकि समाज से मांगी माफी !

    By fast headline india →

    ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर माफी मांगते हुए लिखा, 'मेरे पिछले इंटरव्यू के दौरान बोले गए कुछ शब्दों का गलत अर्थ लगाया !

    मुंबई-अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने वाल्मीकि समाज के ऊपर जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने के लिए माफी मांगी है। शिल्पा ने यह कदम उनके और सलमान खान के खिलाफ देशभर में हुए विरोध प्रदर्शन होने के बाद उठाया है। रविवार को शिल्पा ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर माफी मांगते हुए लिखा, 'मेरे पिछले इंटरव्यू के दौरान बोले गए कुछ शब्दों का गलत अर्थ लगाया गया है। मैंने किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के इरादे से ऐसा नहीं कहा था।'एक अन्य ट्वीट में शिल्पा ने कहा, 'अगर मेरे शब्दों से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं। मुझे गर्व है कि मैं एक ऐसे देश से ताल्लुक रखती हूं, जहां अलग-अलग जातियों के लोग रहते हैं और मैं उन सभी का सम्मान करती हूं।'
    गौरतलब है कि शिल्पा शेट्टी और सलमान खान पर आरोप था कि उन्होंने एक टीवी चैनल पर कार्यक्रम के दौरान एक कोरियोग्रफर द्वारा बताए गए स्टेप्स की तुलना करते हुए जातिसूचक टिप्पणी की थी। इस टिप्पणी के बाद इन दोनों के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन होने लगे थे। सलमान और शिल्पा के खिलाफ इस मामले में मुंबई में एफआईआर भी दर्ज की गई थी।
  • 105 करोड़ रुपये के सोने की तस्करी का DRI ने किया पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    105 करोड़ रुपये के सोने की तस्करी का DRI ने किया पर्दाफाश ! 
    गुजरात के दो सगे भाईयो को किया गिरफ्तार !

    मुंबई- सोने की तस्करी में DRI ने एक बड़े तस्करों का पर्दाफाश किया है इस मामले में गुजरात के दो व्यवसायी भाइयों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों ने छह महीने में लगभग 105 करोड़ रुपये मूल्य के 350 किलो सोने की तस्करी कर डाली। 21 बार में यह सोना लाने वाले दोनों भाइयों को राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने गिरफ्तार कर लिया है।राजकोट का रहने वाला मिलन पटेल दुबई स्थित मेट्रो गोल्ड ऐंड डायमंड ज्वैलरी में पार्टनर है। 
    सोने की बढ़ती मांग को देखकर उसके दिमाग में सोने की तस्करी की बात आई और इसके लिए उसने एक कारीगर भी रखा। जांच अधिकारियों के मुताबिक, उसने अपने भाई गौतम की मदद से सोने को पिघलाकर तस्करी शुरू की। गौतम इंडक्शन फर्नेस बनाने का काम करता है और चैंपियन एग्जिम को कंपनी भी चलाता है। कहा जा रहा है कि तस्करी के तार दुबई और पाकिस्तान से भी जुड़े हैं। राजकोट में पांच मंजिल की बिल्डिंग के मालिक दोनों भाइयों को पांच जनवरी तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है।शुरुआत में दोनों ने मशीन पार्ट में तांबा छुपाकर भेजा और जांच में इसका पता नहीं चला। इसके बाद उन्होंने अफ्रीकी देशों से सोना खरीद कर उसे दुबई में पिघलाया और वहां से उसे मशीन पार्ट्स में छुपाकर भारत लाया जाने लगा। शुरुआत में आठ मशीन पार्ट्स में आधा किलो सोना भेजा गया और बाद में इसकी मात्रा बढ़ाकर एक किलोग्राम कर दी। जांच अधिकारियों ने बताया कि दोनों ने 16 दिसंबर को 35 किलो और 20 दिसंबर को 40 किलो और सोने की तस्करी की जानकारी प्राप्त हुआ है!
  • कानून को ठेंगा दिखाकर उल्हासनगर व मुंबई में गुटखे का ‘खुला’ बाजार ?

    By fast headline india →
    कानून को ठेंगा दिखाकर उल्हासनगर व मुंबई में गुटखे का ‘खुला’ बाजार ?

     उल्हासनगर, कल्याण में है कई बड़े गोदाम जहा से होता सप्लाई !

    स्थानीय प्रशासन की मिली भगत से फलफूल रहा कारोबार !

    उल्हासनगर - प्रतिबंधित होने के बावजूद राज्य में गुटखा धड़ल्ले से बिक रहा है।स्टेशन से सटे इलाकों से लेकर आवासीय क्षेत्रों तक गुटखे की अवैध बिक्री बगैर रोक-टोक जारी है। इस पर रोकथाम के लिए एफडीए ने अभियान चला रखा है, फिर भी दुकानदारों में बिक्री को लेकर रत्ती भर डर नहीं है। नतीजतन प्रतिबंध के 5 साल बाद भी उल्हासनगर, कल्याण और आसपास के अलावा मुंबई के कुर्ला सहित राज्य के कई हिस्सों में गुटखे की खरीद-फरोख्त जारी है। 
    "एफडीए के 'फूड सेफ्टी ऐंड स्टैंडर्ड' ऐक्ट के अंतर्गत महाराष्ट्र में गुटखा, सुगंधित सुपारी और खैनी के उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध है। इसका उल्लंघन करने वाले को 6 महीने की सजा या अधिकतम 25 लाख रुपये का जुर्माना या दोनों हो सकता है।आप भी करें शिकायत राज्य में 2012 से गुटखा की बिक्री और उत्पादन पर रोक है। इसके बावजूद भी बिक्री जारी है। आपके आसपास के इलाकों में भी अगर गुटखे की बिक्री हो रही है, तो आप एफडीए के हेल्पलाइन नंबर 022-26592363 और 022-26591959 पर इसकी शिकायत कर सकते हैं।"
    वही इस बारे में एफ डी ए कमिश्नर डॉ, पल्लवी दराडे का कहना है कि गुटखे सहित सभी प्रतिबंधित चीजो की ब्रिक्री रोकने के लिए हम प्रतिबद्ध है इसके लिए आये दिन कार्यवाई की जाती है ! लोग खुद भी इसकी शिकायत कर सकते है उस पर भी हम कार्यवाई करेगे ! गौरतलब हो कि पूरे महाराष्ट्र इसका सबसे बड़ा सप्लाई हो रहा है तो वो उल्हासनगर और कल्याण के जरिये हो रहा है इन दोनों जगहों पर अवैध गुटके को रखने के लिये कई बड़े गोदाम भी जहा पर बड़ी मात्रा में स्टाक रखा जाता है स्थानीय पुलिस की मिली भगत से ये पूरा कारोबार फलफूल रहा है ! इस समय उल्हासनगर के लगभग सभी पान की दुकानों पर आपको आसानी से गुटका मिल जाता कुछ किराना के दुकानदार भी है जो अपनी दुकानों पर गुटका बेचते है सबसे ज्यादा उल्हासनगर नम्बर तीन एक सलीम करके जिसके इधर खुलेआम गुटखा बेचा जाता है चोरी छुपे कल्याण, शहद, विठ्ठलवाड़ी, अम्बरनाथ और दूसरी तरफ मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) स्टेशन से सटे इलाकों में गुटखे का बाजार हमेशा सजा रहता है। दिन हो या रात, कभी भी यहां आसानी से गुटखा खरीदा जा सकता है। एलटीटी स्टेशन के बाहर फ्लाइओवर के नीचे तकरीबन दर्जन भर दुकानों पर गुटखे की बिक्री होती हैं। दुकानों के सामने सरेआम गुटखा लटकाकर बेचा जाता है। इसके बावजूद इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। एलटीटी के अलावा चर्चगेट और दादर में भी गुटखा कारोबार अवैध रूप से फल-फूल रहा है। दिन में इन जगहों पर चोरी छिपे गुटखा बेचा जाता है, तो रात के वक्त यह खुलेआम बिकता है। भांडुप, नाहूर और विक्रोली इलाकों में भी गुटखे की बिक्री जमकर होती है। इन इलाकों में जहां कुछ जगह सरेआम इसकी बिक्री होती है, वहीं कहीं-कहीं गुटखा चोरी छिपे बिकता है। एफडीए की कार्रवाई से बचने के लिए कुछ दुकानदार छिप-छिपाकर गुटखे की बिक्री करते हैं और केवल अपने नियमित ग्राहकों को ही बेचते हैं। यह दुकानदार बंद मुट्ठी से पैसे लेकर बंद मुट्ठी में ही गुटखा देते हैं, ताकि किसी को इस बारे में भनक न लगे।एफडीए (खाद्य विभाग) के संयुक्त निदेशक अढावे के मुताबिक प्रतिबंधित गुटखे की बिक्री को रोकने के लिए आए दिन अभियान चलाए जाते हैं। रोजाना हम भारी मात्रा में गुटखा सहित सुगंधित सुपारी और खैनी जब्त करते हैं। हालांकि, पड़ोसी राज्यों में गुटखे पर पाबंदी न होने के कारण राज्य में गुटखे की आवजाही पर रोक नहीं लग पा रही है। राज्य में गुटखा प्रतिबंधित कराने के लिए लड़ाई लड़ने वाले टाटा अस्पताल के मुख और सिर के कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ़ पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि सरकार को इस बारे में और सख्ती लाने की जरूरत है। प्रतिबंध के बाद भी राज्य में गुटखे का सेवन कम होने की बजाय बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों की हित को देखते हुए सरकार को इस बारे में और भी सख्त कदम उठाने होंगे। तंबाकू उत्पादों का सेवन कैंसर की एक मुख्य वजह है। एफडीए के 'फूड सेफ्टी ऐंड स्टैंडर्ड' ऐक्ट के अंतर्गत महाराष्ट्र में गुटखा, सुगंधित सुपारी और खैनी के उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध है। इसका उल्लंघन करने वाले को 6 महीने की सजा या अधिकतम 25 लाख रुपये का जुर्माना या दोनों हो सकता है।आप भी करें शिकायत राज्य में 2012 से गुटखा की बिक्री और उत्पादन पर रोक है। इसके बावजूद भी बिक्री जारी है। आपके आसपास के इलाकों में भी अगर गुटखे की बिक्री हो रही है, तो आप एफडीए के हेल्पलाइन नंबर 022-26592363 और 022-26591959 पर इसकी शिकायत कर सकते हैं।
  • सलमान खान के आपत्तिजनक बयान से बिफरा वाल्मीकि समाज ! कुछ प्रदर्शनकारियो ने थियेटर के मालिक को पीटा ?

