• जनसंपर्क अधिकारी भदाने जातिवादी, व भ्रष्ट्र अधिकारी को करो निलंबित - आरपीआय अध्यक्ष भालेराव

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    जनसंपर्क अधिकारी भदाने जातिवादी, व भ्रष्ट्र अधिकारी को करो निलंबित  - आरपीआय अध्यक्ष भालेराव 

    उमपा की महिला कर्मचारी को अपमानित करने के मामले में जनसंपर्क अधिकारी विवादों में। 

     ओपन सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने दिया जनसंपर्क अधिकारी की जांच के आदेश। 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर माहापालिका के जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाने और आरपीआय गटनेता के बीच चल रहा मानसून युद्ध थमने का नाम ही नही ले रहा है।आज आयोजित पत्रकार परिषद में आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव ने कहा कि ओपन सुनवाई के बाद न्यायालय ने डायरेक्टर आफ जनरल पुलिस को युवराज भदाने की जांच के आदेश दिया है और जल्द ही एंटी करप्शन जनसंपर्क अधिकारी पर मामला दर्ज कर सकती है।इसके अलावा आगामी 15 तारीख को होने वाली महासभा में जब तक भ्रस्टाचारी जनसंपर्क अधिकारी को निलंबित नही किया जायेगा तब तक महासभा नही चलने देने का इशारा भालेराव ने दिया है। गौर तलब हो कि कैम्प क्रमांक 4 स्थित भगवंती वाइन्स के टैक्स को लेकर आरपीआय गटनेता और तत्कालीन कर निर्धारक व संकलक युवराज भदाने में विवाद उपजा था,पत्रकार परिषद में पत्रकारों से बात चीत करते हुए भगवान भालेराव ने कहा कि जिस प्रोपर्टी का प्रोपर्टी टैक्स प्रति वर्ष 7 लाख आता था भदाने ने द्वेष भावना के चलते उस प्रोपर्टी का टैक्स 70 लाख कर दिया था।जब वह टैक्स उपायुक्त दादा पाटिल ने कम किया तो भदाने ने आरोप लगाया कि भालेराव के दबाव में टैक्स कम किया गया इसमें टैक्स इंस्पेक्टर डीडी मगर भी नगरसेवक भालेराव को सहयोग कर रहा है।भालेराव ने बताया कि भदाने से मानसिक रूप से पीड़ित होकर मगर आत्महत्या करने जा रहा था जैसे ही इसकी सूचना मिली वैसे ही नैतिकता के नाते मगर को आत्महत्या करने से रोका।भालेराव ने तत्कालीन कर निर्धारक व संकलक पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक अधिकारी के पास इतना पैसा कहा से आया जो साल में चार बार विदेश की सैर करता है,भालेराव ने आरोप लगाया कि विदेश दौरे के पहले भदाने ने खेमी डाइंग, अशोक वलेच्छा (साईबाबा ज्वेलर्स) के मालिक के बंगले सहित कई विवादित प्रोपर्टी के टैक्स में झोलझाल कर युवराज भदाने ने लाखों-करोड़ों रुपये का भर्स्ट चार किया। पत्रकार परिषद में उमनपा की महिला कर्मी अंजना देवीदास ढाकडे,दयाराम ढोबले, सूंदर लांडगे,रमेश अहवाड ने कहा कि कर निर्धारक पद पर कार्यरत युवराज भदाने ने कर्मियों का मानसिक शोषण करता था,साथ ही महिलाओ सहित अन्य कर्मियों को जाती वाचक गालिया देकर बात करता था।जिसके खिलाफ महिला कर्मी अंजना ढाकडे ने मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन, उमनपा आयुक्त,महिला आयोग सहित अनु सूचित जाती-जमाती आयोग को लिखित शिकायत कर भदाने पर कार्यवाही करने की मांग की है। इस विषय मे जनसंपर्क अधिकारी यूवराज भदाने ने आरपीआय गटनेता के आरोपो का खंडन करते हुए कहा कि भालेराव उनके ऊपर निराधार आरोप लगा रहे है,इसके अलावा उमनपा कर्मियों के आरोपो का स्पस्टीकरण करते हुए युवराज भदाने ने कहा कि टैक्स में कार्यरत कर्मी अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाही करते थे,जिनकी कई बार पेमेंट रोकने और उन्हें दंडित करने की वजह से अब ऐसा बेबुनियाद आरोप लगा रहे है।
  • 2 comments to ''जनसंपर्क अधिकारी भदाने जातिवादी, व भ्रष्ट्र अधिकारी को करो निलंबित - आरपीआय अध्यक्ष भालेराव "

