Browsing "Older Posts"

  • उल्हासनगर जापानी बाजार के हवाला कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर जापानी बाजार के हवाला कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा ! 

    बाजार में अफवाहों का बाजार हुआ गर्म मोटी रकम देकर मामले को दबाया गया ?

    उल्हासनगर - उल्हासनगर के जापानी बाजार में सोमवार को एक हवाला कारोबारी के यहाँ किसी इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा था छापे की कार्यवाई देर रात तक हुई परंतु ये अभी तक सामने नही आया कि ये कार्यवाई में हवाला कारोबारी से क्या जप्त हुआ या फिर मोटी रकम लेकर मामले को रफा दफा कर दिया ? 
    स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के किसी जमाने में वाशु,मोरारी ये दो बड़े ब्यापारी हुआ करते थे परंतु अब ये दोनों लोगो हवाला का कारोबार कर रहे है ! सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जापानी बाजार हनुमान गली नरेश रेडीमेंट की दुकान है दिखाने के लिए ये रेडीमेंट का कारोबार है परंतु उसी की आड़ में वाशु व मोरारी नामक ब्यक्ति चोरी छुपे हवाला व चेक बटाऊ का कारोबार करता है ! सोमवार की सुबह जैसे ही उसने अपनी दुकान को खोला तभी इनकम टैक्स विभाग के द्वारा रेड किया गया वह रेड देर रात चला परन्तु अभी तक यह स्पस्ट नही हुआ कि इस रेड से हवाला कारोबारी के पास से क्या मिला ? परंतु पूरे बाजार में ये अफवाह जोरो पर है कि रेड का मामला देर रात में बड़ी रकम लेकर मामले को रफा दफा कर दिया गया है दूसरी इस बारे में स्थानीय पुलिस से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि उन्हें इस कार्यवाही की कोई जानकारी नही है क्यो किसी विभाग ने पुलिस को किसी रेड की कार्यवाई के लिए पुलिस से संपर्क नही किया है ! बहरहाल उल्हासनगर में हवाला कारोबार चोरी छुपे हो रहा है ये इस रेड से स्पस्ट हो गया है ! अब ऐसे हवाला कारोबारियों पर पुलिस किस तरह की कार्यवाही करती ये तो आने वाला समय ही बताएगा !

  • किसानों की जमीनें खरीदना भाजपा मंत्री का धंधा’ !

    By fast headline india →
    किसानों की जमीनें खरीदना भाजपा मंत्री का धंधा’ !

    राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने लगाए सनसनीखेज आरोप !

     मुंबई- धुले जिले की शिंदखेडा विधानसभा सीट से विधायक और राज्य के पर्यटन मंत्री जय कुमार रावल पर राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने गंभीर आरोप लगाए हैं। राकांपा प्रवक्ता ने कहा कि धुले जिले में जहां पर भी कोई सरकारी परियोजना मंजूर होती हैं वहां किसानों से कौडियों के भाव जमीन खरीदकर उसी जमीन का सरकार से मोटा मुआवजा कमाना मंत्री जयकुमार रावल का धंधा है। राकांपा प्रवक्ता ने यह आरोप मंत्रालय में जहर खाने वाले किसान धर्मा पाटील की मौत के बाद लगाए। 
    बता दें कि धर्मा पाटील भी शिंदखेडा का ही रहने वाला है। राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि शिंदखेडा में जिस सौर ऊर्जा परियोजना के लिए किसान धर्मा पाटील ने अपनी जान दी उसी गांव में जमीन अधिग्रहण की अधिसूचना जारी होने के बाद रावल ने किसानों से उनकी जमीन खरीदी। मलिक ने कहा कि शिंदखेडा परिसर में 2009 में जमीन अधिग्रहित की गई। कानूनन अधिसूचना जारी होने के बाद कोई जमीन नहीं खरीद सकता। बावजूद इसके मंत्री जय कुमार रावल ने 1.76 हेक्टेयर जमीन 20 अप्रैल 2012 को 2 लाख 83 हजार रुपये में खरीद ली। सवाल यह है कि सौर ऊर्जा परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहित किए जाने की अधिसूचना जारी होने के बाद भी रजिस्ट्रार ने इस खरीद के दस्तावेज तैयार किए। इस गैरकानूनी जमीन खरीद फरोख्त की जांच होनी चाहिए। रावल ने रद्द कराई मीटिंग मलिक ने आरोप लगाया कि 80 साल के बुजुर्ग किसान धर्मा पाटील अपनी जिस जमीन के मुआवजे के लिए 22 जनवरी को मंत्रालय आए थे, उसके बारे में ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के दफ्तर में बैठक होनी थी। धर्मा पाटील उसी बैठक में अपना पक्ष रखने आए थे, परंतु वह बैठक रद्द कर दी गई। इसी बात से निराश होकर धर्मा पाटील ने आत्महत्या कर ली। मलिक ने आरोप लगाया कि यह बैठक भी पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने ही रद्द कराई थी। 4 एकड़ का 1 करोड़ मुआवजा नवाबब मलिक ने आरोप लगाया कि किसानों की जमीन कौड़ी के भाव खरीद कर उसे करोड़ों में बेचने का धंधा रावल का है। उन्होंने कहा कि 2006 में पंचरत्ना रावल के नाम पर बहाणे गांव में 4 हेक्टेयर जमीन खरीदी गई बाद में इसी जमीन के लिए 1 करोड़ रुपये मुआवजा लिए जाने के सबूत हमारे पास हैं। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री, जिला पुलिस अधीक्षक और एसीबी में भी की गई है, लेकिन भाजपा सरकार आते ही रावल के खिलाफ जांच रोक दी गई है। रावल के पास 800 एकड़ जमीन राकांपा प्रवक्ता मलिक ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 1976 के 'लैंड सीलिंग ऐक्ट' के तहत कोई भी व्यक्ति 50 से 52 एकड़ से ज्यादा जमीन नहीं रख सकता, लेकिन मंत्री जय कुमार रावल ने अपने ही परिवार के लोगों को अलग-अलग परिवार दिखाकर दोंडाई में 800 एकड जमीन जमा कर रखी है।
  • स्थाई समिति चेयरमैन के हस्तक्षेप के बाद दुकानदारों के साइन बोर्ड पर नही होगी कार्यवाई !

    By fast headline india →
    स्थाई समिति चेयरमैन के हस्तक्षेप के बाद दुकानदारों के साइन बोर्ड पर नही होगी कार्यवाई !

    मनपा आयुक्त ने दिया आश्वासन !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा में स्थाई समिति की चेयरमेन कंचन लुंड ने सोमवार को एक मीटिंग बुलाई थी जिसमें व्यापारी एसोसिएशन उल्हासनगर के अध्यक्ष जगदीश तेजवानी की मौजदूगी में 25 जनवरी को मनपा के दिये गए नोटिस जिसमें दुकानदारों के साइन बोर्ड निकालने का नोटिस दिया गया था उसी बिषय पर स्थाई समिति चेयरमैन की अगुआई में ये मीटिंग रखी गई इस विषय में मनपा आयुक्त निम्बालकर से आज बात किया गया जिसपर मनपा आयुक्त ने सारी बात सुनने के बाद ये निर्णय लिया कि दुकानदारों के साइन बोर्ड नहीं तोड़े जायेंगे, उल्हासनगर में अनधिकृत सोमवार और मंगलवार बाज़ारों को मेन बाज़ारो के रोड़ से हटाकर उन्हें दूसरी जगह लगाया जायेगा जिससे ट्रैफिक समस्या नही होगी और दुकानदारों का फ़ुटपाथ पर माल का डिस्प्ले नहीं लगाना चाहिये अन्यथा मनपा नियमों के तहत कारवाही करेगी । 
    इस मीटिंग में महापौर मीना आयलानी , स्थायी समिति सभापति कंचन अमर लुंड , सभागृह नेता जमनु पुरस्वानी, विरोधी पक्ष नेता धनजंय बोडारे , बीजेपी अध्यक्ष कुमार आयलानी , राजेन्द्र चौधरी , नगरसेवक शेरी लुंड , राजेश वधरिया , प्रदीप रामचंदानी , दिलीप गायकवाड़ , अमर लुंड , सुनील सुर्वे , पी एस आहूजा , उपस्थित थे सभी ने सहयोग दिया और व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश तेजवानी ने कहा हमेशा शहरहित मे हम सहयोग करते रहेंगे। मनपा की तरफ से तेजवानी और सभी सदस्यों को आश्वत किया क़ि कही भी साइन बोर्ड पर कोई कार्यवाही नहीं होगी ! बहरहाल स्थाई समिती चेयरमैन की सक्रियता के चलते शहर के ब्यापारियों को बड़ी राहत मिला है इसके लिए ब्यापारी एसोसिएशन ने सभापति लुंड का दिल से धन्यवाद किया है !
  • भंगार माफियाओ के विरुद्ध हस्ताक्षर अभियान !

    By fast headline india →
    भंगार माफियाओ के विरुद्ध हस्ताक्षर अभियान ! 

    वालधुनी बिरादरी  सामाजिक संघटना ने की पहल !

     उल्हासनगर -उल्हासनगर के वालधुनी नदी के किनारे को प्रदूषित करने वाले भंगार माफियाओ के विरुद्ध वालधुनी बिरादरी ग्रुप व स्थानिक रहिवाशियो ने हस्ताक्षर अभियान चलाकर इन भंगारमाफियाओ के विरुध्द कारवाई करने की मांग किया है . 
    उल्हासनगर रेल्वे स्थानक (पश्चिम ) में वालधुनी नदी बहती . इसी नदी किनारे को लगकर बड़ी तादात में ये भंगारमाफियाओ ने अपनी दुकान बना रखा रखा है . जहाँ पर ये भंगार में मिले केमिकल मिश्रित लोहा ड्रम, डब्बे, को साफ करने के नदी के किनारे पर उसे जलाने, व उससे निकले वाला प्लास्टिक, जहरीले रसायन व अन्य निकलने वाले पदार्थ को नदी के किनारे पर ये डाल देते है जिससे भंगारमाफिया एक तो नदी को प्रदूषित करते है. दूसरे कचरे का भर डालकर नदी को पाटकर अपनी दुकान की जगह भी बढ़ाने में जुटे है है यही कारण है कि संतु बिल्डिंग और उसके आसपास के स्थानिक रहिवाशियो को कई तरह की बीमारियों का खतरा भी हो रहा है .  वालधुनी बिरादरी यह एक सामाजिक संघटना वालधुनी नदी स्वच्छ करने के लिए प्रयत्नशील है स्वच्छता अभियान के तहत नदी किनारे को साफ करने में ये एक बड़ी अड़चन है इस को दूर करने की आवश्यकता ऐसा मत संघटना के अध्यक्ष शशिकांत दायमा इन्होंने व्यक्त किया है . इस समस्या से निजात दिलाने के लिए रविवार की शाम 5 से रात 8 बजे तक इन भंगारमाफियाओ के विरोध में हस्ताक्षर मोहीम चलाया जिसमें स्थानिक नगरसेवक लाल पंजाबी , सरिता खानचन्दानी, दीपक वाटवाणी, निखिल गोळे , मोनिका दुसेजा ,  व्यापारी मंडल के  सोनु अहुजा परमानन्द गेरेजा, जगदिश तेजवानी सहित कई सामाजिक कार्यकर्ताओं ,संघटनाओ और स्थानिक नागरिको ने बड़ी सख्या में लोगो ने इस कार्यक्रम में भाग लिया है . 
  • रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वाले 2 करोड़ से ज्यादा यात्री को पकड़ा ! 935.64 करोड़ रुपये की दंड वसूला !

    By fast headline india →
    रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वाले 2 करोड़ से ज्यादा यात्री को पकड़ा !

    935.64 करोड़ रुपये की दंड वसूला !

    मुंबई- भारतीय रेल की अभिसमय समिति ने बिना टिकट यात्रा करने वालों का एक आंकड़ा तैयार किया है. आंकड़ों से पता चला है कि पिछले वर्ष दो करोड़ से अधिक यात्रियों ने बिना टिकट यात्रा की. अभिसमय समिति ने पिछले दिसंबर में ‘‘भारतीय रेल सतर्कता रिपोर्ट ’’ के तहत ये जानकारी लोकसभा में पेश की थी. बता दें कि बिना टिकट यात्रा करने वालों को पकड़े जाने पर 935.64 करोड़ रुपये की राशि भी प्राप्त हुई. हालांकि, समिति वर्ष 2016-17 के दौरान भारतीय रेलमें बिना टिकट या गलत टिकटों के साथ यात्रा करते हुए पकड़े गए व्यक्तियों की अत्यधिक संख्या से चिंतित है.

    उल्लेखनीय है कि 2015-16 में 1.9 करोड़ लोग बिना टिकट या गलत टिकटों के साथ यात्रा करते हुए पकड़े गए थे. इस संबंध में सबसे अधिक बेटिकट यात्री उत्तर रेलवे में पकड़े गये जिनकी संख्या 26.40 लाख थी. इसके बाद दक्षिण मध्य रेलवे में 25.86 लाख, मध्य रेलवे में 24.24 लाख, पश्चिम रेलवे में 20.24 लाख, पूर्व मध्य रेलवे 18.62 लाख, उत्तर मध्य रेलवे 16.56 लाख और उत्तर पूर्व रेलवे में 12 लाख बेटिकट यात्री पकड़े गए. रिपोर्ट में कहा गया है कि जहां तक पिछले वर्ष बेटिकट यात्रियों से वसूली का संबंध है, 125.13 करोड़ रुपये की वसूली के साथ मध्य रेलवे इस सूची में सबसे ऊपर है. इसके बाद 116.52 करोड़ रुपये की वसूली के साथ उत्तर रेलवे का स्थान आता है. इसके बाद पश्चिम रेलवे में 95.86 करोड़ रुपये, उत्तर मध्य रेलवे में 84.09 करोड़ रुपये, पूर्व मध्य रेलवे 72.52 करोड़ रुपये और उत्तर पूर्व रेलवे से 60.80 करोड़ रुपये वसूले गए. अन्य सभी जोनल रेलवे से 50 करोड़ रुपये से कम की वसूली की गई है. बता दें कि भारत में रोजाना 12 हजार ट्रेनों से करीब 2.5 करोड़ लोग यात्रा करते हैं. भारतीय रेलवे के तहत करीब 65 हजार किलोमीटर रूट कवर होता है. लोकसभा में सरकार की ओर से पेश आंकड़ों के मुताबिक, रेल टिकटों से भारतीय रेल को साल 2015-16 में 45,324 करोड़ रुपये की आय हुई जो 2016-17 में बढ़कर 47,678 करोड़ रुपये हो गई.
  • नायर अस्पताल प्रशासन की लापरवाही, एमआरआई मशीन में फंसकर युवक की दर्दनाक मौत !