    By fast headline india →
    सलमान खान के आपत्तिजनक बयान से बिफरा वाल्मीकि समाज ! 

     विभिन्न जगहों पर जलाये गए सलमान खान के पोस्टर पहनाई गयी चप्पलों की माला !

    उल्हासनगर-बॉलीवुड के सुपर स्टार सलमान खान द्वारा हाल ही में अपनी ड्रेस को लेकर आपत्तिजनक शब्दो का इस्तेमाल खुलेआम किया था,सलमान खान के इस आपत्तिजनक शब्दो से समूचा वाल्मीकि समाज आक्रोशित हो गया और" टाइगर जिंदा है" फ़िल्म के रिलीज होने से पहले और रिलीज होने के बाद वाल्मीकि समाज के युवको ने सिनेमा घर के बाहर जमकर उत्पात मचाते हुए फ़िल्म का पोस्टर जला दिया और कई जगहों पर सलमान खान के पोस्टर पर चप्पल की माला पहनाकर जूते-चप्पल से पोस्टर की पिटाई की जिसके बाद विभिन्न सिनेमाघरों के बाहर पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गयी और पुलिस सुरक्षा के बीच फ़िल्म रिलीज की गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अशोक, अनिल थियेटर के मालिक चंचलानी को कुछ प्रदर्शनकारियों के द्वारा पीटने का मामला सामने आया है इसमें उनके सर  में चोट लगने की बात की भी सामने आई है परंतु मामले पर चंचलानी चुप्पी रखे हुए है उन्होंने इस बारे में पुलिस में भी कोई शिकायत नही किया है !           
    गौर तलब हो कि हाल ही में सपमान खान ने एक ड्रेस पहना और ड्रेस पहनने के बाद कहा कि इस ड्रेस में "****" दिख रहा हु।सलमान खान के इस आपत्तिजनक शब्दो पर समूचा वाल्मीकि समाज बिफर गया ।वाल्मीकि समाज के नेता व टीओके 141 विधानसभा युवा अध्यक्ष सागर ऊंटवाल,नरेंद्र करौतिया,सुंदर मुदलियार,पीयूष वाघेला के साथ सैकड़ो युवको ने अनिल-अशोक सिनेमा घर के बाहर "टाइगर जिंदा है" फ़िल्म का पोस्टर जलाकर अपना आक्रोश जताया।जब कि वाल्मीकि समाज के नेता रवि खैरालिय,दीपक सौदे,सुरेश राठी,सोमवीर सहित सैकड़ों लोगों ने शहद फाटक पर सलमान खान की प्रतिमा बनाकर उसे चप्पलों की माला पहनाई और उस पर थूकते हुए फ़ोटो को चप्पलों से मारा            वाल्मीकि समाज के लोगो का सलमान खान के खिलाफ बढ़ते आक्रोश को देखते मध्यवर्ती पुलिस ने विभिन्न सिनेमागृहों को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया बावजूद छावा संघटना के प्रदेश कार्याध्यक्ष निखिल गोले ने वाल्मीकि समाज के युवको व पदाधिकारीयो के साथ सिनेमाघर के बाहर जमकर प्रदर्शन किया।
  • स्वच्छता मुहिम में अव्वल आने के लिए मनपा ने ली बाबाओं की शरण !

    By fast headline india →
    ध्वनि प्रदूषण करने वाले बाबा को मनपा ने बनाया ब्रांड एंबेसडर ! 


     उल्हासनगर-उल्हासनगर में जिस बाबा के ट्रस्ट के खिलाफ ध्वनि प्रदूषण का मामला दर्ज किया गया है, उसी ट्रस्ट के बाबा को मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर द्वारा ब्रांड एंबेसडर नियुक्त करने के कारण निंबालकर विवादों के घेरे में आ गए हैं।शासन की स्वच्छ भारत अभियान योजना उल्हासनगर मनपा द्वारा शुरू किया गया है।इस योजना को अधिक गति देने के लिए मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने दो ब्रांड एंबेसडर की नियुक्ति की है।ये दोनों ही शहर के धार्मिक प्रवचनकार व बाबा हैं।साईं कालीराम व रिंकू महाराज इन दोनों बाबा का नाम है।अभी कुछ दिनों पहले रिंकू महाराज के ट्रस्ट अमृतवेला के कुछ व्यक्तियों के खिलाफ ध्वनि प्रदूषण का मामला दर्ज हुआ था।इतना होने पर भी निंबालकर ने स्वयं ही रिंकू महाराज को नियुक्ति पत्र दिया।आपका सामाजिक व धार्मिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान रहा है और उल्हासनगर के नागरिकों पर आपका अच्छा प्रभाव होने के कारण आप स्वच्छता का जनजागृति करेंगे, ऎसी आप से अपेक्षा है,ऐसा इस नियुक्ति पत्र में लिखा है।इस घटना की तीव्र प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर हो रही हैं।
    मनपा आयुक्त का यह निर्णय गलत है, शहर में ऐसी कई सामाजिक संस्था, स्वयंसेवी संस्था व व्यक्ति है,जिन्होंने इस क्षेत्र में अच्छा कार्य किया है।इसमें से अगर किसी की नियुक्ति हुई होती तो उचित होता, ऐसी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर आ रही है।इस संदर्भ में जब मनपा आयुक्त से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ब्रांड एंबेसडर के तौर पर हमने सामाजिक व धार्मिक क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाले दो लोगों को चुना है और यह नियुक्ति उचित है।ध्वनि प्रदूषण के मामले में रिंकू महाराज के खिलाफ प्रत्यक्ष रूप से कोई मामला दर्ज नहीं है, वह मामला उनके ट्रस्ट पर हुआ है, ऐसा कहकर उन्होंने रिंकू महाराज का बचाव किया है।
  • मुंबई एयरपोर्ट पर पकड़ा गया स्मगलिंग किया 50 किलो का सोना !

    By fast headline india →
     मुंबई एयरपोर्ट पर पकड़ा गया स्मगलिंग किया 50 किलो  का सोना ! 

    DRI ने की कार्रवाई !डीएचएल कोरियर के जरिए पहुंचा मुंबई एयरपोर्ट  !

    मुंबई- मुंबई एयरपोर्ट पर सोने की तस्करी की एक बड़ी खेप पकड़ी गई है। डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) ने मुंबई एयरपोर्ट पर 50 किलो सोना जब्त किया है। ये सोना डीएचएल कोरियर के जरिए मुंबई एयरपोर्ट पहुंचा था। ये कार्रवाई डीआरआई और कस्टम विभाग ने संयुक्त रूप से की है। शुरूआती जांच में ये बात सामने आई है कि ये सोना खाड़ी देशों से आया था। डीआरआई के अधिकारियों के मुताबिक पकड़े गए 50 किलो सोने की तस्करी के तार खाड़ी देशों से जुड़े हुए हैं। कोरियर के लिए जिस पते का इस्तेमाल हुआ है वो फर्जी है। डीआरआई और मुंबई पुलिस मामले की जांच कर रही है। आपको बता दें कि सोने की तस्करी की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। हाल ही में छत्रपति शिवाजी इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर कस्टम यूनिट ने सऊदी अरब एयरलाइन के स्टाफ को सोने की तस्करी करते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। एयरलाइन स्टाफ के पास से सोने के 2 बिस्किट मिले थे। 
  • उल्हासनगर शहर के विकाश का डीपी प्लान या विनाशकारी डीपी प्लान ! राजनेताओं में जनता के मसीहा बनने की होड़ में शहर के डीपी प्लान की दी जा रही है बलि ?

    By fast headline india →
     उल्हासनगर शहर के विकाश का डीपी प्लान या विनाशकारी डीपी प्लान !

    राजनेताओं में जनता के मसीहा बनने की होड़ में शहर के डीपी प्लान की दी जा रही है बलि ?

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर का डेवलपमेंट प्लान को लेकर राजनीतिक श्रेय लेने में बीते दिनों से शहर के दो विधायकों में होड़ लगी है अपने हितों के लिए ये लोग विनाशकारी डीपी बोलने में जुटे है , सवाल यह है कि जब ये डीपी प्लान सरकार के पास गया था तो यही लोग स्थानीय बिल्डरों से सांठगांठ करके मनमानी तरीके से बदलाव कराने का रोल में भी इन्ही नेताओं का ही योगदान को नकारा नही जा सकता है ? परंतु आज जनता की नजरों में अपनी साख बचाने के लिए इनका नाटकीय ड्रामा चालू है ! परंतु जनता इनके झांसे में इसबार आने वाली नही है,कुलमिलाकर देखा जाय तो ये डीपी प्लान की कुछ कमियों को छोड़ दे तो शहर के लोगो की फायदे का ये डेवलपमेंट प्लान साबित होगा ! गौरतलब हो कि उल्हासनगर शहर के विकास के दृष्टिकोण से महत्त्वपूर्ण विकास प्रारूप अर्थात उल्हासनगर के डेवलपमेंट प्लान को मंजुरी मिलने जा रही है, अंतिम प्रक्रिया के तौर पर नागरिकों की जानकारी के लिए मनपा मुख्यालय में नए डीपी की प्रिंट सार्वजनिक की गई है. भले ही शहर का विकास डीपी से निश्चित होता है लेकिन प्रस्तावित डीपी को लेकर अनेक राजनीतिक दल असमंजस की स्थिति में कुछ इसमें फेरबदल चाहते है, तो किसी का कहना है विकास चाहिए पर किसी बेघर बेरोजगार नहीं. सबसे ज्यादा परेशानी शहर के रिंगरुट से होने जा रही है. नए डीपी में रिंगरूट 120 फूट का दर्शाया गया है, इससे कुछ लोगो के मकान व दुकाने टूटेगी जिसमें कुछ लोग बेघर व बेरोजगार हो जायेगे, मैदानों की जगह को रिहायशी करने आदि भी विरोध आम जनता के द्वारा किया जा रहा है. बता दे कि 43 साल के लंबे अंतराल के बाद शहर के विकास प्रारूप को मिली मान्यता मिलने जा रही है, उल्हासनगर मनपा का कार्यक्षेत्र 13 वर्ग किलोमीटर में फैला है तथा इस शहर की जनसंख्या लगभग 10 लाख के करीब है. इससे पहले 1974 में शहर का डीपी बना था, तब यह नगरपालिका थीं, उसके बाद एमएमआरडीए के माध्यम से शहर विकास प्रारूप बनाया लेकिन तकनीकी कारणों के चलते वह कार्यान्वित नहीं हो पाया. राज्य सरकार ने डेढ़ साल पहले नया डीपी बनाया था एवं इसी साल अप्रैल में राज्य सरकार ने इस डीपी का अध्यादेश निकाला है. कुछ महीने पहले हुए मनपा के आम चुनाव में लगभग सभी राजनीतिक दलों ने इस विषय को चुनावी मुद्दा बनाया था, भाजपा ने लोगों को तब आश्वासन भी दिया था कि मनपा में सत्ता बनाकर दीजिये डीपी एक महीने में मंजूर होगा, नए डीपी में 322 आरक्षण दर्शाए गए है, उल्हासनगर 1, 2 तथा 3 में एक भी खेल के मैदान का प्रावधान नहीं किया गया है.जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है इसमें राजनेताओं का कितना बड़ा रोल होगा परंतु अब जनता के समक्ष नायक बनने के लिए नाटकीय राजनीतिक ड्रामा चालू है ! विनाशकारी डीपी को बनाने वाले अब जनता के हितैसी बनने का रोल मॉडल बनने की नायाब कोशिस में जुटे हुए है !
  • कहने के लिए बेस्ट का छोटा कर्मचारी परन्तु है करोड़ो की बेनामी संपत्तियों का मालिक ?

