• साहूकारों के मकड़ जाल में उल्हासनगर के ब्यापारी ! तीन ब्यापारी का निकला दिवाला !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    साहूकारों के मकड़ जाल में उल्हासनगर के ब्यापारी !

    तीन ब्यापारी का निकला दिवाला ! 

     साहूकारों द्वारा 15%से लेकर 20% ब्याज की ब्यापारियों से हो रही वसूली !

     उल्हासनगर -उल्हासनगर शहर एक ब्यापारी शहर है यहाँ पर हर आदमी छोटा बड़ा धंधा करके अपनी रोजी रोटी कमाता है परंतु इसी का फायदा उठाने में इनको कर्ज के जालो में फंसाने में शहर के कुछ साहूकारों की मंडली जुटी है एक बार जो इनके जाल में फंसा उसका दिवाला निकल जाता है हाल ही में तीन बड़े ब्यापारियों का दिवालिया होने के पीछे इन्ही साहूकारों का योगदान है इससे इनकार नही किया जा सकता है !
    बता दे कि नोटबंदी फिर जीएसटी और उसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट के आये जिंस वॉश थ्रेड कारखाने कारवाही के आदेश के बाद से ही सभी ब्यापारियों की परेशानी बढ़ गई है ! दूसरी तरफ उनका ब्यवसाय भी बहुत ठंडा चल रहा है इसी परेशानी में इनसे मोटी रकम कमाने के चक्कर में शहर के कुछ साहूकारों ने इन लोगो को 15%से लेकर 20% ब्याज पर पैसे दे रखा है और अपने ब्याज की वसूली के लिए बाकायदा गुंडे पाल इन दिनों उन्ही लोगो ने बाजार में आतंक मचाकर रखा है ! सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उल्हासनगर शहर नामचीन साहूकार बेबी सेठ जो अपना धन्दा गोलमैदान के सामने पालिहिल बिल्डिंग ग्राउंड फ्लोर से चलाते है यहा पर ही रात में लाखो का जुआ भी खेलाने का काम करते है ये क्रिकेट पुराने सट्टेबाज भी है इनका पूरा धंधा कम्बु करके एक चेला है वो देखता है इनके जाल फंसने वाले या तो शहर छोड़ कर चले जाते नही तो दुनिया ? इतना सारा कारोबार खुलेआम दिन रात बदस्तूर होता है शहर के बीचों बीच हो रहा है इनके अलावा  दिखावटी बिजनेस इनका चेक वटाव के नाम पे डिस्काउंट के नाम पर और व्याज के नाम पे 15%, 20% व्याज लेके खुलेआम कानून की धज्जियां उठाते हुए ये सब शहर के व्यापारी का खून चूसने में लगे है ! सूत्रों की माने तो इनका गजानन मार्किट जीन्स बाजार नेहरू चौक में 400-500 कपड़ा व्यापारी और दुकानदार इनके जुल्म का शिकार है ! इनके लोग डेली कलेक्शन करते है एक दिन भी लेट होने पर देने पे एक हजार रुपये पेनल्टी लगाते है ऊपर से गुंडे भेज के दुकान बंद करने की और समान उठा ले जाने की धमकी देते है ! जल्द ही इन पर स्थानीय प्रसाशन के द्वारा इन ब्याजखोरो पर कार्यवाई नही किया गया तो मार्च के फायनसंस महीने में बहुत सारे ब्यापारियों का दिवालिया होना तय माना जा रहा है ? सवाल ये है कि इस तरह के गैरकानूनी तरीके से चल रहे साहूकारों पर कार्यवाई कब और कौन करेगा ताकि इस तरह से चल रहे लूट के कारोबार पर लगाम लग सके ! ताकि ब्यापारियों को इस सुतखोर साहूकारों को मुक्ति मिले और वो अपना धंधा फिर से सकून से कर सके !
  • No Comment to " साहूकारों के मकड़ जाल में उल्हासनगर के ब्यापारी ! तीन ब्यापारी का निकला दिवाला ! "