Browsing "Older Posts"

  • बिल्डर से 60 लाख हप्ता वसूली के मामले में भाजपा के 3 नेताओं पर दर्ज हुआ मामला !

    By fast headline india →
    बिल्डर से 60 लाख हप्ता वसूली के मामले में भाजपा के 3 नेताओं पर दर्ज हुआ मामला ! 

     ठाणे-ठाणे नारपोली पुलिस ने भिवंडी मनपा में भाजपा के गुटनेता नीलेश चौधरी, नगरसेवक हनुमान चौधरी एवं भाजपा के उपाध्यक्ष महेश पाटील के विरुद्ध उगाही का मामला दर्ज किया है। तीनों पर कामतघर इलाके में ‘शामदनी हाइट’ नामक इमारत बनाने वाले डिवेलपर के साथ गाली गलौज एवं मारपीट करके 60 लाख रुपया मांगने का आरोप है। यह मामला ठाणे खंडनी पथक के पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा के निर्देश पर मामला दर्ज किया है। 
    पिछले दिनों वसई और अब भिवंडी में उगाही को लेकर राजनेताओं लेकर भवन निर्माताओं से हफ्ता वसूली करने वाले नगरसेवकों में हड़कंप मचा हुआ है। गोकुलनगर के भवन निर्माता विकास कुमार राठी ने कामतघर इलाके में सन 2012-13 में शामदनी हाइट नामक एक इमारत बनाने का काम शुरू किया। पुलिस के अनुसार कामतघर के स्थानीय नगरसेवक भाजपा के गुटनेता नीलेश चौधरी, प्रभाग समिति क्रमांक तीन के सभापति भाजपा नगरसेवक हनुमान चौधरी सहित पूर्व नगरसेवक के भाई व भाजपा के उपाध्यक्ष महेश पाटील ने भवन निर्माता विकास राठी इमारत का निर्माण करने के लिए 60 लाख रुपये की मांग की। सन 2012-13 में तीनों ने राठी से 20 लाख रुपये लिए थे, शेष 40 लाख रुपये की रकम के लिए वे भवन निर्माता से गाली-गलौज एवं मारपीट करते रहते थे। निर्माण कार्य बंद होने पर जब उन्हें पैसा नहीं मिला, तो वे भवन निर्माता के परिजन को जान से मारने की धमकी देने लगे। इसकी शिकायत राठी ने ठाणे के खंडनी विरोधी पथक के पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा से की। इसके बाद पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा के आदेश पर नारपोली पुलिस ने भाजपा के गटनेता नीलेश चौधरी,प्रभाग समिति क्रमांक- तीन के सभापति हनुमान चौधरी एवं पूर्व नगरसेवक के भाई महेश पाटील के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया। ’सोसायटी के लोगों ने 2017 में उनसे लिखित शिकायत की थी कि भवन निर्माता विकास कुमार राठी ने पार्किंग की जगह दुकान बना ली है। इमारत की खुली जगह पर गार्डन बनाने की बजाय दूसरी इमारत बनाना चाहता है। इसे लेकर उनसे और सोसायटी के लोगों से भी बातचीत जारी थी। इसी बीच मेरे कुछ विरोधियों ने मुझे बदनाम करने के लिए पुलिस पर दबाव डालकर मामला दर्ज कराया है। सभापति हनुमान चौधरी एवं महेश पाटील से संपर्क किया गया, लेकिन उनका मोबाइल बंद था।’
  • राज्य सरकार गैर अंग्रेजी स्कूलों के लिए अंतरराष्ट्रीय बोर्ड बनाएगी !

    By fast headline india →
    राज्य सरकार गैर अंग्रेजी स्कूलों के लिए अंतरराष्ट्रीय बोर्ड बनाएगी !

     मुंबई-मुंबई महाराष्ट्र सरकार राज्य में गैर अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के लिए एक शिक्षा बोर्ड का गठन करेगी। शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने आज यह जानकारी दी। तावड़े ने यहां संवाददाताओं को बताया , ‘‘ सरकार ने गैर अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए महाराष्ट्र इंटरनेशनल एडुकेशन बोर्ड ( एमआईईबी ) गठित करने का निर्णय किया है। 
    ’’  उन्होंने बताया कि पहले चरण में अंतरराष्ट्रीय मानदंड के नये पाठ्यक्रम को 13 चयनित मराठी स्कूलों में लागू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी जिलों में जल्द ही कम से कम एक स्कूल अंतरराष्ट्रीय बोर्ड से संबद्ध होंगे।     तावड़े ने कहा कि एमआईईबी एक स्वायत्त इकाई होगी जो अपने स्कूलों के लिए पाठ्यक्रम तय करेगी और परीक्षा आयोजित करेगी।       महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के बाद एमआईईबी राज्य में दूसरा बोर्ड होगा।  
  • उल्हासनगर से पहले सिंधी समाज से IAS बने आशीष !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर से पहले सिंधी समाज से IAS बने आशीष ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के गोल मैदान परिसर में रहने वाले आशीष रावलानी इस विद्यार्थी ने उल्हासनगर के सिंधी समाज के पहले आयएएस अधिकारी बने है . दो बार असफल होने के बाद भी अपनी जिद्द पर अड़े रहे और तीसरी बार के प्रयत्न में यूपीएससी की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए और यह वर्ष उनके लिए एक सौगात लेकर आया .
    महसूल विभाग में उन्ही पोस्टिंग होनी संभावना बताई जा रही है पूरे देश में ४१५ रेंक मिला है . मुंबई के व्हीजेटीआय से सिव्हिल इंजिनीयर की परीक्षा पास करने के बाद आशीष रावलानी को कई जगहों से नोकरी की ऑफर मिला था. परंतु उनकी रुचि यूपीएससी की परीक्षा देने में थी. यह परीक्षा कठिन है यह जानने के बाद भी इसी में आगे बढ़ने का निर्णय लिया और अपने आप को सफलता तक पहुँचाया, मन की दृढ़ इच्छाशक्ति को लेकर पहली बार २०१५ में यह परीक्षा दिया, उसमें इन्हें असफलता मिली . दूसरी बार फिर से परीक्षा दिए उसमें भी सफलता नही मिली .उसके बादजूद अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति पर विश्वास रखते हुए उन्होंने हर दिन ५ से ७ घण्टे पढ़ाई जारी रखते हुए तीसरी बार यूपीएससीची परीक्षा को दिया और उसमे शनिवारी आये परीक्षा के रिजल्ट में पास हुए. आशीष की माँ सेवानिवृत्त शिक्षिका है तो पिता स्टेट बँक ऑफ इंडिया में अधिकारी पद पर है.वही इस खबर से पूरा सिंधी समुदाय में खुशी की लहर देखने को मिली है !
  • नगरसेविका पंचम कालानी के ड्राइवर को रिव्हलावर दिखाकर पर्स लेकर भागने वाले दो आरोपियो को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    नगरसेविका पंचम कालानी के ड्राइवर को रिव्हलावर दिखाकर पर्स लेकर भागने वाले दो आरोपियो को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका की नगरसेविका व यूथ आयकॉन की पत्नी पंचम कालानी कल रात जब अपनी इन्वोवा गाड़ी में ड्राइवर के साथ अपने निवास स्थान जा रही थी तभी धोबीघाट स्थित हनुमान मंदिर के सामने लूट के इरादे से दो अज्ञात मोटर साइकिल सवार ने उनके इनोवा गाड़ी के सामने मोटर साइकिल खड़ी कर दिया।यह देख ड्राइवर ने अचानक ब्रेक मारकर गाड़ी रोक दी तब दोनो अज्ञात आरोपी इनोवा की तरफ बढ़े और ड्राइवर को बाहर खींचकर रिवाल्वर की धाक पर पंचम कालानी का पर्स छीनकर भागने का प्रयास किया।
    उन अज्ञात आरोपियों को यह पता नही था कि पीछे युवा नेता ओमी कालानी भी अपने काफिले के साथ निवास स्थान ही जा रहे थे टिटवाला रोड का रास्ता खराब होने की वजह से उनका काफिला 10 मिनट की दूरी पर था।जैसे ही घटना की जानकारी पंचम कालानी ने फोन पर ओमी कालानी को दी वैसे ही क्षण भर में ओमी कालानी का काफिला वहां पहुचा। ओमी कालानी के काफिले को देखकर दोनो भागने लगे तब टीओके के लोगो ने दोनों आरोपियों को दौड़ाकर दबोच लिया।पकड़े गए लोगो की शिनाख्त मनीष राय और चिल्ली के रूप में कई गयी।उल्हासनगर पुलिस ने ड्राइवर की शिकायत पर मनीष राय और चिल्ली पर हथियार की नोक पर लूट के इरादे से हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है।मामले की जांच पुलिस उपनिरीक्षक पाटिल कर रहे है।
  • कांस्टेबल) के स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान आरक्षित वर्ग के सीने पर लिख दिया एससी-एसटी !

