• मतगणना कल, मघा नक्षत्र का नतीजों पर यह होगा असर

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    मल्टीमीडिया डेस्क। पांच राज्यों उत्तर-प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं। नतीजे 11 मार्च को सामने आ जाएंगे। मगर, इससे पहले ज्योतिषियों ने ग्रहों की चाल के आधार पर विश्लेषण किया कि कहां किस पार्टी को बहुमत मिलेगा। जानते हैं इसके बारे में...

    उज्जैन की ज्योतिषविद् रश्मि शर्मा का मानना है कि 11 मार्च को शनिवार के दिन जब परिणाम घोषित होंगे, तब केतु के स्वामित्व वाला मघा नक्षत्र होगा। इस दिन सिंह राशि में चंद्रमा होगा। यानी केतु जिन ग्रहों के साथ बैठेगा, उन्हीं के अनुसार फल देगा। मंगल, मेष राशि में एवं शनि, धनु राशि में स्थित होगा। यह परिणाम किसी एक पार्टी के पक्ष में जाए ऐसी संभावना नहीं दिखाई देती है।

    भारतीय जनता पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिल सकती हैं। सरकार बनाने के लिए उसे कुछ जद्दोजहद करनी पड़ सकती है। हालांकि, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गोवा में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है। पंजाब में भी बीजेपी का प्रदर्शन बेहतर रहेगा, लेकिन वहां भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिलने के आसार कम ही दिख रहे हैं। मणिपुर में भी भाजपा का असर दिखेगा।

    दिल्ली के ज्योतिषाचार्य पंडित जयगोविंद शास्त्री के अनुसार, जहां तक कांग्रेस का सवाल है, तो कांग्रेस-आई (इंदिरा) के हालात ठीक नहीं चल रहे हैं। इस राजनीतिक दल पर 24 मार्च तक मारकेश की प्रत्यंतर दशा चल रही है। लिहाजा, कांग्रेस की हालत कमजोर रहेगी और कई प्रत्याशियों की तो जमानत तक जब्त हो सकती है।

    वहीं, सपा में अपनी स्वच्छ छवि को लेकर चुनाव मैदान में उतरे अखिलेश यादव ने अपने साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ले लिया था। शास्त्री के अनुसार, कांग्रेस का साथ लेने का नुकसान सपा को उठाना पड़ेगा और अखिलेश यादव के दोबारा मुख्यमंत्री बनने के मंसूबे पर पानी फिर सकता है।

    वहीं, रश्मि शर्मा ने बताया कि उत्तराखंड में मुख्य मुकाबला कांग्रेस के हरीश रावत एवं भारतीय जनता पार्टी के मध्य होंगा। हरीश रावत की राशि वृश्चिक है, एवं राहु की महादशा चल रही है। आगे यह सरकार बना पाएं यह संभव दिखाई नही देता। यहां भी भारतीय जनता पार्टी का दबदबा बन सकता है। भारी बहुमत प्राप्त होगा।

    Subjects:

  • No Comment to " मतगणना कल, मघा नक्षत्र का नतीजों पर यह होगा असर "