• फिल्म पद्मावत के विरोध में मॉल में फेंका पेट्रोल बम !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    फिल्म पद्मावत के विरोध में मॉल में फेंका पेट्रोल बम !

    बाइक सवार लोग की फायरिंग ! 

    इटावा के  बाबा दि माल में दो युवकों ने फेंका पेट्रोल बम 

    उत्तर प्रदेश - सुप्रीम कोर्ट से रिलीज की हरी झंडी मिलने के बाद भी देश भर में संजय लीला भंसाली की फिल्म फिल्म पद्मावत का विरोध चरम पर है, इससे पहले ही इटावा में एक मॉल में बम फेंका गया है। 
    कानपुर में तो अखिल भारतीय अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने पद्मावत की अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की नाक काटने वाले को पांच करोड़ रुपए का ईनाम देने के बयान का समर्थन किया। इटावा में फिल्म पद्मावत के विरोध में बाबा दि माल में दो युवकों ने पेट्रोल बम फेंका। इसके साथ ही वहां पर गार्ड रामनरेश को भी पीटा गया। लोगों ने मॉल के बाहर के शीशे पर पथराव कर तोड़ दिया। बाइक सवार लोग फायरिंग करने के बाद भाग गये। अब पुलिस इन युवकों की तलाश में लगी है।  उधर कानपुर में क्षत्रिय महासभा ने कहा कि फिल्म की हीरोइन दीपिका पादुकोण की नाक काटने वाले को पांच करोड़ रुपए की ईनामी राशि देने के लिए इसके लिए पैसा भी जुटाया जाएगा। महासभा ने कल नवीन मार्केट स्थित शिक्षक पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। संस्था के राष्ट्रीय संगठन मंत्री गजेंद्र सिंह राजावत ने कहा कि प्रधानमंत्री पद्मावत फिल्म का समर्थन कर रहे, इसी कारण देश में ऐसी विकट परिस्थितियां पैदा हो गईं। प्रधानमंत्री चाहते तो इसे रोक सकते थे। ऐसा नहीं होने पर देश का सम्मान बचाने को कानून हाथ में लेना पड़ रहा है।  क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह राजावत ने बताया कि कानपुर वासियों से इनाम के तौर पर करोड़ों रुपए की धनराशि एकत्र की गई है और जो भी दीपिका पादुकोण की नाक काट कर लाएगा उसे यह इनाम की धनराशि दी जाएगी। क्षत्रिय महासभा के कार्यकर्ताओं ने शहर के शिक्षक पार्क में फिल्म पर प्रतिबंध की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन भी किया था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार मीणा ने बताया कि फिल्म के प्रदर्शन को देखते हुए शहर में सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं। मथुरा में करणी सेना और क्षत्रिय समाज के लोगों ने ट्रेन रोककर संजय लीला भंसाली के खिलाफ नारेबाजी की। यहां पर आक्रोशित लोगों ने असलहे लहराये। विरोध में लोगों ने सिनेमाघरों के बाहर हंगामा किया। वहीं रोड पर गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की और आगजनी भी की।  मेरठ में पीवीएस मॉल में अज्ञात लोगों ने तोडफ़ोड़ कर दी। मॉल के बाहर कुछ लोग पहुंचे और उन्होंने एकदम से पत्थरबाजी कर दी। जिससे मॉल के कई शीशे चकनाचूर हो कर जमीन पर आकर गिर गए। मॉल में पत्थरबाजी की घटना को लेकर हड़कंप मच गया। मॉल के अंदर जो लोग थे वह डरकर मॉल के बाहर निकल गए। जिसके बाद मौके पर भारी पुलिस फोर्स पहुंची और पत्थरबाजों की तलाश तेज कर दी। लखीमपुर में राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा ने फिल्म पद्मावत का विरोध किया। प्रदर्शन करियों ने भारतीय हिंदू संस्कृति की रानी पद्मावती को सती मां के रूप में पूजा जाता है फिल्म निर्देशक ने गलत तरीके से प्रदर्शित करने तथा राजपूतों के इतिहास के साथ खिलवाड़ किया है। उन्होंने फिल्म की रिलीज पर बवाल करने की चेतावनी दी है। फैजाबाद में फिल्म पद्मावत के विरोध में करणी सेना ने मुंडन करवा कर अपना विरोध दर्ज कराया था। उन्होंने फिल्म की रिलीज पर हंगामे को चेतावनी दी है। हालांकि उत्तर प्रदेश में फिल्म के रिलीज होने और विरोध की ज्वाला भड़क रही है।  फिल्म पद्मावत देखने का आमंत्रण स्वीकार करने वाले करणी सेना के नेता लोकेंद्र सिंह कालवी काल्वी को फिल्म देखने के लिए न्योता मिला था। वहीं वह इस फिल्म को देखने के लिए भी जाने वाले थे, लेकिन अब वह अपने बयान से पलट गए है। उन्होंने कहा कि चार दिन पहले फिल्म देखने के लिए एक पत्र आया था और ये पत्र साजिश के तहत भेजा गया था ताकि भंसाली ये साबित कर सके कि वो हमें फिल्म दिखाना चाहते हैं और हम ही नहीं देखने को राजी हो रहे। न तो फिल्म मैं देखता हूं और न ही करणी सेना देखती है। हम फिल्म उनको दिखाएंगे जिनको सेंसर बोर्ड ने चयनित किया है। भंसाली को 9 लोगों का नाम दिया गया था, लेकिन उसने केवल 3 लोगों को ही फिल्म दिखाई। हम इस प्रकार का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। फिल्म पद्मावत के रिलीज होने के विरोध में गोमतीनगर स्थित वेव मॉल के बाहर करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने बवाल काटा। यहां एक कार्यकर्ता ने अपने ऊपर मिटटी का तेल डालकर आग लगाने की कोशिश की। गनीमत रही मौके पर मौजूद पुलिस ने उसे पकड़ लिया। इस दौरान काफी देर तक अफरा तफरी का माहौल बना रहा।
  • No Comment to " फिल्म पद्मावत के विरोध में मॉल में फेंका पेट्रोल बम ! "