• सांप्रदायिक सौहार्द्र की मिसाल, मुस्लिम भाई ने भरा हिन्दू बहन का भात, 17 साल से निभा रहे हैं परंपरा

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    लक्ष्मणगढ़ : यूं तो रिश्तों को निभाना खासा मुश्किल काम है, लेकिन यहां एक मुस्लिम भाई और उसकी हिंदू बहन का रिश्ता परंपराओं की मिसाल बना है। क्षेत्र के गांव सनवाली निवासी फारूख भाटी पिछले 17 साल से मानासी निवासी हिन्दू बहन कमला के भात भरते आ रहे हैं।

    सेवानिवृत्त सूबेदार बीरबलसिंह की पत्नी कमला फारूख की धर्म की बहन है। कमला के बेटे की शादी मंगलवार को है। शादी से पूर्व सोमवार को भात की रस्म अदा की गई। इस रस्म को निभाने के लिए सोमवार को फारूख परिवार सहित मानासी गांव कमला के यहां आए।

    फारूख की मां जमीला व पत्नी शाकिरा के साथ अन्य मुस्लिम महिलाओं ने भात के गीत गाए। फारूख दिव्यांग है। बीरबल सिंह ने बताया कि फारूख उसके साले मामराज का दोस्त था। रक्षाबंधन पर जब मामराज बहन कमला से राखी बंधवाने आता था तो उसके साथ फारूख भी आता था। मामराज की मौत के बाद तो फारूख पूरे मन से इस रिश्ते का निर्वहन करने लगा।
  • No Comment to " सांप्रदायिक सौहार्द्र की मिसाल, मुस्लिम भाई ने भरा हिन्दू बहन का भात, 17 साल से निभा रहे हैं परंपरा "