    By fast headline india →
    कहने के लिए बेस्ट का छोटा कर्मचारी परन्तु है करोड़ो की बेनामी संपत्तियों का मालिक ? 

    कहा से मिला कुबेर का खजाना या करेप्शन की काली कमाई ! 
     मामला पहुचा बिजेलेन्स के पास जांच के बाद उठे रहस्य से पर्दा ! 

     मुंबई-मुंबई बेस्ट इलेक्ट्रिसिटी का कर्मचारी, जो करोड़पति है,उसके ठाट से आपकी आंखे फटी की फटी रह जाएगी जी हां डेढ़ दसक से ज्यादा समय से कार्यरत बेस्ट का यह कर्मचारी मुंबई में काम कर रहा है, बेस्ट में काम करते हुए उसने अपने बेटे को विदेश में शिक्षा के लिए भेजा और बेटी को डॉक्टरी पढ़ाया बात यही पे खत्म नही होती इसके अलावा नवी मुंबई तुर्भे के सेक्टर-२१ में सिडको के आधा दर्जन के करीब मकान और जनता मार्केट में २ दुकान बीवी-बेटे और उसके नाम पर है, साथ ही नवी मुंबई के खारघर में २ बीएचके के २ फ्लैट है वहीं पनवेल में बंगले और नवी मुंबई के उल्वे में बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन का काम जारी है साथ ही उत्तर प्रदेश के गाजीपुर लंका में एक बंगला है इसके साथ इस कर्मचारी के पास और भी कई बेनामी संपत्तियां है ! अब सवाल उठता है कि आखिर इतनी दौलत बेस्ट में काम करते हुए कैसे कमाई ? 

    इसका हिसाब नवी मुंबई की एक वकील ने मांगा है उन्होंने एंटी करप्शन के डायरेक्टर जनरल को शिकायत कर जांच की मांग की है आपको बता दें कि शिवकुमार वर्मा ने अपनी बेटी की शादी उत्तर प्रदेश के एक बंगले में धूमधाम से की थी इस शादी में उसने पानी की तरह पैसा बहाया था अपने दामाद को लाखों रुपयों की गाड़ी भेंट की थी अपनी बेनामी संपत्ति के खुलासे की जानकारी शिवकुमार वर्मा को मिल गई, जिसकी वजह से बेस्ट से वी.आर.एस. लेने के लिए उसने प्रार्थना पत्र दिया| लेकिन वकील शारदा शाह की मांग है कि जबतक जांच पूरी नहीं होती उसे वी.आर.एस. नहीं दिया जाए फिलहाल विजिलेंस के हाथ में यह मामला पहुंचा हुआ है अब देखना होगा कि जांच में और कितनी बेनामी संपत्ति का खुलासा होगा?
  • जॉली जाती-प्रमाणपत्र पाये जाने पर राकांपा नगरसेविका का पद हुआ रद्द !

    By fast headline india →
    जॉली जाती-प्रमाणपत्र पाये जाने पर राकांपा नगरसेविका का पद हुआ रद्द ! 

     उल्हासनगर महानगर पालिका के चुनाव में पैनल 17 से राकांपा की टिकट पर निर्वाचित हुई नगरसेविका पूजा लबाना का जाती-प्रमाणपत्र जाली पाये जाने पर कोकण विभागीय आयुक्त ने पूजा लबाना का नगरसेवकी पद रद्द  करने का आदेश दे दिया है।कोकण आयुक्त द्वारा नगरसेवक पद रद्द करने के बाद पूजा लबाना न्यायालय जा सकती है।                    
    गौर तलब हो कि उमनपा चुनाव में ओबीसी वार्ड में कांग्रेसी नगरसेविका जया साधवानी के सामने राकांपा की कु.पूजा श्याम कौर लभाना चुनाव मैदान में थी और वह जया साधवानी को पराजित कर विजयी हुई।कांग्रेस की टिकट पर पराभूत हुई जया साधवानी ने  पूजा कौर द्वारा चुनाव आयोग के समक्ष दिया गया ओबीसी प्रमाणपत्र बोगस है ऐसी शिकायत साधवानी ने कोकण विभागीय जात वैधता जांच समिति के समक्ष दर्ज करवाई । कल हुई सुनवाई के दौरान कांग्रेस की पूर्व नगरसेविका जया मोहन साधवानी की शिकायत पर उल्हासनगर के प्रभाग क्रमांक 17 से ओबीसी  वार्ड से राष्ट्र्वादी की टिकट से चुनकर आई कु पूजा श्याम कौर लभाना का जाति वैधता  प्रमाण पत्र कोकण आयुक्त ने रदद् कर दिया है, कोकण विभागिय वैधता प्रमाण समिति के इस निर्णय से राष्ट्र्वादी कांग्रेस को भारी झटका लगा है  । जया साधवानी  की तरफ से कोकण आयुक्त के समक्ष वकील रामचन्द्र मेदाड़कर ने जबरदस्त जिरह करके पूजा कौर के जाति प्रमाण पत्र को अवैध साबित किया बतादें की पूजा कौर ने अपनी जात लभाना बताई थी जबकि लभाना ये जात नही है मूल जात लभान है इस तरह की जिरह करके पूजा कौर का प्रमाण पत्र खारिज करवाया।
  • उल्हासनगर शहर के प्रदूषण के लिए मनपा प्रशासन जिम्मेदार महासभा में नगरसेवकों ने लगाया आरोप

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर के प्रदूषण के लिए मनपा प्रशासन जिम्मेदार महासभा में नगरसेवकों ने लगाया आरोप 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा क्षेत्र में जलप्रदूषण, वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण का प्रमाण बढ़ गया है लेकिन मनपा प्रशासन नागरिकों के जीवन से खिलवाड़ कर रही हैं, ऐसा आरोप कल के सर्वसाधारण सभा में नगरसेवकों ने लगाया है।उल्हासनगर शहर के सभी रास्तों को खोदा गया है और रास्तों के खड्डे बंद नही किए जाते, जिसकारण बड़े पैमाने पर धूल के कण हवा में फैल जाते हैं, जिससे लोगों को दमा, अस्थमा और टीबी जैसे रोगों का प्रमाण बढ़ रहा है, ऐसा आरोप भाजपा नगरसेवक जमने पुरुस्वानी ने लगाया है।
    कल शहर के पर्यावरण के संदर्भ में हो रही चर्चा शुरू होने पर जमने पुरुस्वानी ने ऐसा आरोप लगाया।शिवसेना नगरसेवक धनंजय बोडारे ने जब शहर अभियंता राम जयसवाल से पूछा कि ध्वनि, वायु और जल प्रदूषण का औसत कितना रहना चाहिए, तो राम जायसवाल इसका जवाब नहीं दे सके।बोडारे ने कहा कि पर्यावरण की जो रिपोर्ट पेश की गई है, इससे कई गुना ज्यादा शहर में प्रदूषण है।एवरेज पॉल्युशन इंडेक्स नापने के यंत्र मनपा के पास नहीं है।कुछ वर्षों पहले चाँदीबाई कॉलेज और श्रीराम चौक पर यह यंत्र बिठाया गया था, लेकिन वह भी बंद पड़ी है।प्रदूषण रोकने के लिए अभी तक कोई उपाय या योजना मनपा ने नही बनाया है, ऐसा आरोप बोडारे ने लगाया है।शिवसेना नगरसेविका ज्योति माने, ज्योत्सना जाधव,नगरसेवक सुमित कांबले ने आरोप लगाया कि अनेकों विभाग में जलवाहिनी टूटी हुई है, जिस कारण लोगों को दूषित पानी पीना पड़ता है।शहर का वायु प्रदूषण कम करने के लिए शहर के नागरिकों को सायकिल का इस्तेमाल करें, अनावश्यक होर्न न बजाए, सार्वजनिक व निजी कार्यक्रम में डीजे का उपयोग न करें, ट्रैफिक काम करने के संदर्भ में उपाय करने का सूचना, इस विषय पर नगरसेवक किशोर वनवारी ने मनपा के अधिकारियों और नगरसेवकों को सबसे पहले सायकिल चलाने की शुरुआत करने की सलाह दी। शहर के विकासकार्य के लिए निधि उपलब्ध कराने की मांग जब कुछ नगरसेवकों ने की तो मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने कहा कि मनपा की आर्थिक स्थिति बहुत खराब है, इस बार का बजट बड़े घाटे का बजट जाएगा।अगर मनपा की आर्थिक स्थिति इतनी खराब है तो आयुक्त अपने एट्रोसिटी के मुकदमे के लिए मनपा से क्यों1 खर्चे की मांग कर रहे हैं, ऐसा प्रश्न शिवसेना नगरसेवक अरूण आशान ने उपस्थित किया।इस प्रश्न के कारण आयुक्त निंबालकर नाराज हो गए और उन्होंने कहा कि महानगरपालिका अधिनियम ४८१के अनुसार मुझे इस प्रकार का खर्च करने का अधिकार है,और अगर तुम इस मामले में ज्यादा गहराई तक जाओगे तो तुमको यह बहुत महंगा पड़ेगा,ऐसी चेतावनी अरुण आशान को दी है !
  • रेलवे टिकट निकालने आये लोगो पर दलालो ने किया हमला , आरपीएफ देखती रही तमाशा !

