• शिवसेना के जन आक्रोश मोर्चा में उमड़ा जनसैलाब !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    शिवसेना के जन आक्रोश मोर्चा में उमड़ा जनसैलाब !

    डीपी प्लान को रद्द करने के लिए कई संगठनों ने भी निकाला मोर्चा ! 

    उल्हासनगर- गुरुवार को मनपा में विपक्ष की भूमिका निभा रही शिवसेना ने महाराष्ट्र सरकार द्वारा मंजूर किये गये उल्हासनगर विकास के डीपी प्लान के विरोध में मनपा मुख्यालय के सामने जन आक्रोश मोर्चा निकाला ।जिस मोर्चा में हजारों की संख्या में शिवसैनिक व सेना के वरिष्ठ नेता नगरसेवकों के साथ विधायक बालाजी किनीकर समेत शिवसेना के उप जिला प्रमुख  चंद्रकांत बोडारे,शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी,विरोधी पक्ष नेता धनंजय बोडारे,गट नेता रमेश चव्हाण,ग्राहक संरक्षण कक्ष शहर प्रमुख जयकुमार केणी,उपशहरप्रमुख परशुराम पाटील,राजेंद्र साहू,दिलीप गायकवाड,नगरसेवक अरुण आशान,महिलाआघाडी संघटक मनिषा भानूशाली,युवासेना उपजिलाधिकारी सोनू चानपूर,युवासेना अधिकारी बाळा श्रीखंडे,सुमित सोनकांबळे,कल्याण ,उत्तर भारतीय सेल शहरप्रमुख के.डी.तिवारी,रिपाई नेता व्ही.बी.ससाणे,सेवानिवृत्त उपजिल्हाधिकारी एस.एस.ससाणे,व्यापारी असोसिएशन के अध्यक्ष नरेश दुर्गानी समेत भारी संख्या में शहर के व्यापारी व रहिवासी नागरिक मोर्चा में उपस्थित थे।
    बता दे की इसके पूर्व शिवसेना विधायक बालाजी किनीकर समेत शिवसेना के विधायकों ने नागपुर अधिवेशन के दौरान भाजपा के साथ सत्ता में शामिल होने के बाद भी उल्हासनगर के मंजूर डीपी प्लान के विरोध में मोर्चा खोला था। वही मोर्चा में शामिल शिवसेना नेता गोपाल लांडगे ने आरोप लगाया की मंजूर डीपी प्लान से उल्हासनगर के गरीब तबके के लोग बेघर हो जाएंगे। उन्होंने कहा की  शिवसेना के विरोध को डीपी प्लान को मामले को गंभीरता से नही लिया गया तो शिवसेना मंत्रालय पर भी धड़क मोर्चा निकालेगी । मोर्चा के एक प्रतिनिधि मंडल ने मनपा मुख्यालय उपायुक्त संतोष देहरेकर को मुलाकात कर ज्ञापन दिया। बता दे की डीपी प्लान के विरोध में शहर के व्यापारियों नागरिको ने जन आक्रोश मोटरसाइकिल रैली निकाली विकास हवा विकास नही घोषणा किया। वही गुरुवार को।मनपा महासभा में डीपी प्लान को लेकर हंगामा होने की आशंका के चलते महासभा 3 जनवरी तक स्थगित कर दिया गया वही शिवसेना नगरसेवक अरुण आसान न कहा की डीपी प्लान को लेकर शिवसेना के मोर्चे को देखकर मनपा आयुक्त और महापौर महासभा में नही पहुचे और नही सम्बंधित विभागीय अधिकारी ही सभा मे मौजूद हुए।  इसकी शिकायत शासन करेंगे,यह ठहराव सरकार ने दबाकर कर रखा है,। की सभा मे सत्ताधारी बोलने नही देते है। मोर्चा में शामिल शिवसेना नेताओ ने आरोप लगाया की उल्हासनगर शहर का डीपी प्लान एक बंद एसी कमरे में मात्र चार लोगों ने मिलकर सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए बनाया है। जो सिर्फ बड़े बिल्डर ओर अधिकारी के फायदा  के लिये बनाया गया है। जिसमे बड़ी बड़ी संख्या में गरीब,और व्यापारी प्रभावित होंगे जबकी.विकास परियोजना सभी शहर के निवासियों के हित के लिए होता है। डीपी प्लान से अगर लोगो को घर से बेघर करता हो तो ऐसे डीपी पालन का शिवशेना निषेध करती है।उक्त बात शिवसेना शहर प्रमुख नगरसेवक  राजेन्द्र चौधरी ने अपने भाषण में कहा,  
  • No Comment to " शिवसेना के जन आक्रोश मोर्चा में उमड़ा जनसैलाब ! "