    By fast headline india →
    नायर अस्पताल प्रशासन की लापरवाही, एमआरआई मशीन में फंसकर युवक की दर्दनाक मौत !

    मुंबई - मुंबई के एक अस्पताल की लापरवाही के चलते दर्दनाक मौत का मामला सामने आया है। शहर के नायर अस्पताल में भर्ती अपनी मां से मिलने आए 32 वर्षीय युवक की एमआरआई मशीन में फंसकर जान चली गई। इस घटना में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया है।  मिली जानकारी  के   मुताबिक शनिवार शाम अपनी मां से अस्पताल में मिलने गये राजेश मारू नाम के युवक से एमआरआई रूम में ऑक्सिजन सिलिंडर ले जाने को कहा गया। वह जैसे ही कमरे में गए मैग्नेटिक पावर के चलते मशीन ने अपनी तरफ खींच लिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इससे हाथ में पकड़ा हुआ सिलिंडर खुल गया और उसकी गैस मुंह के जरिए राजेश के पेट में चली गई। बेहद नाजुक हालत में राजेश को ट्रॉमा सेंटर लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।  मृतक के परिजनों ने मामले में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही की बात कही। राजेश के जीजा हरीश सोलंकी ने बताया की वो अपनी मां से मिलने शनिवार को गए थे। हरीश ने बताया, 'हम सभी इस घटना से सदमे में हैं। अस्पताल के एक वॉर्ड बॉय ने उन्हें एमआरआई रूम में ऑक्सीजन सिलिंडर ले जाने को कहा जो कि पूरी तरह निषेध है। एमआरआई रूम में मेटल की वस्तुएं ले जाने पर रोक है। यह सब कुछ अस्पताल प्रशासन और डॉक्टरों की लापरवाही के चलते हुआ। वहां कोई सिक्यॉरिटी गार्ड भी मौजूद नहीं था कि उन्हें बताता कि एमआरआई रूम में ऑक्सिजन सिलिंडर नहीं ले जा सकते।'  हरीश ने आगे बताया कि जब राजेश को अंदर बुलाया गया तो एमआरआई मशीन चालू थी जबकि वॉर्ड बॉय ने पहले कहा था कि मशीन बंद है। जैसे ही राजेश अंदर गए सिलिंडर के मेटल के चुंबकीय शक्ति की वजह से मशीन ने उन्हें अपनी तरफ खींच लिया। दो मिनट में ही उनकी मौत हो गई। हरीश के अनुसार, ' घटना के बाद से अस्पताल के किसी भी अधिकारी ने घटना की जिम्मेदारी नहीं ली।' शव को पोस्टमॉर्टम के लिए जेजे अस्पताल भेज दिया गया है। 
  • पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में छः महिलाओं पर मामला दर्ज !

    By fast headline india →
    पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में छः महिलाओं पर मामला दर्ज !

    भिवंडी- भिवंडी के पिरानी पाड़ा में पुलिसकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की तथा दुर्व्यवहार करने के मामले में कम से कम 6 महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
    दरअसल, पुलिसकर्मी एक व्यक्ति को धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार करने गए थे, जहां इन महिलाओं ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया।  ठाणे पुलिस की प्रवक्ता सुखदा नारकर ने कहा, 'भिवंडी अपराध रोधी इकाई और मुंबई के ओशिवाड़ा पुलिस थाने की एक टीम भिवंडी के पिरानी पाड़ा में एक अपराधी को गिरफ्तार करने गई थी, जहां करीब 6 महिलाओं ने उन पर हमला कर दिया।'  उन्होंने बताया कि जब पुलिस अपराधी को गिरफ्तार कर रही थी, तो महिलाओं के एक समूह ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। पुलिसवालों के साथ धक्का-मुक्की की गई और उनमें से कुछ के कपड़े भी औरतों ने फाड़ दिए। अपराधी जाफरी को बचाने के लिए महिलाओं ने पुलिस बल पर पथराव भी किया। 
  • फिल्म पद्मावत के विरोध में मॉल में फेंका पेट्रोल बम !

    By fast headline india →
    फिल्म पद्मावत के विरोध में मॉल में फेंका पेट्रोल बम !

    बाइक सवार लोग की फायरिंग ! 

    इटावा के  बाबा दि माल में दो युवकों ने फेंका पेट्रोल बम 

    उत्तर प्रदेश - सुप्रीम कोर्ट से रिलीज की हरी झंडी मिलने के बाद भी देश भर में संजय लीला भंसाली की फिल्म फिल्म पद्मावत का विरोध चरम पर है, इससे पहले ही इटावा में एक मॉल में बम फेंका गया है। 
    कानपुर में तो अखिल भारतीय अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने पद्मावत की अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की नाक काटने वाले को पांच करोड़ रुपए का ईनाम देने के बयान का समर्थन किया। इटावा में फिल्म पद्मावत के विरोध में बाबा दि माल में दो युवकों ने पेट्रोल बम फेंका। इसके साथ ही वहां पर गार्ड रामनरेश को भी पीटा गया। लोगों ने मॉल के बाहर के शीशे पर पथराव कर तोड़ दिया। बाइक सवार लोग फायरिंग करने के बाद भाग गये। अब पुलिस इन युवकों की तलाश में लगी है।  उधर कानपुर में क्षत्रिय महासभा ने कहा कि फिल्म की हीरोइन दीपिका पादुकोण की नाक काटने वाले को पांच करोड़ रुपए की ईनामी राशि देने के लिए इसके लिए पैसा भी जुटाया जाएगा। महासभा ने कल नवीन मार्केट स्थित शिक्षक पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। संस्था के राष्ट्रीय संगठन मंत्री गजेंद्र सिंह राजावत ने कहा कि प्रधानमंत्री पद्मावत फिल्म का समर्थन कर रहे, इसी कारण देश में ऐसी विकट परिस्थितियां पैदा हो गईं। प्रधानमंत्री चाहते तो इसे रोक सकते थे। ऐसा नहीं होने पर देश का सम्मान बचाने को कानून हाथ में लेना पड़ रहा है।  क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह राजावत ने बताया कि कानपुर वासियों से इनाम के तौर पर करोड़ों रुपए की धनराशि एकत्र की गई है और जो भी दीपिका पादुकोण की नाक काट कर लाएगा उसे यह इनाम की धनराशि दी जाएगी। क्षत्रिय महासभा के कार्यकर्ताओं ने शहर के शिक्षक पार्क में फिल्म पर प्रतिबंध की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन भी किया था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार मीणा ने बताया कि फिल्म के प्रदर्शन को देखते हुए शहर में सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं। मथुरा में करणी सेना और क्षत्रिय समाज के लोगों ने ट्रेन रोककर संजय लीला भंसाली के खिलाफ नारेबाजी की। यहां पर आक्रोशित लोगों ने असलहे लहराये। विरोध में लोगों ने सिनेमाघरों के बाहर हंगामा किया। वहीं रोड पर गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की और आगजनी भी की।  मेरठ में पीवीएस मॉल में अज्ञात लोगों ने तोडफ़ोड़ कर दी। मॉल के बाहर कुछ लोग पहुंचे और उन्होंने एकदम से पत्थरबाजी कर दी। जिससे मॉल के कई शीशे चकनाचूर हो कर जमीन पर आकर गिर गए। मॉल में पत्थरबाजी की घटना को लेकर हड़कंप मच गया। मॉल के अंदर जो लोग थे वह डरकर मॉल के बाहर निकल गए। जिसके बाद मौके पर भारी पुलिस फोर्स पहुंची और पत्थरबाजों की तलाश तेज कर दी। लखीमपुर में राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा ने फिल्म पद्मावत का विरोध किया। प्रदर्शन करियों ने भारतीय हिंदू संस्कृति की रानी पद्मावती को सती मां के रूप में पूजा जाता है फिल्म निर्देशक ने गलत तरीके से प्रदर्शित करने तथा राजपूतों के इतिहास के साथ खिलवाड़ किया है। उन्होंने फिल्म की रिलीज पर बवाल करने की चेतावनी दी है। फैजाबाद में फिल्म पद्मावत के विरोध में करणी सेना ने मुंडन करवा कर अपना विरोध दर्ज कराया था। उन्होंने फिल्म की रिलीज पर हंगामे को चेतावनी दी है। हालांकि उत्तर प्रदेश में फिल्म के रिलीज होने और विरोध की ज्वाला भड़क रही है।  फिल्म पद्मावत देखने का आमंत्रण स्वीकार करने वाले करणी सेना के नेता लोकेंद्र सिंह कालवी काल्वी को फिल्म देखने के लिए न्योता मिला था। वहीं वह इस फिल्म को देखने के लिए भी जाने वाले थे, लेकिन अब वह अपने बयान से पलट गए है। उन्होंने कहा कि चार दिन पहले फिल्म देखने के लिए एक पत्र आया था और ये पत्र साजिश के तहत भेजा गया था ताकि भंसाली ये साबित कर सके कि वो हमें फिल्म दिखाना चाहते हैं और हम ही नहीं देखने को राजी हो रहे। न तो फिल्म मैं देखता हूं और न ही करणी सेना देखती है। हम फिल्म उनको दिखाएंगे जिनको सेंसर बोर्ड ने चयनित किया है। भंसाली को 9 लोगों का नाम दिया गया था, लेकिन उसने केवल 3 लोगों को ही फिल्म दिखाई। हम इस प्रकार का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। फिल्म पद्मावत के रिलीज होने के विरोध में गोमतीनगर स्थित वेव मॉल के बाहर करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने बवाल काटा। यहां एक कार्यकर्ता ने अपने ऊपर मिटटी का तेल डालकर आग लगाने की कोशिश की। गनीमत रही मौके पर मौजूद पुलिस ने उसे पकड़ लिया। इस दौरान काफी देर तक अफरा तफरी का माहौल बना रहा।
  • उल्हासनगर में सनद के फर्जीवाड़े का सनसनी खेज खुलासा ? १५ साल के लड़के को मिली लाखों रुपए की जमीन की सनद !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में सनद के फर्जीवाड़े का सनसनी खेज खुलासा ?
     १५ साल के लड़के को मिली लाखों रुपए की जमीन की सनद !

    S, D, O कार्यालय के लिपिक प्रकाश गायकवाड़ और ईश्वरी पमनानी का कोंकण विभागीय आयुक्त के पास हो रही है जांच  !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में लगभग ३० करोड़ रुपए के कीमती भूखण्ड की सनद घोटाले में मुख्य भूमिका निभाने वाले सेवलदास बिजलानी को १५ वर्ष की उम्र में सनद मिलने की बात सामने आई है।१५ वर्ष के कम उम्र में सेवलदास को महाराष्ट्र जमीन महसूल कानून के अंतर्गत भूखंड की सनद मिल सकती है क्या?,ऐसा प्रश्न निर्माण हो गया है।
    व्यापारी मोती दुसेजा ने २०१४ में घनश्यामदास तुनिया, किशन लाहोरी, राजेश गुरदासमल दुदानी, मुकेश गुरदासमल दुदानी, चंदा लालचंद चावला के साथ मिलकर१५ हजार चौरस फुट के प्लॉट क्रमांक ६२०,शिट नंबर ७६ को खरीदी किया।यह प्रोपर्टी रजिस्टरी करते समय इस प्रॉपर्टी का सनद नही था,तो इसकी रजिस्टरी कैसे हो सकती है, ऐसा प्रश्न जब दुसेजा ने भागीदारों को पूछा तो उन्होंने बताया कि इस भूखंड का बोगस सनद बनाएंगे।दुसेजा को कोई गलत कार्य नहीं करना था,इसलिए उन्होंने भागीदारों से पैसा वापस ले लिया और इस भूखंड का सनद कैसे बना,इसकी जांच के लिए महसूल विभाग के अपर सचिव के पास शिकायत की।इस शिकायत का दुसेजा ने दो वर्षों तक फॉलो अप करने के बाद तत्कालीन उपविभागीय अधिकारी ने द्वारा शासन को दिए गए रिपोर्ट के संदर्भ में पुणे के सी आई डी विभाग ने सनद पर फर्जी हस्ताक्षर होने की पुष्टी की।उसके अनुसार तहसीलदार उत्तम कुंभार के आदेश के अनुसार इस भूखंड पर दो महीने भर पहले बोर्ड लगाया गया। इस विषय में मोती दुसेजा ने बताया कि इस प्रकरण में दोषी पाए गए लिपिक प्रकाश गायकवाड़ और ईश्वरी पमनानी का कोंकण विभागीय आयुक्त के पास जांच शुरू है।इस प्रकरण में ठाणे जिलाधिकारी कार्यालय ने २६ अक्टूबर २०१७ को बोगस सनद बनाने वाले किशन लाहोरी, घनश्यामदास तुनिया आदि दोषियों के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज करने का आदेश दिया था।आखिर कार मीडिया के दबाव के बाद १०नवंबर को प्रान्त अधिकारी जगतसिंग गिरासे ने घनश्यामदास तुनिया, किशन लाहोरी, राजेश गुरदासमल दुदानी, मुकेश गुरदासमल दुदानी, चंदर चावला, सेवलदास बिजलानी, और भागीबाई बिजलानी के विरुद्ध मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था। इस प्रकरण में पांच आरोपियों को अंतरिम जमानत मिल गई हैं। इस प्रकरण में सेवलदास बिजलानी और उनकी पत्नी भागीबाई के नाम से बना सनद फर्जी होने का दावा करने का श्रेय मोती दुसेजा का है। दुसेजा ने बताया कि सेवलदास बिजलानी ने उल्हासनगर क्राइम ब्रांच को दिए गए जवाब में अपना जन्म पाकिस्तान में १अक्टूबर १९४८ का बताया है।सेवलदास केवल १२ वर्ष के थे,तभी १९६० में बोगस सनद बनाये गए भूखंड का क्लेम किया था और १९६३ में १५ वर्ष के थे,ऐसा दर्ज कराया गया है।यह बात सनद बोगस है,ऐसा जाहिर होता है।इस प्रकरण में उच्च न्यायालय के न्यायाधीश ए. एस.गडकरी के समक्ष सेवलदास और उनकी पत्नी भागीबाई के ज़मानत पर गुरुवार को सुनवाई होनेवाली है।७२वर्षीय सेवलदास को तत्काल पुलिस के कब्जे में लेकर इस प्रकरण में बोगस बनाने वाले कौन है, यह सामने आने पर सैकड़ों करोड़ो रूपये के उल्हासनगर में भूखंड घोटाले के सामने आने की संभावना है, ऐसा मोती दुसेजा ने बताया है। इस संदर्भ में उपविभगीय अधिकारी जगतसिंग गिरासे से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र जमीन महसूल कानून के अंतर्गत जमीन का क्लेम करने के लिए१८ वर्ष आवश्यक है।सेवलदास के सनद के संदर्भ में जब गिरासे से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि यह सनद विवादित है, ऐसा बताया।
  • फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस व परमिट बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफ़ाश !