    By fast headline india →
    नव आरक्षकों (कांस्टेबल) के स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान आरक्षित वर्ग के सीने पर लिख दिया एससी-एसटी ! 

    मध्यप्रदेश-मध्य प्रदेश के पर्यटन विभाग का पर्यटकों को लुभाने वाला विज्ञापन ‘एमपी गजब है, सबसे अजब है’ बड़ा चर्चित हुआ था। अब तो लगता है कि हर मामले में इस राज्य का यही हाल है। अब देखिए, नव आरक्षकों (कांस्टेबल) के स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान आरक्षित वर्ग के चयनित उम्मीदवारों के सीने पर ही उनके वर्ग अर्थात एससी-एसटी दर्ज कर दिया गया। 
    धार जिले में पिछले दिनों आरक्षकों की भर्ती का अभियान चला और इन दिनों उनका स्वास्थ्य परीक्षण चल रहा है। यहां आए उम्मीदवारों की पहचान के लिए जिला अस्पताल ने एक अनोखा तरीका अपनाया है। आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के सीने पर ही उनका वर्ग दर्ज कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह ने रविवार को बताया कि नव आरक्षकों का स्वास्थ्य परीक्षण चल रहा है, पिछली बार किसी तरह की चूक हो गई थी, इसके चलते अस्पताल प्रबंधन ने ऐसा किया होगा। उसके बावजूद ऐसा क्यों किया गया, इसकी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इसके साथ ही उन्होंने सीने पर एससी-एसटी लिखे जाने की पुष्टि की है।
  • दो एनसीपी कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या !

    By fast headline india →
    दो एनसीपी कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या !

     अहमदनगर - महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में बीती शाम तीन अज्ञात लोगों ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी। जिले में तीन हफ्ते पहले ऐसी ही एक वारदात में शिवसेना के दो स्थानीय नेताओं की भी हत्या कर दी गई थी।
    जिले के पुलिस अधीक्षक रंजनकुमार शर्मा ने बताया कि राकांपा कार्यकर्ता यहां से करीब 70 किलोमीटर दूर जामखेड़ कस्बे में मुख्य सड़क पर खड़े थे तभी एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन हमलावर वहां पहुंचे और शाम करीब छह बजकर 20 मिनट पर उन्हें करीब आठ गोलियां चलाईं। उन्होंने कहा कि मारे गए दोनों कार्यकर्ता जामखेड़ के रहने वाले थे। उनकी पहचान राकांपा की युवा शाखा के जिला उपाध्यक्ष योगेश अंबादास रालेभट और अहमदनगर की जामखेड़ इकाई में पार्टी कार्यकारी समिति के सदस्य और पदाधिकारी राकेश अर्जुन रालेभट के तौर पर की गई है। शर्मा ने कहा कि पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है लेकिन अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।
  • शौचालय धंसने से दो लोगो की हुई मौत !

    By fast headline india →
     शौचालय धंसने से  दो लोगो की हुई मौत !




     मुंबई- मुंबई के भांडुप पिंपलेश्वर कॉलोनी साईं सदन चाल में शौचालय का धंसने की वजह दो लोगों की मौत होने का मामला सामने आया है मरने वाले लोबाबेन धीरूभाई जेठवा (46) व बाबूलाल झोमाजी देवासी (47) बताया गया है यह घटना शनिवार की सुबह 6.30 पर हुई है।
    गौरतलब है की भांडुप पश्चिम स्थित पिंपलेश्वर् कॉलोनी में करीब 20 साल पुराना एक शौचालय था।जो काफी जर्जर अवस्था में था।कल यानी शनिवार 28 अप्रैल को सुबह 6.30 बजे यह शौचालय अचानक धंस गया।उक्त अवसर पर शौचालय में शौच के लिए एक महिला व एक पुरुष गए थे।जो शौचालय में पूरी तरह फंस गए।जिसके चलते उनकी मौत हो गई।मृतक लोबाबेन जेठवा (46) व बाबूलाल देवासी (47) की मौत होने की खबर सुनते ही पुरे परिसर में खलबली मच गई थी।पुलिस व संबंधित विभाग के अधिकारियो ने घटना स्थल पर पहुँच कर उनके शव का पंचनामा कर शव को पोस्ट मार्टम हेतु राजावाडी अस्पताल भेजा है।भांडुप पुलिस ने यह मामला एडीआर क्रमांक 65/2018 व 66/2018 भादवी 174 के तहत दर्ज किया है।स्थानीय निवासियो का कहना है की यह शौचालय चाल के मालिक के माध्यम से करीब 20 साल पहले बना था।पुलिस मामले की जांच कर उचित कार्यवाई की बात कर रही है।जोन के डी सी पी अखिलेश सिंग बताया कि मामले की जॉच कर दोषियों पर कड़ी कार्यवाई करने के संकेत दिए है !
  • बालासाहेब ठाकरे अस्पताल के ICU में भर्ती मरीज की चूहों ने कुतर डाली आंख !

    By fast headline india →
      बालासाहेब ठाकरे अस्पताल के ICU  में भर्ती मरीज की चूहों ने कुतर डाली आंख !

