• पानी समस्या या सियासी रंगमंच !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा की महासभा में पानी को लेकर हुआ रणसंग्राम !

     पानी समस्या या सियासी रंगमंच ! 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका की महासभा में पानी की समस्या को लेकर सत्तापक्ष - विपक्ष दोनों एक साथ मिलकर प्रशासन को घेरने का रणसंग्राम बना दिया ऐसा लग रहा था कि उल्हासनगर शहर एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहा है,शहर में जो पानी सप्लाई होता है वह लोगो को ही मिलता है या जमीन पी जाती है ऐसा बड़ा सवाल आज की महासभा उठे पानी के विषय को लेकर लगाया जा सकता है ! 
    उल्हासनगर महानगरपालिका पानी की समस्या को खत्म करने लिए करोड़ो रूपये खर्च करके नई पाइप लाइन डाली है, पुरानी नई लाइन दोनों के जरिये पानी लोगो को सप्लाई किया जाता है , कुछ इलाकों में पानी की समस्या है ,परन्तु जिस तरह से महासभा में पानी को लेकर सभी खड़े दिखे उससे ऐसा लगता है कि समस्या कम राजनीतिक रोटी ज्यादा सेकने की कोशिश की जा रही है, मनपा आयुक्त राजेंद्र निम्बालकर ने अपने जवाब में साफ किया पानी की समस्या कुछ जगहों पर है प्रशासन जल्द ही उसे भी समाप्त करने के लिए काम कर रहा है परंतु महासभा का डर दिखाकर मै डरने वाला नही हु जो लोग ऐसा समझते वो गलत समझते है, नगरसेवक शेरी लुंड ने कहा कि उल्हासनगर शहरवाशियो का पानी जो कल्याण के कुछ लोग पी रहे उस पर कार्यवाई हो और उनसे उसका बिल वसूला जाय उस पर आयुक्त ने कहा कि केडीएमसी को पत्र दिया गया जवाब आते ही उस पर भी ठोस कार्यवाई किया जाएगा, देखने वाली बात ये है कि कोई एक नगरसेवक महासभा यह नहीं बोला कि मेरे एरिया में पानी की समस्या नहीं न तो कोई भी राइजिंग कनेक्शन को लेकर चर्चा करते है जब कि पानी की समस्या का कारण ही मेन लाइनों पर लिए गए राइजिंग कनेक्शन है ! उस पर कार्यवाई जब तक नहीं होती तबतक पानी समस्या से शहरवाशियो को मुक्त करना संभव नहीं है आज भी शहर के कुछ हिस्से ऐसे है जहाँ जितनी देर पानी की टँकी भरती है उतनी देर कुछ इलाकों में पानी आता है !
  • No Comment to " पानी समस्या या सियासी रंगमंच ! "