    By fast headline india →
    फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस व परमिट बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफ़ाश ! 

     गिरोह के चार सदस्यों को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     भिवंडी- भिवंडी अपराध शाखा की पुलिस ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस एवं ऑटो रिक्शा परमिट बनाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया और गिरोह के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनके पास से पुलिस का 45 फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र, 20 एलसी, 34 डोमोसाइल, 44 वीमा प्रमाण पत्र, आरटीओ, डॉ. मिश्रा एवं बजाज एलायंज इंश्योरेश कंपनी का फर्जी सिक्का, 49 वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस, तीन लेपटॉप, तीन कंप्युटर एवं पांच मोबाइल सहित कुल एक लाख 67 हजार 500 रुपये मूल्य का सामान बरामद किया है।
    गौरतलब हो कि भिवंडी अपराध शाखा की पुलिस को 18 जनवरी को खबरी से सूचना मिली थी कि धामनकर नाका इलाके में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वाला एक एजेंट नागरिकों से ज्यादा पैसा लेकर पुलिस का फर्जी प्रमाण पत्र सहित अन्य फर्जी दस्तावेज बनाकर बड़े पैमाने पर ड्राइविंग लाइसेंस एवं ऑटो रिक्शा की परमिट बनवा रहा है। मुखबिर से सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शीतल राउत के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक सुरेश चोपड़े, पुलिस उपनिरीक्षक संतोष चौधरी, रविंद्र पाटील एवं लक्ष्मण जोरी की टीम ने धामनकर नाका स्थित केजीएन संजरी ऑटो कंसलतंत की ऑफीस में छापा मारकर नफीस सगीर अहमद फारुकी (38) गैबीनगर एवं नाजिल नवाज अहमद मोमिन (28) हापसन आली को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की टीम ने इनके निशादेही पर मो. इस्माइल मो. रजा अंसारी (34) चौथा निजामपुरा एवं संगनेश्वर स्वामी (42) शेलार गांव को गिरफ्तार करके इनके पास से पुलिस का 45 फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र, 20 एलसी, 34 डोमोसाइल, 44 वीमा प्रमाण पत्र, आरटीओ, डॉ. मिश्रा एवं बजाज एलायंज इंश्योरेश कंपनी का फर्जी सिक्का, 49 वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस,तीन लेपटॉप, तीन कंप्युटर एवं पांच मोबाइल सहित कुल एक लाख 67 हजार 500 रुपये मूल्य का सामान बरामद किया। पुलिस उपनिरीक्षक चारो लोगों के विरुद्ध भोइवाड़ा पुलिस स्टेशन में भादंसं की धारा-465, 466, 468, 472, 474 एवं 34 के तहत मामला दर्ज कराकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
  • रैली के दौरान मुस्लिम फायरब्रैंड नेता ओवैसी पर जूता फेंका गया !

    By fast headline india →
     रैली के दौरान मुस्लिम फायरब्रैंड नेता ओवैसी पर जूता फेंका गया !

    जूता फेंकने वाले शक्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    मुंबई- दक्षिण मुंबई के नागपाड़ा इलाके में एक रैली को संबोधित करने के दौरान एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर बीती रात एक व्यक्ति ने जूता फेंक दिया. पुलिस ने बताया कि सांसद को जूता नहीं लगा और आरोपी की पहचान कर ली गई है और उसे अभी गिरफ्तार किया जाना है.
    वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि रात करीब पौने दस बजे ओवैसी तीन तलाक के मुद्दे के खिलाफ बोल रहे थे तभी यह घटना हो गई. ओवैसी ने कहा, ‘‘ मैं अपने लोकतांत्रिक अधिकार के लिए अपनी जान देने को तैयार हूं. ये सभी निराश लोग हैं जो यह नहीं देख सकते हैं कि तीन तलाक पर सरकार का फैसला जनता खासतौर पर मुसलमानों ने स्वीकार नहीं किया है.’’  उन्होंने कहा, ‘‘ये लोग (जूता फेंकने वाले के संदर्भ में) उन लोगों में से हैं जो महात्मा गांधी, गोविंद पानसरे और नरेंद्र डाभोलकर के हत्यारों की विचारधारा का अनुसरण करते हैं. हैदराबाद के सांसद ने कहा, ‘‘यह हमें उनके खिलाफ सच बोलने से नहीं रोक सकते हैं.’’ जोन तीन के पुलिस उपायुक्त विरेंद्र मिश्र ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए ओवैसी पर जूता फेंकने वाले व्यक्ति की पहचान कर ली है और उसे गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है. बता दें कि ओवैसी तीन तलाक पर केंद्र सरकार के रुख को एक छलावा बताते रहे हैं. हाल ही में उन्होंने एक रैली में कहा था कि  इस मसले पर महिलाओं को न्‍याय दिलाने की बात कहना तो महज एक बहाना है. दरअसल इनका असली निशाना शरियत है. इसके साथ ही उन्‍होंने तीन तलाक से पीडि़त महिलाओं की गुजर-बसर के लिए हर महीने 15 हजार रुपये के बजटीय प्रावधान की बात भी कही. ओवैसी के मुताबिक सरकार को बजट में यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जिन महिलाओं को तीन तलाक दिया गया है, उनको हर महीने 15 हजार रुपये गुजारे के लिए मिले. उन्‍होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि 15 लाख नहीं तो 15 हजार ही दे दो मित्रों. उल्‍लेखनीय है कि तीन तलाक संबंधी बिल पिछले शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में पास हो चुका है लेकिन राज्‍यसभा में पारित नहीं हो सका. 
  • स्वच्छ पैनल के चुनाव के लिए चुनाव समिति के सदस्यों के नामों की हुई घोषणा !

    By fast headline india →
    स्वच्छ पैनल के चुनाव के लिए चुनाव समिति के सदस्यों के नामों की हुई घोषणा !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में स्वच्छ महाराष्ट्र अभियान के अंतर्गत स्वच्छ पैनल का चुनाव के लिए मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने सात सदस्यों की समिति में नियुक्ति की है।आगामी दो महीने में इन सदस्यों पैनल निहाय शहर को देखकर विविध मुद्दों पर आंकलन करके अपनी रिपोर्ट और गुणवत्ता मार्क्स प्रस्तुत करना है।स्वच्छ महाराष्ट्र अभियान के अंतर्गत स्वच्छ पैनल चुनने की स्पर्धा शुरू हो गई है।इस स्पर्धा में प्रथम आनेवाले तीन पैनलों में प्रत्येक को क्रमशः ८०लाख,५०लाख और 45 लाख ऐसा उतरते क्रम में विकास निधि दी जायेगी।इसकारण इनाम जीतने के लिए नगरसेवक इस स्पर्धा में उतर गए हैं।इस सात सदस्यीय समिति में प्रसार वाहिनी के सदस्य के तौर पर रमेश नानकानी,पत्रकार नंदकुमार चव्हाण, स्वयंसेवी संगठना की सदस्या ज्योति तायडे, वैद्यकीय तज्ञ राजू उत्तमानी, वकील अशोक कदम,वास्तु विशारद शंकर राव और समाजसेवक राजू तेलकर। का समावेश है,ऐसी घोषणा मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने की है। सोमवार को हुए स्थायी समिति सभागृह में पत्रकार परिषद में दी।इस अवसर पर चुनाव समिति के सदस्यों ने नगरसेवक और सम्मिलित हुए लोगों से अपील की है कि गीला कचरा और सूखा कचरा को वर्गीकृत करके कचरा प्रबंधन करने वाले पैनल को यह स्पर्धा जीतना आसान होगा,ऐसा उन्होंने बताया।उसी प्रकार नगरसेवकों के अपने प्रभाग में स्वच्छता उपक्रम, वैयक्तिक शौचालयों की संख्या, नाला सफाई,चौक में लगने वाले पोस्टर आदि को ध्यान में रखकर मार्क्स प्रदान किए जाएंगे।
  • चलती लोकल ट्रेन पकड़ने की कोशिश में मराठी अभिनेता की गई जान !

    By fast headline india →
    चलती लोकल ट्रेन पकड़ने की कोशिश में मराठी अभिनेता की गई जान !

    मुंबई - पश्चिम रेलवे के मुंबई स्थित मालाड स्टेशन के पास मराठी कलाकार प्रफुल्ल भालेराव की लोकल की चपेट में आने से मौत हो गई। 
    जानकारी के अनुसार, 22 वर्षीय प्रफुल्ल भालेराव सोमवार को मालाड से गिरगांव जाने के लिए लोकल ट्रेन पकड़ रहे थे लेकिन चलती लोकल पकड़ने की कोशिश में उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।  प्रफुल्ल धीमी लोकल पकड़ने की कोशिश कर रहे थे लेकिन उनकी पकड़ छूट गई और वह सिग्नल के खंभे से टकरा गए। हादसे में प्रफुल्ल की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। बेहद प्रतिभावान प्रफुल्ल मराठी टीवी सीरिज 'कूंकू' में अपने दमदार अभिनय के कारण चर्चा में आए थे। बताया जा रहा था कि हादसे के समय प्रफुल्ल नाइट शिफ्ट पूरी करने के बाद घर लौट रहे थे।  बोरिवली के जीआरपी के वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर शैलेंद्र धीवर ने बताया कि इस संबंध में एक मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने कहा, 'प्रफुल्ल के सिर में गहरी चोट लगी थी। हम उन्हें शताब्दी हॉस्पिटल ले गए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।' प्रफुल्ल के शव का पोस्टमॉर्टम करके उसे परिवार वालों को सौंप दिया गया है। 'कूंकू' में प्रफुल्ल ने जंकी के छोटे भाई का किरदार निभाया था।
  • यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म में सिर्फ पुरुष ही दोषी क्यों, महिलायें क्यों नही ?

    By fast headline india →
     यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म में सिर्फ पुरुष ही दोषी क्यों, महिलायें क्यों नही ? 

    सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका हुई दाखिल  !

    संविधान के अनुच्छेद 14 और 15 में दिये गए बराबरी के अधिकार पर आइपीसी की उपरोक्त धाराओं को चुनौती दी है !

    नई दिल्ली- कानून में विशेषकर आईपीसी में पुरुषों के साथ भेदभाव की बात फिर उठी है। सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल हुई है जिसमें छेड़खानी, यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म जैसे अपराध में सिर्फ पुरुष को दोषी माने जाने पर सवाल उठाये गए हैं। वकील ऋषि मल्होत्रा की ओर से दाखिल जनहित याचिका मे आईपीसी की धारा 354 (छेड़खानी), 354ए, बी, सी, डी (यौन उत्पीड़न) और धारा 375 (दुष्कर्म) को पुरुषों के साथ भेदभाव वाला बताते हुए रद्द करने की मांग की गई है।
    मल्होत्रा ने याचिका में संविधान के अनुच्छेद 14 और 15 में दिये गए बराबरी के अधिकार को आधार बनाते हुए आइपीसी की उपरोक्त धाराओं की वैधानिकता को चुनौती दी है। याचिका में कहा गया है कि संविधान का अनुच्छेद 14 और 15 धर्म, जाति, वर्ण, लिंग और निवास स्थान के आधार पर भेदभाव की मनाही करता है लेकिन आईपीसी की धारा 354, 354ए, बी, सी, डी और धारा 375(दुष्कर्म) के प्रावधानों में पुरुष को अपराधी माना गया है और महिला को पीडि़ता। मल्होत्रा का कहना है कि अपराध और कानून को लिंग के आधार पर नहीं बांटा जा सकता। क्योंकि महिला भी उन्हीं आधारों और कारणों से अपराध कर सकती है जिन कारणों से पुरुष करते हैं। ऐसे में जो भी अपराध करे उसे कानून के मुताबिक दंड मिलना चाहिए।
    कहा गया है कि 222 भारतीय पुरुषों पर हाल में किये गए सर्वे से पता चला है कि 16.1 फीसद पुरुषों को सेक्स के लिए बाध्य किया गया था। महिलाओं से दुष्कर्म की तरह पुरुषों से दुष्कर्म के मामले पर कोई वृहद् अध्ययन नहीं हुआ है इसके बावजूद विभिन्न आंकड़ों में पुरुषों से दुष्कर्म की बात सामने आती है। पुरुषों से दुष्कर्म के मामले सामान्य तौर पर अनुमान से ज्यादा हैं। कहा गया है कि हत्या और दुष्कर्म जैसे अपराधों में उम्र, लिंग और यौनिक पसंद का ज्यादा फर्क नहीं देखा गया है। ऐसे में अपराध को लिंग आधारित भेदभाव से रहित (जेन्डर न्यूट्रल) बनाया जाए। इससे ऐसे अपराधों की शिकायत दर्ज होने में सुधार आएगा।
    याचिका में कहा गया है कि इसी तरह आइपीसी की धारा 354 और उससे जुड़ी धाराएं 354ए, बी, सी और डी महिलाओं की बेइज्जती से जुड़ी हैं लेकिन इनमे कहीं पर भी पुरुष की बेइज्जती होने पर उन्हें संरक्षण नहीं दिया गया है। ऐसे मामले है जिनमे महिलाएं पुरुषों को तंग करती हैं लेकिन दंडित नहीं होती क्योंकि देश का कानून पुरुषों को ऐसे अपराधों से संरक्षण नहीं देता। याचिका में एडल्टरी(व्याभिचार) के मामले में महिला को दोषी न मानने वाले केस का हवाला देते हुए कहा गया है कि कोर्ट ने उस मामले को विचार के लिए संविधान पीठ को भेजा है ये मामला भी वैसा ही है इसे भी स्वीकार करके उसी के साथ सुनवाई के लिए संलग्न किया जाए।


  • उमपा परिवहन सेवा शुरू करने के लिए स्थाई समिती सभापती कांचन लुंड ने की पहल !

