• पुलिस का हाई बोल्टेज ड्रामा ! शिवसैनिकों के आंदोलन पर फेरा पानी !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    पुलिस का हाई बोल्टेज ड्रामा !

    शिवसैनिकों का आंदोलन , मामला दर्ज किया अज्ञात लोगों पर !

    उल्हासनगर- सोमवार को शाम शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी के मार्गदर्शन में शहाड बिड़ला गेट स्थित सैकड़ो पदाधिकारियो के साथ शहर की समस्या को लेकर मनपा आयुक्त आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर तलाव कागद का बोर्ड लेकर शिवसैनिकों ने आंदोलन किया था। जिस आंदोलन में शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी उप शहर प्रमुख राजेन्द्र शाहू दिलीप गायकवाड़ सुरेश पाटील देश पाटील केशव ओबलेेेकर मंगला पाटील समेत सैकड़ो शिवसेेना के कार्यकर्ता मौजूद थे। और फटाके फोड़कर निषेध आंदोलन की घोषणा कर शिवसैनिक निकल गये । वही सोसल मीडिया समेत बड़े न्यूज़ चैनलों पर जोरो से चल रहा है । जो शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।जिस आंदोलन मामले में उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में कार्यरत पुलिस कर्मी रविन्द्र बोरसे ने फिर्यादि बनकर शिकायत दर्ज किया है। ज्ञात हो की 5 लोगो से अधिक बिना अनुमति के एकत्रित होकर घोषण बाजी व आंदोलन पर पाबंदी है। 
    जबकी शिवसेना नेताओ द्वारा सैकड़ो लोग एकत्रित होकर आंदोलन का रूप देकर घोषणा बाजी किया। और पुलिस ने सेना द्वारा किये गये आंदोलन मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्जकर अजब कारनामा सामने लाया है। जिसे लेकर उल्हासनगर पुलिस सवालों के घेरे में आ गयी है।शहर में जिसकी जोरो से चर्चा शुरू हो गयी है।की शहर में शिवसेना द्वारा समस्या को लेकर बिना अनुमति पाबंदी के बाद भी फटाके बजाकर घोषणा करके आंदोलन किया गया और उल्हासनगर पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जबकी सोसल मीडिया समेत न्यूज़ चैनलों पर तेजी से शिवसेना के आंदोलन वायरल हुआ है। और दिखाया जारहा है। उल्हासनगर पुलिस द्वारा अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्जकर शिवसैनिकों को संरक्षण दिये जाने की बात को लेकर शहर में चर्चा गर्मा गया है। वही उल्हासनगर पुलिस के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दत्रातय पालवे से उक्त मामले में पत्रकारों द्वारा सवाल पूछकर जानकारी मांगने पर उन्होंने अजब जवाब देकर चौका दिया है।पुलिस निरीक्षक ने कहा की अगर आपको जानकारी है।तो पुलिस स्टेशन आकर साक्ष्य दो उसके बाद कार्यवाही की जायेगी। ज्ञात हो की शुक्रवार को उल्हासनगर मनपा आयुक्त द्वारा शिवाजी चौक स्थित एक अबैध निर्माण की तोड़ू कार्यवाही शुरू की गई थी।इस दौरान शिवसेना शहर प्रमुख नगरसेवक राजेन्द्र चौधरी ने मनपा तोड़ू कार्यवाही में व्यवधान उत्पन करने का प्रयास किया और मनपा आयुक्त कार्यालय में अपने समर्थकों के साथ हंगामा किया था।जिस मामले को गम्भीरता से लेकर मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर ने शिवसेना नगरसेवक राजेन्द्र चौधरी को सोमवार को कारण बताओ नोटिस भेजा है और 7 दिन में नोटिस का जवाब मांगा है। जिसके कुछ घन्टो बाद शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी समेत शिवसेना के पदाधिकारीयो ने बिड़ला गेट स्थित मनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर के नाम का कागद का बोर्ड बनाकर समस्या को लेकर आंदोलन किया और घोषणा किया। परन्तु उल्हासनगर पुलिस को शिवसैनिकों के आंदोलन की जानकारी नही होने की बात पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्जकर पुलिस की कार्यवाही को सन्देह के घेरे में ला दिया है। ज्ञात हो की आंदोलन के बाद शिवसैनिकों ने सोशल मीडिया वाट्सअप पर वीडियो फ़ोटो भी पोस्ट किया था।जिसको लेकर चर्चा जोरों पर है।
  • No Comment to " पुलिस का हाई बोल्टेज ड्रामा ! शिवसैनिकों के आंदोलन पर फेरा पानी ! "