• उपमहापौर व सभागृह नेता के अवैध बन रहे आफिस के काम पर आयुक्त ने लगाया फुलस्टाप !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उपमहापौर व सभागृह नेता के अवैध बन रहे आफिस के काम पर आयुक्त ने लगाया फुलस्टाप !

     मनपा का अजब गजब कारनामा ! 

     शहर विकाश के लिए पैसा नहीं,ऑफिस सजाने के नाम पर लाखों लूटा रही ? 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर मनपा की सत्ता में आये अभी महीना भी नही हुआ भाजप -व साई पक्ष ने उपमहापौर ऑफिस के चार ऑफिस को तोडफोड करके और सभागृह नेता ऑफिस के लिए दो ऑफिस को तोडफोड करके नया ऑफिस बनाने का काम शुरू किया गया है . कई ऑफिस के बीच की बनी दीवारों व स्लॅब को भी नुकसान पहुचाया गया है जिसके चलते मनपा की बिल्डिंग भी छतिग्रस्त होने का खतरा निर्माण हो गया है बिना वजह मनपा के लाखों रुपये उड़ाया जा रहा है . जैसे ही यह जानकारी मनपा आयुक्त सुधाकर शिंदे को मिली उन्होंने तुरंत काम बंद करने का आदेश दिया है . उल्हासनगर महानगरपालिका के चुनाव को जीत हासिल करके भाजप व साई पक्ष ने मिलकर मनपा में सत्ता पर आसीन हुए . मनपा प्रशासनाने महापौर ,उपमहापौर , गटनेता ,सभागृह नेता ,इनको मनपा मुख्यालयात में ऑफिस की जगह पहले निर्धारित कर दिया है . परन्तु अचानक उपमहापौर जीवन इदनानी इन्होंने अपना नया ऑफिस बनाने के लिए महापौर के ऑफिस के बगल में अपना ऑफिस की मांग किया और उसके बाद ही महापौर ऑफिस के बगल में पहले बने मनसे , साई ,रिपाई ,बसपा इन पार्टियों के गट नेताओ के बने चार ऑफिस को तोड़फोड़ बिना किसी की अनुमती के ही शुरू कर दिया दूसरी तरफ सभागृह नेता जमनु पुरूसवानी इन्होंने भी अपने ऑफिस को बड़ा करने के लिए दो ऑफिस को तोड़फोड़ शुरू कर दिया है इस काम को करने में मनपा की बिल्डिंग के स्लॅब व कॉलम को छतिग्रस्त किया गया है जिससे मनपा की बिल्डिंग को नुकसान होने आशंका बन गई है? इसकी वजह से पहले से लगे सभी ऑफिसों में लाखों रुपए के समान ,सोफा ,टाईल्स ,सिलिंग आदीं का नुकसान हुआ है . इस काम को करने के लिए महानगरपालिका की निधी से २० लाख रुपये मंजूर किया गया है . इस काम को करने के निजी ठेकेदार विनोद व सोनू को दिया गया ऐसी जानकारी प्राप्त हुआ है . उपमहापौर जीवन इदनानी ये साई पक्ष के तो सभागृह नेता जमनू पुरूसवानी हये भाजपा पार्टी के है इन दोनों के द्वारा किये जा रहे अपने ऑफिस कार्यो की निदा सभी लोगो के जरिये देखने को मिल रही है . कायद्याने वागा संघटने के अध्यक्ष राज असरोंडकर ने कहा कि जनता के पैसो की बरबादी तो हो ही रही परंतु उससे आश्चर्य की बाद ये है कि असून महानगरपालिका के मुख्यालय में अवैध निर्माण कार्य हो रहा है . इस संदर्भ में कायदा ने वागा संघटना मनपा आयुक्त लिखित शिकायत देकर जो लोग अवैध तरीके से अपने ऑफिस का काम बिना किसी परमिशन के कर रहे उन पर कार्यवाई करने की मांग हम करेगे . इस संदर्भ में जब शहर अभियंता रामकुमार जयस्वाल इनसे पूछा गया तो उनका कहना था कि उपमहापौर व सभागृह नेता ने नए ऑफिस के काम को बंद करने का आदेश आयुक्त ने दिया है जिसका पालन करते हुए हमने काम को बंद करवा दिया है . परन्तु जब उनसे पूछा गया कि यह काम किसके आदेश शुरू था तब उन्होंने इसका उत्तर नहीं दिया . अब देखने