• नकली नोटों के मायाजाल का पुलिस ने किया पर्दाफाश ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    नकली नोटों के मायाजाल का पुलिस ने किया पर्दाफाश ?

    11 हजार नकली नोटों के साथ महिला को किया गिरफ्तार !
     फाईल फोटो

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में इन दिनों नकली नोटों का चलन एक बार फिर से जोर पकड़ ने लगा है । ऐसे ही एक मामले में उल्हासनगर क्राईम ब्रांच पुलिस ने एक 47 वर्षीय महिला को सौ रुपए के नकली नोटों के बंडल के साथ पकडा है। ये महिला 11 हजार रुपए के नकली नोट कैम्प 2 गजानंद मार्केट में दुकानों में चलाने के प्रयास में थी। उसके दूसरे साथ राकेश नरेशलाल इसरानी(32) सेक्शन 18, उल्हासनगर-3 निवासी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 
    क्या ये लोग उल्हासनगर में ही नकली नोट छाप रहे थे अथवा किसी ने ये नोट चलाने के लिए दिए थे। इसकी जांच चल रही है। उल्हासनगर-3 की आरोपी महिला मिता उर्फ हरी विवेक मलानी(47) सौ रुपए के 11 हजार रुपए के नकली नोट गजानंद मार्केट उल्हासनगर-2 में चलाने के ळिए शुक्रवार शाम में साढे पांजे आई थी, उस ये नकली नोट राकेश इसरानी ने दिए थे। ये नकली नोट हु ब हु असली जैसे नजर आ रहे थे। पूछताछ के बाद मीता ने बताया कि उसे इसरानी ने मार्केट में चलाने के लिए दिए थे। मिता के बयान के बाद रात में इसरानी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों पर भादवि कलम 498(ब)(क)(ड) 511, 34 के अनुसार अपराध दर्ज हुआ है। आश्चर्य की बात तो ये है कि दोनों उल्हासनगर के ही निवासी हैं और उल्हासनगर में ही ये नकली नोट चलाने का प्रयास कर रहे थे। मामले की जांच सपुनि सालगुडे कर रहे हैं। विदित हो कि लगभग तीन वर्ष पूर्व अंबरनाथ निवासी तीन लोगों को बालाजी नगर में 100 रुपए के नकली नोट छापकर मार्केट में चलाने के आरोप में अंबरनाथ पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उल्हासनगर और आस पास के शहरों में नकली नोटों का चलन हो रहा है। इसलिए लोगों से एवं दुकानदारों से कहा जा रहा है कि वह 100 और 500 के नोट जांच परख कर ही लें।
  • No Comment to " नकली नोटों के मायाजाल का पुलिस ने किया पर्दाफाश ? "