     मुंबई-मुंबई में गंभीर अवस्था में घायल, बीमार लोग वापस से स्वस्थ हो सके, इसके लिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, लेकिन जब अस्पताल में भर्ती होने वाला मरीज और भी ज्यादा बीमार हो जाए तो क्या कहा जाए. देश में कई ऐसे अस्पताल हैं जहां पर मरीजों को तो मिल रहा है, लेकिन अंदर के हालात खस्ता हैं. मुंबई के जोगेश्वरी में स्थित बालासाहेब ठाकरे अस्पताल के ट्रामा केयर सेंटर के कोमा में भर्ती मरीज की दाईं आंख को रात भर में चूहों द्वारा कुतरे जाने का मामला सामने आया है.   कोमा में भर्ती था मरीज  के मुताबिक मरीज को 12 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. डॉक्टरों ने मरीज के परिजनों को सीटी स्कैन और एमआरआई कराने की सलाह दी थी. सभी जांच करने के बाद डॉक्टरों ने पाया कि मरीज के दिमाग के अंदर खून की गांठ बनी हुई थी, जिसके बाद उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया. मरीज की बहन ने बताया कि इलाज के कुछ ही दिनों में अस्पताल ने परिवार को 6 लाख रुपये का बिल थमा दिया था, बिल को मिलने के बाद परिवार वाले मरीज को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने पर विचार कर ही रहे थे कि यह घटना हो गई. देर रात रिश्तेदार ने सिर के पास देखे थे चूहे मरीज के पिता का कहना है कि देर रात उनके परिवार के एक रिश्तेदार ने मरीज के सिर के पास से चूहों को हटाया था, लेकिन लोगों ने इस तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दिया और सो गए. उन्होंने कहा कि जब सुबह उनकी आंखे खुली तो देखा मरीज की दायीं आंख से खून बह रहा है. डॉक्टरों की जांच के बाद पता चला कि चूहों ने मरीज के कानों को काट लिया. इसके बाद उन्‍हें आइसीयू भेज दिया गया. मामला मीडिया में आने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने अस्पताल में चूहे होने की खबरों का खंडन किया है. अस्‍पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. एच भावा ने कहा, 'अस्पताल को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि एक साजिश के तहत परिवारवाले अस्पताल में चूहे होने का दावा कर रहे हैं.
  • उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट !

    By fast headline india →
    उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट !

     डेवलपमेंट प्लान नई अधिसूचना में प्रगट हुआ दो और कब्रस्तान !   

     उल्हासनगर- उल्हासनगर मनपा के डेवलपमेंट प्लान पर आए 137 इपी में से केवल 4 इपी पर ही विचार कर इस विनाशकारी डीपी को शहर में लागू कर दिया गया है. अब शहर के राजनेता विधानसभा चुनाव के पहले इस डीपी का किस तरह उपयोग करते है, इसपर सभी की निगाहें टिकी हुई है. कब्रिस्तान के मुद्दे पर मनपा प्रशासन की काफी किरकिरी हुई है, 24 अप्रैल को मुंबई हाईकोर्ट में कब्रिस्तान के विचाराधीन मामले पर सुनवाई थीं, शायद इसी लिए 4 इपी पर मंजूरी मिली और यह उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट दिए है ऐसा दिखने में आ रहा है !
      जनवरी 2014 में महासभा द्वारा मंजूर किए गए डेवलपमेंट प्लान पर 17 हजार आपत्ति दर्ज हुई थी. उन आपत्तियों पर चर्चा कर सरकारी मान्यता के लिए 645 आपत्तियां मुख्यालय भेजी गई थी, इनमें से 540 आपत्ति मान्य कर ली गई थी. बची हुई आपत्तियों तथा जगहों के आरक्षण को कायम रखना, सड़क चौड़ीकरण में बदलाव आदि 137 बदल इपी में सूचित किये गए. इन बदलाव पर 4 जनवरी तक कोकण भवन के सहायक संचालक नगररचनाकार प्रकाश गुप्ते के पास आपत्ति दर्ज करवाना था, जिसपर जिरह कर डीपी को अंतिम रूप दिया जाना था. महासभा द्वारा निर्णय लिए गए इपी में से रिंगरूट की इपी महत्वपूर्ण थी. तकरीबन 10 हजार परिवार को बर्बाद करने वाले इस रिंगरूट को रद्द करने की मांग सभी राजनीतिक दलों ने की थी. नगरविकास मंत्रालय ने 23 अप्रैल को एक अधिसूचना जारी की है, इस अधिसूचना में इपी 1, इपी 18, इपी 19 तथा इपी 129 इन चारों पर ही विचार किया गया एवं उसमें उचित बदल किये गए हैं. इपी स्वीकारने के बाद अंतिम डेवलपमेंट प्लान को नागरिकों के लिए दो वर्ष मनपा के दार्शनिक स्थान पर लगाया जाएगा. जिनपर निर्णय लिया गया उनमें आईडीआई, खेमाणी, तथा उल्हासनगर नंबर 5 में कैलाश कॉलोनी के भूखंड है.
  • सेंट्रल पुलिस का नायाब कारनामा प्रतिबंधित गुटखा के माल के साथ पकड़े गए लोगो नोटिस देकर छोड़ा !

    By fast headline india →
    सेंट्रल पुलिस का नायाब कारनामा प्रतिबंधित गुटखा के माल के साथ पकड़े गए लोगो नोटिस देकर छोड़ा ! 

    एफडीए और पुलिस के संरक्षण बिक रहा उल्हासनगर शहर गुटखा !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस ने सोमवार को 11.30 बजे के करीब अमन टाकीज के पास गुटखे से भरा एक थ्रिविलर टेम्पो MH05,BH5773 के साथ दो लोगो को पकड़ा था परंतु पुलिस ने 24 घण्टे बीत जाने के बाद कोई मामला नही दर्ज किया गया है जब सेंट्रल पुलिस स्टेशन के नम्बर पर बात किया गया तो मुकदमा नामक पुलिस कर्मी ने बताया कि नोटिस देकर दोनो को छोड़ दिया गया है जब उनसे यह जानने की कोशिश किया गया किस कायदे के तहत नोटिस दिया गया तो उन्होंने कहा ज्यादा जानकारी चाहिए तो पुलिस स्टेशन में आकर लो और फोन काट दिया , इससे आप अंदाजा लगा सकते है कि गुटखा बेचने वाले के खिलाफ पुलिस का क्या नजरिया है !
     सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर नम्बर चार के गुटखा माफिया दिलीप नामक ब्यक्ति का माल एक थ्रिविलर में भरकर गजानन मार्केट के सूजी नामक ब्यक्ति के भेजा जा रहा था तभी पुलिस को इसकी जानकारी कुछ लोगो ने दिया जिसके बाद सेंट्रल पुलिस के कर्मचारियों ने एक थ्रिविलर टेम्पो में भरे गुटखे के साथ दो लोगो को पकड़ा था परंतु 24 घण्टे बीत जाने के बाद भी पुलिस ने इस मामले में कोई मामला नही दर्ज किया उल्टे दोनो को नोटिस देकर छोड़ दिया है इस मामले में पुलिस के द्वारा की गई कार्यवाई अब सवालों के घेरे में है यही कारण है उल्हासनगर में खुलेआम गुटखा बेचा रहा है फूड एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट व पुलिस के बीच आपसी तालमेल नही होने की वजह से उसका फायदा गुटखा माफियाओं को मिल रहा है पुलिस भी कही न कही इनको छुपे तौर पर मदत कर रही है ऐसा इस मामले को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है अब सवाल यह उठ रहा है कि आखिरकार उल्हासनगर शहर में दिनदहाड़े बिक रहे गुटखे पर लगाम लगाएगा कौन यह एक बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है,
  • उपविभागीय अधिकारियों का अनोखा कारनामा ! बोगस सनद की इंट्री मिली !

    By fast headline india →
    उपविभागीय अधिकारियों का अनोखा कारनामा ! 

    बोगस सनद की इंट्री मिली !   

    रॉयल कोहिनुर इमारत के भूखंड के मालिकाना हक का प्रश्न हुआ हल !         

