• उल्हासनगर मनपा पर भाजपा का कब्जा, मीना आयलानी बनी महापौर

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर । उल्हासनगर महानगरपालिका के महापौर व उपमहापौर पद के चुनाव में आखिरकार भाजपा ने बाजी मारते हुए मनपा की सत्ता पर कब्जा जमा लिया। भाजपा की मीना कुमार आयलानी निर्विरोध महापौर चुनी गई। वहीं भाजपा को सहयोग करने वाली सार्इं पक्ष के अध्यक्ष व नगरसेवक जीवन इदनानी उपमहापौर पद के लिए चुने गए। शिवसेना, आरपीआई, राकांपा तथा कांग्रेस पार्टी ने चुनाव का बहिष्कार किया। मनपा में भाजपा की सत्ता बनाने में राज्यमंत्री रविंद्र चव्हाण की अहम भूमिका रही और उन्होंने चाणक्य की भूमिका निभाते हुए आखिरकार शिवसेना के भारी विरोध के बावजूद मनपा की सत्ता पर भाजपा को काबिज कर दिया।

    बुधवार दोपहर २ बजे तय कार्यक्रम के मुताबिक ठाणे जिले के जिलाअधिकारी सह पीठासीन अधिकारी डॉक्टर महेंद्र कल्याणकर की अध्यक्षता में महापौर व उपमहापौर पद के चुनाव प्रक्रिया शुरू हुई। सार्इं पक्ष के गट को कोकण विभागीय आयुक्त द्वारा मान्यता नहीं देने पर शिवसेना ने विरोध जताया मगर पीठासीन अधिकारी ने शिवसेना के विरोध को खारिज कर दिया। परिणामस्वरूप शिवसेना, आरपीआई, राकांपा तथा कांग्रेस के सदस्यों ने सदन से वॉकआउट करते हुए बाहर निकल गए। ७८ सदस्यों वाली मनपा में जादुई आंकड़ा ३९ था और भाजपा की मीना आयलानी को महापौर पद के लिए ४४ वोट मिले। वहीं सार्इं पक्ष के जीवन इदनानी को भी उप महापौर पद के लिए ४४ वोट मिला।

    इस प्रकार पीठासीन अधिकारी ने दोनों को निर्वाचित घोषित कर दिया। इस चुनाव के बाद मनपा के ५ मनोनित (स्वीकृत) सदस्य चुने गए जिनके नाम हैं भाजपा से प्रदीप रामचंदानी तथा मनोज लासी, शिवसेना से अरूण आसान तथा सुरेंद्र सावंत और सार्इं पक्ष से आशा जीवन इदनानी। उसके उपरांत स्थायी समिति के १६ सदस्यों का चयन हुआ जो इस प्रकार है- भाजपा से राजेश वधरिया, पंचम कालानी, जमनु पुरूस्वानी, लक्ष्मी सिंह, चंद्रा देवी सिंह, जया माखिजा, डिम्पल ठाकुर, सार्इं पक्ष से वंâचन लुंड, टोनी सिरवानी, कविता लाल पंजाबी, राकांपा से भरत गंगोत्री तथा शिवसेना से राजेंद्र चौधरी, गुरवंत सहोता, पुष्पा बागुल, धनंजय बोडारे और सुनील सुर्वे। साथ ही भाजपा के वरिष्ठ नगरसेवक जमनु पुरूस्वानी को सभागृह नेता चुना गया है।

    - जनता के लिए मनपा भवन रहा बंद, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
    बुधवार दोपहर महापौर तथा उपमहापौर पद के चुनाव के मद्देनजर सुबह १० बजे से ही मनपा का कामकाज आम जनता के लिए बंद रखा गया। बिना प्रवेश पत्र के किसी को भी मनपा भवन में जाने की इजाजत नहीं थी। वहीं शांतीपूर्ण माहौल में चुनाव संपन्न करवाने के लिए पुलिस विभाग ने भी व्यापक तैयारी करते हुए मनपा भवन को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया था। २०० पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी और पुलिस उपायुक्त सुनील भारद्वाज स्वयं स्थिति पर नजर रखे हुए थे।

    - भाजपा व सार्इं पक्ष के कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर
    जैसे ही महापौर व उपमहापौर पद के नामों की घोषणा हुई वैसे ही मनपा भवन के बाहर मौजूद भाजपा व सार्इं पक्ष के कार्यकर्ताओं के बीच खुशी की लहर दौड़ पड़ी। आतिशबाजी व बैंड बाजा बजने लगा और एक-दुसरे को बधाई देते हुए कार्यकर्ताओं ने मीठाईयां बांटी।

    - राज्यमंत्री चव्हाण रहे मौजूद
    राज्यमंत्री रविंद्र चव्हाण तथा ठाणे जिले के अध्यक्ष व सांसद कपिल पाटील मनपा भवन में अपने समर्थकों के साथ मौजूद थे। ज्ञात हो कि उल्हासनगर मनपा में भाजपा को सत्ता दिलाने में राज्यमंत्री रविंद्र चव्हाण ने चाणक्य की भूमिका अदा की है। यही वजह है कि रविंद्र चव्हाण के कुशल नेतृत्व के चलते आज पहली बार मनपा की सत्ता पर पूर्ण रूप से भाजपा काबिज हुई है।

    - मनपा में दलगत स्थिति
    भाजपा- ३३, शिवसेना- २५, सार्इं पक्ष- ११, राकांपा- ४, आरपीआई- २, कांग्रेस-१, पीआरपी- १ तथा भारिप-१।
  • No Comment to " उल्हासनगर मनपा पर भाजपा का कब्जा, मीना आयलानी बनी महापौर "