• डेंगू बुखार का उल्हासनगर में कहर !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
     डेंगू बुखार का उल्हासनगर में कहर !

     निजी हॉस्पिटलों में 56 डेंगू पेसेंट करवा रहे उपचार !

     आरोग्य अधिकारी के बड़बोल 8 लाख की जनसंख्या में 56 लोगो को हुए डेंगू कोई मायने नही रखता ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के विवादित आरोग्य अधिकारी एक बार अपनी बड़बोली की वजह से वापस विवादों में घिर गए है।उल्हासनगर के विभिन्न निजी हॉस्पिटलों में डेंगू की चपेट में आये 56 सस्पेक्टेड मरीज उपचार करवा रहे है,जब कि आरोग्य अधिकारी राजा रिज्वानी इसे मजाक में लेकर यह कह दिए कि 8 लाख की जनसंख्या में 56 डेंगू पेसेंट कोई मायने नही रखते, आरोग्य अधिकारी के इस विवादित बोल से बवाल मच गया है। 
    प्राप्त जानकारी के अनुसार डेंगू एक जानलेवा भयंकर बीमारी है और डेंगू,मलेरिया जैसे इस भयंकर बीमारी से बचने के लिए उमनपा प्रतिवर्ष जन जागृति मुहिम चलाती है,परन्तु इस बार जन जागृती मुहिम तो दूर की बात है झुग्गी-झोपड़ पट्टियों सहित इमारतों में डेंगू और मलेरिया से बचने के लिए उमनपा जो केमिकल का छिड़काव करती है वह भी अब तक नही किया गया।उमनपा सभागृह नेता जमनु पुरस्वनी द्वारा डेंगू का मुद्दा उठाने के बाद उमनपा प्रसासन हरकत में आई,इस विषय मे सभागृह नेता जमनु पुरस्वनी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मुझे पोती हुई और इसलिए मैं पिछले पाँच दिनों से लगातार हॉस्पिटल में जा रहा हु।वहां जाने के बाद जो भी परचित लोग मिले उनमें अधिकांशतः डेंगू जैसे खतरनाक बिमारी से ग्रसित मिले।                 निजी हॉस्पिटल में डेंगू ग्रसित पेसेंट को देखने के बाद सभाग्रह नेता जमनु पुरस्वनी ने आरोग्य अधिकारी डॉ. राजा रिजवानी को एक पत्र देकर डेंगू से ग्रसित पेसेंटो की जानकारी मांगी तब पता चला कि 56 लोग डेंगू ग्रसित है और सैकड़ो लोग मलेरिया से ग्रसित है, जिसमे अधिकतर बच्चो का समावेश है और बिमारी से ग्रसित सभी लोगो का उपचार निजी हॉस्पिटल में किया जा रहा है।इस विषय मे जब पत्रकारों ने आरोग्य अधिकारी डॉ. राजा रिजवानी से पूछा तब उन्होंने बताया कि दिवाली की छुट्टियों के पाँच दिनों का अपडेट अभी तक नही मिल पाया है,दिवाली के पहले तक निजी हॉस्पिटल में 56 डेंगू पेसेंट का उपचार किया जा रहा है,इसकी जानकारी विभिन्न हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने उमनपा को दी है।पत्रकारों के समक्ष ही राजा रिजवानी ने कहा कि 8 लाख की जनसंख्या में 56 डेंगू के पेसेंट कोई मायने नही रखते,इस बड़बोली से राजा रिज्वानी विवादों में घिर गए है।
  • No Comment to " डेंगू बुखार का उल्हासनगर में कहर ! "