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में बोगस सनद के आधार पर खड़ी हुई फॉरवर्ड लाईन चौक की रॉयल कोहिनुर नामक इमारत के बांधकाम की अनुमति रद्द करने का मामला अब आखिरी स्टेज पर पहुंच गया है। उपविभागीय अधिकारियों को इसके बोगस सनद की इंट्री मिलने से अब यह समस्या हल होने के कगार पर पहुंच गई है। लेकिन यह बोगस सनद वैध कैसे हुई,इस विषय मे अनेक चर्चाएं शुरू हो गई है। 
    उल्हासनगर शहर का प्रांत कार्यालय यह बोगस सनद के लिए पहले से ही बदनाम है। शहर की खाली पड़ी जमीनों पर बोगस सनद के आधार पर इमारत खड़ी कर जमीन हड़पी जा रही है। ऐसा कारनामा अभी भी उल्हासनगर शहर में जोरों पर चालू है। उल्हासनगर कॅम्प ३ स्थित फॉरवर्ड लाईन चौक के बैरक नंबर ११३८ में रूम न.११, १२, १३ , १४ और ११ पर रॉयल कोहिनुर नामक इमारत का निर्माण कार्य शुरु है।इसमें से रूम न.११ के सनद की एंट्री सनद रजिस्टर बही में न होने का मामला सामने आया है। इस संदर्भ में शिकायत आने के बाद तत्कालीन प्रांत अधिकारी विजया जाधव ने भी इस सनद के बोगस पाए जाने के बाद पालिका के नगररचनाकार को सनद जांच करने के लिए दिया गया पत्र रद्द किया था और नगर भूमापन अधिकारी ने भी इस बैरक का मालमत्ता पत्र रद्द किया था।इस प्रकरण सहित और ९ बोगस सनद वाले मालमत्ता की शिकायत वन व महसूल मंत्रालय के अपर सचिव को किया था। इस शिकायत के आधार पर अपर सचिव ने उपविभागीय अधिकारी जगतसिंग गिरासे से इसकी रिपोर्ट मांगी थी। इस रिपोर्ट में मीरासे ने बैरक नंबर 1138 में रूम न.११के होने की बात कही थी। इस सनद के संदर्भ में दिए गए रिपोर्ट से जगतसिंग गिरासे के कार्यपद्धती पर प्रश्न चिन्ह निर्माण हुआ है।इस भ्रष्टचार के संदर्भ मे जब जगत सिंग गिरासे से संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया। इस विषय में जब शिकायत कर्ता मोती दुसेजा पूछा गया तो उन्होंने बताया कि जगतसिंग गिरासे ने 1138 के रूमों के सनद बोगस होते हुए भी ऐसी रिपोर्ट प्रस्तुत कर अपर सचिव के आँखों में धूल झोंकने का काम किया है
  • उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस ने पकड़ा लाखो का गुटखा ! एक टेम्पो समेत दो गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस ने पकड़ा लाखो का गुटखा ! एक टेम्पो समेत दो गिरफ्तार ! 

     प्रतिबंध के बावजूद उल्हासनगर व मुंबई में गुटखे का ‘खुला’ बाजार ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस ने लाखो रुपये कीमत का गुटखा पकड़ा है इस मामले में एक छोटा टेम्पो व दो लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है पुलिस अभी मामला दर्ज करने में जुटी है इस मामले में अगर सही तरीके से जांच हुआ तो उल्हासनगर के सभी गुटखा माफियाओं के चेहरे से नकाब उतर सकता है !
    बता दे कि प्रतिबंधित होने के बावजूद राज्य में गुटखा धड़ल्ले से बिक रहा है। स्टेशन से सटे इलाकों से लेकर आवासीय क्षेत्रों तक गुटखे की अवैध बिक्री बगैर रोक-टोक जारी है। इस पर रोकथाम के लिए एफडीए ने अभियान चला रखा है, फिर भी दुकानदारों में बिक्री को लेकर रत्ती भर डर नहीं है। नतीजतन प्रतिबंध के 5 साल बाद भी उल्हासनगर, कल्याण और आसपास के अलावा मुंबई के कुर्ला सहित राज्य के कई हिस्सों में गुटखे की खरीद-फरोख्त जारी है।  वही इस बारे में एफ डी ए कमिश्नर डॉ, पल्लवी दराडे का कहना है कि गुटखे सहित सभी प्रतिबंधित चीजो की ब्रिक्री रोकने के लिए हम प्रतिबद्ध है इसके लिए आये दिन कार्यवाई की जाती है ! लोग खुद भी इसकी शिकायत कर सकते है उस पर भी हम कार्यवाई करेगे ! गौरतलब हो कि पूरे महाराष्ट्र इसका सबसे बड़ा सप्लाई हो रहा है तो वो उल्हासनगर और कल्याण के जरिये हो रहा है इन दोनों जगहों पर अवैध गुटके को रखने के लिये कई बड़े गोदाम भी जहा पर बड़ी मात्रा में स्टाक रखा जाता है स्थानीय पुलिस की मिली भगत से ये पूरा कारोबार फलफूल रहा है ! इस समय उल्हासनगर के लगभग सभी पान की दुकानों पर आपको आसानी से गुटका मिल जाता कुछ किराना के दुकानदार भी है जो अपनी दुकानों पर गुटका बेचते है सबसे ज्यादा उल्हासनगर नम्बर तीन एक सलीम करके जिसके इधर खुलेआम गुटखा बेचा जाता है चोरी छुपे कल्याण, शहद, विठ्ठलवाड़ी, अम्बरनाथ और दूसरी तरफ मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) स्टेशन से सटे इलाकों में गुटखे का बाजार हमेशा सजा रहता है। दिन हो या रात, कभी भी यहां आसानी से गुटखा खरीदा जा सकता है। एलटीटी स्टेशन के बाहर फ्लाइओवर के नीचे तकरीबन दर्जन भर दुकानों पर गुटखे की बिक्री होती हैं। दुकानों के सामने सरेआम गुटखा लटकाकर बेचा जाता है। इसके बावजूद इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। एलटीटी के अलावा चर्चगेट और दादर में भी गुटखा कारोबार अवैध रूप से फल-फूल रहा है। दिन में इन जगहों पर चोरी छिपे गुटखा बेचा जाता है, तो रात के वक्त यह खुलेआम बिकता है। भांडुप, नाहूर और विक्रोली इलाकों में भी गुटखे की बिक्री जमकर होती है। इन इलाकों में जहां कुछ जगह सरेआम इसकी बिक्री होती है, वहीं कहीं-कहीं गुटखा चोरी छिपे बिकता है। एफडीए की कार्रवाई से बचने के लिए कुछ दुकानदार छिप-छिपाकर गुटखे की बिक्री करते हैं और केवल अपने नियमित ग्राहकों को ही बेचते हैं। यह दुकानदार बंद मुट्ठी से पैसे लेकर बंद मुट्ठी में ही गुटखा देते हैं, ताकि किसी को इस बारे में भनक न लगे।एफडीए (खाद्य विभाग) के संयुक्त निदेशक अढावे के मुताबिक प्रतिबंधित गुटखे की बिक्री को रोकने के लिए आए दिन अभियान चलाए जाते हैं। रोजाना हम भारी मात्रा में गुटखा सहित सुगंधित सुपारी और खैनी जब्त करते हैं। हालांकि, पड़ोसी राज्यों में गुटखे पर पाबंदी न होने के कारण राज्य में गुटखे की आवजाही पर रोक नहीं लग पा रही है। राज्य में गुटखा प्रतिबंधित कराने के लिए लड़ाई लड़ने वाले टाटा अस्पताल के मुख और सिर के कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ़ पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि सरकार को इस बारे में और सख्ती लाने की जरूरत है। प्रतिबंध के बाद भी राज्य में गुटखे का सेवन कम होने की बजाय बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों की हित को देखते हुए सरकार को इस बारे में और भी सख्त कदम उठाने होंगे। तंबाकू उत्पादों का सेवन कैंसर की एक मुख्य वजह है। एफडीए के 'फूड सेफ्टी ऐंड स्टैंडर्ड' ऐक्ट के अंतर्गत महाराष्ट्र में गुटखा, सुगंधित सुपारी और खैनी के उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध है। इसका उल्लंघन करने वाले को 6 महीने की सजा या अधिकतम 25 लाख रुपये का जुर्माना या दोनों हो सकता है।आप भी करें शिकायत राज्य में 2012 से गुटखा की बिक्री और उत्पादन पर रोक है। इसके बावजूद भी बिक्री जारी है। आपके आसपास के इलाकों में भी अगर गुटखे की बिक्री हो रही है, तो आप एफडीए के हेल्पलाइन नंबर 022-26592363 और 022-26591959 पर इसकी शिकायत कर सकते हैं।
  • केबी रोड़ के अवैध निर्माण को मनपा रोका भाजपा के बौखलाए नगरसेवकों ने प्रभारी उपायुक्त को धमकाया !

