• कुखयात चेन स्नेचर गिरफ्तार !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    करोड़ो की संपत्ती का मालिक !

    देश के नौ शहरों में है नेटवर्क !

    दिल्ली के निजामुद्दीन परिसर में नासिर के दो बंगले !

    आंबिवली  -  कल्याण के आंबिवली रहने वाले इस चेन स्नेचर को  ठाणे पुलिस की अपराध अन्वेषण शाखा ने दिल्ली से कुखयात चैन स्नेचर नासिर खान उर्फ समीर अली को पकड़ा है। इस बारे में विशेष जानकारी देते हुए अपराध अन्वषण विभाग के सहायक आयुक्त मुकुंद हातोटे ने बताया कि नासिर के पास करोड़ों की संपत्ति है। इतना ही नहीं देश के नौ शहरों में उसका नेटवर्क है। वैसे न्यायालय ने नासिर को १६ मई तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है। 
    नासिर आंबिवली स्थित ईरानी बस्ती का रहनेवाला है। अपने को सीबीआई बताकर नासिर बेहिचक किसी के घर में भी घुस जाता था। वहां से सोना आदि लेकर फरार हो जाया करता था। ठाणे पुलिस का कहना है कि नासिर के खिलाफ दर्जनों मामले दर्ज हैं। नासिर लगातार ठाणे पुलिस को चकमा दे रहा था। इसी बीच ठाणे पुलिस को गुप्त जानकारी मिली कि नासिर दिल्ली में है। इसके बाद उसे दिल्ली में ही पकड़ा गया। पुलिस का कहना है कि नासिर का दिल्ली में भी नेटवर्क है। बताया जाता है कि दिल्ली के निजामुद्दीन परिसर में नासिर के दो बंगले है। पुलिस का कहना है कि नासिर की प्रोपर्टी देश के कई शहरों में है। डेढ़ महीना पहले नासिर आंबिवली में शादी समारोह में शामिल होने आया था। इसी बीच पुलिस ने वहां कांबिंग ऑपरेशन भी किया था। लेकिन ईरानी महिलाओं के हस्तक्षेप के कारण नासिर को पुलिस नहीं पकड़ पाई थी। नासिर के बारे में जानकारी देते हुए हातोटे का कहना है कि उसका नेटवर्क ठाणे व मुंबई ही नहीं बल्कि देश के कई शहरों में है। वह दिल्ली में रहकर ही चैन स्नैचिंग करनेवाली टोली का संचालन कर रहा था। गत २० सालों से वह इस अपराध में है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि नासिर का नेटवर्क मुंबई, ठाणे, कल्याण, नवी मुंबई, बैंगलुरु, कोलकाता, दिल्ली, हैदराबाद और चेन्नई आदि शहरों में है। पुलिस को चकमा देने के लिए वह दिल्ली में रह रहा था। चैन स्नेचरों का मास्टर माइंड नासिर उर्फ समीर कभी सीबीआई ऑफिसर बन जाता था तो कभी पुलिस वाला। लोगों के घर जाकर वह आभूषण पर हाथ साफ कर देता था। पुलिस का मानना है कि नासिर के पास करोड़ों की संपत्ति है।
  • No Comment to " कुखयात चेन स्नेचर गिरफ्तार ! "