    By fast headline india →
    रेल टिकट के लिये लाइन में खड़े लोगो के साथ दलालों के गुट ने किया मारपीट,२ महिला सहित ३ गिरफ्तार  
         
                स्वदेश मालवीय
    डोंबिवली-डोंबिवली रेल्वे स्टेशन पर भी खुलेआम गुंडागर्दी दिखने मिली हैं. रविवार रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे रिजर्वेशन टिकट की लाइन मे खड़े होने पर रेल्वे स्टेशन मे एक गिरोह ने महिलाओ  और पुरुषों को धमकी देते हुये बेरहमी से पिटने की घटना सामने आई है. इस घटना के समय आरपीएफ जवान सामने खडी थी और मारपीट करने वाला गिरोह टिकट दलाल थे ऐसा आरोप भी जखमी लोगो ने लगाया हैं. 
    इस घटना को लोहमार्ग पुलिस स्टेसन मे मामला दर्ज किया गया हैं. जिसमे दो महिला और एक पुरुष को गिरफ्तार भी किया गया हैं.        अखिलेश गुप्ता, मिथिलेश मिश्रा और महिंद्रा मिश्रा गिरफ्तार लोगो के नाम हैं. डोंबिवली रेल्वे स्टेशन पर प्लॅटफॉर्म न. 1 के पास आरक्षित टिकट के लिये खिडकी हैं. उन्नाव जिला जाने के लिये टिकट लेने के लिये सविता साहू , रन्नू  साहू , रविशंकर साहू भी इसी लाइन मे खड़े थे. देर रात को एक गिरोह आया और लाइन खड़े लोगों को पीछे जाने के लिये कहा. लेकिन लाइन में कड़े उक्त लोगो ने पीछे जाने से मना किया. तो गुस्साये गिरोह ने महिलाओं के साथ गाली गलौज करना सुरू किया. तभी रविशंकर साहू नामक व्यक्ति के कुछ पहचान के लोग आये और उन्होने कहा की आप लोग गालीगलौज न करे. इस बीच असमाजिक तत्व ने सूरज गुप्ता नामक युवक को पीटना सुरू दिया. सूरज को छुड़ाने आयी उसकी मॉ और लाइन में खड़े चंद्रकिशोर साहू को भी गिरोह के सदस्यों ने लातघुशो से मारना सुरू कर दिया. वही बगल मे पड़ी फर्स( लादी) से वार करने से सूरज के सिर फट गया. उसे गंभीर चोट लगी. महिलाओं को खींच कर वहा से बाहर ले जा कर मारा. उसकी आंखो के पास गहरी चोट आयी है तो किसी के हाथो मे और कपड़ा फाड़ने के बाद मोबाईल भी उनके तोड़ दिया गया. इतना सब कुछ होता रहा और आरपीएफ तमाशाबीन बनी रही. आरपीएफ इनकी मदद करने के बजाय गिरोह को मदद करती नजर आयी .ऐसा आरोप जख्मियों ने लगाया हैं. बाद मे सूरज को तुरंत उठाकर डोम्बिवली के अस्पताल शास्त्रीनगर हॉस्पिटल मे उपचार के लिये ले जाया गया. रात मे पुलिस ने मामला दर्ज भी करने से इंकार कर दिया था. लेकिन दोस्ताना ग्रुप अध्यक्ष अभयलाल दुबे और सामाजिक संस्था के लोगो के आने के बाद मामला दर्ज किया गया. इस मामले मे तीन अरोपियो को गिरफ्तार किया गया हैं. जिसमे दो महिला और एक पुरुष शामिल हैं.  टिकट दलाल को स्थानिक प्रशासन का आशीर्वाद होने का आरोप भी किया गया. इस बारे मे डोंबिवली लोहमार्ग पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक गौरीशंकर हिरेमठ ने बताया की , ये सब गलत हैं , पुलिस ने जल्दी से घटनास्थल पहुंची और आरोपियो को गिरफ्तार किया और वो दलाल नही हैं ऐसा  स्पष्ट किया हैं.
  • उमपा के अधिकारियों में गुटबाजी चरम पर !

    By fast headline india →
    उमपा के अधिकारियों में गुटबाजी चरम पर !

    दो गुटों में बटा पूरा अधिकारियों का महकमा !

     एक जो किसी कानूनी पचड़े में फंसे है,दूसरा जिनका प्रमोशन किन्ही कारणों से लड़का हुआ है !


    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा में मागासवर्गीय भर्ती घोटाला प्रकरण शीतकालीन अधिवेशन में गूंज रहा है।इस प्रकरण में सहायक आयुक्त अलका पवार पर आक्षेप लगाया जा रहा है।मुझे बिना वजह तकलीफ दिया जा रहा है,इस भर्ती घोटाले में लगभग दर्जनों अधिकारी दोषी है,उनपर कार्रवाई क्यों नहीं कि जा रही हैं, ऐसा प्रश्न अलका पवार ने उपस्थित किया है।इस प्रकरण के कारण अधिकारियों में गुटबाजी पुनः चरम पर है।
    सन २००३ में मागासवर्गीय भर्ती घोटाला प्रकरण की अभी भी जांच प्रक्रिया शुरू है।स्व. पत्रकार विश्वास शेंडे द्वारा इस घोटाले का खुलासा करने के बाद असीम गुप्ता की एक सदस्यीय जांच में अनेक कर्मचारी व अधिकारी दोषी पाए गए हैं।लोकायुक्त द्वारा भी इस प्रकरण की जांच की गई थी मिस प्रकरण में सहायक आयुक्त अलका पवार द्वारा फर्जी कागजात प्रस्तुत करने का उल्लेख है।पिछले सर्वसाधारण सभा मे नगरसेविका शुभांगी निकम और नगरसेवक अरुण आशान ने इसी मुद्दे पर अलका पवार को तत्काल बर्खास्त करने की मांग आयुक्त राजेंद्र निंबालकर से किया था,इस बार के शीतकालीन अधिवेशन में भी अलका पवार का मुद्दा उठाया गया।सोशल मीडिया में भी इस विषय की चर्चा जोरों में शुरू है। इस संदर्भ में अबतक मौन अलका पवार आक्रामक हो गई हैं, उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राजनीति हो रही हैं, मेरे अनुभव के दाखिले पर आक्षेप किया जा रहा है।लेकिन केवल अनुभव इस पद के लिए शर्त न होने के कारण इस आक्षेप का कोई मतलब नहीं है।इस प्रकरण में ऐसे१२ अधिकारी है,जिनकी नियम के बाहर और गैर मार्ग से पदोन्नति की गई हैं, उनपर कोई कार्रवाई क्यों नहीं कि जा रही है,ऐसा प्रश्न उन्होंने महापौर और आयुक्त को पत्र लिखकर पूछा है।सोशल मीडिया पर भी अलका पवार ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।इस प्रकरण से अधिकारियों की नियुक्ति के संदर्भ में राजनीति और प्रशासकीय अधिकारियों की गुटबाजी बढ़ गई है।मनपा की प्रभारी सचिव प्राजक्ता कुलकर्णी के पास योग्यता और अनुभव होने के बावजूद उन्हें सचिव पद पर स्थाई नहीं किया गया है।उन्हें इस पद से हटाने के लिए अधिकारियों की एक लॉबी सक्रिय है।अग्निशमन विभाग में भी पूर्व विभाग और पश्चिम विभाग ऐसे दो स्वतंत्र अधिकारी नियुक्त करने के कारण यहां भी गुटबाजी दिखाई दे रही है।आरोग्य विभाग में भी सीनियारिटी को नजरअंदाज करके विनोद केणि की नियुक्ति की गई है।मनपा के जनसंपर्क अधिकारी पद पर युवराज भदाने ने जो अतिक्रमण, कर विभाग का अतिरिक्त भर संभाल रहे थे,उन्होंने कुछ समय तक कड़ी कार्रवाई की लेकिन बाद में वे भी विवादों के घेरे में आ गए।उनकी उपायुक्त पैड पर नियुक्ति की चर्चा होने के बाद अनेक नगरसेवकों ने अपना विरोध जताया है, इसके बाद आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने कार्यकारी अधिकारी के पद पर भदाने की नियुक्ति की।मनपा के अनेक विभागों पर भदाने का कंट्रोल रहे,ऐसा उद्देश्य था,इसकारण अधिकारियों का एक गुट नाराज हो गया है।अधिकारियों के इस विवाद के कारण प्रशासकीय कार्य में समरसता आना कठिन हो गया है।इसी में आयुक्त राजेंद्र निंबालकर एट्रोसिटी मामले में पुलिस और न्यायालय प्रक्रिया में अटके है।और अतिरिक्त आयुक्त विजया कंठे कथित तौर पर घूस मांगने के प्रकरण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।अब प्रशासन की विकट परिस्थितियों को ठीक करने का एक बड़ा संकट निर्माण हो गया है।
  • हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पुलिस ने किया पर्दाफाश ! दो हीरोइन गिरफ्तार एक रात एक लाख !

    By fast headline india →
    हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पुलिस ने किया पर्दाफाश !  दो हीरोइन गिरफ्तार एक रात एक लाख !