    By fast headline india →
    केबी रोड़ के अवैध निर्माण पर हुई कार्यवाई से नाराज भाजपा नगरसेवको ने उमपा प्रभारी उपायुक्त को धमकाया ! 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महापालिका के आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इनकी बदली होते ही शहर में अवैध बांधकाम की बाढ़ आ गई है . उसी कड़ी में कल्याण बदलापूर रोड़ पर सबसे ज्यादा अवैध बांधकाम शुरू है उन्ही कामो मनपा ने बंद कराया तो उस बात से नाराज भाजपा नगरसेवकों ने प्रभारी उपायुक्त युवराज भदाणे और सहाय्यक आयुक्त प्रबोधन मेवाडे को गालीगलौज व धमकी देने का मामला सामने आया है . 
    गौरतलब है कि 19 मार्च को राजेंद्र निंबाळकर इन्होंने उल्हासनगर महापालिका के आयुक्त पद को छोड़ा.जब तक निंबाळकर थे तबतक अवैध बांधकाम पर काफी हद तक अंकुश लगा हुआ था. परंतु जैसे ही उनकी बदली हुआ वैसे ही शहर भर में अवैध बांधकाम की बाढ़ सी आ गई है. परंतु उसके बाद भी कल्याण बदलापूर रोड़ के अवैध बांधकाम बंद थे. परंतु पिछले हप्ते भर में ही कल्याण बदलापूर रोड़ पर लगभग 20 अवैध निर्माण बनाने का काम जोरशोर से शुरू हो गए है . इन्ही अवैध बांधकाम की शिकायत जैसे ही प्रभारी उपायुक्त युवराज भदाणे इनको मिली वैसे ही उन्होंने सहाय्यक आयुक्त प्रबोधन मेवाडे इन्हें सभी अवैध निर्माण को तुरंत रुकाने को कहा और बने अवैध निर्माणो को तोड़ने का आदेश दिया था. उसके बाद शनिवार की सुबह ही अवैध बांधकाम को मेवाडे और उनके मुकादमो ने रुकाया था. बता दे कि केबी रोड़ के अवैध निर्माण में कुछ भाजपा के नगरसेवको का अप्रत्यक्ष सामील है. उन्होंने ने शनिवार की दोपहर में महापौर कार्यालय में नगरसेवकनो ने भदाणे को बुलाया था. उस समय वहा पर भाजपा के नगरसेवक मनोज लासी, प्रदीप रामचंदानी इन्होंने भदाणे धमकी देते हुए गालीगलौज शुरू किया जब विवाद बढ़ते महापौर मीना आयलानी ने देखा तो बीचबचाव करके विवाद को शांत किया .इस विवाद के दौरान पूर्व विधायक कुमार आयलानी, उप महापौर जीवन इदनानी, सभागृह नेता जमनादास पुरस्वानी, प्रकाश माखीजा इत्यादि लोगो के साथ कुछ और नगरसेवक उपस्थित थे.कुल मिलाकर देखा जाय तो केबी रोड़ पर बन रहे अवैध निर्माण को बचाने के लिए मनपा अधिकारियों को दबाने के लिए यह पूरा सोची समझी रणनीति थी अब सवाल यह उठता है कि मनपा के अधिकारी इसका जवाब किस रूप में देते वो देखने वाली बात होगी ?
  • एक शादी समारोह में भाजपा के दो नगरसेवकों के बीच हुआ जूतमपैजार !

    By fast headline india →
    एक शादी समारोह में भाजपा के दो नगरसेवकों के बीच हुआ जूतमपैजार ! 

    उमपा सभागृह नेता , भाजपा के मनोनित नगरसेवक आपस में भिड़े !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के भाजपा के दो नगरसेवक लोनवला के होटल शादी समारोह पहुँचे थे वही पर किसी बात को लेकर भाजपा के दो नगरसेवकों के बीच वादविवाद, गाली गलौज हो गया और एक दूसरे को मारने के लिए बोतल तक उठा लिए नोबत जूतमपैजार तक पहुँच गई वो तो दूसरे लोगो के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ !
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर एक बिल्डर अनिल होटचंदानी के परिवार में किसी की शादी थी जो लोनावला के फैय्याज होटल में 19 अप्रैल की थी उसी शादी में उल्हासनगर के मनपा सभागृह नेता व भाजपा नगरसेवक जमनु पोरस्वानी व भाजपा के मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी ने भी शिरकत किया था शादी समारोह का सवाब जोरो पर तभी किसी बात को लेकर भाजपा के नगरसेवक जमनु व प्रदीप के बीच वादविवाद शुरू हो गया और बात इतनी बढ़ गई एक दूसरे को गाली गलौज करते हुए मारने के लिए बोतले उठा लिए वहा पर दूसरे लोगो के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ लेकिन इन दोनों की झगड़े होने से शादी समारोह की रौनक भी फीका पड़ गया, भाजपा नगरसेवकों की इस झगड़े की उल्हासनगर शहर में चर्चा का विषय बन गया है उमपा के गलियारों में भी इस पर कई लोगो को चर्चा करते दिखाई दिए , बता दे कि प्रदीप रामचंदानी इससे पहले भी मनपा में दूसरे से लोगो से झगड़े के चलते सुर्खियों में रहे है कुछ बार तो पिटाई भी हो चुकी है अब अपने ही पार्टी के नगरसेवक के साथ हुए इस विवाद से फिर से सुर्खियां बटोर रहे है ,
  • साप्ताहिक पेपर के संपादक पर हप्ता वसूली का मामला हुआ दर्ज !

    By fast headline india →
    साप्ताहिक पेपर के संपादक पर हप्ता वसूली का मामला हुआ दर्ज ! 

    अवैध निर्माण की शिकायत को वापस लेने के लिए मांगे 50 हजार ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर एक साप्ताहिक पेपर के संपादक के विरुद्ध 50 हजार की हप्ता वसूली का मामला उल्हासनगर पुलिस स्टेशन एक में दर्ज हुआ है ,बता दे कि इससे पहले उमपा के गेट पर इसी संपादक को टीओके के युवा नेता कमलेश निकम एक अवैध निर्माण की शिकायत को लेकर ही पिटाई किया था ! 
    यह मामला नेशनल न्यूज बन गया था ! पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार धीरज चंचलानी ने जो उल्हासनगर एक नम्बर में रहते उनका एक रूम का रिपेरिंग का काम हो रहा है उसी काम का उल्हासनगर4 में रहने वाले श्रीकृष्ण मानकर जो एक साप्ताहिक भरस्ट्राचार सत्यशोध पेपर के संपादक है उन्होंने उस काम की मनपा में शिकायत दर्ज किया था उसी को वापस लेने के लिए 50 हजार रुपये मांगे थे उसके बाद ही धीरज से शुक्रवार को उनके दोस्त राजेश के ऑफिस में इस शिकायत को वापस लेने को लेकर मुलाकात हुआ वहा पर भी 50 हजार देने के बाद शिकायत वापस लेने की बात पर मानकर अड़े थे जब मामला बिगड़ते देखा तो धीरज ने उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में मानकर के खिलाफ हप्ता वसूली का मामला दर्ज कराया पुलिस ने इस मामले में मानकर को गिरफ्तार किया है ! आगे की मामले की जांच में जुट गई है !बता दे कि मानकर पर इससे पहले भी इस तरह के मामले दर्ज हुए है ,
  • आईपीएल सट्टेबाजी हुई डिजिटल सटोरियों ने बनाए हजारों ऐप्स !