    By fast headline india →
    उमपा परिवहन सेवा शुरू करने के लिए स्थाई समिती सभापती कांचन लुंड ने की पहल !

     जल्द दौड़ेगी मनपा परिवहन की शहर भर की रोडो पर 20 बस ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में विगत 5-6 वर्षों से ठप पड़ी उल्हासनगर महापालिका की परिवहन सेवा सुचारू रूप से शुरू करने की मांग स्थाई समिति की सभापती कांचन अमर लुंड ने की है।उमपा आयुक्त को पत्र देकर कांचन लुंड ने कहा कि परिवहन बस सेवा बंद होने की वजह से रिक्शा-चालकों ने लूट मचा रखी है गोर-गरीबो से मनमाना भाड़ा वसूला जाता है
    यदि बस सेवा वापस जल्द से जल्द शुरू की गई तो शहर वाशियो को इसका लाभ मिलेगा,बताया जाता है कि सभापती के पत्र को आयुक्त ने प्राथमिकता देते हुए अश्वस्त किया कि बस सेवा की टेंडर प्रक्रिया करने का आदेश संबंधित वाहन विभाग को दे दिया गया है और जल्द ही उल्हासनगर शहर में 20 बस चलना शुरू हो जायेगी लम्बे समय के बाद शहरवासियों को यह सेवा का अवसर फिर से मिलेगा वो भी एक तेजतर्रार स्थाई समिति सभापति कांचन लुंड की पहल की वजह से मिलेगा देखा जाय तो ये बस सेवा मार्च महीने तक मिलने की पूरी संभावना है !
  • हत्‍या की सुपारी देने वाला भाजपा नेता गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    हत्‍या की सुपारी देने वाला भाजपा नेता गिरफ्तार !

    1 करोड़ रुपये की दी गई थी हत्या की सुपारी !

    कल्याण -कल्याण बीजेपी को समर्थन देने वाले निर्दलीय नगरसेवक कुणाल पाटील की हत्या की सुपारी देने के मामले में अदालत ने आरोपी नगरसेवक महेश पाटील को हफ्ता विरोधी दस्ते के हवाले कर दिया है। पुलिस आरोपी को आज  फिर अदालत में पेश करेगी।
    शुक्रवार को पाटील की पेशी के दौरान अदालत में कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए पुलिस का कड़ा बंदोबस्त किया गया था।मिली जानकारी के अनुसार ठाणे अपराध शाखा विभाग ने पिछले महीने गणेशपुरी इलाके से 7 डकैतों को हथियार समेत गिरफ्तार किया था। जांच के दौरान डकैतों ने पुलिस को बताया था कि निर्दलीय नगरसेवक कुणाल पाटील की हत्या करने के लिए उन्हें 1 करोड़ रुपये की सुपारी दी गई थी। सुपारी देने का आरोप डोंबिवली के बीजेपी नगरसेवक महेश पाटील पर लगाया गया। मामला डोंबिवली से संबंधित होने के कारण इसकी जांच की जिम्मेदारी मानपाडा पुलिस को सौंपी गई। गिरफ्तारी की आशंका से नगरसेवक महेश पाटील, सुजीत नलावडे और विजय बोकाडे ने कल्याण कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की, परंतु न्यायाधीश ने उसे रद्द कर दिया। इस मामले में आरोपियों को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया गया था। पाटील व उसके साथियों ने जमानत के लिए उच्च न्यायालय में याचिका दायर की, परंतु वहां भी उनकी याचिका रद्द कर दी गई।
    आपको बता दें कि जमानत याचिका खारिज होने के बाद महेश अपने साथियों के साथ शुक्रवार को कल्याण न्यायालय में हाजिर हुआ। यहां भी उनकी मुश्किलें आसान नहीं हुई, ठाणे हफ्ता विरोधी दस्ते के प्रमुख राजकुमार कोथमिरे ने न्यायाधीश वानखेडे के समक्ष आरोपी को अपने हिरासत में लेने की याचिका दी। 
  • मनपा ने जिससे मांगी हाऊस टैक्स भरवाने की मदत वही निकले हाऊस टैक्स चोर !

    By fast headline india →
    मनपा ने जिससे मांगी हाऊस टैक्स भरवाने की मदत वही निकले हाऊस टैक्स चोर !

     उप महापौर,भाजपा नगरसेवक,रॉकपा के पूर्व नगरसेवक पर लगा आरोप ?

     टैक्स चोरी के संदर्भ में कई नगरसेवक, पूर्व नगरसेवक व उधोगपति राडार पर ! 




     उल्हासनगर- उल्हासनगर में अनेकों बार समय की अवधि बढ़ाने पर और बार बार अभय योजना लागू करने के बाद भी टैक्स वसूली को उम्मीद के अनुरूप में प्रतिसाद मिल नही रहा है। दूसरी तरफ कुछ जन प्रतिनिधि, कर विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से टैक्स चोरी में शामिल होने के आरोप हो रहे हैं।उल्हासनगर मनपा ने टैक्स वसूली के लिए चल अचल संपत्ति जब्त करने का कदम उठाया है और रियायत देने के उद्देश्य से ५बार अभय योजना लागू किया ,लेकिन इतना सब करने के बाद भी इसे अच्छा प्रतिसाद नही मिला।मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने सभी नगरसेवकों से आवाहन किया था कि वे अपने प्रभाग से ज्यादा से ज्यादा कर वसूली कराएं,जी नगरसेवकों के प्रभाग से ४०% से कम वसूली होगी ,वह विकास कार्य नहीं होंगे,ऐसा इशारा भी दिया था।वर्तमान में देखने में आया है कि कुछ नगरसेवकों पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आरोप लग रहा है।
    उल्हासनगर न.३के कंवरराम चौक बैरक ९८५ में ४मंजिल की एक इमारत है,इस इमारत की टैक्स पावती पूर्व नगरसेवक राजू जग्यासी के रिश्तेदार के नाम पर है।निचले मंजिल पर राजू जग्यासी का कार्यालय है,बाकी सबका रहने के लिए उपयोग हो रहा है।स्वयं जग्यासी भी इसी इमारत में रहते हैं।यह इमारत २००१ में बनी थी,लेकिन २०१७ तक पत्रे का बैरक दिखाकर वार्षिक ५०००रुपए टैक्स लिया जाता रहा।परंतु २०१८ में मनपा कर विभाग का अधिकारी जब स्पॉट सर्वे के लिए गया,तब यह बात सामने आई।अब नए असेसमेंट के तहत डेढ़ लाख रुपए टैक्स लगाया गया है।चोपड़ा कोर्ट उल्हासनगर-३के सामने केसरवानी कॉम्प्लेक्स में साईं पार्टी का ऑफिस और कोटक महिंद्रा बैंक की शाखा है।इस बैंक से इदनानी को कथित तौर पर ६४०००रुपए किराया मिलता है,लेकिन इस मलमत्ते का व्यावसायिक कर लगाने के बजाय निवासी कर लगाया गया है।इस वजह से मनपा को लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है।इस जगह का २०१७ तक का काट निर्धारण नही हुआ था,अब प्रशासन इस पर नियम से कार्रवाई कर रहा है। उल्हासनगर न.५ में भाजपा नागरसेवक का स्वयं का २मंजिल का बंगला है,इस बंगले पर मोबाइल टॉवर भी लगा है,यह इमारत २०११ में बनाई गई, इसके पहले यहां पत्रे का घर था।अबतक साधारणतः ५००० रूपए वार्षिक कर लिया जाता था।नए कर निर्धारण के अनुसार १लाख घर का कर और १४ लाख मोबाइल टॉवर कर निर्धारित हुआ है। उल्हासनगर न.२ स्थित जापानी बाजार के टेरेस पर अवैध गाला और मोबाइल टावर है,अभी तक उसका भी कर निर्धारण नही हुआ था। ऐसे १०० से १२५ प्रकरण होने की संभावना जताई जा रही हैं।जिसमें कई नेताओं, उद्योगपतियों और व्यापारियों का समावेश है। इस प्रकरण में जब मनपा के मालमत्ता कर उपायुक्त दादा पाटिल से पूंछा गया तो उन्होंने बताया कि मालमत्ता कर विभाग में इससे पहले बड़ी खामियां थी,अब हम कठोर कदम उठा रहे हैं और उसके परिणाम शीघ ही आपको दिखने शुरू हो जाएंगे।कर विभाग के ६०लोगों की टीम ने ८ करोड़ की कर वसूली की है और कार निर्धारक विजय मंगलानी ने अकेले १४ करोड़ कर वसूला है ।आगामी वर्ष तक हम १२० करोड़ रुपए कर वसुल करेंगे, ऐसा उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है। उपमहापौर जीवन इदनानी,नगरसेवक किशोर वनवारी,पुर्व नगरसेवक राजू जग्यासी ,इन लोगों ने अपने ऊपर लगे आरोपों का खंडन किया है।उन्होंने कहा कि हमने बार -बार मनपा प्रशासन से कर निर्धारण के लिए विनती किया था, लेकिन उन्होंने अपना कार्य नही किया,इसमे हमारा कोई दोष नही है।
  • सुको का चला उमपा प्रशासन पर चाबुक ! तीन हप्ते में देना होगा जवाब !

    By fast headline india →
    मनपा जिंसवाश कारखानों पर कार्यवाई ही बना गले की फांस !  
    सुको का चला उमपा प्रशासन पर चाबुक ! तीन हप्ते में देना होगा जवाब !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में अवैध रूपसे चल रहे जीन्स वाशिंग कारखानों द्वारा वालधुनी नदी के प्रदूषण के मामले पर सुनवाई हुई. पिछली सुनवाई में महानगरपालिका ने अदालत में यह कहते हुए हलफनामा दायर किया था कि अदालत के निर्देशानुसार सभी जीन्स वाशिंग कारखाने बंद कर दिए गए है.मनपा के द्वारा की गई कार्यवाई ही उसके गले की हड्डी बनते नजर आ रही बात दे कि गुरुवार को हुई सुनवाई में सामाजिक संस्था वनशक्ति ने महानगरपालिका के दावों की पोल खोली और उच्चतम न्यायालय में इस बात के सबूत पेश किए की रात में चोरीछुपे जीन्स वाशिंग कारखाने अब भी चल रहे है.
     इसपर उच्चतम न्यायालय ने कड़ा रुख अपनाते हुए उल्हासनगर महानगर पालिका पर अपना चाबुक चलाते हुए कड़ा निर्देश देते हुए कहा है कि जीन्स वाशिंग करखानों पर की गई करवाई पर तीन हफ़्तों में हलफनामा दायर करके अपना जवाब देने को कहा है बता दे कि वनशक्ति की तरफ वरिष्ठ वकील कोलिन गोंसाल्विस ने यह मामला कोर्ट के समक्ष रखा था , इस आदेश के बाद मनपा आयुक्त राजेंद्र निबालकर ने एम एस बी और प्रदूषण विभाग महाराष्ट्र कल्याण व एम एस बी कार्यकारी अभियंता 1,2 उल्हासनगर को लिखित पत्र देकर चल रहे कारखानों पर समय पर कार्यवाही क्यो नही किया इसका खुलासा करने को कहा नही तो कानूनी कार्यवाई के लिए तैयार रहने को कहा है कुल मिलाकर देखा जाय मनपा की अपनी ही कि गई कार्यवाई ही गले की हड्डी बन गई है सुको के इस झटके से बचने में कितनी कामयाबी मिलता है ये तो आने वाले समय ही बताएगा बहरहाल मनपा को सुको का चाबुक को अभी तो झेलना ही होगा !
  • फर्जी चेक से बुजुर्ग महिला के खाते से निकाले 60 लाख !

    By fast headline india →
    फर्जी चेक से बुजुर्ग महिला के खाते से निकाले 60 लाख ! 
    पुलिस ने दो लोगो को किया गिरफ्तार ! 

    मुंबई-मुंबई अंटॉप हिल पुलिस के तहत 80 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला की बैंक खाते से फर्जी  चेक द्वारा 59 लाख 54 हजार रुपये निकाल लिए जाने का अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। सीनियर पीआई सुदर्शन पैठनकर ने बताया कि महिला की शिकायत पर पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज कर लिया है। 
    इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को भी गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछताछ अभी जारी है। हालांकि, यह मामला अभी तक साफ नहीं हुआ है कि महिला के खाते में इतनी रकम कहां से आई थी और वह इस भारी-भरकम रकम का क्या करना चाहती थी? उन्हें अचानक इतने रुपयों की जरूरत क्यों पड़ गई और आरोपियों को चेक कहां से मिला, किसने दिया? इन सारी बातों का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है। इस बाबत पुलिस हर पहलू से इस मामले की जांच करने में जुटी हुई है।
  • दांत का डॉक्टर बनाने के नाम पर पर लाखों का ठोनेसन लेने वाला दंत विद्यालय का संचालक गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    दांत का डॉक्टर बनाने के नाम पर पर लाखों का ठोनेसन लेने वाला दंत विद्यालय का संचालक गिरफ्तार !

    दंत विद्यालय का लायसन्स 2016 में हुआ था रद्द फिर भी बना रहा था डॉक्टर !
      

    अंबरनाथ-दंत विद्यालय के विद्यार्थी के साथ धोखाधड़ी करने के मामले में विद्यालय के संचालक को अंबरनाथ पुलिस ने गिरफ्तार किया है संचालक का नाम अफान रशीद शेख है खबर है कि अफान ने इससे पहले भी इस तरह की चारसौ बीसी की है जिसके चलते हैं उसके खिलाफ दो मामले दर्ज है  अंबरनाथ के चिखलेली परिसर में अफान  रशीद शेख ने गार्डियन दंत महाविद्यालय नाम का विद्यालय स्थापित किया था. इस विद्यालय में प्रवेश लेने के लिए मुंबई के सूरज यादव नामक विद्यार्थी ने 2017 में 2 लाख का डोनेशन और चेक के द्वारा १ लाख 91 हजार, फीस भरी थी .बतादे इस दंत महाविद्यालय की 2016  में ही मान्यता रद्द कर दी गई थी. .जिसका की पता चलते ही विद्यार्थी सूरज यादव का परिवार ने संचालक से डोनेशन औरएड्मिसन फीस के पैसे वापस मांगे .लेकिन संचालक अफान ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया और पैस देने के लिए टालमटोल करता रहा . आखिरकार सूरज के काका ने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने के बाद संचालक अफान के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया.आश्चर्य की बात यह है कि मन्यता रद्द होने के ६९ विद्यार्थियो से एडमिशन लेने के नाम लाखो रूपये का गबन कालेज ने किया है खबर भी है कि २०१४ में कॉलेज की मान्यता रद्द हो चुकी थी चुकि ६९ विद्यर्थियो का भविष्य देखते हुवे दुबारा अफान ने कॉलेज सुरु करके एडमिशन और डोनेशन लिया गया . इस तरह से दो बार संचालक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है!
  • Love के एग्जाम में गर्लफ्रेंड हो गई फेल, मारा गया ब्वॉयफ्रेंड !