    टीवी सीरियल और टॉलीवुड से जुडी दो एक्ट्रेस को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    मुंबई -पुलिस ने हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है।चौंकाने वाली बात यह है कि इस रैकेट में टीवी सीरियल और टॉलीवुड से जुडी दो एक्ट्रेस पुलिस के जाल में फंसी हैं। कस्टमर के साथ एक रात गुजारने के ये एक्ट्रेस 1 लाख रुपए लेती थी।
    स्पेशल टास्क फाॅर्स की टीम को इनफार्मेशन मिली थी कि हैदराबाद के पॉश बंजारा हिल एरिया के होटल ताज डेक्कन में कुछ ऐसा हो रहा है जिसे न तो समाज स्वीकार करता और न ही कानून। स्पेशल टास्क फाॅर्स को होटल में हाईप्रोफाइल सेक्स ‘मंडी’ आबाद होने की इनफार्मेशन मिली थी।एसटीएफ ने कुछ दिन ट्रैप लगाया और फिर ‘सौदा’ करने के लिए डमी कस्टमर भेजा। ‘डील’ लॉक होने के बाद जब पुलिस का कस्टमर होटल रूम में पहुंचा तो उसके सामने दो खूबसूरत लड़कियां थी। एक लड़की ने बताया कि वो टीवी सीरियल की एक्टर है जबकि दुसरी ने खुद को टॉलीवुड की एक्ट्रेस बताया। इनफार्मेशन कंफर्म होने के बाद एसटीएफ टीम ने होटल में रेड की और दोनों एक्ट्रेस को रंगेहाथ धर लिया।दोनों एक्ट्रेस के अलावा दो दलाल और हैदराबाद के बड़े घराने के दो लड़कों को भी पुलिस के जाल में फंस गए,लेकिन इस हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का मास्टरमाइंड पुलिस की आंख में धूल झोंक गया। पुलिस इन्वेस्टीगेशन कर रही है। पुलिस का दावा है कि इस हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट में हैदराबाद के ‘बड़े’ लोग भी शामिल हो सकते हैं।

  • नगरसेविका ज्योत्स्ना जाधव का सभागृह में जमीन पर बैठकर किया आंदोलन !

    By fast headline india →
    नगरसेविका ज्योत्स्ना जाधव का सभागृह में जमीन पर बैठकर किया आंदोलन !

     उल्हासनगर बचाव संघर्ष समिती की तरफ से मनपा पर विशाल मोर्चा !

     उल्हासनगर - शनिवार की महासभा के दौरान डी पी ( डलेपमेंट प्लान)विकास आराखडा के जोरदार विरोध करते हुए शिवसेना नगरसेविका व नियोजन विकास सभापती ज्योत्स्ना सुरेश जाधव ने सभागृह में जमीन पर बैठकर अपना विरोध जताया .यह डीपी नही शहर के गरीब नागरिको को उद्धवस्त करने की योजना है। शासन ने उल्हासनगर शहर के लिए डीपी (विकास आराखडा) अहमदाबाद की कंपनी ने वातानुकूलित कमरे में बनाया गया है.डीपी बनाने से पहले शहर का कोई भी सर्वे नही किये जाने औए 3 नगरसेवकों का चुनाव शासंन कि कमिटी ने द्वारा चुनाव किया गया था उनसे भी डीपी को लेकर कोई राय नही लिए जाने का आरोप ज्योत्स्ना जाधव ने लगाया है।

    यही नही शासन के ब्लॉक्स , बैरक पर डीपी के नाम पर बुलडोजर घूमने जाने वाला है. व्हीनस टॉकीज से छत्रपती शाहू महाराज उड्डाण पूल सड़क 12 वर्ष पहले 80 फूट बनाया गया था.अब नए डीपी में इसे 100 फूट का बनाया जाएगा . जिससे कई दुकान और मकान टूटने से सैकड़ो लोग बेघर हो जाएंगे. जब तक डीपी से बाधित होने वाले लोगो का पुनर्वस करने का विचार नही किया जाता तब तक मे नियोजन विकास सभापती होने के नाते इसका जोरदार विरोध करूँगी.और महासभा में ज्योत्स्ना जाधव जमीन पर बैठ गयी.

    शनिवार मनपा मुख्यालय पर उल्हासनगर बचाव संघर्ष समिती की तरफ से डीपी (विकास आराखडा)के विरोध में भव्य मोर्चा निकाला गया था जिसमे सम्राट अशोकनगर ,रेणुका सोसायटी , फर्स्ट गेट, पंजाबी कॉलनी , रमाबाईं आंबेडकर नगर , आझादनगर में रहने वाले हजारों लोग शामिल हुए थे.मोर्चा रमाबाई अम्बेडकर स्कुल से शिवाजी चौक होते हुये उल्हासनगर म्युनिसिपल कारपोरेशन तक निकाला गया. उल्हासनगर बचाव संघर्ष समिति के सिष्ठमण्डल ने मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बलकर को निवेदन देते हुए कब्रस्तान की माँग, 120 फीट के रींगरोड का विरोध और स्कुल की जगह कब्रस्तान का आरक्षण रद्द करने की मांग की है.उल्हासनगर बचाव संघर्ष समिति की तरफ से आयोजित इस मोर्चे का नेतत्व शिवाजी रगड़े, फिरोज खान,नगरसेविका श्रीमती सविता तोरणे रगड़े, महादेव सोनावणे , राजु सोनावणे, ज़मील खान, प्रल्हाद गायकवाड़, छावा संघटना के निखिल गोले , जगदीश तेजवानी, कुमार रेड्डीयार, प्रबल संघटना के राम शर्मा ,महेश माखीजा , परमानंद गेरेजा,पूज्य पंचायत शॉपकीपर एसोसिएशन उल्हासनगर - 4 के अध्यक्ष महेश मिरानी,चन्दन तिलोकानी, दिलीप आहूजा, अनिल दलवानी , हरी चावला, भीषम आसूदानी, नन्दलाल मेहरचंदानी, कैलास साबळे, प्रबल संघटना की महिला अध्यक्षा मोनिका दुसेजा, समाज सेविका आशा चौधरी,पंकज गुरव , सोनू आहूजा अजय मटवानी, किशिनचंद गोडवानी, प्रदीप दूर्गीया सहित राजश्री शाहू विद्याप्रसारक विद्यालय के विद्यार्थी , शिक्षक , कर्मचारी और कई संस्थाएं व मोबाइल बाज़ार, शिवाजी चौक स्टेशन रोड बाज़ार,इलेक्ट्रॉनिक बाज़ार सहित हज़ारों की संख्या में जनता शामिल हूँई ।
  • स्थाई समिति चेयरमेन लुंड ने किया नए डीपी प्लान को रद्द करने की मांग !

    By fast headline india →
    स्थाई समिति चेयरमेन लुंड ने किया नए डीपी प्लान को रद्द करने की मांग !

     डीपी प्लान की कमियों को किया उजागर ! 

    मुख्यमंत्री से मिलकर नए डीपी प्लान को रद्द करके मुंबई की तरह नया डीपी प्लान लाने की करेंगी मांग ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका में शनिवार की महासभा में स्थाई समिती सभापती कंचन अमर लुंड ने शहर हित को देखते हुए डेवलपमेंट प्लान (डीपी) का विरोध किया इसके साथ उन्होंने कुछ अहम मुद्दे पर सवाल भी उठाएं जिसमें था शहर के पहले डीपी प्लान 1974 में जो एरिया रेसिडेंशियल ज़ोन का कुल ज 536 हेक्टर था जिसको घटाकर 513 हेक्टर कर दिया गया है यह बात बिल्कुल शहर हित में नही है बता दे कि 1974 में उल्हासनगर की जनसंख्या 1लाख 68 हजार462 लोगों की थी और अब करीब करीब 7 लाख से ज्यादा लोग शहर में रहते हैं इसको देखते हुए रेसीडेंस जोन ज्यादा होना चाहिए था उसको कम कर दिया है दूसरे आरक्षण जो कम होने चाहिए था उसको ज्यादा किया गया है! 2005 में सभी अवैध बांधकाम रेगुलाईज करने का स्पेशली उल्हासनगर शहर के लिए ऑर्डिनेंस 2006 एक्ट के अनुसार लाया गया था जिसमें कई प्रॉपर्टीज को लीगल किया गया था तो सवाल यह है कि आज उन प्रॉपर्टी के ऊपर नए रिजर्वेशन कैसे लगाया जा सकता हैं और मनपा द्वारा प्लान देकर बनाइ गई नई इमारतों को नजर अंदाज करते हुए उन्ही एरिया से नए रोड़ की बनाने की मंजूरी इस नए डेवलपमेंट प्लान में दिया गया है इसको देखते हुए यह पता लगता है कि यह जिस एजेंसी ने शहर का डीपी प्लान बनाया है उसने इस शहर का सही सर्वे ठीक ढंग से नहीं किया है और उसने सभी चीजों को नजरअंदाज करके सिर्फ ऑफिस में बैठ कर अपना काम किया है जिसकी वजह से शहरवासियों को बड़ी मुसीबत का सामना करना आने वाले समय में करना होगा इसी को ध्यान में रखते हुए हमनें अपना विरोध दर्ज करवाते हुए इस नए डीपी प्लान को रद्द करने के लिए महासभा में आवाज उठाई है ! हम इस डीपी को रद्द करने के लिए हम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मिलकर मांग करेंगे कि जैसे मुंबई के डी पी प्लान को चेंज करने का आदेश दिया था वैसे ही उल्हासनगर शहर के नए डीपी प्लान चेंज करके शहर हित वाला नया डीपी प्लान बनाकर लाया जाए यही हमारी मांग होगी !
  • उमपा की आज की महासभा में डेवलपमेंट प्लान के विषय की चर्चा पर होगा घमासान !

    By fast headline india →
    उमपा की आज की महासभा में डेवलपमेंट प्लान के विषय की चर्चा पर होगा घमासान ! 