    By fast headline india →
    आईपीएल सट्टेबाजी हुई डिजिटल सटोरियों ने बनाए हजारों ऐप्स !

    मुंबई  इस आईपीएल टूर्नमेंट के दौरान सट्टेबाजी 90 प्रतिशत तक डिजिटल हो गई है। हजारों सटोरियों ने अपने-अपने ऐप्स बनाए हैं। इन्हीं ऐप्स के जरिए वे पंटरों के साथ सट्टा खेल रहे हैं। एक विश्वस्त सूत्र ने फस्ट हेडलाइन इंडिया को बताया कि जिस तरह बैंकों के ऐप्स होते हैं, बिल्कुल वैसे ही सटोरियों के भी ऐप्स हैं।
    बैंक के ऐप से बिना पासवर्ड ऑनलाइन कोई ट्रांजैक्शन हो नहीं सकता। सटोरियों के ऐप्स भी पासवर्ड से इन दिनों लाखों-करोड़ों का वारा-न्यारा कर रहे हैं।  खास बात यह है कि पासवर्ड सटोरिए नहीं दे रहे, बल्कि पंटर सटोरियों को बता रहे हैं- 'यह पासवर्ड अपने सिस्टम में फीड कर लो।' यदि पंटर को कभी लगता है कि सटोरी उसके साथ धोखा कर रहा है, तो वह फौरन पासवर्ड बदल देता है।  ऑनलाइन नहीं होता ट्रांजैक्शन  पंटर ऐप के जरिए बॉल दर बॉल जैसा सट्टे का भाव लगाता है, सटोरी को वह दिखता रहता है। मैच के खत्म होने के पांच मिनट बाद बुकी और पंटर दोनों को पता चल जाता है कि कौन कितना जीता, कितना हारा? यदि पंटर जीता, तो बुकी उसे दो प्रतिशत कमिशन काटकर रकम देता है। यदि पंटर हारा, तो उसे बुकी को पूरी रकम देनी पड़ती है। पेमेंट के मामले में कुछ भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन नहीं होता। जो भी जीता या हारा, सारा लेन-देन कैश में होता है।  पिछली बार से ली सीख, ऐसे बचते हैं  करीब चार साल पहले जब आईपीएल टूर्नमेंट में स्पॉट फिक्सिंग केस ओपन हुआ था, तब कुछ गिरफ्तार आरोपियों के पास डायरियां भी मिली थीं। बाद में कई बुकी या पंटर लैपटॉप्स में हिसाब रखने लगे और टूर्नमेंट्स के खत्म होने के बाद अपने-अपने लैपटॉप का मदरबोर्ड बदलने लगे, ताकि उनका पिछला डेटा कभी ट्रेस न किया जा सके।अब सब कुछ मोबाइल पर हो रहा है। मैच भी मोबाइल लाइव पर देखा जा रहा है और सट्टेबाजी भी मोबाइल ऐप्स पर हो रही है। हां, कुछ अभी भी मोबाइल कॉलिंग कर रहे हैं, वह भी कोड वर्ड में। बुकी कानून की गिरफ्त से बचने के लिए काफी एहतियात बरत रहे हैं। ज्यादातर इन दिनों मुंबई में कम रह रहे हैं। उन्होंने मुंबई से सटे उपनगरों मसलन ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण, उल्हासनगर,वसई-विरार, पालघर में अपने परिचितों के घर आईपीएल टूर्नमेंट खत्म होने तक किराए पर ले लिए हैं। किराया वे बाजार रेट से पांच गुना ज्यादा दे रहे हैं।  देशभर में फैले तार  एक सूत्र का कहना है कि मुंबई के बाद सबसे ज्यादा सट्टेबाजी गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश और दिल्ली में हो रही है। अंडरवर्ल्ड भी हमेशा से क्रिकेट सट्टेबाजी में सक्रिय रहा है, इसलिए देश की तमाम जांच एजेंसियों ने अपने-अपने खबरियों का जाल पाकिस्तान से लेकर दुबई तक फैलाया हुआ है। 
  • रिश्वत में दिए पैसे को वापस मांगना एक महिला को पड़ा महंगा पुलिस ने महिला को बेरहमी से पीटा !

    By fast headline india →
    रिश्वत में दिए पैसे को वापस मांगना  एक महिला को पड़ा महंगा पुलिस ने महिला को बेरहमी से पीटा !

     पती की तडीपारी रद्द करने के लिये दिए पैसे को वापस मांगने की मिली सजा !

     उल्हासनगर-अम्बरनाथ की एक अपने पति को तडीपार से बचाने के लिए अंबरनाथ पुलिस ठाणे में कार्यरत एक पुलिस को महिला ने 12 हजार रुपये दिये थे . परंतु उसके बाद भी जब पति की तडीपारी की कारवाई नही रुकी तब महिला ने अपने दिए रुपये वापस मांगे तब उस बात से नाराज तीन पुलिस वालों ने महिला के घर में घुसकर गाली गलौज करते हुए महिला को बेरहमी से पिटाई का मामले सामने आया है. अभी महिला का इलाज मध्यवर्ती अस्पताल में हो रहा है. 
    उल्हासनगर के मध्यवर्ती अस्पताल में मंगलवार की रात में आयेशा शरीफ शेख नामक महिला को इलाज के लिए भर्ती किया गया है. बता दे कि अपने पती शरीफ जो कि अपना जीवनयापन करने के लिए चायनिज की गाडी चालाता. उसपर पुलिस ठाणे में चोरी चकारी के चार से पाच मामले दर्ज है . इसी मामले में शरीफ पर तडीपार करने की कारवाई पुलिस ने करने के लिये अपने हाथ में लिया था . उसी से बचने के लिए अंबरनाथ पुलिस ठाणे क्राइम ब्रांच में कार्यरत सेसवानी नामक पुलिस को 12 हजार रुपये की रिश्वत दिया था. परंतु पैसे देने के बाद भी जब पाच दिन पहले शरीफ पर तडीपार की कारवाई पूरी होकर उसे गिरफ्तार भी कर लिया उसके बाद वो छूटने के बाद वह पूना चला गया ऐसा उसकी पत्नी आयेशा ने बताया है. तडीपार होने के बाद आयेशा ने सेसवानी को दिए पैसे वापस मांगने लगी . उसी बात से गुस्साए सेसवानी, कुंभार, राणे नामक तीन पुलिसकर्मी ने मंगलवार की रात में आयेशा के घर भगतसिंग नगर के घर जबजस्ती घुसे और बोले. शरीफ किधर है , ऐसा पूछते हुए ये तीनो ने आयेशा को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया . आयेशा जो कि पहले से ही एक टीबी की पेशेंट वह नीचे जमीन पर गिर गई. और उसके नाक व मुँह से खून आने लगा इतने बगल ही रहने वाली आयशा की रईसा सैय्यद उसे बचाने के लिए आई पुलिस वाले ने उसकी माँ की भी पिटाई कर दिया ऐसा आयेशा और उसकी माँ ने बताया है . पुलिस के जाने के बाद घायल आयेशा को मध्यवर्ती अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया जहा उसका अभी इलाज चल रहा है. जब आयेशा और उसकी माँ के द्वारा लगाए गए आरोप पर अंबरनाथ पुलिस ठाणे के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बाळकृष्ण वाघ से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि शरीफ जो तडीपार होने के बायजूद घर पर आता रहता है. इतना ही नही मंगलवार की दोपहर में नेहा खान नामक महिला को धमकी देते हुए मारपीट करने का मामला दर्ज किया गया है. रात में वो घर पर आया है ऐसी जानकारी स्थानिक नागरिको के द्वारा मिली थी उसी को पकड़ने पुलिस वाले गए थे तभी आयेशा ने उसको भगाने में मदत किया . आयेशा को किसी प्रकार की कोई मार पीट नही किया गया है उसके द्वारा लगाए गए आरोप निराधार है .अब सवाल यह है फिर वह लड़की को चोट लगी कैसे ? दूसरा सवाल क्या रात में बिना महिला पुलिसकर्मी की मौजूदगी के बायजूद किसी अकेली महिला से जेन्ट पुलिसकर्मी को पूछताछ जायज है क्या ? इसका जवाब तो आने वाले समय मे पुलिस को देना होगा !
  • दलित नेताओं-कार्यकर्ताओं के घर व दफ्तर पर छापे !

