• रामजस मामलाः गुरमेहर कैंपेन से हटीं, ABVP के खिलाफ प्रदर्शन में येचुरी भी शामिल

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    दिल्ली विश्वविद्याल के रामजस कॉलेज में हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया फेसबुक-ट्विटर पर कैंपेन चलाने वाली करगिल युद्ध में शहीद हुए जवान मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने अब खुद को कैंपेन से अलग कर लिया है। वहीं, गुरमेहर को रेप की धमकी के मामले में दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली गई है। इसके अलावा ये भी खबरें आ रही हैं कि गुरमेहर घर लौट रही हैं।

    जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद भी प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे। डी राजा और सीताराम येचुरी भी प्रदर्शन में शामिल हुए।

    छात्रों का ‘स्टूडेंट अगेन्स्ट रेप थ्रेट’ मार्च डीयू के खालसा कॉलेज से शुरू किया। इस मार्च के दौरान मिरांडा हाउस कॉलेज के बाहर छात्रों ने प्रदर्शन किया। वहीं इससे पहले डीयू की आर्ट्स फैक्ल्टी के बाहर छात्र संगठन एनएसयूआई के छात्र भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

    गुरमेहर के दादा कंवलजीत सिंह ने कहा कि ड्रामा किया जा रहा है। इसको मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। नेताओं को बयान देने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह एक छोटी लड़की है। उसने कारगिल युद्ध में अपने पिता को खोया है।

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उप राज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर रामजस कॉलेज में हिंसा करने तथा एक छात्रा गुरमेहर कौर को धमकी देने वालों के खिलाफ सख्त कारवाई का अनुरोध किया। उपराज्यपाल से मुलाकात के बाद केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा कि बैजल ने उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों के खिलाफ हर संभव कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय में तनावपूर्ण माहौल के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इन लोगों की ज्यादतियों के कारण ही तनाव पैदा हुआ है। उन्होंने कहा कि देश भक्ति के नाम पर ये लोग सरेआम अपनी मनमानी करते हैं। खुद ही नारे लगवाते हैं और फिर खुद ही वहां विरोध करने पहुंच जाते हैं।

    अपने अगले ट्वीट में गुरमेहर ने छात्र लेफ्ट संगठन आईसा की ओर से निकाले जाने वाले मार्च के लिए छात्रों को शुभकामना दी और कहा मार्च में ज्यादा से ज्यादा संख्या में जमा हों और ये कैंपेन सिर्फ मेरे लिए नहीं बल्कि सभी छात्र-छात्राओं के लिए है'। साथ ही अपने विरोधियों को जवाब देते हुए गुरमेहर ने लिखा 'जो लोग भी मेरे साहस पर सवाल खड़े कर रहे हैं, उन्हें बताना चाहती हूं कि मैंने उसके कहीं ज्यादा हिम्मत दिखाई'. अपने अगली ट्वीट में उन्होंने लिखा 'ये पक्की बात है कि आगे से कोई भी हिंसा और धमकी देने से पहले दो बार जरूर सोचेगा'।
  • No Comment to " रामजस मामलाः गुरमेहर कैंपेन से हटीं, ABVP के खिलाफ प्रदर्शन में येचुरी भी शामिल "