    By fast headline india →
    Love के एग्जाम में गर्लफ्रेंड हो गई फेल, मारा गया ब्वॉयफ्रेंड ! 
     वहां का नजारा देख पुलिस के उड़े होश !

     हत्या कर शव के पास रातभर सोया पति !

     नई दिल्ली- दिल्ली के जहांगीरपुरी में युवक द्वारा पत्नी व बेटे की नृशंस हत्या किए जाने का मामला सामना आया है। आरोपी ने अपने दो बड़े बेटों के सामने ही वारदात को अंजाम दिया और फिर फरार हो गया। परिजनों को सुबह मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो आरोपी के बड़े बेटे ने ही राज से पर्दा उठाया। आरोपी की तलाश जारी है।जानकारी के अनुसार शोभा (32) अपने पति ओम प्रकाश और तीन बेटे करन (2), सुशांत (6) व राहुल (8) के साथ जहांगीरपुरी के जी -ब्लाक में रहती थी। सोमवार की रात खाना खाकर वह पति व बच्चों के साथ पहली मंजिल पर बने कमरे में सो गई थी। अन्य परिवारीजन भी भूतल के कमरों में सो गए थे। मंगलवार सुबह आठ बजे तक भी जब शोभा नीचे नहीं आई तो उसका देवर बबलू ऊपर उनके कमरे में पहुंचा।वहां का नजारा देख उसके होश उड़ गए। कमरे में भाभी शोभा व करन के खून से लथपथ शव पड़े हुए थे। परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पाया कि दोनों का गला रेता गया है व शोभा के सिर पर हथौड़े से किए गए वार हैं। दोनों को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।पुलिस के अनुसार, घटना के समय बड़ा बेटा राहुल जाग रहा था। उसने बताया कि जब मां सो रही थी तो पिता ने पहले मां का मुंह दबाया, फिर चाकू से गला काट दिया। इसके बाद सिर पर हथौड़े से मारा। इसके बाद करन की भी गला रेत दी। वारदात रात 11 बजे के आसपास हुई। आरोपी हत्या के बाद शव के साथ बैठा रहा। इस दौरान कुछ देर के लिए सो भी गया। हालांकि, बाद में राहुल भी डर कर सो गया था।पुलिस के मुताबिक, मृतक महिला की पहचान सुनीता उर्फ शोभा (32) और सवा साल के बच्चे की पहचान कर्ण के रूप में हुई है। शोभा अपने बेटे सुशांत (6), राहुल (8) और कर्ण के अलावा पति ओमप्रकाश के साथ जहांगीरपुरी 'जी' ब्लॉक इलाके में रहती थीं। मंगलवार सुबह करीब 8:30 बजे सुनीता के देवर बबलू ने पुलिस को हत्याकांड की सूचना दी थी। हत्या का केस दर्ज कर पुलिस फरार आरोपी की तलाश में जुट गई। परिजनों ने बताया कि ओमप्रकाश और शोभा की शादी करीब 13 साल पहले हुई थी।पिता के घर में रहने के बाद माता-पिता से अलग रहने लगा था। शोभा अपने हैदरपुर स्थित अपने मायके में रहती थी। दस रोज पूर्व ही ससुर खूबीराम ने बहू-पोते को अपने पास बुला लिया था। अवैध संबंधों के शक में वारदात का अंदेशा परिजनों ने बताया कि ओमप्रकाश पेंटर था। वह झगड़ालू स्वभाव का था। शोभा अपने मायके रहकर दूसरे घरों में काम करने लगी थी। पुलिस के अनुसार ओमप्रकाश को शक था कि करन उसका बेटा नहीं है। इस कारण दंपती में झगड़ा होता था। आरोपी को शराब पीने की भी लत थी। पड़ोसियों ने भी बताया कि दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते रहते थे। परिचितों से की दुआ सलाम परिजनों के अनुसार वह रोज की तरह सुबह छह बजे दूध लेने के लिए चला गया। जाते समय अपने भाई बबलू से भाभी को जगाने के लिए कह गया था। रास्ते में परिचितों से दुआ सलाम भी की और दूध लेकर नहीं लौटा। हिरासत में आरोपी के भाई आरोपी के दोनों भाई पूछताछ के लिए पुलिस हिरासत में हैं। परिवार में महिला का ससुर खूबीराम, देवर कमल और छोटा देवर बबलू हैं। ससुर और देवर ग्राउंड फ्लोर पर, जबकि सुनीता पहली मंजिल पर परिवार के साथ रहती थीं। ओमप्रकाश मूल रूप से यूपी के आगरा का रहने वाला है, लेकिन परिवार काफी साल पहले दिल्ली शिफ्ट हो चुका है।
  • ठगी के शिकार युवक ने ही की ठग की जासूसी !

    By fast headline india →
    ठगी के शिकार युवक ने ही की ठग की जासूसी ! 

    फिर भिजवाया ठग को जेल !

     कल्याण-कल्याण अपना कैब बिजनेस शुरू करने के इच्छुक लोगों के साथ ठगी करने के आरोपी को पिछले हफ्ते गिरफ्तार कर लिया गया है। खास बात यह है कि आरोपी को पकड़वाने में उसके द्वारा ठगे गए एक पीड़ित की सूझबूझ से की गई जासूसी काम आई है।
     कल्याण निवासी अर्पित कपूर (29) के साथ कुछ समय पहले 1 लाख रुपये की ठगी हुई थी, उसने पहले पुलिस को अप्रोच किया लेकिन आरोपी रोहित गायकवाड़ के खिलाफ कार्रवाई करने में कोई फुर्ती न दिखाने पर अर्पित ने खुद ही अपनी तफ्तीश करनी शुरू कर दी। रोहित द्वारा ठगे गए दूसरे पीड़ितों की पहचान करने के साथ ही फेक क्लाइंट को गायकवाड़ के पास भेजकर कच्चा चिट्ठा खुलकर सामने आ गया।  दरअसल पॉप्युलैरिटी की वजह से कैब बुकिंग ऐप्स बिजनस मॉडल को बढ़ावा दे रही हैं जिसके तहत लोग कार खरीदकर उसे टूरिस्ट वीइकल के रूप में रजिस्टर कराकर ड्राइवर को किराये पर रख सकते हैं। गायकवाड़ लोगों को गाड़ी खरीदने और ड्राइवर हायर करने के लिए कम ब्याज वाले लोन को हासिल कराने की बात कहकर ठगी करता था। वह कस्टमर से पैसा लेकर फरार हो जाता था।कल्याण के महात्मा फूले पुलिस स्टेशन के सब इंस्पेक्टर अर्जुन पांडव ने बताया, 'हमने गायकवाड़ को गिरफ्त में लेकर उसके खिलाफ धोखाधड़ी, अज्ञात संचार के जरिए आपराधिक धमकी और दूसरे मामले दर्ज किए हैं।' उन्होंने बताया कि गायकवाड़ के खिलाफ पहले से ही दूसरों के साथ धोखाधड़ी के मामले दर्ज हैं। हम जल्द ही उन्हें मुंबई पुलिस को सौंप देंगे। अर्पित एक सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन असिस्टेंट के रूप में वर्ली के एक फर्म में काम करते हैं। कुछ समय पहले उन्होंने कैब बिजनस शुरू करने का विचार किया और गाड़ी खरीदने व ड्राइवर किराये पर रखने के लिए ऑनलाइन जानकारी की। अर्पित ने बताया कि गायकवाड़ ने कई वेबसाइट्स पर बॉम्बे ड्राइवर सर्विस और अपोलो ड्राइवर सर्विस नाम से ऐड पोस्ट किए थे। उससे संपर्क करने पर गायकवाड़ ने बताया कि वह ड्राइवर ढूंढने के अलावा कम ब्याज दरों में लोन भी दिला सकता है।  अर्पित ने आगे कहा, ' इसके बाद उन्होंने मुझसे 1.35 लाख प्राइमरी पेमेंट लेने की बात कही लेकिन मैंने उसे 1.08 लाख रुपये ही दिए। इसके बाद उसने अचानक फोन उठाने बंद कर दिया। पुलिस से शिकायत करने पर उसने पैसे लौटाने का वादा किया लेकिन हर बार वह टाल देता था। इसके बाद मैंने उन विक्टिम्स से मुलाकात की और फ्रॉड एजेंसी नाम से वॉट्सऐप ग्रुप बनाकर गायकवाड़ के षडयंत्रों का खुलासा किया। 
  • अंबरनाथ तहसील कार्यालय पर महिलाओ हंडा मोर्चा !

    By fast headline india →
    अंबरनाथ तहसील कार्यालय पर महिलाओ हंडा मोर्चा !

    अंबरनाथ-अंबरनाथ के काकोळे गाव की महिलानो ने सोमवार को पानी की समस्या को लेकर अंबरनाथ तहसील कार्यालय पर हंडा मोर्चा निकाल कर अपना विरोध प्रदर्शन किया.इस मोर्चे में महिलाओ ने हाथ में हंडा तो पुरुष कावर लेकर इस मोर्चा में आये थे .
    रेल्वे के जी आय पी बांध के पास रहने वाले रहिवासी पानी के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है .बता दे कि गांव में पानी लाइन भी है यही नही लोगो के घरों में नल होने के बादजूद लोग पानी के लिए तरस रहे है क्यो नल में पानी आता नही है जिसके चलते गांव की महिलाओं को पास की कंपनियों में जाकर पानी मांग कर पीना पड़ता है . इसी समस्या से निजात पाने के लिए गांव के सभी लोगो ने सोमवार को अंबरनाथ तहसील के सामने हंडा मोर्चा निकाल कर अपना निषेध ब्यक्त किया है ! वही इस मोर्चा में सहभागी लोगो ने कहा है कि जल्द ही हमारी समस्या का समाधान नही किया गया तो हम लोग उग्र आंदोलन करेंगे !
  • डॉ, बाबासाहेब आम्बेडकर के वारिसदारों की जमीन हड़पने वाले भू माफिया का पर्दाफाश करने वाली महिला पत्रकार पर हफ्ता वसूली का मामला हुआ दर्ज !

    By fast headline india →
    डॉ, बाबासाहेब आम्बेडकर के वारिसदारों की जमीन हड़पने वाले भू माफिया का पर्दाफाश करने वाली महिला पत्रकार पर हफ्ता वसूली का मामला हुआ दर्ज !

    भू माफिया के खिलाफ जब डॉ आम्बेडकर के वारिसदारो ने मानपाडा पुलिस स्टेशन जाकर शिकायत देने पहुचे पुलिस नही ली शिकायत ! 

    कल्याण -कल्याण की महिला पत्रकार चारुशीला पाटिल पर दर्ज़ किये गए कथित हफ्ता वसूली के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। जिसके चलते पुलिस विभाग और अनधिकृत निर्माण कार्य करने वालों की मिलीभगत खुल कर सामने आ गई है।
    सूूत्रों सेे मिली जानकारी के अनुसार जिस सुरेंद्र पांडुरंग पाटिल ने महिला पत्रकार चारुशीला पाटिल के खिलाफ लाखों रूपये हफ्ता मांगने का मामला खंडनी विरोधी पथक में दर्ज करवाया है उस सुरेंद्र पाटिल पर कल्याण डोम्बिवली मनपा क्षेत्र में सबसे ज्यादा अनधिकृत निर्माण कार्य करने का आरोप है। यहां तक कि शिकायतकर्ता सुरेंद्र पाटिल पर बाबा साहेब आम्बेडकर के वारिस्दारों की ज़मीन हड़पने का भी मामला मानपाडा पुलिस स्टेशन में पंद्रह दिन पहले ही दर्ज किया गया है। देश के संविधान निर्माता डॉ बाबा साहेब आम्बेडकर के वारिस्दारों की ज़मीन हड़प करने वाले भू माफिया सुरेंद्र पाटिल की पुलिस विभाग में पकड़ इतनी मज़बूत है कि ज़मीन हड़पने की शिकायत लेकर जब डॉ आम्बेडकर के वारिसदार मानपाडा पुलिस स्टेशन पहुंचे थे तो उनकी शिकायत तक पुलिस दर्ज़ करने को तैयार नहीं थी। आखिरकार शिकायत कर्ताओं ने पुलिस परिमंडल तीन के पुलिस उपायुक्त संजय शिंदे को मामले की जानकारी दी और उसके बाद पुलिस उपायुक्त के कहने पर सुरेंद्र पाटिल के खिलाफ २९ दिसंबर २०१७ को मामला दर्ज किया गया। ऐसे भू माफिया के खिलाफ सूचना अधिकार के तहत जानकारी निकाल कर कल्याण डोम्बिवली मनपा के अधिकारियों को जगाने का प्रयास करने वाले महिला पत्रकार  के खिलाफ सुरेंद्र पाटिल जैसे भू माफिया ने कथित रूप से हफ्ता वसूली का मामला दर्ज करवाया है। इस मामले को पुलिस विभाग ने भी तुरंत दर्ज कर लिया क्योंकि पुलिस भी सुरेंद्र पाटिल के इशारों पर ही नाचती हैं। कल्याण डोम्बिवली मनपा क्षेत्र में शामिल हुए २७ गाँवों में अनधिकृत बांधकाम के लिए कुप्रसिद्ध सुरेंद्र पांडुरंग पाटिल ने पिसवली , दावड़ी , सोनरपाड़ा,आडावली – ढोकली , नांदीवली में सैंकड़ों अनधिकृत निर्माण कार्य किये हैं। गोलवली में तो सुरेंद्र पाटिल ने संविधान निर्माता डॉ बाबा साहेब आंबेडकर के वारिस्दारों की ज़मीन ही हड़प ली है , जिसकी शिकायत मानपाडा पुलिस स्टेशन में दर्ज भी है। ऐसे भू माफिया के साथ कंधे से कंधा मिला कर पत्रकारों को हफ्ता वसूली में फंसाने वाली पुलिस परिमंडल तीन की पुलिस पर भी अब शंका की सुई घूमने लगी है। जिस तरह से महिला पत्रकार चारुशीला पाटिल पर हफ्ता वसूली का मामला दर्ज किया गया है उससे पता चलता है कि कल्याण डोम्बिवली मनपा क्षेत्र में भू माफियाओं की ही चलती है और पुलिस तथा मनपा के अधिकारी सुरेंद्र पाटिल की जेब में रहते हैं।
  • बच्चे पर पेट्रोल फेंककर जलाने का आरोप ! चार लोगो को पुलिस ने किया ?