    By fast headline india →
     दलित नेताओं-कार्यकर्ताओं के घर व दफ्तर पर छापे !

    मुंबई-महाराष्ट्र में दलित नेताओं-कार्यकर्ताओं के घर व दफ्तर पर छापे पुलिस ने तड़के पांच बजे से छापा मारने की कार्रवाई शुरू की। पुणे पुलिस के कई समूहों ने मुंबई, पुणे और नागपुर में कई दलित कार्यकर्ताओं के घरों और कार्यालयों में छापे मारे। पुलिस ने पिछले वर्ष 31 दिसंबर को हुई यलगार परिषद में संलिप्त या संबंधित लोगों के खिलाफ भी सख्त रवैया अपनाया है।
    इस परिषद को गुजरात के दलित नेता व विधायक जिग्नेश मेवानी, जेएनयू के नेता उमर खालिद, छत्तीसगढ़ की समाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी और भीम आर्मी के अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने संबोधित किया था। पुणे पुलिस ने नागपुर में प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र गडलिंग के घर पर भी छापा मारा और तलाशी ली। वह विभिन्न न्यायालयों में कई कथित नक्सलियों का केस लड़ रहे हैं। पुलिस ने यलगार परिषद के संबंध में वामपंथी संगठन कबीर कला मंच और रिपब्लिकन पैंथर्स पार्टी के परिसरों और रमेश गेचर व सागर गोरखे जैसे नेताओं के खिलाफ छापे मारे। पुलिस ने मुंबई में वामपंथी कार्यकर्ताओं जैसे सुधीर धवाले और हर्षाली पोटदार के आवासों पर छापे मारे। पुलिस के पास इन सभी स्थानों पर छापे के लिए तलाशी वारंट थे। पुलिस की कार्रवाई पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारिप बहुजन महासंघ के अध्यक्ष प्रकाश अंबेडकर ने इसे सरकार की 'उत्पीड़न और ध्यान भटकाने वाली रणनीति' बताया। उन्होंने कहा, ""सरकार कोरेगांव-भीमा दंगा भड़काने के मुख्य आरोपी संभाजी भिड़े ऊर्फ गुरुजी को गिरफ्तार करने के स्थान पर इस तरह के ध्यान भटकाने वाली कार्रवाई कर रही है।"" संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर के परपोते प्रकाश अंबेडकर ने कहा, ""पुलिस ने मिलिंद एकबोटे को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन अभी तक भिड़े को गिरफ्तार नहीं किया गया है।"" यलगार परिषद पुणे के शनिवारवड़ा में आयोजित की गई थी। कोरेगांव-भीमा में 1 जनवरी को दंगा हुआ और इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। घटना के विरोध में 3 जनवरी को अंबेडकर और अन्य पार्टियों ने महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया था। --आईएएनएस
  • इनकाउंटर स्पेशिलिस्ट अधिकारी ने बदलापुर में एमडी ड्रग्स बनाने वाली कंपनी पर मारा छापा ! 7 करोड़ कीमत की ड्रग्स के साथ मालिक को किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    इनकाउंटर स्पेशिलिस्ट अधिकारी ने बदलापुर में एमडी ड्रग्स बनाने वाली कंपनी पर मारा छापा ! 

     7 करोड़ के माल के साथ कंपनी मालक को मुंबई पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     बदलापुर- बदलापुर में एमडी ड्रग्स का बड़ा भंडार मुंबई पुलिस ने जप्त किया है. मुंबई के आंबोली पुलिस स्टेशन के पीएसआय दया नायक के द्वारा यह कार्यवाई को अंजाम दिया गया है .
    बता दे कि मुंबई के आंबोली पुलिस ठाणे की हद में एमडी ड्रग बेचने आये शाहिद शहा नामक लड़के को ड्रग देते समय उसे गिरफ्तार किया है . उसके बाद उससे किये पूछताछ के बाद उससे मिली जानकारी के अनुसार दया नायक और उनके टीम ने रबिवार को ही बदलापूर के एमआयडीसी के श्री शारदा केमिकल्स की इस कंपनी पर छापा मारा तो उस कंपनी से एमडी ड्रग्स का बड़ा भंडार मिला जिसकी बाजार में कीमत लगभग साडे सात करोड़ रुपये बताई जाती है उसको जप्त किया है और कंपनी को सील किया गया है. उस कंपनी को चलाने वाले मालिक नारायणभाई पटेल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है
  • एमजोन कंपनी को लाखों की चुना लगाने वाले गिरोह के तार जुड़े उल्हासनगर के मोबाईल ब्यापारियों से व भाजपा नेता तक !

    By fast headline india →
    एमजोन कंपनी को लाखों की चुना लगाने वाले गिरोह के तार जुड़े उल्हासनगर के मोबाईल ब्यापारियों से ! 

     भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड आफ म्युजिक,जय माता दी, मोबाईल दुकानों के मालिकों से भिवंडी क्राइम ब्रांच ने किया पूछताछ ! 

     40 लाख का माल किया बरामद ! पुलिस ने कुल १० लोगों को गिरफ्तार किया ! 

