• मोनार्च सोलिटायर प्रोजेक्ट को कोर्ट का झटका !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मोनार्च सोलिटायर प्रोजेक्ट को कोर्ट का झटका !

     बिल्डर को सात करोड़ भरने दिया आदेश ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर शहर के शांतीनगर परिसर के बहुचर्चित और मनपा द्वारा स्थगतीत मोनार्च सोलिटायर प्रोजेक्ट को हाई कोर्ट ने एक जोर का झटका देते हुए आदेश दिया है कि इस प्रोजेक्ट को सुधारने के लिए साडे सात करोड रूपये का प्रिमीयम मनपा में भरना होगा . उल्हासनगर कैम्प तीन के शांतीनगर में वालधुनी नदी के लगकर ही युनिर्व्हसल केमिकल इस कंपनी के सर्वे क्रमांक 169 इसी भूखंड मोनार्च सोलीटायर प्रोजेक्ट बन रहा है. इस प्रोजेक्ट में सोलह बिल्डिंगें बनाने है जिसमें हजारों लोग रहेंगे. मनपा ने इस प्रोजेक्ट को 2012 में परमिशन दिया था. विधायक ज्योती कालानी, साई पक्ष के सर्वेसर्वा जिवन इदनानी और नगरसेवक राजेंद्रसिंग भूल्लर इन्होंने इस प्रोजेक्ट की कमियों को सामने 2014 में लाये जिस पर तत्कालीन पालीका आयुक्त बालाजी खतगांवकर इन्होंने प्रोजेक्ट को स्थगिती कर दिया था इस प्रोजेक्ट की प्रमुख कमी थी पर्यावरण की एनओसी मनपा के समक्ष प्रस्तुत करके बिल्डर ने सुधारीत परमिशन की मांगी थी. उस समय मनपा के नगररचना विभाग ने 3 जुन 2016 को अध्यादेश के अनुसार साडे सात करोड रूपये भरने का प्रिमियम भरने को कहा था . जिसके विरोध में मोनार्च कंपनी ने हाई कोर्ट में एक याचिका दाखिल किया था. और अपनी याचिका में कहा था कि प्रोजेक्ट 2012 में परमिशन मिला है इस लिए इस पर प्रिमियम लागु नहीं होता है ऐसा अपना तर्क दिया था. परन्तु याचिका को न्यायालय ने खारीज करते हुए मोनार्च कंपनी को साडे सात करोड रुपये भरने का आदेश दिया है.
  • No Comment to " मोनार्च सोलिटायर प्रोजेक्ट को कोर्ट का झटका ! "