• क्रिकेट बैटिंग के गोरखधंधे में सामने आया नया जुआड सटोरिये अब महिलाओ को बनायेगे अपनी ढाल !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    क्रिकेट बैटिंग के गोरखधंधे में सामने आया नया जुआड सटोरिये अब महिलाओ को बनायेगे अपनी ढाल !

     अपेक्षा से अधिक पैसा देकर महिलाओ को सट्टे के धंधे में कर रहे है सक्रिय !

     ( स्पेशल स्टोरी-दबंग दिलीप मिश्रा ) 

     उल्हासनगर-कल्याण क्राइम ब्रांच व खडकपाडा पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में पुलिस के हत्थे चढ़े तीनो इंटरनेशनल बुकियों की गिरफ्तारी से ठाणे जिले के बुकियों में हड़कंप मचा हुआ है।शहर के सटोरिये अब पंटरों से पैसा वसूली से लेकर बुक चलाने तक धंधे पर बुकी महिलाओ का इस्तेमाल करेंगे बताया जा रहा है कि इस काम के लिए महिलाओ को अपेक्षा से ज्यादा वेतन तय किया गया है।              
      ठाणे पुलिस के रिकार्ड में जिले का सबसे बड़ा इंटरनेशनल सटोरिया अनिल जयसिंघानी के बाद हीरो तलरेजा को माना जाता है ।गोवा और पश्चिम बंगाल में किशोर केशवानी द्वारा दर्ज किए गए मामले के बाद से ही जयसिंघानी अब तक वांटेड है,सूत्रों के मुताबिक वॉन्टेडी में अनिल जयसिंघानी को हीरो तलरेजा ने ही अपने फार्म हाउस पर आश्रय दिया था,बताया जाता है कि एक पूर्व कांग्रेसी नगरसेवक सहित शहर के कई इन्वेस्टरों से हीरो तलरेजा ने करीबन 15 करोड़ रुपये बतौर व्याज पर लिया हुआ है उसकी एवज में हीरा ने उन सभी को चेक दिया है।3 महीने पहले जैसे ही हीरा से कर्जदारों ने तगादा शुरू किया वैसे ही हीरा भूमिगत हो गया और उसके भाई महेश तलरेजा व बेटा कुणाल व दिनेश ने यह अफवाह फैला दी कि वह दुबई में शिफ्ट हो गया है।जैसे ही कर्जदारों को पता चला कि हीरा शहर छोड़कर वॉन्टेड हो गया वैसे ही कर्जदारों ने न्यायालय में चेक बाउंस का केस करना शुरू कर दिया और अब तक हीरा के ऊपर एक दर्जन नान वैलेबल वारंट ईशु हो चुका है जिसमे स्थानीय पुलिस को उसकी तलाश है इसलिए जमानत होते ही हीरा वापस फरार हो गया।सूत्रों के मुताबिक शहर के सटोरिये परसराम उर्फ परसा,घनश्याम,जीतू (पॉलिहिल),खान,सुरेश पिन्ना,राहुल (उद्धि),रवि (चिक्की),उद्धव ,टिमकी,अनिल (रायपुर) ,कुणाल व दिनेश तलरेजा अब पंटरों से पैसा वसूली से लेकर इस गोरखधंधे को आपरेट करने तक के लिए महिलाओ का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है,बताया जाता है की मैच में लाखों रूपये हारा हुआ जो  पंटर पैसा देने में आनाकानी करता है या समय पर पैसा नही देता ऐसे पंटरों से पैसा वसूलने के लिए पहले तो पाले हुए गुर्गों का इस्तेमाल किया जाता है और यदि तभी भी पैसा नही वसूल हुआ तो पंटरों के घर,दुकान या ऑफिस पर 3-4 महिलाओं को भेजकर झूठा केस करवाने की धमकी देकर पैसा वसूल किया जाता है,वसूली के पैसे में या तो गुर्गों को परसेंटेज दी जाती है या फिर अपेक्षा से अधिक वेतन देकर उन्हें पाला जाता है।सूत्रों के मुताबिक कल्याण क्राइम ब्रांच की कार्यवाही के बाद अब उल्हासनगर यूनिट सहित डीसीपी स्काट भी अपने-अपने मुखबिरों के जरिये बुकियों की तलाश में जुट गए है।
  • No Comment to " क्रिकेट बैटिंग के गोरखधंधे में सामने आया नया जुआड सटोरिये अब महिलाओ को बनायेगे अपनी ढाल ! "