• मुझे मनपा को महारवाडा नहीं बनाना है ,

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मुझे मनपा को महारवाडा नहीं बनाना है ,

     मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर बाद में मांगी माफी ! 

    उल्हासनगर - गटनेताओं की केबिन के विषय को सभी नगरसेवक आयुक्त से मुलाकात करने के लिए उनके कार्यालय में गये थे उस दरम्यान केबिन के विषय पर आयुक्त ने कहा कि मुझे "महानगरपालिका को महारवाडा नही बनाना है "ऐसा जातीवाचक शब्द का इस्तेमाल मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर ने किया था .बाद उन्होंने कहा ये शब्द मुझसे गलती से निकल गया है और इसके लिए मैं माफी मांगता हूं . 
     कल मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इनके आदेश के बाद कुछ गटनेताओ के केबिन में ताले लगा दिए जिसमें पीपल्स रिपब्लिकन पार्टी के प्रमोद टाले , रिपाई (आठवले गट ) के भगवान भालेराव , भारिप बहुजन महासंघ के कविता बागुल, इन्हें कुछ दिन पहले ही गट नेताओं को केबिन दिए गए थे. मात्र एक सदस्य वाले गट नेताओ को इसका लाभ न देने का आदेश मनपा आयुक्त ने दिए जिसके बाद उस आदेश का पालन करते हुए मालमत्ता विभाग ने सभी केबिन को सील कर दिया. इसी विषय पर जब नगरसेवक लोग आयुक्त से मिलकर चर्चा करने गए थे उसी समय चर्चा के दौरान किसी बात का जवाब देते समय आयुक्त ने कहा कि मुझे मनपा महारवाड़ा नही बनाना है, ऐसा कहकर दलित समाज को निम्न दर्जा दिखाने की कोशिश करने का काम किया. इस बारे में जब पत्रकार और आंबेडकरी कार्यकर्ताओ अपना रोष प्रकट के लिये आयुक्त के पास गए तो आयुक्त अपनी गलती को मानते हुए कहा कि गलती से मुझसे वो शब्द निकल गया इसके लिए मै माफी मांगता हूं . किंतु अगर मुझपर जातीय राजनीति का शिकार बनाने की कोशिश हो रही है तो मै उसके लिए तैयार हू ऐसा आयुक्त ने कही है . वही इस बात से आंबेडकरी जनता में रोष देखने को मिला .
  • No Comment to " मुझे मनपा को महारवाडा नहीं बनाना है , "