    ADD COMMENT

    1. उल्हासनगर महानगरपालिका याने महा नरक पालिका *(कल्याण अंबरनाथ रोड विषेश) शहर के विकास में योगदान देने वालों को मुवाअजे के बदले सजा क्यों ? *लेकिन इस रोड पर हो रहा निर्माण अवैध कैसे है? जबकि शासन द्वारा *2005 तक सभी निर्माण वैध घोषित किये हैं।जिसमें सात माले या उससे कम ज्यादा सभी वैध हैं। शासन द्वा्रा सडक विसतारीकरण के कारण व्यापारीयों को मजबूर होकर घर मकान repair करना पड रहा है। व्यापारी किस तरह पैसो का इंतजाम करके रोजी रोटी की लडाई* *लड रहे हैं ये उनका दिल जानता है। अपनी दुकाने सात माला चार माला नही बना रहे दो या तीन माला ही बना रहे इस रोड का तीसरी बार विसतार हो रहा है । व्यापारियों ने र्सिफ और र्सिफ खोया है। और बडे दुख की बात है । सडक विस्तारीकण में जो बेघर और बेरोजगार हुऐ हैं उनकी व्यवस्था करने और सडक का काम जल्द चालू करने की बजाय लुटे हुओं को लूटने का मंसूबा कुछ भ्रष्ट अधिकारी रचे हुए हैं।वे भ्रष्ट अधिकारी ये क्यों भूल रहे है कि शहर के जन प्रतिनिधी या व्यापारी गण इन अधिकारियों की C B I /anti corruption से व शासन से आय और संपती की जांच की मांग कर सकते है । *शहर की हालत देखकर हर नागरिक *के दिल में पीडा होती है। 600 करोड का बजट और शहर की हालत आधा र्नक* बन चुका है। *शहर की प्रमुख समस्याए गंदगी .खराब सडके.पानी ।यातायात. रिशवतखोरी*और *भ्रष्टाचार*और पिछले कुछ बरसो में* *10/15 इमारतें गिरी सैकडों परिवार बेघर हुए हैं उनके लिये कोई उपाय* योजना ।सरकार द्वारा मिले।उनका हक मिले इंसाफ मिले धन्यवाद 9422678457 uttam bhagat singh ramrakhyani Note -नये आयुक्त से अच्छी उम्मीदें हैं।शासन का सहयोग जरूरी है।Date of Action:15 Nov 2016


      ReplyDelete


    2. आदरणीय प्रधान मंत्री साहब हमारे इस13 चौरस किलोमीटर शहर को गोद ले लें please मेरा निवेदन एक दम जायज है।*
      *आधरणीय प्रधान मंत्री साहब सादर प्रणाम* ,
      *मेरा आपसे हाथ जोडकर निवेदन है कि आप हमारे छोटे शहर को गोद ले लें please क्योंकि 600 करोड सालाना बजट है उल्हासनगर महानगरपालिका का फिर भी शहर की हालात एकदम खस्ता है। शहरवासियों को मूलभूत सुविधांए बिलकुल नही हैं। गंदगी ,पानी की किल्लत, खराब सडकें व सरकारी र्कायलयों में रिशवतखोरी, भ्रष्टाचार ,आम आदमी पिस रहा है । यहाँ लगभग सभी चुने हुए प्रतिनिधियों का विकास पाँच सालों में साफ दिखता है।लेकिन शहर वहीं का वहीं नरक समान । कृपाय ये छोटा शहर आप गोद लेकर उपकार करें पुण्य कमायें ।मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडनवी को गोद दें या श्री आदित्यनाथ योगी जी को दें धन्यवाद uttam bhagat singh ramrakhyani 9422678457


























      ReplyDelete