• उमपा की पहली महासभा में फिल्मी ड्रामा !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा की पहली महासभा में फिल्मी ड्रामा ! 

    भाजपा के बागी नगरसेवक व शिवसेना नगरसेवकों ने महापौर पर किया शब्द बाणो की वर्षा ! 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका की पहली किसी फिल्मी ड्रामे से कम नही रही महासभा शुरू होते ही भाजपा के राजेश वानखेड़े शिवसेना के खेमे में जाकर बैठ गए और अपने बागी तेवर देखने को मिला पानी की समस्या को लेकर अपनी ही पार्टी के महापौर व सभागृह नेता जमनु पुरुस्वानी मुँह मारी करते दिखे उसी का फायदा शिवसेना नगरसेवकों ने भी उठाया और सत्ताधारियों को पूरी तरह से घेर लिया
    जिस पर महापौर मीना आयलानी  के विनती के बाद सेना नगरसेवक चर्चा करने को तैयार हुए और फिर दो लक्ष वेदी पर चर्चा शुरू हुई पहली लक्ष वेदी वालधुनि नाले के प्रदूषण को लेकर हुई चर्चा में सर्वसम्मति से सब ने उल्हासनगर को प्रदूषण मुक्त करने लिए हर संभव कदम उठाने के लिए प्रशासन कहा है जिससे वालधुनी पूरी तरह से प्रदूषण मुक्त हो जाय उसके बाद दूसरी लक्ष वेदी शहर की पानी समस्या को लेकर शुरू हुआ जिसमें कुछ सत्ताधारी नगरसेवक व विरोधी पक्ष के शिवसेना नगरसेवकों ने अपने अपने वार्डो में पानी की समस्या से अवगत कराया और प्रशासन को जल्द जल्द से इस समस्या का निवारण करने की मांग किया है 350, करोड़ खर्चा करने के बाद भी शहर की पानी समस्या सुधरने के बजाय और बिगड़ती जा रही है आखिरकार इसके लिए जिम्मेदार कौन यह एक बड़ा सवाल है जिसका उत्तर अभी तक न तो प्रशासन और न तो सत्ताधारियो के पास है सिर्फ सभी अपने वार्ड को पानी की समस्या से कैसे मुक्त रखे इसी की जुआड़ में जुटे रहते है बहरहाल पहली महासभा पूरी फिल्मी ड्रामा से कम नही था जिसमे इनट्रेटमेन्ट,कॉमेडी,ट्रेजडी जैसे सीन देखने को मिला बहरहाल शहर की जनता अगले महासभा में ये नजारा न दिखे यही उम्मीद कर रही है शहर के विकास के मुद्दे पर चर्चा हो जिससे शहर को विकाश किया जा सके और जनता के मूलभूत सुविधाओं को दिया जा सके यही उम्मीद है! पहली महासभा में भाजपा के बागी रुख अपना चुके नगरसेवक आगे कही सिरदर्द न बन जाय भाजपा को इसका भी इलाज ठूठना होगा नही तो सत्ता भी खतरे आने का खतरा बरकरार रहेगा!

    Subjects:

  • No Comment to " उमपा की पहली महासभा में फिल्मी ड्रामा ! "