    By fast headline india →
    बच्चे पर पेट्रोल फेंककर जलाने का आरोप ! 

    चार  लोगो को पुलिस ने किया  गिरफ्तार उनमें से एक है नाबालिग !

    मुंबई-मुंबई दिंडोसी पुलिस थाना क्षेत्र में 13 वर्षीय रमजान (बदला हुआ नाम) पर पेट्रोल फेंककर जलाने का जो प्रयास किया गया था, उस मामले में पुलिस ने एक नाबालिग समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के नाम अजमत शेख (22), सैफुल्ला शेख (21) और लाला (22) बताए जा रहे हैं, जिन पर आरोप है कि उन्होंने रमजान पर पेट्रोल फेंककर उसे जलाने की कोशिश की थी। 
    हालांकि, दिंडोशी पुलिस ने ऐसी किसी घटना से साफ इनकार किया है। नॉर्थ रीजन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रमजान के परिजन की ओर से दिंडोशी पुलिस पर लगाए गए आरोप बिल्कुल बेबुनियाद हैं। हकीकत यह है कि पीड़ित रमजान, उसकी मां या परिजन घटना वाले दिन से ही पुलिस को गुमराह करते आ रहे हैं। 28 दिसंबर की शाम को घटना की जानकारी होने के बाद पुलिस जब जांच करने रमजान के परिजन के पास गई, उस वक्त उन्होंने साफतौर पर किसी व्यक्ति पर रमजान को जलाने की कोशिश का आरोप नहीं लगाया था। साथ ही, खुद रमजान ने भी पुलिस को चारों लड़कों द्वारा पेट्रोल फेंकने की बाते नहीं बताई थीं। रमजान के पिता ने भी पुलिस को बताया कि उसका बेटा रमजान थिनर और पेट्रोल सूंघने का आदी है और शूटिंग देखकर घर लौटने के दौरान वह अपने दोस्त कलीम (बदला नाम) के साथ अजमत शेख और सैफुल्ला शेख, लाला एवं एक अन्य दोस्त के पास थिनर और पेट्रोल सूंघने के लिए चला गया था। उस दौरान किसी बात को लेकर उसकी आरोपियों से कहा-सुनी हुई। उसी दौरान रमजान की पैंट में खोंसी गई पेट्रोल की बोतल का ढक्कन खुल गया और पेट्रोल से उसका पैंट भीग गया। मौके पर सिगरेट पी रहे एक लड़के की सिगरेट की चिंगारी से रमजान के पैंट में आग लग गई और वह झुलसने लगा। इसे देखकर सभी लोग वहां से भाग गए। पुलिस ने उसी बयान के आधार पर आईपीसी की धारा 285 और 338 दर्ज कर जांच कर रही थी।दिंडोशी पुलिस का कहना है कि रमजान के परिजन और आरोपी पक्ष एक-दूसरे को अच्छे से जानते हैं। सभी संतोष नगर में ही आसपास रहते हैं। इस वजह से वे लोग पांच दिनों तक पुलिस द्वारा बुलाए जाने के बावजूद मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस स्टेशन नहीं आए। दरअसल, दोनों पक्षों के बीच रमजान के इलाज पर होने वाले खर्च को लेकर चर्चा चल रही थी, जिस पर सहमति बनाई जा रही थी। जब दोनों पक्षों में सहमति नहीं बनी, तो वे लोग कुछ दिनों बाद आरोपी पक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने 6 जनवरी को पुलिस स्टेशन पहुंचे, जहां 28 दिसंबर को दिए गए बयान के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।  हालांकि, 12 जनवरी को भी रमजान के नहीं, बल्कि उसकी मां के बयान के आधार पर दिंडोसी पुलिस ने सप्लिमेंट्री स्टेटमेंट लेकर अतिरिक्त धाराएं ( आईपीसी 307 एवं पॉक्सो ऐक्ट 7 व 8) लगा कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। अब इस नए बयान में शिकायतकर्ता ने रमजान द्वारा पेट्रोल सूंघने की आदत और गलत हरकत करने की कोशिश करने के बारे में पुलिस को जानकारी दी है। इससे पहले रमजान के परिजन द्वारा पुलिस पर आरोपियों को बचाने और मामला दर्ज नहीं करने का आरोप लगाया गया था।
  • उल्हासनगर में सैराट, प्रेम विवाह से नाराज भाइयों ने जीजा पर किया तलवार-चाकू हमला !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में सैराट, प्रेम विवाह से नाराज भाइयों ने जीजा पर किया तलवार-चाकू हमला ! 

    दोनो भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार !


     उल्हासनगर- उल्हासनगर में छोटे भाई बड़े होने पर अपनी बहन के किये प्रेम विवाह का बदला लेने के लिए बहन के पति पर तलवार-चाकू हमला करने का मामला सामने आया जिससे फिल्म सैराट की तर्ज पर घटना को अंजाम देने की वारदात उल्हासनगर के हिललाईन पुलिस स्टेशन की हद में हुआ है इस मामले में पुलिस ने दो सगे भाइयों को गिरफ्तार किया है .
    बता दे कि उल्हासनगर के वीर तानाजी नगर के गुरुद्वारा के पीछे रहने वाले एक मजदूर का काम करने वाले 28 वर्षीय रविंद्र लाडगे इन्होंने सात आठ साल पहले अंबरनाथ की मुस्लिम लड़की से प्रेमविवाह किया था .उस समय उस लड़की के भाई इरफान खान,सोनू खान छोटे थे .अब दोनों बड़े हो गए उसी प्रेमविवाह से नाराजगी को लेकर ये दोनों भाई अपने दो साथियों की मदत से रविंद से तानाजी नगर आकर दोस्ती की फिर मौका पाकर उसपर तलवार-चाकू से हमला बोल दिया .इस हमले में गंभीर जख्मी हुए रविंद्र का ईलाज उल्हासनगर के सेंट्रल अस्पताल में किया जा रहा है जहाँ पर उसकी हालत चिंताजनक स्थिति है, वही इस मामले में पुलिस ने दोनों भाइयों इरफान खान,सोनू खान को गिरफ्तार करके हवालात में डाल दिया और दोनों साथियों की तलाश में जुटी है उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार करने की बात हिललाईन स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक घनश्याम पलंगे ने कही है .बहरहाल इस घटना से लोगों के जहन में फिल्म सैराट की आखरी सीन को तरो ताजा कर दिया है !
  • ओएनजीसी का हेलिकॉप्टर क्रैश, 4 शव बरामद !

    By fast headline india →
    मुंबई के अरब सागर में ओएनजीसी का हेलिकॉप्टर क्रैश, 4 शव बरामद !

    मुंबई-मुंबई तट से करीब 30 नॉटिकल मील की दूरी पर अरब सागर में ओएनजीसी कर्मचारियों को ले जा रहा एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। इस हेलिकॉप्टर पर 7 लोग सवार थे और वह कंपनी के नॉर्थ फील्ड की ओर जा रहा था। कोस्ट गार्ड ने पवन हंस कंपनी के इस हेलिकॉप्टर का कुछ मलबा बरामद कर लिया है। समुद्र से 4 शव भी निकाले गए हैं। इनमें से एक शव की पहचान यात्री पंकज गर्ग के रूप में हुई है। 
    बताया जा रहा है कि दाऊफिन एन3 हेलिकॉप्टर ने जुहू से सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरी थी। हेलिकॉप्टर को 10 बजकर 58 मिनट पर लैंड करना था। सूत्रों के मुताबिक सुबह 10 बजकर 30 पर एटीसी और हेलिकॉप्टर के बीच संपर्क टूट गया। इस हेलिकॉप्टर का रजिस्ट्रेशन नंबर वीटी-पीडब्ल्यूए है। हेलिकॉप्टर पर सवार 7 में से 5 लोग ओएनजीसी के कर्मचारी और दो पायलट थे। ये कर्मचारी काम पर जा रहे थे। इस बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने हादसे के संबंध में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से बात की है ताकि बचाव अभियान को तेज किया जा सके। नौसेना ने बताया कि उसने हेलिकॉप्टर की तलाश के लिए अपनी स्टील्थ पनडुब्बी आईएनएस टेग तैनात की है। साथ ही टोही विमान पी8आई को भी खोज के लिए लगाया गया है।  तटरक्षक ने बताया कि उसने समुद्र में मौजूद जहाजों के मार्ग में बदलाव किया है और मुंबई में लंगर डाले जहाजों को भी अन्यत्र भेजा है। बता दें, समुद्र में ओएनजीसी के ऑयल फील्ड तक कर्मचारियों को ले जाए जाने के दौरान पहले भी कई हादसे हो चुके हैं।  वर्ष 2003 में भी एक हेलिकॉप्टर अरब सागर में हादसे का शिकार हो गया था। इसमें ओएनजीसी के 23 कर्मचारी मारे गए थे। ऑयल फील्ड में ओएनजीसी ने अपने सैंकड़ों कर्मचारियों को तैनात कर रखा है। उन्हें ले जाने के लिए हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल किया जाता है।
  • हाऊस टैक्स डिफाल्टरों की अब आई सामत ? मोबाईलफोन,घर के कीमती सामानों को मनपा करेगी जप्त !

    By fast headline india →
    हाऊस टैक्स डिफाल्टरों के मोबाईलफोन,घर के कीमती सामानों की होगी जप्ती -मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर  


    उल्हासनगर-उल्हासनगर बारबार हाऊस टैक्स में भारी छूट देने के बादजूद भी 80 प्रतिसत हाऊस टैक्स अभी तक बकाया ही है . ऐसे में इन सभी हाऊस टैक्स के बकायेदारों को सबक देने के लिए एक कठोर कदम उठाते हुए उनके मोबाईल, घर के कीमती सामानों की जप्त करने का निर्णय मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर ने लिया है. 
    उल्हासनगर मनपा की हद्द में कुल 1 लाख 72 हजार मालमत्ता धारक है इनमें से इतनी सारी छूट देने के बादजूद सिर्फ 20 प्रतिसत लोगो ने ही अपना हाऊस टैक्स भरे है अभी भी 80 प्रतिसत लोगो का हाऊस टैक्स 294 करोड बाकी है . हाऊस टैक्स भरने की आखरी मुदत समाप्त होने में भी कुछ ही समय बचे है . इस बचे समय में अगर हाऊस टैक्स जो लोग नही भरेंगे उनको सबक देने के लिए मनपा ने कठोर कदम उठाने का निर्णय लेते हुए उनके घरों पर जाकर चल संपत्ति जैसे टीव्ही , मोबाईल ,कार इत्यादि कीमती सामान जप्त करके उन सामानों का मनपा के नियमो के अनुसार नीलामी किया जाएगा . और ऐसे हाऊस टैक्स डिफाल्टरों का नाम भी न्यूज पेपरों व चैनलों पर प्रकाशित करने की ऐसी जानकारी मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इन्होंने दिया है .  बता दे कि पिछले तीन सालों के दरम्यान हाऊस टैक्स डिफाल्टरों के लिए अपना बकाया टैक्स भरने के लिए मनपा ने पांच बार अभय योजना लागू किया जिसमें इनके लिए भारी छूट भी दिया गया उसके बायजूद भी इन टैक्स डिफाल्टरों ने इसका लाभ नही लिया ! अब देखने वाली बात होगी कि इतने कड़े फैसले लेने के बाद इन हाऊस टैक्स डिफाल्टरों की नींद टूटती है क्या और ये लोग इस कार्यवाई से बचने के लिए अपने टैक्स भरते है कि नही ये तो बहर हाल आने वाले कुछ समय बाद ही सामने आएगा ! कुल मिला कर मनपा अब टैक्स डिफाल्टरों को बख्सने के मूड में बिल्कुल नही दिख रही है !
  • खत्रीकंपाउंड की पांच जीन्सवॉश कारखानों पर मनपा का छापा ! करोड़ो के जीन्स पेंट जब्त,कारखानों को किया सील !

    By fast headline india →
    खत्रीकंपाउंड की पांच जीन्सवॉश कारखानों पर मनपा का छापा ! 

    करोड़ो के जीन्स पेंट जब्त,कारखानों को किया सील !

     सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर चल रहे थे जीन्सवॉश के कारखानों !              

    उल्हासनगर- मुंबई, तळोजा में जीन्सवॉश का पांच गुनी ज्यादा खर्च आता है उससे बचने के लिए उल्हासनगर में रात में कुछ ठिकानों पर जीन्स वॉश कारखाना चोरी छुपे चालू किया गया था ऐसे जो लोग सुप्रीमकोर्ट के आदेश को ठेंगा दिखाने वाले उल्हासनगर के पाच जीन्स कारखानो पर मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर के मार्गदर्शन में छापा डाला गया जिसमें करोड़ो रुपये किंमत के हजारो जीन्स जप्त किया गया और उन कारखानों को सील करने की कार्यवाई किया गया है .          वालधुनी नदी को प्रदूषित करने के संदर्भ में उल्हासनगर शहर के 510 जीन्सवॉश कारखानो को सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद बंद किया गया था.इन कारखानों की लाइट कनेक्शन को भी विधुतविभाग के द्वारा काटा गया था . मंगळवार को अनिल रोहरा इनके सम्राट अशोक नगर के कारखाने पर वॉश का काम चालू था ऐसा सामने आने पर उस कारखाने को सील किया गया था . इस कार्यवाही के बाद ऐसा लगा कि चोरीछुपे चलने वाले कारखानों पर पूरी तरह से बंद हो गए होंगे परंतु उसके बादजूद खत्री कंपाऊंड में एक साथ पाच कारखानो में चोरीछुपे वॉश होने की जानकारी मनपा आयुक्त को जैसे ही मिली तुरंत ही मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इन्होंने सहाय्यक आयुक्त गणेश शिंपी, प्रबोधन मवाडे, लिपिक प्रमोद पाटिल आदी लोगो के साथ छापा मारकर हजारो जीन्स कब्जे में ले लिए और सभी को सील करने की कार्यवाई किया है.               इस विषय में मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इन्होंने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का उल्लंघन करके रात्र में शुरू कारखानों पर कार्यवाई किया गया है . जब तक करखानों को प्रदूषण नियंत्रण मंडल के द्वारा न हरकत दाखला प्राप्त नही दिया जाता तब तक ये सभी कारखानों बंद रहेंगे ऐसे में जो भी इस आदेश का उलंघन करेगे उनपर कानूनी कार्यवाई की जाएगी. 
  • उल्हासनगर मनपा में मोटी रकम लेकर नौकरी देने के झोलझाल का हुआ पर्दाफाश ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर मनपा में मोटी रकम लेकर नौकरी देने के झोलझाल का हुआ पर्दाफाश ? 

