• उल्हासनगर शहर के प्लेटिनियम अस्पताल में होता है गरीबों का मुफ्त में ईलाज !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर शहर के प्लेटिनियम अस्पताल में होता है गरीबों का मुफ्त में ईलाज ! 

    हार्ड,किडनी,मेजर ऑपरेश जैसी बीमारियों का होता है निः शुल्क ईलाज !

     उल्हासनगर- उल्हासनगर शहर में एक ऐसा अस्पताल है जहाँ पर गरीबों को मुफ्त में ईलाज होता है अब तक इसमें हजारों की संख्या में गरीबो का मुफ्त ईलाज किया जा चुका है ! सत्य साई प्लेटिनियम अस्पताल के डारेक्टर डॉ, संजीत पॉल ने बताया हमारे इस अस्पताल में गरीबों को आते समय अपना राशन कार्ड लाना जरूरी है ,यहाँ पर उनको हृदय रोग से संबंधित सभी बीमारियों जैसे हार्ड अटैक, यनजीओ प्लास्टि, हार्ड का बाईपास सर्जरी व किडनी की सभी बीमारियों के अलावा मेजर आपरेशन व मेजर रोड़ एक्सीडेंट के घायल पेसेंट का ईलाज किया जाता है ! 
    अब तक हजारो की संख्या में उल्हासनगर, अम्बरनाथ, बदलापुर,कल्याण, टिटवाला के ग्रामीण इलाकों में रहने वालों गरीबों ने यहाँ पर अपना मुफ्त में ईलाज करवा चुके है ,डॉ, पॉल ने कहा कि आगे भी गरीबो इस तरह के मुफ्त ईलाज का फायदा ज्यादा से ज्यादा लोग ले इसके लिए हम ने सोशल मीडिया के जरिये ईलाज करा चुके लोगो की रॉय लेते है ताकि उनके ट्रीटमेंट में कही कोई डॉक्टर लापरवाही तो नही कर रहा है उसकी भी जानकारी मिल सके, इसका दो तरह से फायदा मिल रहा है एक तो और लोगो जानकारी मिल रही दूसरा मरीजों को सही तरीके से ईलाज मिल रहा है,इस कार्य के लिए सोमवार को उल्हासनगर सिंधी काउंसिल आँफ इंडिया के उल्हासनगर के अध्यक्ष प्रकाश पंजवानी व वाइस प्रेसिडेंट महाराष्ट्र ढालू नाथानी व सुनील तलरेजा (सेक्रेटरी) और नरेश वाधवानी (एन, जी,ओ, एम्बुलेंस सेवा)इनके द्वारा सत्य साई प्लेटिनियम अस्पताल के डारेक्टर डॉ, संजीत पॉल को पुष्प गुच्छा देकर स्वागत किया है ! सिंधी काउंसिल के वाइस प्रेसीडेंट महाराष्ट्र के ढालू ने कहा कि हमें गर्व है कि हमारे उल्हासनगर शहर में ऐसा अस्पताल है जहाँ पर गरीबों का फ्री में ईलाज हो रहा है इस के लिए हमारी संस्था ने डॉ, पॉल का स्वागत किया ताकि भविष्य में इनके कार्यो से प्रेणना लेकर दूसरे डॉक्टर भी ऐसा कार्य करे ताकि इसका लाभ और भी गरीबो को मिल सके यही हमारी संस्था की सोच है !
  • No Comment to " उल्हासनगर शहर के प्लेटिनियम अस्पताल में होता है गरीबों का मुफ्त में ईलाज ! "