• उमपा में अजब गजब झोलझाल !70 लाख हाउस टैक्स को बनाया 10 लाख !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    70 लाख हाउस टैक्स को बनाया 10 लाख !

    भगवती वाइन शॉप के टैक्स पावती का झोल !

    मनपा आयुक्त ने दिए जांच के आदेश !     

    उल्हासनगर -उल्हासनगर मनपा का एक बडा अधिकारी और एक नगरसेवक के दबाव में मनपा के एक हाउस टैक्स 70 लाख था उसी टैक्स को 10 लाख करने का एक नायाब कारनामा सामने आया है.
    इस मामले की जांच करने का आदेश मनपा आयुक्त राजेंद्र निबांळकर ने दिया तथा संबंधित कर निरीक्षक की विभागीय जांच करा रहे है.     उल्हासनगर कॅम्प 4 के श्रीराम चौक में भगवंती वाईन्स शॉप जो दो मजली इमारत है इस दुकान की दो टैक्स पावती मनपा के मालमत्ता विभाग में नोद है . पहली पावती सदरोमल इनके नाम पर है जिसका एरिया 400 चौरस फुट और दूसरी पावती लालचंद सदरोमल इनके नाम है इसका एरिया 600 चौरस फुट लिखा गया है . इन दोनों जगहों को मिलाकर दस साल पहले भगवती वाईन्स ने दो महले का अवैध निर्माण बनाया इस निर्माण के बाद पूरी एरिया का क्षेत्र फल अब 8000 चौरस फुट से भी अधिक है, दुकान में नीचे वाइन शॉप है तो दूसरे महले  जिन्स कारखानो को भाड़े पर दिया गया है ये बात जब कर निर्धारक और संकलक युवराज भदाणे के सामने आया तो उन्होंने इस दुकान के टैक्स को 10 लाख के हिसाब से पिछले छः सालो का 70 लाख भरने का नोटिस दिया था.    . परन्तु जब  भदाणे हये कुछ दिनों पर छुट्टी पर गए थे तभी मनपा के एक बड़े अधिकारी और एक नगरसेवक ने पुराने रिकार्ड को गायब करके नई टैक्स असिसमेन्ट रिपोर्ट  बनाकर  उस टैक्स की दोनों हाउस टैक्स पावती को प्रति वर्ष सव्वा लाख रूपये करके छः सालो के टैक्स को 9लाख करने आदेश  दिया था . यह बात तब सामने आई जब छुट्टी से वापस अपने काम पर भदाणे आये तब उन्होंने इसकी जानकारी मनपा  आयुक्त निबांळकर के समक्ष रखी आयुक्त ने तुरन्त आदेश देते हुए संबंधित कर निरीक्षक को नोटीस देते हुए जवाब मांगा.नोटिस के दिये जवाब ये बात स्पष्ट ही कि  कर निरीक्षक व  अधिकारी और नगरसेवक के नाम का समावेश है . जिसके बाद मनपा  आयुक्त के आदेश के बाद फिर नया असिसमेन्ट बनाने की प्रक्रिया में भदाणे जुट गए है और भगवंती वाईन्स के मालीक प्रितम कुकरेजा को सुनवनी के लिए नोटिस दिया गया है . बता दे मनपा का टैक्स विभाग इससे पहले बड़े घोटालो खुलासा हो चुका है इस समय मनपा का एक ऐसा विभाग है जहाँ से मनपा का आमदनी का सोर्स है ऐसे में इस विभाग में इस तरह के न जाने कितने मामले होते होंगे ऐसे जरूरत इस विभा में कार्यरत हर लोगो की बारीकी जांच हो ताकि दुबारा ऐसा न हो !
  • No Comment to " उमपा में अजब गजब झोलझाल !70 लाख हाउस टैक्स को बनाया 10 लाख ! "