    मनपा आयुक्त, उपा,आयुक्त के बनावटी हस्ताक्षर व कागज पत्रों का प्रयोग कर किया गया ये फर्जीवाड़ा !


     उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा के एक मृत कर्मचारी ने ४ नवयुवकों को नौकरी का लालच देकर फंसाने के मामला सामने आया है।इस प्रकरण में फंसाने वाले कर्मचारी ने प्रशासकीय अधिकारियों की बनावटी हस्ताक्षर व कागज पत्रों का प्रयोग किया था और चेक के माध्यम से लाखों रुपए लेने का मामला प्रकाश में आया है।
    उल्हासनगर मनपा में मागसवर्गीय भर्ती घोटाले के बाद अब एक नया घोटाला सामने आया है।२०१७ में अमित नामक मृत कर्मचारी ने चार नवयुवकों को मनपा में नौकरी लगाने का लालच देकर उनसे लाखों रुपए की उगाही की।अमित ने यह रुपए अपने एक्सिस बैंक एकाउंट में जमा कराया है, ऐसा मालूम पड़ा है।अमित ने चारों नवयुवकों को मनपा आयुक्त, उपायुक्त के हस्ताक्षर युक्त फर्जी कार्यालयीन आदेश,वैद्यकीय जांच प्रमाण पत्र दिया था।इतना ही नही इन चारों कर्मचारियों को कम पर हाजिर दिखाकर उनकी दिसंबर2027 तक की हाजिरी का बनावटी कागजपत्र भी तैयार किया था। शिवसेना शहर प्रमुख और नगरसेवक राजेंद्र चौधरी ने इस प्रकरण की जांच की मांग की है और राज्य के नगरविकास राज्यमंत्री रणजीत पाटिल से इसकी लिखित शिकायत की है। इस संदर्भ में जब मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मनपा ने किसी भी प्रकार की कोई नौकरी की भर्ती नही हुई है।इस प्रकार की भर्ती के लिए पहले विज्ञापन दिया जाता है और ऐसी कोई विज्ञापन नहीं दिया गया था।जिन नवयुवकों को फंसाया गया है, वे सामने आए और पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं।
  • उमपा मुख्यालय पर लोटा पाटी मोर्चा !

    By fast headline india →
    उमपा मुख्यालय पर लोटा पाटी मोर्चा !

    शौचालय की जगह बन रहे समाजमंदिर बनने से लोग नाराज !

    उल्हासनगर - एक तरफ जहां स्कूलों के शौचालय बनाने में सजगता दिखाने के लिए केंद्र की कमेंटी ने उल्हासनगर महानगर पालिका को हगनदारी मुक्त होने का प्रमाणपत्र दिया है, उसी उल्हासनगर में सार्वजनिक शौचालय तोड़ने से नाराज लोगो ने लोटा पाटी मोर्चा निकाला है इसके चलते स्वच्छ भारत अभियान सफल है या असफल है ऐसा प्रश्न निर्माण हो रहा है . 
    मनपा मुख्यालय के पास की ही एक शिवशक्ती नगर है. इस परिसर में कई साल पुराने बने महिलाओ के लिए बने सार्वजनिक शौचालय था. जिसको तोड़कर अब उसी जगह पर समाजमंदिर बनाने का काम शुरू है. जिसकी वजह से उस परिसर में रहने वाले लोगो को शौचालय के लिए बाहर जाना पड़ रहा है . इस संदर्भ में कई बार स्थानीय लोगो ने मनपा प्रशासन को निवेदन दिया परंतु प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से नही लिया जिसके बाद लोगो ने मंगलवार को शिवसेना शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी, शाखाप्रमुख विशाल जुनाडकर, महिला आघाडी की कविता ठाकरे इनके नेतृत्व में महिलाओ ने लोटा पाटी मोर्चा निकाल कर अपना विरोध किया है. इस विषय में शिष्टमंडळ ने मनपा मुख्यालय उपायुक्त संतोष देहरकर इनको निवेदन दिया. एक हप्ते में शौचालय बनाने का निर्णय देने का आश्वासन देहरकर इन्होंने दिया है .इस विषय का एक हप्ते तक प्रतिक्षा करेगे अगर तबतक शौचालय बनाकर नही दिया गया तो ये सभी महिलाये मनपा मुख्यालय के शौचालय का इस्तेमाल करना शुरू करने की बात कही है .
  • फेसबुक पर महिला के ऊपर अभद्र टिप्पणी करने वाले के विरुद्ध पुलिस ने किया मामला दर्ज !

    By fast headline india →
    फेसबुक पर महिला के ऊपर अभद्र टिप्पणी करने वाले के विरुद्ध पुलिस ने किया मामला दर्ज !

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में पिछले कुछ सालों से कई तरह के प्रदूषणों के खिलाफ, प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करनेवालों व कई मासूमों के स्वास्थ्य से खेलनेवालों पर कानून का डंडा चलवाने वाली व अपने कर्तव्य से पीछे न हटनेवाली महिला समाजसेविका के फेसबुक पोस्ट पर अश्‍लील कमेंट करने का मामला प्रकाश में आया है। समाजसेविका सरिता खानचंदानी से मिली जानकारी के अनुसार, बुधवार को सरिता खानचंदानी ने अपने फेसबुक अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया था। उसी वीडियो पर कई लोगों द्वारा कमेंट किया गया था। एक लड़की (नाम न बताने को कहा गया है) ने उस पर कमेंट किया था। लड़की की उस कमेंट पर विनोद खरात नामक व्यक्ति के फेसबुक अकाउंट से अभद्र भाषा द्वारा लड़की को कमेंट कर उसे धमकी दी गई थी। इस मामले में सरिता खानचंदानी से फस्ट हेडलाईन इंडिया केे पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मैं जल्द ही ठाणे सीपी परमबीर सिंग से मुलाकात और परिमंडल-4 के उपायुक्त अंकित गोयल को पत्र देकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करुंगी। उन्होंने परिमंडल-4 के ईमानदार उपायुक्त से मुलाकात की और उपायुक्त के आदेश पर इस जाबांज महिला समाजसेवी प्रवृति व रक्षक के नाम से पहचाने जानेवाली महिला की शिकायत पर विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन में अभद्र टिप्पणी और गालीगलौज का मामला दर्ज कर लिया है। ताकि उस महिला को इंसाफ मिल सके और उस महिला के खिलाफ साजिश रचनेवाले कई षड़यंत्रकारियों पर भी लगाम लगाई जा सके। ज्ञात हो कि इसी महिला ने कई धर्मगुरुओं के समागम व उनके द्वारा ध्वनि प्रदूषण के कानून की धज्जियां उड़ानेवाले साधू-संतों के खिलाफ न्यायालय में भी अपनी शिकायत की थी, जिससे कई जगहों पर इस महिला का विरोध भी हो चुका है। मगर यह महिला अपनी प्रदूषण मुक्त मुहिम से पीछे नहीं हटी, जिसकी वजह से इस महिला के कई दुश्मन बन गए हैं। कोई डराने तो कोई धमकाने लगा। मगर यह समाजसेवी महिला ना कभी झुकी और ना ही टूटी।
  • उल्हासनगर शहर में कानून को ठेंगा दिखा दिन दहाड़े चलाये जा रहे डांसबार !

    By fast headline india →
    आंचल पैलेस,100 डेज,90डिग्री,गोल्डन, राखी बार में होता डांस ?

    बार खुलेआम संगीत पर थिरकति लडकियों पर उडाये जा नोट !  

    स्थानिक लोगो ने स्टिंग आपरेशन कर किया गोरखधंदे का पर्दाफाश !

     स्थानीय पुलिस के नाक के नीचे चल रहा ये काला कारोबार ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के पवई व श्रीराम चौक परिसर के बियर बारो में धडल्ले से चल रहे है डांसबार, संगीत पर थिरकति लडकियों पर उडाये जा रहे है नोट, पुलिस की नाक के नीचे चल रहा पूरा करोबार ? 
    महाराष्ट्र सरकार ने कई सालो से चल रही डांसबार बंदी कि अब पोल खुल चुकी है. ठाणे से सटे कल्याण ,डोम्बिवली ,भिवंडी और आसपासके इलाके मे फिर से कई डांसबार खुल चुके है। यहाँ खुलेआम लडकियां तेज संगीत कि धुन पर अश्लील हावभाव करते नाचती देखी जा सकती है। यहाँ आनेवाले ग्राहक इन लडकियों पर पैसे लुटाते भी देखे जा सकते है। लेकिन हैरत कि बात यह है कि खुलेआम चल रहे इस गोरखधंदे से स्थानीय पुलिस पुरी तरह से बेखबर नजर आ रही है। महाराष्ट्र मे डांसबार पर पुरी तरह से रोक होनेपर भी थाने जिल्हे के कल्याण ,भिवंडी, उल्हासनगर, विट्ठलवाडी समेत कइ इलाको मे डांसबार जोरशोर से ग्राहको को अपनी ओर खिंच रहे है। इन जगहो पर कइ लडकीयां अश्लील नृत्य करते देखी जा सकती है। ये डान्सबार देर रात तक खुले रहते है और कइ बार यहाँ पियक्कडो के बीच झगडे भी होते है जिसका खामियाजा यहाँ से आनेजानेवाले आम नागरिको को भुगतना पडता है। लेकिन कइ शिकायतो के बावजूद पुलिस इन सब बातों से बेखबर है। कुछ स्थानीय लोगों ने स्टिंग आपरेशन करते हुए मोबाइल क्लिप भी उतारी जिसमें ये अश्लील हरकते साफ नजर आ रही है। फिर भी पुलिस कुछ भी कहने से साफ बच रही है। बता दे कि ठाणे के भिवंडी में न्यू अफसरा बार में  शराब  बंदी के बावजुद खुलेआम बिकती शराब और नशे में धुत लोगो को नचाती बारबाला इस गोरखधंदे का पर्दाफाश लोगों ने ही स्टिंग आपरेशन के माध्यम से किया. वही उल्हासनगर में आंचल पैलेस,100 डेज,90डिग्री,गोल्डन, राखी बार इन बारो मे छोटे कपड़ो में लोगो को लुभाती बार बाला की भी स्टिंग ओपरेशन कर लोगो ने स्थानिक पुलिस को शिकायत की पर हमेशा की तरह  पुलिस है के अपने कान और आंखे मुंद कर बैठी है।वही  इन अवैध गतिविधियों को तुरन्त बंद कर दोषीयो पर कारवाई कि मांग लोग कर रहे है ऐसा ना होनेपर जोरदार आंदोलन कि चेतावनि यहाँ के स्थानिय नागरिक दे रहे है।
  • जींश वाश कारखानो को मिला जीवनदान ! पहले ईटीपी प्लांट का विधायक व टीओके नेता ने किया उद्घाटन !

    By fast headline india →
     जींश वाश कारखानो को मिला जीवनदान !

    पहले ईटीपी प्लांट का विधायक व टीओके नेता ने किया उद्घाटन ! 

      टेम्परेरी ईटीपी प्लांट के जरिये वाश कारखाने शुरू करवाने का मुख्यमंत्री ने दिया था संकेत !

     उल्हासनगर- अंबरनाथ के ग्रामीण हल्के से उगम तथा उल्हासनगर आते आते नदी से नाले के रुप में तबदील हो चुकी स्थानीय वालधुनी नदी को प्रदूषित करने का सबब बने स्थानीय जींस वॉश के कारखानो की विद्युत और जलापूर्ति खंडित कर दी थी।जिससे जींश वाश कारखानों में कार्यरत हजारो कामगारो पर बेरोजगारी सहित भूखमरी की समस्या खड़ी हो गयी थी। उल्हासनगर की विधायक ज्योती कालानी व टीओके नेता ओमी कालानी की पहल पर मुख्यमंत्री ने टेम्परेरी ईटीपी प्लांट के जरिये जींश वास उद्योग को पुनः शुरू करने का अश्वाशन दिया था।
    कल उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर ने एक वाश व्यवसाई के ईटीपी प्लांट को एनओसी दी जिसका उद्घाटन ओमी कालानी व ज्योती कालानी ने किया।एक एनओसी को मंजूरी मिलने के बाद हताश जींश वाश कारखाना चालको व मालको में जींश उद्योग वापस शुरू होने की उम्मीद की किरण नजर आने लगी है जिनसे अब वापस गुले-गुलजार होगा जींश वाश का व्यापार!  गौर तलब हो कि   देश की सर्वोच्च अदालत की फटकार एवं वालधुनी नदी के विकास के लिए राज्य सरकार को 100 करोड़ की राशि भरने के  कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के बाद स्थानीय मनपा प्रशासन ने वालधुनी नदी को साफ सुधरा व स्वच्छ बनाने की पहल शुरू कर दी है। मनपा ने जींस कारखानों को बंद करने की नोटिस जारी की थी, इसी के चलते इस परिसर को बिजली आपूर्ति करने वाली कंपनी महावितरण ने जींस की धुलाई करने का काम करने कारखानों की बिजली आपूर्ति सहित जलापूर्ति भी खंडित कर  दिया गया था।इसके बाद जींश वाश व्यापारियों सहित कारखानों में कार्यरत हजारो कामगारों  के समक्ष बेरोजगारी व भूखमरी की तलवार लटकने लगी थी।                        जींश वाश व्यापारियों के हालात को देखते यूटीए कैम्प पाँच के अध्यक्ष दिनेश लहरानी,शैलेश तिवारी,पीयूष वाघेला,यूटीए उपाध्यक्ष महेश मूलचन्दानी, विवेक राय के नेतृत्व में सैकड़ो जींश व्यापारीयो का शिष्टमंडल ने टीओके प्रमुख ओमी कालानी व विधायक ज्योती कालानी से मुलाकात कर हजारो लोगो को बेरोजगार होने से बचाने की गुहार लगाई थी।जींश व्यापारीयो को बेरोजगार होते देख ओमी कालानी ने वाश व्यापारियों को राज्य मंत्री रविन्द्र चौहान व भाजपा की प्रदेश प्रवक्तता श्वेता शालिनी के जरिये उनके उद्योग को  बचाने की पहल शुरू की यहां तक कि एक बैठक में खुद  राज्य मंत्री रविन्द्र चौहान उपस्थित रहकर  कहा था कि टेम्परेरी ईटीपी ट्रीटमेंट प्लांट बनाकर गंदे पानी को  फिल्टर करने के बाद ही वालधुनी में छोड़ा जायेगा, यह मामला उच्चतम न्यायालय से जुड़ा होने की वजह से सभी पहलुओं को देखते निर्णय लिया जायेगा।उच्चतम न्यायालय के अधीनस्थ रहकर सोनू सिंह नामक ट्रेड एंड जींश वाश के एक ईटीपी प्लांट को कल उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर ने एनओसी की मंजूरी दी और उसका उद्घाटन विधायक ज्योती कालानी व युवा नेता ओमी कालानी ने किया,कल हुए जींश वाश कारखाने के उद्घाटन के बाद हजारो वाश कारखाना चालको व मालको में उम्मीद की किरण नजर आने लगा है।
  • बालासाहेब ठाकरे क्रीड़ा संकुल खिलाड़ियों के लिए खुला !