     डेवलपमेंट प्लान जलाने वाले मनसे नेता गिरफ्तार,फिर हुए रिहा ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर को 44 वर्षो के बाद लागू किया जाने वाले उल्हासनगर डेवलपमेंट प्लान (विकास प्रारूप) शहर वाशियो के लिए विनाशकारी है इस विनाशकारी विकास प्रारूप के खिलाफ राजनीतिक पार्टियों सहित सामाजिक संस्थाओं ने भी जमकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है,इसी को लेकर आज होने वाली महासभा में बहस पर घमासान रूप लेने के पूरे आसार है क्यो की विरोधी पक्ष इसका विरोध करने का मन पहले से बना लिया है,शिवसेना,आरपीआई,भारिप समेत सभी पार्टीया इसका महासभा में विरोध करना तय है ! इस कि शुरुआत तो मनसे ने पहले ही शुरू कर दिया है विनाशकारी डीपी से आक्रोशित महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने आज शिवाजी चौक पर डेवलपमेंट प्लान का अग्निदाह कर विनाशकारी डीपी का निषेध किया,डीपी जलाने वाले नेताओं व कार्यकताओ को पुलिस ने गिरफ्तार कर रिहा कर दिया।                     गौर तलब हो कि 44 वर्षो बाद उल्हासनगर के डेवलपमेंट प्लान को मंजूरी प्रदान की गई है,इस डीपी में रिंग रोड 120 फुट का होने की वजह से रिंग रोड में करीबन 3 लाख रहिवाशियो के बाधित होने की आशंका है,इस डीपी में सबसे ज्यादा फायदा बिल्डरों का होगा।सेंसन डीपी में अति महत्वपूर्ण स्थिति में बीपीएमसी एक्ट 37 (1) के तहत कुछ बदलाव किया जा सकता है जब कि एक्सटेंडेड प्लान में ईपी में 137 मोडिफिकेशन किये गए है जिसका सजेशन और आब्जेक्सन 4 जनवरी तक कोकण आयुक्त के सह संचालक के पास शहर वाशी कर सकते है।उल्हासनगर में दिन ब दिन डीपी के खिलाफ शहर वाशियो का बढ़ते आक्रोश को देखते विभिन्न पार्टियों की मांग पर महापौर मीना आयलानी ने डीपी पर चर्चा करने के लिए शनिवार को विशेष महासभा बुलाई है।                 महासभा के पहले मनसे शहर अध्यक्ष संजय घुघे,प्रदीप गोडसे,कल्याण जिल्हा उपाध्यक्ष सचिन कदम, मनविसे कल्याण जिल्हा उपाध्यक्ष बंडू दादा देशमुख,मनविसे शहर अध्यक्ष मनोज शेलार ने कहा कि इस चर्चा में सत्ता और विपक्ष कोई निर्णय ले या न ले परंतु शहर की इस विनाशकारी डीपी का मनसे विरोध करते हुए रास्ते पर उतरेगा क्योंकि यदि इस डीपी नुशार शहर का डेवलपमेंट शुरू किया गया तो यह शहर तो रहेगा लेकिन यहां रहिवाशी नही होंगे डीपी का विरोध करते हुए मनसे नेता संजय घुघे,सचिन कदम,प्रदीप गोडसे,बंडू दादा देशमुख,मैनुद्दीन शेख,सचिन बेडके सहित दर्जनों मनसे सैनिकों ने आज शिवाजी चौक पर डीपी का अग्निदाह किया।डीपी का अग्निदाह करने वाले नेताओं को सेंट्रल पुलिस ने गिरफ्तार कर तत्काल रिहा कर दिया।
  • मागसवर्गीय घोटाले का मामला गुंजा नागपुर अधिवेशन में प्रभाग अधिकारी का पद छीनने का दिया आदेश !

    By fast headline india →
    मागसवर्गीय घोटाले का मामला गुंजा नागपुर अधिवेशन में प्रभाग अधिकारी का पद  छीनने का
     दिया आदेश ! 

     प्रभाग समिति सभापति शुभांगनी निकम ने उठाया था मनपा  महासभा में मागसवर्गीय घोटाले का मामला ! 

     उल्हासनगर -उल्हासनगर हमेसा अबैध निर्माणों को लेकर विवादित मनपा प्रभाग समिति एक की प्रभाग अधिकारी के मामले में महाराष्ट्र सरकार के नगरविकास राज्यमंत्री रणजीत पाटील द्वारा उल्हानगर मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर को अलका पवार को प्रभाग अधिकारी पद से हटाने का आदेश दिया है।जिससे लिपिक पद से प्रभाग अधिकारी पद पर पदोन्नति की गई अलका पवार की मुश्किलें बढ़ गयी है। मिली जानकारी अनुसार ने आदेश में कहा है की  जब तक मागास वर्गीय घोटाले की जांच पूरी नही हो जाती तब तक अलका को वापस लिपिक पद पर रखा जाय ऐसा आदेश नगरविकास राज्यमंत्री रणजित पाटील ने गुरूवार को विधानपरिषद में दिया है। 
    बता दे की  उल्हासनगर मनपा  में टीम ओमी कालानी की नगरसेविका प्रभाग समिति-2 की सभापती  शुभांगनी निकम ने मनपा की महासभा में लक्ष्य वेदी के जरिये मनपा में हुए मागसवर्गीय घोटाले की जांच पुनः करने और दोषियों पर कार्यवाही करने की मांग की थी। जिसपर शिवसेना नगरसेवक अरुण  आसान ने मनपा प्रशासन को जमकर घेरा था।                वही गुरुवार को राज्य परिषद में विधान परिषद सदस्य प्रवीण दरेकर  लक्षवेधी के जरिये उक्त मुद्दा उठाया प्रवीण के द्वारा उठाये गये मुद्दे को महाराष्ट्र सरकार में नगर विकास राज्यमंत्री पाटील ने गम्भीरता से लेते हुए जवाब देकर   कहा की उल्हासनगर मनपा की सहायक आयुक्त अलका पवार की  वर्ष 2003 में के दौरान की गई भर्ती  प्रक्रिया अंतर्गत वरिष्ठ लिपिक के पद पर नियुक्ति की गई थी।परंतु मागसवर्गीय भर्ती घोटाले के जांच की आंच में फंसी विवादित लिपिक अलका पवार को  सीधे उल्हासनगर   के सहायक आयुक्त पद पर पदोन्नती कर देना नियमानुसार गलत है। ऐसे में नगरविकास मंत्री रणजीत पाटिल ने अलका पवार को तत्काल सहायक आयुक्त के पद से हटाकर उन्हें वापस लिपिक पद पर नियुक्त करने का आदेश उल्हासनगर मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर को दिया है।लक्ष्यवेदी के जरिये उठाये गए इस मुद्दे पर विधान परिषद सदस्य जयंत पाटील- तथा प्रसाद लाड ने महत्वूपर्ण भूमिका अदा की। बता दे की अलका पवार उल्हासनगर मनपा के प्रभाग समिति 1 में सहायक आयुक्त पद पर पदोन्नति की गई है। जिनके प्रभाग अंतर्गत  बढ़ रहे अबैध निर्माणों को लेकर वो अक्सर विवादों में रही है। गत एक माह पूर्व मनपा महासभा में अलका पवार को लेकर नगरसेवकों द्वारा मुद्दा उठाये जाने पर मनपा महापौर मीना कुमार आयलानी ने मनपा आयुक्त को पद से हटाने का आदेश दिया था।परंतु सत्ता में शामिल सभागृह नेता जमुनादास पुरुषवानी द्वारा सदन में महापौर के आदेश को चुनौती देकर अलका पवार को बचाने का प्रयास किया गया था।जिसके चलते अलका पवार को मनपा आयुक्त की कार्यवाही से जीवनदान मिल  गया था। वही बताया जारहा है की गुरुवार को नगरविकास राज्यमंत्री पाटील के आदेश के बाद मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर दबाव में आ गये है।
  • मुंबई आगरा महामार्ग जप्त हुआ हथियारों का जखीरा !

    By fast headline india →
    मुंबई आगरा महामार्ग जप्त हुआ हथियारों का जखीरा !

    २५ रायफल,१७ रिवाल्वर,२ विदेशी पिस्तौल,और ४१४६ जिन्दा कारतूस पुलिस ने किया बरामद !

    मुंबई-  मुंबई आगरा महामार्ग के चांदवड के पास मंगरुल टोल नाके पर बीती रात में पुलिस ने मुंबई की तरफ जाने वाली बोलेरो गाड़ी में से बड़े पैमाने पर हथियारों का जखीरा पकड़ने में सफलता प्राप्त की है जिनमें 25 राइफल 17 रिवाल्वर दो विदेशी पिस्तौल और 4146 जीवंत कारतूस बरामद किए हैं 
    प्राप्त जानकारी के अनुसार कल तीन लोग मालेगांव के पास बांके शिवराज पेट्रोल पम्प में डीजल भरने के लिए पेट्रोल पंप पर गए और पेट्रोल पंप वालों को डीजल का पैसा न देते हुए राइफल दिखाते हुए वहां से फरार हो गए.पेट्रोल पंप मालिक ने इस बाबत स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की थी स्थानीय पुलिस ने इस विषय को गंभीरता से लेते हुए इसकी सूचना महाराष्ट्र भरके पुलिस को दे दी पुलिस ने इसी आधार पर नाकाबंदी करते हुए चांदवड टोल नाके के पास बोलेरो गाड़ी को रोका और इस गाड़ी में से इतनी ज्यादा मात्रा में हथियारों का जखीरा बरामद करने में सफलता प्राप्त की. इस मामले में गाड़ी में से तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया है और पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है
  • 11 लाख की सरकारी अनाज की कालाबाजारी का पुलिस ने किया भांडा फोड़ !

    By fast headline india →
    11 लाख की सरकारी अनाज की कालाबाजारी का पुलिस ने किया भांडा फोड़ !

    पटेल एंड रिटेल प्राइवेट लिमिटेड वेयर हाउस अंबरनाथ से पकड़ा गया सरकारी अनाज का भंडार !

    पुलिस के हात अभी भी खाली नही मिले एक भी आरोपी !

