• शिवसेना पार्टी में बगावत ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    शिवसेना पार्टी में बगावत  ? 

    एनडीए छोड़ने की मिडिंग में 25 विधायको के दिखे बागी तेवर !

    मुंबई -  शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नें एनडीए के साथ रहे कि न रहे ये फ़ैसला लेनें के लिए बैठक बुलाई थी की, वो केन्द्र और राज्य में सरकार में अभी साथ में है। उसी पर चर्चा शुरू थी कि तभी  शिवसेना के एक साथ पच्चीस विधायकों नें ऐसा ना करनें की सलाह देते है। सूत्रों की माने तो शिवसेना के 25 विधायकों ने पार्टी को सरकार में बने रहने की हिदायत दी है। उनका साफ़ तौर पर कहना है अगर पार्टी सरकार से बाहर हो जाती है तो राज्य में मध्यवादी चुनाव होंगे वो मध्यवादी चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं है। इन विधायकों ने साफ़ कह दिया है की अब तक मोदी जादू बरकरार है और ऐसे में वो चुनाव में जाने की स्तिथि में नहीं हैं। और तो और उनके पास इतने पैसे भी नहीं हैं की वो फिर से चुनाव में उतरे। अगर फिर भी पार्टी ऐसा कुछ सोंचती है तो उन्हें भी अपने भविष्य के बारे में सोंचना पड़ेगा। कल मातोश्री में उद्धव ठाकरे के साथ सांसद,मंत्रियों और विधायक के साथ हुई बैठक में शिवसेना के विधायकों ने सरकार के ऊपर अनदेखी का आरोप लगाया है। और कहा की उनके विधानसभा छेत्र में भाजपा के नेता विकास काम में रोड़ा दाल रहे है। शिवसेना ने राज्य में बढ़ रही महंगाई को काबू करने के लिए सरकार को आखिरी अल्टीमेटम दिया है। अगर महंगाई को जल्द से जल्द काबू नहीं किया और उनके मंत्रियों विधायकों की नहीं सुनी गयी तो एनडीए से बाहर हो सकते है। लेकिन 25 विधायकों का सरकार से हटने का विरोध उद्धव ठाकरे को कोई ठोस फैसला लेने में मुश्किलें जरूर खड़ा करेगी। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा की हम निर्णय के पास है जल्द ही कोई निर्णय लेंगे। इसके बाद कयास ये भी लगाया जा रहा है कि आने वाले दशहरा रैली या फिर दिवाली के पहले पार्टी कोई बड़ा निर्णय ले सकती है। पार्टी मीटिंग में जमकर देखने को मिली गुटबाजी मातोश्री में विधायक और मंत्रियों कि बैठक में एक बार फिर पार्टी के भीतर का विवाद सामने आया है। इसके पहले सेना के कई विधायक उद्धव ठाकरे से सरकार में अपने ही पार्टी के मत्रियों की शिकायत करते आए है। लेकिन कल हुई बैठक में उद्धव ठाकरे के सामने विधायक और मंत्री लड़ते नज़र आए है। विधायक भारत गोगावले और रामदास कदम में हुआ बहस बैठक के समय शिवसेना के रायगढ़ से विधायक भारत गोगावले ने सवाल किया आगामी चुनाव में मंत्रियों की भूमिका क्या रहेगी? वो हमें चुनाव में कितनी मदद करेंगे वो बात की बात है। सिर्फ मंत्री हमसे ठीक तरह से बर्ताव करे हमे मंत्री नहीं बनना है। सरकार में शिवसेना कोटे से पर्यावरण मंत्री रामदास कदम गोगावले के सवाल पर भड़क गए और कहा की सभी मंत्री को आरोपी के पिंजरे में खड़ा ना करे। सीधे सीधे मंत्रियों का नाम ले अगर मेरा नाम रहेगा तो मै इसी वक़्त मातोश्री में राजीनामा देने को तैयार हूँ। उद्धव के सामने रोई नीलम गोर्हे कल हुई बैठा में शिवसेना नेता नीलम गोर्हे और सांसद श्रीरंग बारणे के बीच भी देखने को मिला सांसद ने कहाँ नीलाम गोर्हे भाजपा विधायक लक्ष्मण जगताप को शिवसेना में आने का निमंत्रण देने वाली कौन होती है. गोर्हे शिवसेना हमें न सिखाए। इसपर जवाब देते हुए नीलम ने कहा की शिवसेना के प्रति मेरी निष्ठा क्या है वो उद्धव ठाकरे को मालुम मुझे मेरी निष्ठा बताने की किसी को जरुरत नहीं है।
  • No Comment to " शिवसेना पार्टी में बगावत ? "