• सिंगापुर की तरह होगा उल्हासनगर का नवनिर्माण!

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    सिंगापुर की तरह होगा उल्हासनगर का नवनिर्माण!

     डीपी प्लान को लेकर भयभीत शहर वाशियो के समाधान के लिए किया गया सीधे प्रसारण के जरिये प्रेजेंटेसन ! 

     महाराष्ट्र के बिल्डरों को मिलेगा बिजनेस का सुनहरा मौका। 

     उल्हासनगर- डेवलपमेंट प्लान शहर वाशियो को समझाने के लिए आयुक्त ने मनपा के सभागृह में दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक जनप्रतिनिधियों ,एजीओ सदस्य व पत्रकारों के लिये बैठक का आयोजन किया था।जिसका सीधा प्रसारण मंच टीवी के जरिये किया गया था,ताकि डीपी को लेकर भृमित हुए शहर वाशी घर बैठे अपनी असंकाओ को दूर कर सके।इसलिए डीपी प्लान के प्रजेंटेशन के लिए सीईपीटी के अधिकारी धवल मखवाना को बुलाया गया था जिन्होंने बखूबी प्रेजेंटेसन सभागृह में किया।उल्हासनगर का क्षेत्रफल मात्र 1300 हेक्टर होने की वजह से इसे सिंगापुर के तर्ज पर उल्हासनगर का नव निर्माण करने सपना इस नए डीपी प्लान के जरिये साकार होगा। 
    गौर तलब हो कि जब से उमनपा की तरफ से नया डीपी प्लान प्रकाशित किया तब से ही जनप्रतिनिधियों सहित शहर वाशियो में भय और भृम की स्थिति बन गयी थी शहर में कई तरह के अपवादों ने जन्म ले लिया था,इन्ही शंका कुशंका का समाधान करने के लिए उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर व शहर की महापौर मीना आयलानी,स्थाई समिति सभापती कांचन लुंड,विरोधी पक्ष नेता धनंजय बोडारे ,सीईपीटी के अधिकारी धवल मखवाना इनकी मौजूदगी में कार्यशाला का आयोजन किया गया था।इस बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधियों सहित आम शहर वाशियो को स्क्रीन डीपी प्लान का प्रेजेंटेसन दिखाया गया और समझाया गया।इस विषय मे देर शाम महापौर मीना आयलानी के कार्यालय में आयोजित आयुक्त व महापौर तथा भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी की संयुक्त पत्रकार परिषद में आयुक्त निम्बाल्कर ने पत्रकारों को शहर विकास प्रारूप के विषय मे विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि सिंगापुर शहर भी उल्हासनगर की तरह छोटा और घनी आबादी वाला शहर था,आज उसकी दिशा और दशा बदल गयी ठीक इसी तरह घनी आबादी वाले इस शहर में पहले निर्माणधीन हुई इमारते एक दूसरे से चिपक कर बनाई गई थी।इस डीपी के अनुसार अब जो नया उल्हासनगर शहर का निर्माण होगा उससे यह शहर दूसरा सिंगापुर कहलाया जायेगा।आयुक्त ने बताया कि ईपी में 137 बदलाव किए गए है,इस बदलाव पर जिसे आपत्ति है वह अपना शिकायत या सुझाव कोकण विभाग के नगर रचना कर सह संचालक के पास 4 जनवरी तक 2018 तक दर्ज करा सकता है।आयुक्त ने कहा कि एस. एम.(सेंसन प्लान) डीपी में जैसे सड़क व हरित पट्टे में बाधित होने वाले आम शहर वाशियो को राहत देने के लिए 37 (1) के तहत महासभा में प्रस्ताव पास करके उसमें बदलाव किया जा सकता है।इसके अलावा शहर डेवलपमेंट को लेकर आयुक्त ने कहा कि इस शहर का विकास करने के लिए महारास्ट्र के बिल्डर व डेवलपरों का सेमिनार आयोजित किया जायेगा,यदि बाहर के बिल्डर उल्हासनगर में अपना बड़ा प्रोजेक्ट निर्माण करेंगे तो उन्हें उमनपा की तरफ से रियायत भी प्रदान की जायेगी।आयुक्त ने कहा कि डीपी प्लान को लेकर शहर वाशियो में जो भय और भृम की शंका-कुशंका थी शहर वाशीयो को सीधे प्रसारण के जरिये समाधान हो गया होगा।महापौर मीना आयलानी व भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया।                 
  • No Comment to " सिंगापुर की तरह होगा उल्हासनगर का नवनिर्माण! "