• कहने के लिए बेस्ट का छोटा कर्मचारी परन्तु है करोड़ो की बेनामी संपत्तियों का मालिक ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    कहने के लिए बेस्ट का छोटा कर्मचारी परन्तु है करोड़ो की बेनामी संपत्तियों का मालिक ? 

    कहा से मिला कुबेर का खजाना या करेप्शन की काली कमाई ! 
     मामला पहुचा बिजेलेन्स के पास जांच के बाद उठे रहस्य से पर्दा ! 

     मुंबई-मुंबई बेस्ट इलेक्ट्रिसिटी का कर्मचारी, जो करोड़पति है,उसके ठाट से आपकी आंखे फटी की फटी रह जाएगी जी हां डेढ़ दसक से ज्यादा समय से कार्यरत बेस्ट का यह कर्मचारी मुंबई में काम कर रहा है, बेस्ट में काम करते हुए उसने अपने बेटे को विदेश में शिक्षा के लिए भेजा और बेटी को डॉक्टरी पढ़ाया बात यही पे खत्म नही होती इसके अलावा नवी मुंबई तुर्भे के सेक्टर-२१ में सिडको के आधा दर्जन के करीब मकान और जनता मार्केट में २ दुकान बीवी-बेटे और उसके नाम पर है, साथ ही नवी मुंबई के खारघर में २ बीएचके के २ फ्लैट है वहीं पनवेल में बंगले और नवी मुंबई के उल्वे में बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन का काम जारी है साथ ही उत्तर प्रदेश के गाजीपुर लंका में एक बंगला है इसके साथ इस कर्मचारी के पास और भी कई बेनामी संपत्तियां है ! अब सवाल उठता है कि आखिर इतनी दौलत बेस्ट में काम करते हुए कैसे कमाई ? 

    इसका हिसाब नवी मुंबई की एक वकील ने मांगा है उन्होंने एंटी करप्शन के डायरेक्टर जनरल को शिकायत कर जांच की मांग की है आपको बता दें कि शिवकुमार वर्मा ने अपनी बेटी की शादी उत्तर प्रदेश के एक बंगले में धूमधाम से की थी इस शादी में उसने पानी की तरह पैसा बहाया था अपने दामाद को लाखों रुपयों की गाड़ी भेंट की थी अपनी बेनामी संपत्ति के खुलासे की जानकारी शिवकुमार वर्मा को मिल गई, जिसकी वजह से बेस्ट से वी.आर.एस. लेने के लिए उसने प्रार्थना पत्र दिया| लेकिन वकील शारदा शाह की मांग है कि जबतक जांच पूरी नहीं होती उसे वी.आर.एस. नहीं दिया जाए फिलहाल विजिलेंस के हाथ में यह मामला पहुंचा हुआ है अब देखना होगा कि जांच में और कितनी बेनामी संपत्ति का खुलासा होगा?
  • No Comment to " कहने के लिए बेस्ट का छोटा कर्मचारी परन्तु है करोड़ो की बेनामी संपत्तियों का मालिक ? "