• 15 करोड रुपये मालमत्ता टैक्स घोटाले हुआ पर्दाफाश ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    15 करोड रुपये मालमत्ता टैक्स घोटाले हुआ पर्दाफाश ?

    वर्तमान नगरसेवक व पूर्व नगरसेवक और नेताओं ने लगाया मनपा को ये चुना ?

        

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका में 15 करोड रुपये का मालमत्ता टैक्स घोटाला सामने आया है.शहर में चल रहे कई मॅरेज हॉल , राष्ट्रीय व स्थानिक बैंको की शाखा, मोबाईल टॉवर,एटीएम संबंधित
    मालमत्ता टैक्स कि गलत जानकारी देकर मनपा के साथ करोड़ो रूपये के टैक्स का नुकसान करने वालो लोगो का खुलासा मनपा के  विशेष कर निरीक्षक विजय मंगलानी की टीम ने किया है, यही नही इन संस्थाओं के घोटाले को सामने लाकर मनपा के राजस्व को बढ़ाने का काम भी किया है ।

          मार्च महिने में मनपा के लिए आर्थिक दृष्टि से महत्वपूर्ण होता है.जिसे ध्यान में रखते हुए मनपा प्रशासन ने मालमत्ता टैक्स बकायादरों से वसूली के लिए कमर कसली है. 23 मार्च 2018 को मालमत्ता टैक्स विभाग ने 83 लाख रुपये वसूल किये. और  28 मार्च को 33 लाख रुपये वसूल किया गया है .
    इसी प्रकार कई वर्षों से शहर में बड़े बड़े मॉल,मोबाइल टॉवर,बैंक,गोदाम मैरेज हॉल सहित कई ऐसे जगह जहा पर पाच मंजिला इमारत खड़ी है उसे पतरे का सेड बता कर अभी तक टैक्स भरा जा रहा है जिसमें कई कामर्शियल मालमत्ता की गलत जानकारी मनपा टैक्स विभाग को देकर करोड़ो का राजस्व डुबाने का काम किया जा रहा है.इनमें कई वर्तमान नगरसेवक व पूर्व नगरसेवक और नेताओं का भी समावेश है जिसे विशेष कर निरीक्षक विजय मंगलानी और मालमत्ता टैक्स विभाग के कर्मचारी हासा जयसिंघानी , सुरेश कृपलानी ने इन सभी मालमत्ता टैक्स धारकों को नोटीस और कायदे के अनुसार  कार्यवाही कर करीबन 15 करोड रुपये का  मालमत्ता टैक्स घोटाला सामने लाया है और आनेवाले वर्षो में मनपा की तिजोरी में करोड़ो रुपये की आय के रूप में जमा होंगे.बता दे कि तत्कालीन मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर ,मालमत्ता कर उपायुक्त दादा पाटील, सहाय्यक लेखाधिकारी संतोष जाधव  के मार्गदर्शन के चलते मालमत्ता विभाग को यह बड़ी कामयाबी मिलने की बात मंगलानी ने कही है। बता दे कि इस पूरे घोटाले में मालमत्ता के कुछ भ्रष्ट अधिकारी की मिली भगत होने से भी इनकार नही किया जा सकता है क्यो की इतने सालों से प्रॉपर्टी का असिसमेंट नही हुआ और पुराने असिसमेंट के आधार पर टैक्स भरकर करोड़ो रूपये का चूना लगाया जा रहा है बिना मिली भगत के संभव नही है ऐसे में उनकी भी जांच होना लाजमी है !
  • No Comment to " 15 करोड रुपये मालमत्ता टैक्स घोटाले हुआ पर्दाफाश ? "