• शक्ति परीक्षण में बीरेन सिंह पास, विधानसभा ने ध्वनिमत से दी विश्वास प्रस्ताव को मंजूरी

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    इंफाल। मणिपुर में मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह सरकार ने सोमवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया। विश्वास प्रस्ताव पर मत विभाजन की नौबत नहीं आई और इसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया।
    60 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा के 21 और कांग्रेस के 28 विधायक हैं। लेकिन, नगा पीपुल्स फ्रंट, नेशनल पीपुल्स पार्टी, लोक जनशक्ति पार्टी और तृणमूल कांग्रेस से हाथ मिलाकर भाजपा सरकार बनाने में कामयाब हो गई।
    बीरेन सिंह सरकार को एक निर्दलीय और एक कांग्रेस विधायक का भी समर्थन हासिल है। कांग्रेस से बगावत कर बीरेन सिंह का समर्थन करने वाले टी श्यामकुमार को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। भाजपा के सूत्रों ने बताया कि शक्ति परीक्षण में पास होने के बाद जल्द ही मंत्रियों को विभागों का बंटवारा कर दिया जाएगा।

    इस बीच, सरकार को समर्थन के सवाल पर तृणमूल कांग्रेस का मतभेद उजागर हो गया है। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व का कहना है कि विधायक टी रोबींद्रो सिंह ने उससे परामर्श किए बगैर ही सरकार को समर्थन दे दिया है।

    दूसरी तरफ, रोबींद्रो सिंह का कहना है कि उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व से सलाह करने के बाद ही सरकार को समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि यदि उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश का उल्लंघन किया होता, तो उसके खिलाफ अनुशासन की कार्रवाई की जाती।
    राजनाथ सिंह ने दी बधाईगृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बीरेन सिंह को विधानसभा में सरकार का बहुमत साबित करने पर बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया, "मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह को विधानसभा में बहुमत साबित करने पर बधाई। मुझे उम्मीद है कि उनके नेतृत्व में मणिपुर विकास के पथ पर अग्रसर होगा।"
    खेमचंद चुने गए विस अध्यक्षभाजपा के युमनाम खेमचंद को सोमवार को मणिपुर विधानसभा का नया अध्यक्ष चुना गया। खेमचंद (54) जाने-माने ताइक्वांडो विशेषज्ञ हैं और वह पहली बार सींगजामेई विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए हैं। बीरेन सिंह सरकार द्वारा सदन में शक्ति परीक्षण से पहले खेमचंद को ध्वनिमत से विधानसभा अध्यक्ष चुना गया।

    Subjects:

  • No Comment to " शक्ति परीक्षण में बीरेन सिंह पास, विधानसभा ने ध्वनिमत से दी विश्वास प्रस्ताव को मंजूरी "