• लोकल ट्रेन के विकलांग डब्बे हुआ हैवानियत का नांच !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    लोकल ट्रेन के विकलांग डब्बे हुआ हैवानियत का नांच !

     गर्भवती महिला सहित उसके पति को दो गुंडों ने पीटा !

     गर्भवती महिला की शिकायत के बावजूद डोम्बिवली जीआरपी पुलिस ने एन सी लेकर किया मामले की लीपापोती !

     उल्हासनगर-दर्द से पीड़ित नौ माह की गरोधर (गर्भवती) महिला हॉस्पिटल से जब डिस्चार्ज होकर जब अपने पति के साथ अपने घर आ रही थी।तभी विकलांग डब्बे में चढ़े दो अज्ञात मुस्टंड्डो ने गर्भवती महिला सहित उसके पति की बेरहमी से पिटाई कर दी थी।गर्भवती महिला उत्तरभारतीय होने की वजह से शिकायत के बावजूद डोम्बिवली जीआरपी पुलिस ने सिर्फ एन. सी.के तहत मामला दर्ज कर मामले को दबाने का प्रयास किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उल्हासनगर के विट्ठलवाड़ी परिसर में रहने वाला दिनेश तिवारी जो पेसे से कर्मकांड पुजारी है,उनकी पत्नी अरुणा दिनेश तिवारी 8 माह की गर्भवती थी इसलिए पिछले शनिवार को गर्भवती पत्नी को लेकर दिनेश तिवारी मुम्बई के कामा हॉस्पिटल गए जहां डॉक्टरों ने गर्भवती पत्नी अरूणा को तीन दिन एडमिट कर गर्भवती संबंधित सभी टेस्ट कर उपचार किया और मंगलवार को उक्त गर्भवती महिला को 15 दिनों बाद आने की सलाह देकर डिस्चार्ज कर दिया था।शाम 7 बजे दिनेश तिवारी अपनी गर्भवती पत्नी को लेकर मुम्बई के सीएसटी स्टेशन आया और लोकल ट्रेन में अनियंत्रित भीड़ होने की वजह दिनेश अपनी गर्भवती पत्नी के साथ 7 बजकर 1 मिनट की सीएसटी कर्जत डबल फास्ट लोकल ट्रैन के विकलांग डब्बे में चढ़ गया। ट्रैन जब कुर्ला स्टेशन पहुची तब चलती ट्रेन के विकलांग डिब्बे में दो हट्टे-कट्टे मुस्तटंडे चढ़े और सर पर पल्लू लेकर खड़ी गर्भवती महिला और उसके पति से विकलांग होने का कार्ड मांगा ।तब महिला ने कहा कि ट्रैन में अनियंत्रित भीड़ होने के कारण विकलांग डब्बे में हम लोग चढ़ गए और विट्ठलवाड़ी में उतर जायेगे,पति-पत्नी की बात सुनकर दोनो अज्ञात मुस्टंड्डो ने दिनेश तिवारी को गालियां देते हुए हाथापाई करने लगे जब पत्नी छुड़ाने गयी तो उसकी भी लात-घूसों से पिटाई कर दी,गर्भवती महिला की पिटाई देख आस-पास डब्बे में चढ़े यात्रियों ने गर्भवती महिला के साथ हैवानियत करने वाले दोनो को गालियां देने लगे,पब्लिक आक्रोश को देख घबराए दोनो मुस्टंडे डोम्बिवली स्टेशन पर चलती ट्रेन से उतरकर फरार हो गए,ट्रैन जैसे ही डोम्बिवली स्टेशन पर रुकी वैसे ही अन्य ट्रैन यात्रियों के साथ गर्भवती पति-पत्नी जीआरपी पुलिस स्टेशन पहुचकर दोनो अज्ञात आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने का प्रयास किया,जीआरपी सीनियर पीआय हीरेमठ ने गर्भवती महिला को करीब तीन घण्टे बैठाने के बाद एनसी के तहत मामला दर्ज किया,इस विषय मे जब पत्रकारों ने सीनियर पीआय हीरेमठ से सवाल किया तब उनका जवाब भी हैरान करने वाला था,उन्होंने कहा कि गर्भवती महिला और उसके पति की पिटाई करने वाले दोनों अज्ञात आरोपी कुर्ला स्टेशन से चढ़े थे,इसलिए एनसी की जांच कुर्ला जीआरपी करेगी,वही गर्भवती दंपत्ति ने बताया कि डोंबिवली जीआरपी के पास दोनो अज्ञात आरोपियों का सीसीटीवी फुटेज सहित यात्रियों द्वारा पिटाई की निकाली गई वीडियो भी दी गयी,यदि डोंबिवली जीआरपी पुलिस चाहती तो दोनों हैवानों को गिरफ्तार कर सकती थी लेकिन सीनियर पीआय हीरेमठ ने 3 घण्टे तक बैठकर सिर्फ एनसी दर्ज कर कालम पूर्ति की।
  • No Comment to " लोकल ट्रेन के विकलांग डब्बे हुआ हैवानियत का नांच ! "