    अम्बरनाथ-अम्बरनाथ पुलिस ने बीती रात में एक छापे के दरम्यान करीब 11 लाख रुपये कीमत का सरकारी अनाज को जप्त किया है.इस माल की बाजार भाव के अनुसार 11लाख 13050 रुपये का है इस अनाज को पटेल एंड रिटेल प्राइवेट लिमिटेड वेयर हाउस अंबरनाथ से पकड़ा जो अनाज है वो पूरा राशन दुकानों पर आने वाला सरकारी अनाज है पुलिस ने इस मामले में 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है ! 
     पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 13 तारीख की सुबह पटेल रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के वेयर हाउस अंबरनाथ से टेंपू क्रमांक MH0 5 बी एच 4584 क्रमांक वाले टेंपो था.जिसमे यह सरकारी अनाज भरा हुवा था, टेंपो के साथ टेंपो के मालिक शंकर मदार ,टेंपो चालक, सेयुअल जॉन जंगम और उसका सुपरवाइजर नंदू माहेष्वरी जो की अनाज वितरक है इनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है .लेकिन पुलिस ने इस मामले में किसी को गिरफ्तार नही किया है और जिस ट्रक से माल को वहा तक पहुचाया गया वो भी गायब है,ये तीनो पटेल रिटेल कंपनी से जुड़े है जो की कंपनी के काली कमाई के लिये सरकारी अनाज उठाकर निजी कंपनीयो को बेचने का धंधा करते है,पकड़ा जानेवाला अनाज राशन दुकानों पर सप्लाई होने वाला सरकारी माल ही था क्योंकि अनाज की बोरी पर सरकारी निशान और मोहर लगी हुई थी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस धंधे का मास्टर माइंड व कर्ताधर्ता लखन पटेल है! जो सरकारी अनाज की हेराफेरी करता है और उससे काला धन कमाता है लखन पटेल की पहुच ऊपर तक है !उसके खिलाफ अनेक मामले होने के बादजूद आज तक कोई ठोस कार्यवाई नही हुई है इससे उसके लंबी पहुच होने की वजह ही है कि इस मामले में भी पुलिस की कार्यवाही सिर्फ नाम भर के लिए होती दिख रही है!यही कारण है कि कार्यवाई के ये छूटने के बाद फिर से यही गोरख धंदा सुरु कर देता है, इसी के काले कमाई से ही इस तरह के शो रूम की आड़ में भी ये काला बाजार फल फूल रहा है इसके लिए सरकारी सिस्टम का लचीला रवैय्या है ऐसे धंधे को पूरी तरह से बंद करने के लिए कानून को जरूरत है कड़ी कार्यवाई की तभी ये धंधो पर लगाम लग पाएगी गरीब के हिस्से का अनाज उनको मिल पायेगा !
  • लाटरी पद्धत्ति के जरिये किया गया 53 सफाई कर्मियों के फ्लैट वितरण !

    By fast headline india →
    लाटरी पद्धत्ति के जरिये किया गया 53 सफाई कर्मियों के फ्लैट वितरण !

     सफाई कर्मियों को वितरित किया गया उनके फ्लैट की चाभियां ! 

    महापौरआयुक्त,और नगरसेवक शेरी लुंड ने बाटी चाभी !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के कैम्प क्रमांक 5 में 20 करोड़ की लागत से सफाई कर्मियों के लिए बनाया गया गृह संकुल वसाहत का आवंटन तीन टप्पे में लाटरी पद्धत्ति के जरिये किया गया ।पहले टप्पे में 34 वसाहत की चाभियां सफाई कर्मचारियों को वितरित की जा चुकी है जब कि महापौर मीना आयलानी,आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर, ने लाटरी पद्धत्ति से आज 53 सफाई कर्मियों का नाम निकालकर उन्हें रहिवाशी संकुल फ्लैट की चाभियां वितरित की गई जब कि 41 सफाई कर्मियों को तीसरे टप्पे में फ्लैट आवंटित किया जायेगा।                  
    गौर तलब हो कि सफाई कर्मियों के लिए उमनपा की तरफ से कैम्प क्रमांक 5 में 20 करोड़ की लागत से गृह संकुल वसाहत निर्माणधीन किया गया है।इस वसाहत को लाटरी पद्धत्ति से वितरित किया जाना था 128 सफाई कर्मियों को आवंटित किए जाने वाले वसाहत को तीन टप्पे में किया गया है पहले टप्पे में लाटरी के जरिये 34 सफाई कर्मियों को फ्लैट की चाभियां आवंटित की गई आज दूसरे टप्पे में महापौर मीना आयलानी,आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर,नगरसेवक शेरी लुंड,सभागृह नेता जमनु पूरसवानी,मनोज लासी,प्रकाश माखीजा की मौजूदगी में मालमत्ता सहायक आयुक्त भगवान कुमावत,मालमत्ता व्यवस्थापक विशाखा सावंत ने पारदर्शिता के तहत 53 सफाई कर्मियों का लाटरी निकाला। और उन्हें महापौर मीना आयलानी,नगरसेवक शेरी लुंड तथा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर के हाथों चाभियां वितरित की गई।                 सफाई कर्मियों को संबोधित करते हुए आयुक्त ने कहा कि लाटरी में जिन लोगो का नाम निकला है उन्हें 5 हजार रुपये बतौर डिपाजिट के रूप में जमा करवाना होगा और जब उनकी सेवा निवृत्ती होगी तब उन्हें यह फ्लैट छोड़ना होगा।जल्द ही तीसरे टप्पे में 41 सफाई कर्मियों को भी लाटरी पद्धत्ति के जरिये गृह संकुल वसाहत का फ्लैट आवंटित किया जायेगा।
  • मनपा आयुक्त ने शहरवासियों से किया स्वच्छ्ता एप को डाउनलोड करने की अपील।

    By fast headline india →
    स्वच्छ्ता एप पर भेजा गया कचरे का ढेर चौबीस घंटे के अंदर किया जायेगा साफ ! 

    अपने आस पास दिखे गंदगी तो फोटो निकालकर भेजे एप पर तुरंत मिलेगा रिजल्ट ,,, मिलेगा आप का सहयोग तो होगा उल्हासनगर सबसे क्लीन शहर !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में केंद्र सरकार द्वारा तीन वर्षों से शुरू की गई स्वच्छ्ता मुहिम के तहत राज्य सरकार ने "स्वच्छ्ता मोहुआ" नामक एक अप्लीकेशन एप सभी मनपाओ के लिए लांच किया है।शहर को स्वच्छ और सुंदर रखने के लिए शुरू किया गया है इस एप पर कचरे का भेजा गया कोई भी फ़ोटो या कचरा चौबीस घण्टे के अंदर आरोग्य अधिकारी साफ करेंगे यह जानकारी पत्रकार परिषद में महापौर मीना आयलानी व उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर ने दी है।       
               स्वच्छ्ता मुहिम को लेकर बुलाई गई पत्रकार परिषद में आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर ने बताया कि केंद्र सरकार ने 2 अक्टूबर 2019 तक संपूर्ण भारत स्वच्छ व हगंदारी मुक्त करने का संकल्प किया है,2 अक्टूबर 2014 से शुरू की गई यह मुहिम में शहर वाशियो का विशेष सहकार्य और सहयोग होना अनिवार्य है।आयुक्त निम्बाल्कर ने बताया कि 2018 से "स्वच्छ्ता सर्वेक्षण" की शुरुवात की जा रही है इसमें 4041 शहरों ने भाग लिया है, स्वकछता की शिकायत एप द्वारा मोबाइल के जरिये भी भेज सकते है।इस एप पर आई शिकायतों पर नजर रखने के लिए शासन कि तरफ से शहर संगठक के रूप में राहुल कोडकर नामक एक अधिकारी नियुक्ति किया गया है।               आयुक्त निम्बाल्कर ने बताया कि उल्हासनगर की लोकसंख्या के अनुसार कम से कम 10139 लोगो को यह एप डाउनलोड करना अनिवार्य है,अब तक 3200 लोगो ने यह एप डाउनलोड कर चुके है।इस एप पर अब तक 467 शिकायते स्वच्छ्ता संबंधित आ चुकी है जिसमे 348 शिकायतो का निवारण किया जा चुका है जब की आज आई हुई 110 शिकायतो का निवारण कल सुबह तक हो जायेगा आयुक्त ने शहर वाशियो से अपील किया है कि उल्हासनगर को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए शहर की स्वच्छ्ता मिशन में अपना हाथ आगे बढ़ाये और अधिकाधिक शहर वाशी इस एप को डाउनलोड करके स्वकछता मिशन में उमनपा को सहकार्य करे।इस अवसर पर जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाने,आरोग्य अधिकारी विनोद केने सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
  • मनपा के टाऊन हॉलपर महापौर के परिवार की बपौती ?

    By fast headline india →
    मनपा के टाऊन हॉलपर महापौर के परिवार की बपौती ? 

    मनपा के करार नामे की उठाई जा रही है खिल्ली !

