• नहीं रहे तारक मेहता, लंबी बीमारी के बाद हुआ निधन

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    प्रख्यात गुजराती हास्य लेखक, नाट्यकार और स्तंभ लेखक पद्मश्री तारक मेहता, जिनके प्रमुख संकलित उपन्यास ‘दुनिया ने उंधा चश्मा’ के आधार पर सफ़लता के कई कीर्तिमान बनाने वाले लोकप्रिय हास्य टेलीविज़न धारावाहिक ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ का निर्माण किया गया था, का आज यहां लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया है। वह 88 वर्ष के थे। वह अपने पीछे दूसरी पत्नी इंदु तथा अपनी पहली पत्नी से जन्मी पुत्री इशानी को छोड़ गए हैं।

    तारक मेहता के निधन पर गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ट्विटर पर लिखा, 'तारक मेहता के निधन से दुखी। हास्य-रस के लेखक और स्‍तंभकार। वह हमेशा ही हमारे चेहरे पर मुस्‍कान लेकर आये। उनके परिवार के सदस्‍यों के प्रति मेरी संवेदनाएं।'

    तारक मेहता का जन्म 26 दिसंबर 1929 में अहमदाबाद में हुआ था। तारक मेहता एक गुजराती हास्य लेखक थे। उन्होंने कई हिंदी और अंग्रेज़ी हास्य नाटकों का गुजराती में अनुवाद किया था। वह गुजराती समाज में एक लोकप्रिय हस्ती थे।

    तारक मेहता ने अपना पहला हास्य कॉलम 1971 में चित्रलेखा के नाम से शुरू किया था। उनकी अब तक 80 किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं।

    टेलीविज़न पर उनके संकलित उपन्यास पर आधारित धारावाहिक का प्रसारण सब टीवी ने वर्ष 2008 में शुरू किया था जिसने कुछ ही समय में सफ़लता के कीर्तिमान बना डाले। इसका प्रसारण अब भी जारी है
  • No Comment to " नहीं रहे तारक मेहता, लंबी बीमारी के बाद हुआ निधन "