• मनपा ने जिससे मांगी हाऊस टैक्स भरवाने की मदत वही निकले हाऊस टैक्स चोर !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मनपा ने जिससे मांगी हाऊस टैक्स भरवाने की मदत वही निकले हाऊस टैक्स चोर !

     उप महापौर,भाजपा नगरसेवक,रॉकपा के पूर्व नगरसेवक पर लगा आरोप ?

     टैक्स चोरी के संदर्भ में कई नगरसेवक, पूर्व नगरसेवक व उधोगपति राडार पर ! 




     उल्हासनगर- उल्हासनगर में अनेकों बार समय की अवधि बढ़ाने पर और बार बार अभय योजना लागू करने के बाद भी टैक्स वसूली को उम्मीद के अनुरूप में प्रतिसाद मिल नही रहा है। दूसरी तरफ कुछ जन प्रतिनिधि, कर विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से टैक्स चोरी में शामिल होने के आरोप हो रहे हैं।उल्हासनगर मनपा ने टैक्स वसूली के लिए चल अचल संपत्ति जब्त करने का कदम उठाया है और रियायत देने के उद्देश्य से ५बार अभय योजना लागू किया ,लेकिन इतना सब करने के बाद भी इसे अच्छा प्रतिसाद नही मिला।मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर ने सभी नगरसेवकों से आवाहन किया था कि वे अपने प्रभाग से ज्यादा से ज्यादा कर वसूली कराएं,जी नगरसेवकों के प्रभाग से ४०% से कम वसूली होगी ,वह विकास कार्य नहीं होंगे,ऐसा इशारा भी दिया था।वर्तमान में देखने में आया है कि कुछ नगरसेवकों पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आरोप लग रहा है।
    उल्हासनगर न.३के कंवरराम चौक बैरक ९८५ में ४मंजिल की एक इमारत है,इस इमारत की टैक्स पावती पूर्व नगरसेवक राजू जग्यासी के रिश्तेदार के नाम पर है।निचले मंजिल पर राजू जग्यासी का कार्यालय है,बाकी सबका रहने के लिए उपयोग हो रहा है।स्वयं जग्यासी भी इसी इमारत में रहते हैं।यह इमारत २००१ में बनी थी,लेकिन २०१७ तक पत्रे का बैरक दिखाकर वार्षिक ५०००रुपए टैक्स लिया जाता रहा।परंतु २०१८ में मनपा कर विभाग का अधिकारी जब स्पॉट सर्वे के लिए गया,तब यह बात सामने आई।अब नए असेसमेंट के तहत डेढ़ लाख रुपए टैक्स लगाया गया है।चोपड़ा कोर्ट उल्हासनगर-३के सामने केसरवानी कॉम्प्लेक्स में साईं पार्टी का ऑफिस और कोटक महिंद्रा बैंक की शाखा है।इस बैंक से इदनानी को कथित तौर पर ६४०००रुपए किराया मिलता है,लेकिन इस मलमत्ते का व्यावसायिक कर लगाने के बजाय निवासी कर लगाया गया है।इस वजह से मनपा को लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है।इस जगह का २०१७ तक का काट निर्धारण नही हुआ था,अब प्रशासन इस पर नियम से कार्रवाई कर रहा है। उल्हासनगर न.५ में भाजपा नागरसेवक का स्वयं का २मंजिल का बंगला है,इस बंगले पर मोबाइल टॉवर भी लगा है,यह इमारत २०११ में बनाई गई, इसके पहले यहां पत्रे का घर था।अबतक साधारणतः ५००० रूपए वार्षिक कर लिया जाता था।नए कर निर्धारण के अनुसार १लाख घर का कर और १४ लाख मोबाइल टॉवर कर निर्धारित हुआ है। उल्हासनगर न.२ स्थित जापानी बाजार के टेरेस पर अवैध गाला और मोबाइल टावर है,अभी तक उसका भी कर निर्धारण नही हुआ था। ऐसे १०० से १२५ प्रकरण होने की संभावना जताई जा रही हैं।जिसमें कई नेताओं, उद्योगपतियों और व्यापारियों का समावेश है। इस प्रकरण में जब मनपा के मालमत्ता कर उपायुक्त दादा पाटिल से पूंछा गया तो उन्होंने बताया कि मालमत्ता कर विभाग में इससे पहले बड़ी खामियां थी,अब हम कठोर कदम उठा रहे हैं और उसके परिणाम शीघ ही आपको दिखने शुरू हो जाएंगे।कर विभाग के ६०लोगों की टीम ने ८ करोड़ की कर वसूली की है और कार निर्धारक विजय मंगलानी ने अकेले १४ करोड़ कर वसूला है ।आगामी वर्ष तक हम १२० करोड़ रुपए कर वसुल करेंगे, ऐसा उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है। उपमहापौर जीवन इदनानी,नगरसेवक किशोर वनवारी,पुर्व नगरसेवक राजू जग्यासी ,इन लोगों ने अपने ऊपर लगे आरोपों का खंडन किया है।उन्होंने कहा कि हमने बार -बार मनपा प्रशासन से कर निर्धारण के लिए विनती किया था, लेकिन उन्होंने अपना कार्य नही किया,इसमे हमारा कोई दोष नही है।
  • No Comment to " मनपा ने जिससे मांगी हाऊस टैक्स भरवाने की मदत वही निकले हाऊस टैक्स चोर ! "