• यूपीएससी परीक्षा में प्रांजल पाटिल ने फिर बाजी मारी !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    यूपीएससी परीक्षा में प्रांजल पाटिल ने फिर बाजी मारी !

    उल्हासनगर -पूर्ण रूप से दृष्टिहीन होते हुए भी अपने जिद को पूरा करते हुए यु पी एस सी परीक्षा में प्रंजाल पाटील ने 124 स्थान प्राप्त कर उल्हासनगर शहर का नाम रोशन किया है.
     उल्हासनगर में रहनेवाली प्रांजल पाटील ने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विद्यापीठ से पी . एच .डी कर रही है.सन २०१६ में यु पी एस सी कि परीक्षा में ७७३ अंक पाकर उल्हासनगर सहित देश अपना नाम रोशन किया था.प्रंजाल को सफलता को देखते हुए रेल्वे मंत्रालय ने प्रंजाल को नॉकरी देने का आश्वासन दिया था.यहा तक रेल्वे मंत्रालय ने फोन कर प्रंजाल से संपर्क किया था.और नोकरी का आश्वासन रेल्वे मंत्रालय ने दिया था.यहाँ तक ट्रेनिंग भी सुरु हो गयी थी.जब प्रंजाल ने रेल्वे प्रशासन से संपर्क किया तो उसे कहा गया कि तुम १०० प्रतिशत दृष्टिहीन हो तुम्हे नॉकरी नहीं दे सकते.इसके बाद भी प्रंजाल ने कई बार कोशिस कि पर उसे सफलता नहीं मिली.इन सब से निराश होकर प्रंजाल नें फेसबुक व ट्विटर सोशल मीडिया पर अपनी व्यथा व्यक्त करते हुए कहा की " में अथक प्रयास कर पढ़ाई कर यु पी एस सी परीक्ष में सफलता प्राप्त कि इसके बायजुड़ मेरे साथ भेदभाव किया जा रहा है.जिसके बाद रेलवे विभाग ने प्रांजल को फरिदाबाद में पोस्ट और टेली कम्युनिकेशन में नियुक्ती कि. पर आईएएस का सपना देखने वाली प्रांजल ने दृष्टिहीनता दर किनार करते हुए अपनी पढ़ाई जारी रखते हुए दुबारा यूपीएससी कि परीक्षा दी और देश मे प्रांजल ने १२४ वा क्रमांक प्राप्त किया.प्रांजल द्वारा अपनी कमजोरी को मत देकर दुबारा कामयाबी हासिल करने को लेकर शहर में उल्हास का माहौल है. प्रांजल के पिता एल.बी. पाटील से संपर्क करने अपनी बेटी की कामयाबी पंर खुशी जाहिर करते हुए कहा की यूपीएससी परीक्षा पास होने से अब उसका सपना पूरा होने से पूरा परिवार खुश है। इसी के साथ सुभाष टेकड़ी कैम्प 4 में रहने वाले पी आर पी के नगरसेवक प्रमोद टाले का सुपुत्र अभिषेक टाले ने युपीएससी परीक्षा में 877 स्थान हासिल कर कामयाबी प्राप्त की।इस कामयाबी पंर पूरे परिसर में खुशी का माहौल व्यक्त है।
  • No Comment to " यूपीएससी परीक्षा में प्रांजल पाटिल ने फिर बाजी मारी ! "