• मोहन सबरिया बिल्डर के भाई पर दर्ज रेप का मामला !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मोहन सबरिया बिल्डर के भाई पर दर्ज रेप का मामला !

     गांधी की दुकान को भाड़े पर ब्यूटी पार्लर चलाने वाली महिला ने लगाया आरोप ! 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में एक ब्यूटी पार्लर चलाने वाली महिला ने मोहन सबरिया बिल्डर के भाई अजित गांधी के विरुद्ध एक नम्बर पुलिस स्टेशन में रेप का मामला दर्ज कराया है पुलिस मामले की जांच कर रही है !
    पुलिस में लिखी शिकायत के अनुसार उल्हासनगर दो नम्बर मार्केट में एक दुकान 5 लाख रुपये डिपॉजिट और प्रतिमाह 80,000 रुपये किराये से एक महिला ने भाड़े पर लिया था और उसने 1 करोड़ खर्च करके ब्यूटी पार्लर खोला था, पार्लर खुलने के कुछ समय बाद ही अजित गांधी का पार्लर में आना जाना शुरू हुआ, और वो मेरे नज़दीक आनेकी कोशिश भी शुरू हुई, जब अजित गांधी को ये पता चला कि पार्लर में पूरा पैसा मेरा नही लगा है कुछ पैसे मैने कर्ज़ लिया है तो उनका ये कहना शुरू हुआ कि तुम मेरे साथ ऐसे ही बनी रहो, कोम्प्रोमाईज़ करती रहो, मैं सब सम्भाल लूंगा, तुम्हे कोई दिक्कत नहीं आने दूंगा, मेरी मजबूरी थी, जैसे वो बोलते गए वैसे मैंने किया, कुछ महीने ठीक चला फिर 3-4 महीनों से मेरे पार्लर के धंधे में मंदी की वजह से पैसों की कमी पड़ी, मैने अपनी आर्थिक तकलीफ दूर करने के लिये पार्टनर देखना शुरू किया, एक दो लोग तैयार भी किये परंतु उसमे भी अजित गांधी का हस्तक्षेप शुरू था, वो बोल रहे थे कि जब मैं तुमको संभाल रहा हु तो तुम्हे किसी से जुड़ने की क्या ज़रूरत है, परंतु मेरा मन उन बातोंके लिए मान नही रहा था,पिछले कुछ महीनों से मैने उन सब बातों के लिए अजित गांधी को नज़रअंदाज़ करना शुरू कर दिया था, इनके पार्टनर नहीँ लेने के दबाव से मैं परेशान हो रही थी, आर्थिक बदहाली के कारण 2 महीनों से किराया समय पे नही दे पा रही थी , मेरे इसी मजबूरी का फायदा दुकान मालिक गांधी ने उठाया, मेरे उन सब कामों को लेके की नजरअंदाजी से बौखलाए गांधी कुछ दिनों पहले वो मेरे दुकान पे 40-50 गुंडो को लेके आये,सबके सामने मेरे को दुकान से घसीट के मुझे बाहर निकाला, मैं बेहोश हो गयी, मुझे अस्पताल ले जाने की बजाय मेरे दुकान को ताला लगा दिया गया, और सभी लोगोके सामने मेरी बदनामी की गई, मुझे ऐसे ही उल्हासनगर पुलिस स्टेशन उठाके ले गये, मुझे स्थानीय नेता, गुंडे द्वारा धमकियां दी जाती है, जो लोग मेरी मदद करते है उनको भी धमकाया जाता है, मेरे स्टाफ को भी मेरे खिलाफ भड़का दिया गया है, वो लोग भी अब मेरी बदनामी करते है, मैने मेरा व्यापार सही तरीके से करने के लिए स्थानीय कुछ साहूकारों से 10% और 20% प्रतिमाह से तक ब्याज से 21 लाख रुपये के करीब आज तक रकम ब्याज पे उठायी है, वो लोग भी मुझे रोज परेशान करते है। 2 सालों में अजित गांधी के बीच और मेरे बीच जो भी कुछ हुआ उसे मैं बयान करते हुए भी शर्मिंदगी महसूस करती हूं, मेरा सब कुछ बरबाद करके अजित गांधी आराम से मेरे दुकान पे जो मैंने 1 करोड़ की लागत से और मेरी मेहनत की कमाई किये समान और जो मेरे पार्लर में मैने एक स्थानीय उद्योगपति को भागीदार बनाके उसी दिन उन उद्योगपति से लिये रोख रकम 21 लाख 20 हज़ार रुपये जो साहुकारों को चुकाने के लिए और स्टाफ की पगार देने के लिए ऑफिस में उसी दिन रखे थे, साथ ही मेरे सोने के जेवरात, घड़ी, मोबाइल बैंक के ब्लेंक सिग्नेचर किये चेक्स, दुकान के अग्रीमेंट की असल कॉपी और 22000 रुपये उस दिन की आयी केश को अंदर दुकान में ही होने के बावजूद मेरे दुकान को ताला लगा दिया, बाहर 4-5 गुंडे बिठा रखे है, अब सब दुकान में ही मेरा समान और रकम जेवरात रखे हुए है,मेरा बोर्ड निकालकर अजित गांधी अपने नाम का बोर्ड भी लगा दिया, और लाइट का मीटर भी निकाला, अपने ताले भी लगा दिए, मेरा सबकुछ छीनकर मेरा नाम खराब करके मेरे साथ अत्याचार करके मुझे ऐसे बर्बाद करके मरने के लिये छोड़ दिया है।बहर हाल पुलिस ने रेप का मामला दर्ज करके आगे की जांच में जुटी है वही गांधी ने कोर्ट इस मामले में अंतरिम बेल लें लिया है जिसके कारण वह पुलिस की गिरफ्तारी से बच गया है वही पीड़ित ने आरोप पुलिस पर लगाया कि बिना नोटिस के दुकान जबरन खाली कराया और मेरे कीमती सामान लुटा उसके लिए पुलिस ने उनके ऊपर लूटपाट का भी मामला दर्ज करना चाहिये था जो दर्ज नही किया है बहरहाल न्याय न मिलता देख महिला ने न्याय पाने के लिए कोर्ट का सहारा लिया है !
  • No Comment to " मोहन सबरिया बिल्डर के भाई पर दर्ज रेप का मामला ! "