वाली बात ये है क्या प्रशासन कार्यवाई करता है या आगे ऑफिस का काम करने की अनुमति ये देखने वाली बात है! नहीं,ऑफिस सजाने के नाम पर लाखों लूटा रही ? उल्हासनगर - उल्हासनगर मनपा की सत्ता में आये अभी महीना भी नही हुआ भाजप -व साई पक्ष ने उपमहापौर ऑफिस के चार ऑफिस को तोडफोड करके और सभागृह नेता ऑफिस के लिए दो ऑफिस को तोडफोड करके नया ऑफिस बनाने का काम शुरू किया गया है . कई ऑफिस के बीच की बनी दीवारों व स्लॅब को भी नुकसान पहुचाया गया है जिसके चलते मनपा की बिल्डिंग भी छतिग्रस्त होने का खतरा निर्माण हो गया है बिना वजह मनपा के लाखों रुपये उड़ाया जा रहा है . जैसे ही यह जानकारी मनपा आयुक्त सुधाकर शिंदे को मिली उन्होंने तुरंत काम बंद करने का आदेश दिया है . उल्हासनगर महानगरपालिका के चुनाव को जीत हासिल करके भाजप व साई पक्ष ने मिलकर मनपा में सत्ता पर आसीन हुए . मनपा प्रशासनाने महापौर ,उपमहापौर , गटनेता ,सभागृह नेता ,इनको मनपा मुख्यालयात में ऑफिस की जगह पहले निर्धारित कर दिया है . परन्तु अचानक उपमहापौर जीवन इदनानी इन्होंने अपना नया ऑफिस बनाने के लिए महापौर के ऑफिस के बगल में अपना ऑफिस की मांग किया और उसके बाद ही महापौर ऑफिस के बगल में पहले बने मनसे , साई ,रिपाई ,बसपा इन पार्टियों के गट नेताओ के बने चार ऑफिस को तोड़फोड़ बिना किसी की अनुमती के ही शुरू कर दिया दूसरी तरफ सभागृह नेता जमनु पुरूसवानी इन्होंने भी अपने ऑफिस को बड़ा करने के लिए दो ऑफिस को तोड़फोड़ शुरू कर दिया है इस काम को करने में मनपा की बिल्डिंग के स्लॅब व कॉलम को छतिग्रस्त किया गया है जिससे मनपा की बिल्डिंग को नुकसान होने आशंका बन गई है? इसकी वजह से पहले से लगे सभी ऑफिसों में लाखों रुपए के समान ,सोफा ,टाईल्स ,सिलिंग आदीं का नुकसान हुआ है . इस काम को करने के लिए महानगरपालिका की निधी से २० लाख रुपये मंजूर किया गया है . इस काम को करने के निजी ठेकेदार विनोद व सोनू को दिया गया ऐसी जानकारी प्राप्त हुआ है . उपमहापौर जीवन इदनानी ये साई पक्ष के तो सभागृह नेता जमनू पुरूसवानी हये भाजपा पार्टी के है इन दोनों के द्वारा किये जा रहे अपने ऑफिस कार्यो की निदा सभी लोगो के जरिये देखने को मिल रही है . कायद्याने वागा संघटने के अध्यक्ष राज असरोंडकर ने कहा कि जनता के पैसो की बरबादी तो हो ही रही परंतु उससे आश्चर्य की बाद ये है कि असून महानगरपालिका के मुख्यालय में अवैध निर्माण कार्य हो रहा है . इस संदर्भ में कायदा ने वागा संघटना मनपा आयुक्त लिखित शिकायत देकर जो लोग अवैध तरीके से अपने ऑफिस का काम बिना किसी परमिशन के कर रहे उन पर कार्यवाई करने की मांग हम करेगे . इस संदर्भ में जब शहर अभियंता रामकुमार जयस्वाल इनसे पूछा गया तो उनका कहना था कि उपमहापौर व सभागृह नेता ने नए ऑफिस के काम को बंद करने का आदेश आयुक्त ने दिया है जिसका पालन करते हुए हमने काम को बंद करवा दिया है . परन्तु जब उनसे पूछा गया कि यह काम किसके आदेश शुरू था तब उन्होंने इसका उत्तर नहीं दिया . अब देखने वाली बात ये है क्या प्रशासन कार्यवाई करता है या आगे ऑफिस का काम करने की अनुमति ये देखने वाली बात है!
  • No Comment to " उपमहापौर व सभागृह नेता के अवैध बन रहे आफिस के काम पर आयुक्त ने लगाया फुलस्टाप ! "