    उल्हासनगर - उल्हासनगर शहर के सांस्कृतिक और सामाजिक कार्यक्रमों को बढ़ाने और स्थानिय कलाकारो को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से महानगरपालिका ने टाऊन हॉल का निर्माण किया था . परन्तु मूळ उद्देश्य को किनारे करते हुए टाऊन हॉल का पूरा व्यवसायिकरण हो गया है . जिस कंपनी को 30 सालो के करार पर मनपा ने दिया है उनमें वर्तमान की महापौर मीना आयलानी के परिवार का सदस्य भी एक हिस्सेदार है . यही कारण है कि आयलानी परिवार की बपौती अब टाऊन हॉलपर दिखाई देता है.  
    उल्हासनगर महानगरपालिका की सर्वसाधारण सभा में हुए ठराव के अनुसार 1 अगस्त 2005 को मनपा का टाऊन हॉल बनाकर , इस्तेमाल करने के बाद , मनपा को देंना है ( बी ओ टी ) पध्दति पर कुमार इन्फ्रास्ट्रक्चर इस कंपनी को 30 सालो के लिए भाडे पर दिया गया है .  31 जुलाई 2035 को ये करार समाप्त होगा. जिस कंपनी को यह ठेका टाऊन हॉल दिया है उसमें महापौर मीना आयलानी इनके पुत्र धीरज आयलानी एक हिस्सेदार है .      टाऊन हॉल के सभागृह को शहिद अरुण कुमार वैद्य ऐसा नाम दिया गया है . परंतु ऐसे महान लोगो के नाम देने के बायजूद टाऊन हॉल की उसी बिल्डिंग में बियर बार , जिम, इनडोअर क्रिकेट जिमखाना,मनोरंजन के और साहित्य , व्यावसायिक धन्दा सिर्फ मोटा मुनाफा कमाने के उद्देश्य से चलाया जा रहा है . इन धंधो के चलते शहिद अरुण कुमार वैद्य इनका भी अपमान हो रहा है . शहर के सांस्कृतिक , सामाजिक और शैक्षणिक कार्यक्रम करके नाटक संस्कृती को बढ़ावा देने के लिए इस टाऊन हॉल का उद्देश्य था . जिसकी वजह से स्थानिक उभरत कलाकारो को प्रोत्साहित करने के लिए मंच मिलने की अपेक्षा शहरवासीयो ने किया था .इतना ही नहीं गरीब और सर्वसामान्य नागरिको को सस्ते में विवाह के लिए हॉल उपलब्ध होगा ऐसा मनपा प्रशासना द्वारा कहा गया था . जब कि इसके लिए 180 दिनों की बुकिंग करने शर्तो के नियम पर दिया गया है .लेकिन इसी सर्त का फायदा ठेकेदार ने अपने स्वार्थ साधने काम कर रहे है , 180 दिनो की एडव्हान्स बुकिंग ये ठेकेदार कुछ बोगस संस्था के नाम करके रखने का आरोप इससे पहले हो चुका है . सर्व सामान्य नागरिको को सस्ते दर पर सभागृह उपलब्ध करके नही दिया जाता है इसके लिए इस विषय पर कई बार स्थायी समिती के द्वारा ऐसी मान्यता दी गई परंतु मनपा की किसी भी शर्तो का पालन नही किया जाता ऐसा आरोप महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के कल्याण जिल्हा उपाध्यक्ष बंडू देशमुख इन्होंने किया है ,     बता दे कि टाऊन हॉल को सजा कर रखना है , इसमें साउंड सिस्टम , नाटक के लिए पर्दे , बैठने की व्यवस्था, पंखे , एयर कंडिशन , लायटिंग की व्यवस्था, अन्य सुविधा उपलब्ध करके देने के नियमो की शर्तों पर ठेकेदार को दिया गया है . परंतु इन नियमो को ताख पर रखकर पूरी तरह से उलंघन हो रहा है . सभा गृह की कुर्सिया टूटी हुई है , साउंड सिस्टम पूरी तरह से खराब है, लायटिंग, पंखे , एसी जनरेटर बार बार कार्यक्रम के दौरान खराब हो जाता है . यहाँ पर यदि कोई संस्था कार्यक्रम करते है या नाटक खेलते है तो उन्हें खुद का साउंड सिस्टम लाना पड़ता है . इसकी वजह से अनेक दिग्गज कलाकार, व नाटक संस्थाओ ने नाराजी व्यक्त किया है , इसके लिए संस्थाओ के टाऊन हॉल क्रिया कलापो पर तीब्र निषेध ब्यक्त किया है . शहर के कायद्या ने वागा इस सामाजिक संस्था के अध्यक्ष राज असरोंडकर इन्होंने इस पर कई बार अपनी आवाज बुलंद की थी उन्होंने तो ये ठेका रद्द करने की भी मांग किया है .       महापौर मीना आयलानी , और उनके पती व पूर्व विधायक कुमार आयलानी के द्वारा ज्यादा से ज्यादा भारतीय जनता पार्टी के कार्यक्रम ही किये जाते है .यही आमजनता को जल्दी टाउन हॉल मिलता ही नही . कुमार आयलानी और उनके चमचो का पूरी तरह से टाऊन हॉल पर कब्जा किया हुआ है यही नही आयलानी परिवार टाउन हॉल पर अपनी बपौती बना रखा है, इसी लिए शहर की कई संस्थाओ ने ये मांग किया है कि ये ठेका रद्द करके आयलानी परिवार की हुकुम शाही से मुक्त हो . 
  • पालतू कुत्ते को गाली देना एक आदमी को पड़ा भारी !

    By fast headline india →
    पालतू कुत्ते को गाली देना एक आदमी को पड़ा भारी !

    कुत्ते के मालिक ने गाली देने वाले कि धुलाई !


    कल्याण-कल्याण पूर्व में एक व्यक्ति ने पालतू कुत्ते को गाली दी फिर क्या था ये गाली कुत्ते के मालिक को इतना नागवार गुजरा की मालिक ने उस व्यक्ति के मुंह पर मुक्का मारकर उसका मुंह सूजा दिया.
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार झुंझाराव नगर स्टेसन रोड कल्याण से होते हुवे आदिलशाह नामक 56 वर्षीय हमाल गेंहू के आटे की बोरी लेकर जा रहे थे तभी वही अपने पालतू कुत्ता घुमा रहे एक व्यक्ति का कुत्ता इस हमाल आदिलशाह पर घूम पड़ा और हमला करके पैर में काट लिया और उससे खून निकलने लगा,इसी गुस्से में हमाल आदिलशाह ने कुत्ते पर पत्थर उठाकर मारते हुवे गाली दे दिया,इसी बात से नाराज हुवे कुत्ते के मालिक ने उसके पास रहे किसी धार दार वस्तु से हमाल के मुह पर मार दिया. जिससे हमाल आदिलशाह घायल हो गया,एक तो कुत्ता काट खाया और ऊपर से उसपर हमले से घायल हुवे ,अपने ही दर्द से पीड़ित ,हमलाकरने वाला जो कि कुत्ता का मालिक था पहचान नही पाया,और उसने सरकारी अस्पताल में जा कर इलाज कराया उसके बाद कुत्ते के मालिक के खिलाफ महात्मा फुले पुलिस में शिकायत दर्ज कर आगे की जांच में जुट गई है
  • टीम ओमी कालानी के कार्यकारणी घोषणा सम्मेलन में उमड़ा युवाओं का जनसैलाब !

    By fast headline india →
    टीम ओमी कालानी के कार्यकारणी घोषणा सम्मेलन में उमड़ा युवाओं का जनसैलाब !

     आगामी विधान सभा चुनाव में तीनों विधानसभाओं पर खिलेगा कमल-- भाजपा प्रवक्तता श्वेता शालिनी 

     शिवसेना की पूर्व महापौर सहित विभिन्न पक्षो के कई चर्चित चेहरे टीओके में शामिल !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका चुनाव टीम ओमी कालानी  ने भाजपा का घटक दल बनकर लड़ा था और टीओके व भाजपा ने मिलकर उल्हासनगर महापालिका पर परचम लहराया था।टाउन हॉल और उसके बाहर युवाओं का जनसैलाब देखकर गदगद हुई भाजपा की प्रदेश प्रवक्तता श्वेता शालिनी ने कहा कि युवाओं का अभूतपूर्व जनसैलाब देखकर मुझे अभी से ही ऐसा लग रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में विधानसभा क्षेत्र 140,141 तथा 142 में भाजपा का ही कमल खिलेगा।श्वेता शालिनी के वक्तब्य से युवाओं में उत्साह का जोश भर गया।                
       पूर्व विधायक पप्पू कालानी के जेल जाने के बाद उनके राजनीति विरासत की कमान ओमी कालानी ने 2014 में संभाला और मात्र दो वर्षों में ही शहर के कद्दावर नेता के रूप में उभर कर शहर वाशियो के सामने आए,उमनपा चुनाव के पहले ओमी कालानी ने टीम ओमी कालानी संगठन का गठन किया और उमनपा चुनाव में सभी 78 उम्मीदवारों को उतारने का निर्णय लिया था।परन्तु ओमी कालानी की ताकत देख भाजपा ने टीओके से गठबंधन किया नतीजतन उमनपा पर टीओके-भाजपा का परचम लहराया।रविवार को टीओके प्रमुख ओमी कालानी ने टीओके कार्यकारणी घोषणा सम्मेलन रखा था जिसमे भाजपा प्रवक्तता श्वेता शालिनी बतौर प्रमुख अतिथि के रूप में मौजूद थी।                     टीओके संगठन को मजबूत बनाने के लिए लगातार ओमी कालानी के प्रयासों को बल मिलता गया परिणाम स्वरूप कार्यकारणी घोषणा के पहले शिवसेना की पूर्व महापौर विद्या ताई निर्मले अपने पति विजय निर्मले के साथ टीओके मे शामिल हुए जिनका भाजपा प्रवक्ता श्वेता शालिनी ने स्वागत किया।इसके अलावा क़ाम्बा गाव के वर्तमान राकांपा सरपंच बाला भोईर,वर्तमान शिवसेना परिवहन समिति सदस्य राजू चिकने,पूर्व सभापती रवि महाजन के साथ साथ 7 शिवसेना शाखा प्रमुखों ने टीओके में प्रवेश किया।इसके अलावा आरपीआय के युवा अध्यक्ष सुनील सोनवणे व कार्य अध्यक्ष अभिनाश अहिरे ने आरपीआय छोड़कर टीओके में प्रवेश किया,इसी क्रम में कांग्रेस की पूर्व महापौर मालती करौतिया के बेटे नरेंद्र करौतिया मनसे ब्लाक अध्यक्ष सहित मनसे के कई पदाधिकारी टीओके में शामिल हो गए।विभिन्न पक्षो से करीबन 150 पदाधिकारी टीओके में प्रवेश किया,श्वेता शालिनी के अलावा मंच पर विराजमान टीओके प्रमुख ओमी कालानी,नगरसेविका पंचम कालानी,वरिष्ठ नगरसेवक राजेश वदारिया,नगरसेवक नरेंद्र कुमारी ठाकुर ,यूटीए अध्यक्ष सुमीत चक्रवर्ती मौजूद थे।कार्यकारणी घोषणा के दरम्यान टीओके कार्य अध्यक्ष पद पर संतोष पांडेय,युवा अध्यक्ष पद पर सुंदर मुदलियार,141 विधानसभा अध्यक्ष पद पर आकाश चक्रवर्ती,141 युवा विधानसभा अध्यक्ष व सोसल मीडिया प्रमुख पद पर सागर ऊंटवाल की नियुक्ति की गई जब कि मुख्य प्रवक्तता पद की जिम्मेदारी कमलेश निकम को सौपी गयी।