    By fast headline india →
    बालासाहेब ठाकरे क्रीड़ा संकुल खिलाड़ियों के लिए खुला ! 

    सांसद शिंदे के हाथों शिवसेना ने किया उद्घघाटन ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में ममता दिवस के औचित्य को ध्यान में रखकर बालासाहेब ठाकरे और महात्मा गांधी प्राथमिक स्कूल का लोकार्पण सांसद श्रीकांत शिंदे के हाथों शिवसेना ने कराया।यह एक नियोजित कार्यक्रम था,लेकिन इसका उद्घाटन शिवसेना के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे होना था,इसलिए महापौर मिना आयलानी ने प्रशासन को इस उद्घाटन को आगे टालना पड़ा।लेकिन सार्वजनिक वास्तु तैयार होने के बाद भी नागरिकों को इससे वंचित रखना, इसका श्रेय लेने के लिए लोकार्पण समारोह आगे के लिए टालना,यह एक गलत निर्णय है,ऐसा विचार सांसद शिंदे ने व्यक्त किया।
    शिवसेना के स्थानीय नगरसेवक धनंजय बोडारे की संकल्पना और पहल से उल्हासनगर शहर के खिलाड़ियों को नए वर्ष के शुरुवात में बालासाहेब ठाकरे क्रीड़ा संकुल का उपहार मिला है। कल्याण जिला प्रमुख गोपाल लांडगे, सांसद श्रीकांत शिंदे के शुभ हाथों से इस संकुल बक उद्घाटन शनिवार दोपहर को किया गया।इस अवसर पर उपजिला प्रमुख चंद्रकांत बोडारे, शहर प्रमुख राजेंद्र चौधरी, विधायक डॉ.बालाजी किणीकर, युवासेना अधिकारी सुमित सोनकांबळे, बाळा श्रीखंडे, सर्व नगरसेवक-नगरसेविका, शिवसैनिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे . उसी समय पर जिसने बाळासाहेब क्रीडा संकुल को इतने अच्छे से बनाया उस ठेकेदार सुनिल पिंपळे का जाहीर सतत्कार किया गया . इसमें इस बार स्वच्छतागृह, चेंजिंग रूम्स, बगीचा और इसके साथ प्रकाश की ब्यवस्था किये जाने की वजह से इस क्रीडा संकुल में रात में कोई भी खेल खेला जा सकता है. इसका पूरा श्रेय धनंजय बोडारे इनको जाता है , ऐसा जाहीर शाबासी डॉ.श्रीकांत शिंदे इन्होंने दिया . आज के बच्चे मोबाईल में विविध वीडियो गेम खेलते है. अब वही लोग बाळासाहेब ठाकरे क्रिडा संकुल खुलने से मोबाईल में गेम खेलने के बजाय इस संकुल में आकर कोई स्पोर्ट के खेल खेल सकते है ऐसा डॉ.शिंदे इन्होंने अपने संबोधन में कहा है . उस समय पर उपस्थित बिपीन अकॅडमी के खिलाड़ी फुटबॉल और श्री साई कबड्डी संघ ने अपने मैच खेले .             इसके बाद 14 नंबर विद्यालय की नई बनी इमारत का उद्घघाटन शिंदे के हाथों द्वारा किया गया, यह विद्यालय पिछले एक सालो से एक छोटे से रूम में चल रही थी . ऐसे में इतने दिब्य बने विद्यालय का उद्घघाटन श्रेय लेने के लिए आगे बढ़ना भाजपा को अच्छा लग रहा है क्या? ऐसा सवाल शिंदे ने पूछा है . इस विद्यालय में डिजिटल क्लासरूम, वाचनालय, सीसीटीव्ही यंत्रणा, मैदान भी है उल्हासनगर शहर में पहला ऐसा विद्यालय मनपा का है ऐसा गोपाळ लांडगे इन्होंने कहा है.
  • उल्हासनगर महापालिका पत्रकार कक्ष में धूमधाम से मनाया गया पत्रकार दिन !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर महापालिका पत्रकार कक्ष में धूमधाम से मनाया गया पत्रकार दिन ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका के मुख्यालय के पत्रकार कक्ष में आज सुबह 11 बजे बड़े ही धूमधाम मराठी पत्रकार दिन मनाया गया इस कार्यक्रम के शुरुवात में स्वर्गीय पत्रकार विश्वास शेंडे, दिलीप लालवानी और अशोक बोधा इनको श्रद्धांजली देकर फिर कार्यक्रम का सुरुवात किया गया .
    इस कार्यक्रम का सूत्रसंचालन प्रफुल केदारे ने किया प्रमुख अतिथि के रूप में उमपा की महापौर मीना आयलानी, आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के जिल्हा उपाध्यक्ष बंडू देशमुख, मनोज शेलार, भाजपा की महिला आघाडी मंगला चांडा इत्यादि मान्यवर उपस्थित थे. कार्यक्रम में उल्हासनगर मराठी पत्रकार संघ के अध्यक्ष नवनीत बरहाटे, उल्हासनगर दैनिक पत्रकार संघ के अध्यक्ष देवेश मिश्रा इन दोनों ने अपने भाषण में उमपा पत्रकार कक्ष की खराब हालत से आयुक्त व महापौर को अवगत कराया जिसपर महापौर और आयुक्त ने जल्द ही पत्रकार कक्ष की दुर्दशा को सुधारने की बात कही है ,


  • कोलसेवाड़ी पुलिस की कार्यवाई से नाराज शिवसैनिकों पुलिस स्टेशन का किया घेराव !

    By fast headline india →
    कोलसेवाड़ी पुलिस की कार्यवाई से नाराज शिवसैनिकों पुलिस स्टेशन का किया घेराव !


    कल्याण- कल्याण के सिद्धार्थनगर में कल बंद के दोरान हुई तोड़फोड़ के मामले में 22 शिवसैनिक और 10 भीम,शिवसैनिकों को कॉम्बिग के दौरान गिरफ्तार किया गया  ..जिन पर दंगा भड़कान ने और पुलिस पर हमला करने का केस कोलसेवाड़ी पुलिस में दर्ज किया गया..गिरफ्तार किए गए शिवसैनिकों रिहा करने की मांग को लेकर शिवसैनिकों ने पुलिस स्टेसन का घेराव किया और नारे लगाये.

     भीमा गोरेगाव को लेकर 3 जनवरी को लेकर लिए जन आन्दोलन जारी था जिसमे ,शिवसैनिकों का समर्थन था उसी दौरान कल्याण पूर्व की पुलिस ने कुछ शिवसैनिकों को सेना शाखा से हटने के लिए कहा,चुकी शिवसैनिक ने कहा कि वे अपनी शाखा में बेठे है जिसपर नाराज पुलिस ने शहर में १४४ लागु होने की वजह से लाठी चार्ज करना सुरु कर दिया ,जिसे लेकर सेना और भीम और भडक गय और दोनों और से दंगा भडक गया  और उन्होंने कई गाड़िया और शहर के इलाको में तोड़फोड़ की ..जिसमे दो पुलिस कर्मी बुरी तरह जख्मी हो गये  ,इसी दोरान शिवसैनिकों ने आज ४ जनवरी को कल्याण बंद पुकार दिया ,लेकिन देर रात दांग शांत होने के बाद पुलिस ने देर रात पुलिस ने कोम्बिग ओर्प्रेसन के दोरान २२  शिवसैनिकों को और १० भीम गिरफ्तार कर लिया . लेकिन शिवसैनिकों का कहना है कि जो शिवसैनिक शाखा में बैठे थे क्यो मारकर ले जाया गया है. ४ जनवरी को कल्याण पूर्व में शिवसैनिकों ने बंद कराना सुरु किया और १० बजे कोलेसेवाड़ी पुलिस स्टेशन में जमा हो गए ,जिसमे शिवसेना नेता अरविन्द मोरे ,कल्याण डोम्बिवली सेना शहर प्रमुख बंड्या सालवी ,रवि कपोते,सचिन बसरे, विजया  पोटे ,निलेश शिंदे महापौर राजेन्द्र देवलेकर,गोविंद चौधरी,राजेन्द्र चौधरी आदि बड़ी संख्या में शिवसैनिक जमा हो गए और कोलसेवाडी पुलिस स्टेशन का घेराव किया ,और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए.
  • उल्हासनगर के विकास प्रारूप (डीपी प्लान) सर्व सम्मति से महासभा ने किया रद्द !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर के विकास प्रारूप (डीपी प्लान) सर्व सम्मति से महासभा ने किया रद्द !

     महासभा में सत्ता और विपक्ष द्वारा लिया गया निर्णय का फैसला करेंगे मुख्यमंत्री !

     उल्हासनगर -उल्हासनगर में 44 वर्षो बाद लागू किया गया उल्हासनगर विकास प्रारूप (डेवलपमेंट प्लान) शहर के हित मे नही होने की वजह से विभिन्न पक्षो के नेताओ सहित सामाजिक संगठना,व्यापारियों व रहिवाशियो ने विनाशकारी डीपी को रद्द करने की मांग को लेकर जद्दोजहद कर रहे थे
    महाराष्ट्र सरकार ने उल्हासनगर शहर के लिए लागू किये डेवलपमेंट प्लान पर चर्चा करने के लिए विशेष महासभा बुलाई गई थी . इस नए डीपी प्लान में दिए गए आरक्षण, रिंग रोड, ग्रीन झोन , रेसिडेंशल झोन इस पर नागरिक , राजकीय नेता ,सामाजिक संघटनाओ ने विरोध किया था . बिल्डरो के फायदे और गरिबो के बसेरो को उध्वस्त करने वाला यह डेवलपमेंट प्लान है ऐसा आरोप , शिवसेना , रिपाई , पीपल्स रिपब्लिकन, भारिप बहुजन महासंघ, काँग्रेस , राष्ट्रवादी काँग्रेस व अन्य पार्टियों किया था . विकास आराखडा विरोधी मंच और सामाजिक संघटनाओ ने भी इसको लेकर शहर भर में कई आंदोलने किया था . दुसरी तरफ भाजपा, साई पक्ष , टीम ओमी कलानीइन पार्टियों ने भी इस डीपी प्लान ज्यादा विरोध नही किया परन्तु स्थायी समिती सभापती कांचन लुंड व साई पार्टी के नगरसेवक शेरी लुंड इन्होंने शुरू से ही इस डेवलपमेंट प्लान का विरोध किया था . 
    महापौर मीना आयलानी आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इन्होंने विकास आराखडा (डीपी )व क्लष्टर डेव्हलपमेंट शहर के कैसे फायदे का है ये बताकर लोगो समझाने का प्रयाश किया था . शिवसेना के राजेंद्र चौधरी, धनंजय बोडारे, अरुण आशान, रमेश चौहान, रिपाई के भगवान भालेराव , प्रमोद टाले , काँग्रेस की नगरसेविका अंजली साळवे इन्होंने डीपी प्लान रद्द करने की मांग करते हुए विशेष महासभा बुलाने की मांग किया था . जिसके बाद बुधवार को महासभा का आयोजन किया गया था .    बुधवार की महासभा का लाइव प्रसारण लोकल चैनल पर किया जिससे आम जनता को भी पता चले कि इस महासभा में डीपी प्लान पर किसकी क्या रॉय है जनता देख सके इस वजह से कोई भी पार्टी जनता की नजरों में खलनायक नही बनना चाहती थी . यही कारण था कि सभा की शुरुआत में ही महापौर मीना आयलानी ने कहा कि राज्य सरकारने किसी तरह के बिना विचार करते हुए ये नया डीपी प्लान को शहर पर लादने का काम किया है . इस डीपी की वजह से शहर के अनेक गोरगरीब जनता के घर उध्वस्त हो जायेगे , सेंच्युरी कंपनी और उनके कर्मचारियों के घर इसमें तबाह हो सकते है .  ऐसा बोलते हुए महापौर ने डीपी प्लान पर अपना पक्ष रखते हुए अपनी राज्य सरकार निशाना साधने का काम किया है यह सिर्फ डीपी प्लान को रद्द करने का श्रेय लेने के लिए किया . शिवसेना, रिपाई व अन्य विरोधी पार्टियों के नगरसेवकों के बोलने को न मिले इस लिए खुद ही इस डीपी प्लान को रद्द करने का प्रस्ताव सदन लाकर रख दिया . इसी वजह से सत्ताधारी और विरोधी पार्टियों ने एक दूसरे के विरुद्ध नारे बाजी किया . और आखिरकार बहुमत से डीपी प्लान को रद्द करके इस प्रस्ताव को सरकार के पास भेजा जाएगा .