     भिवंडी -भिवंडी क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह का भांडाफोड़ किया है जो एमेजोन कंपनी को लाखों की चपत लगा दिए थे इस मामले को नारपोली पुलिस स्टेशन के क्राइम ब्रांच ने एमेजोन कंपनी के द्वारा ऑनलाइन की गई थी उसी शिकायत के आधार पर एक टीम बनाई गई. पुलिस की उस टीम ने करीब ४० लाख ५७ हजार का माल जप्त किया है जिसमें ५०० के करीब मोबाइल है और तीन लैपटॉप है,उसके तार उल्हासनगर के भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड ऑफ म्युजिक,जय माता दी मोबाईल शॉप से जुड़े होने का मामला सामने आया है ! बता दे कि क्राइम ब्रांच द्वारा पकड़े गए चोरो से मोबाइल खरीदने की रडार में उल्हासनगर भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड ऑफ म्यूजिक, जय माता दी मोबाईल शॉप के मालिकों से पूछताछ किया और कभी इस मामले कुछ लोगो की गिरफ्तारी भी होना तय माना जा रहा है ! उक्त जानकारी सहायक पुलिस आयुक्त मुकुंद हातोटे द्वारा प्रेस कांफ्रेंस कर दी गयी है.उक्त मौके पर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शीतल राउत,जांच अधिकारी पुलिस उपनिरीक्षक रविंद्र पाटिल, संतोष चौधरी, लक्षमण जोरी, एपीआई भोलानाथ शेलके, पुलिस हवलदार राजेंद्र अल्हाट, विकास सिरसाठ, विष्णू सातपुते, राजेंद्र साबरे, बालू चौधरी, किशोर माने, रहीम शेख, रमेश शिंगे, नीता पाटिल, मेघना कुंभार आदि मौजूद थे. गौरतलब हो कि, क्राइम ब्रांच ठाणे सहायक आयुक्त मुकुंद हातोटे नें जानकारी देते हुए बताया कि, सितम्बर 2017 से जनवरी 2018 के दौरान अमेझान मोबाइल कंपनी द्वारा आनलाइन तरीके से ग्राहकों को मोबाइल होम डिलीवरी हेतु डिलीवरी डाट काम कंपनी को कार्य सौंपा था. अमेझान कंपनी के मोबाइल को ग्राहकों को होम डिलीवरी प्रदान कर रही डिलीवरी डाट काम कंपनी के फ्राड एक्ज्यूकेटिव अधिकारी मंगेश शरदराव मोहिते नें फरवरी 2018 को नारपोली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई कि, सही एड्रेस सहित अन्य कारणवश जो मोबाइल ग्राहकों तक नहीं पहुंचता ऐसे सभी मोबाइल बोरी में भरकर गोदाम में रखे जाते हैं जिसमें चोरी हुई है. क्राइम ब्रांच टीम नें वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों के कुशल मार्गदर्शन में मामले की तहकीकात कर उक्त चोरी में लिप्त 10 शातिर चोर सचिन शिवाजी पताले (32), उमेश गुलवी(22), संदीप सराफ(28), मखबूल हुसैन(19), सचिन उर्फ़ सच्चू पाटिल(26), अल्ताफ नईम हुसैन उर्फ़ लल्लू(27), म्रिगेश ध्रूब(33), जगदीश वाजे(21), आशीष दामसे(24) को अलग अलग ठिकानों से धर दबोचकर 406 मोबाइल व् 3 लैपटॉप जिसकी बाज़ार कीमत 46 लाख 57 हज़ार है बरामद किया है. सहायक पुलिस आयुक्त मुकुंद हातोटे ने बताया कि, ऑनलाइन तरीके से अमेजोन कंपनी द्वारा ग्राहकों को होम डिलीवरी हेतु डिलीवरी.कॉम को दिए जाते थे. डिलीवरी.कॉम के कर्मचारी ग्राहकों को घर पर जाकर डिलीवरी करते थे. जो मोबाइल ग्राहकों को किसी कारणवश डिलीवरी नही हो पाता था ऐसे सभी मोबाइल एकत्रित कर डिलीवरी.कॉम गोदाम में रखती थी जिसमे से शातिर चोरों द्वारा मोबाइल पीस को निकालकर फिर पैकिंग कर दी जाती थी. पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार 9 आरोपियों में से 4 कर्मचारी अमेजोन मोबाइल कंपनी एवं 4 आरोपी डिलीवरी.कॉम सहित 1 आरोपी मोबाइल खरीदी करने वाला शामिल है.
  • कस्टम ऑफिसर को 10 लाख की रिश्वत देने आए 2 गिरफ्तार !

    By fast headline india →
     कस्टम ऑफिसर को 10 लाख की रिश्वत देने आए 2 गिरफ्तार !

      मुंबई- मुंबई में एक उलटा कारनामा सामने आया अमूमन सरकारी अफसर रिश्वत मांगने या फिर लेते हुए पकड़े जाते हैं, लेकिन मुंबई कस्टम अफसर ने रिश्वत देने वालो को पकड़वाकर नई मिसाल कायम की है. मुंबई कस्टम मरीन और प्रिवेन्टिव के सहायक आयुक्त दीपक पंडित की शिकायत पर सीबीआई ने एक होटल में जाल बिछाकर दो आरोपियों को रंगे हांथों पकड़ा. गिरफ्तार आरोपियों के नाम मानव जगरवाल और हिमांशु अजमेरा है. 
    मानव जगरवाल इम्पोर्टर है, जबकि हिमांशू क्लीयरिंग एजेंट है.  सीबीआई सूत्रों के मुताबिक आरोपी अपने 3 करोड़ की तस्करी का माल छुड़ाने के लिए कस्टम अफसर को 10 लाख रुपये दे रहे थे. कस्टम अफसर दीपक पंडित ने 3 महीने पहले चार्ज लेने के बाद से अब तक कई कार्रवाई कर चुके हैं. अभी पिछले सप्ताह ही 3 बड़ी कार्रवाई कर 10 करोड़ से भी ज़्यादा की इम्पोर्टेड घड़ियां, पेन ड्राइव और मोबाइल असेसरीज पकड़कर मुंबई में तस्करी के नये रूट का खुलासा किया था.पहले चीनी सामान दुबई से समंदर के रास्ते सीधे मुंबई आता था. हालांकि मुंबई पोर्ट में कस्टम की कड़ी निगरानी की वजह से अब दुबई से सामान पहले चेन्नई आता है और फिर रेलगाड़ी से मुंबई लाया जाता है. बाद में यहां बड़े-बड़े मॉल में दुकानो में दिया जाता था. 
  • हर शोषित-वंचित वर्ग की आवाज थे बाबा साहेब !

    By fast headline india →
    दलितों के नहीं, हर शोषित-वंचित वर्ग की आवाज थे बाबा साहेब !

     नई दिल्ली - संविधान निर्माता और भारत रत्न डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की आज (14 अप्रैल) जयंती है। समाज सुधारक, राजनीतिज्ञ व संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर को बाबा साहेब के नाम से भी जाना जाता है। भीमराव अंबेडकर आज की राजनीति के ऐसे नायक है, जिसे हर पार्टी 'अपना' बनाना चाहती है। लेकिन बाबा साहेब समाज के वो नायक थे, जो ताउम्र गरीब और वंचित वर्गों की आवाज बने। उन्हें भले ही दलितों का मसीहा माना जाता हो, लेकिन यह भी सच्चाई है कि उन्होंने सिर्फ दलितों की ही नहीं बल्कि समाज के सभी शोषित-वंचित वर्गों के अधिकारों की आवाज उठाई।बाबा साहेब ने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और दलितों के खिलाफ सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध अभियान चलाया। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं कहा जा सकता है कि अंबेडकर सिर्फ दलितों के थे। उन्होंने समाज के हर उस वंचित वर्ग के अधिकारों की बात की, जिसे समाज में दबाया गया। उन्होंने श्रमिकों और महिलाओं के अधिकारों का समर्थन किया। 
    डॉ. अंबेडकर ने छुआछूत के खिलाफ एक व्यापक आंदोलन चलाया। अछूतों को भी हिंदू मंदिरों में प्रवेश करने का अधिकार दिलाने के लिए लंबे समय तक संघर्ष किया।डॉ. भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को मध्य प्रदेश के महू गांव में हुआ था। वे रामजी मालोजी सकपाल और भीमाबाई की 14वीं व अंतिम संतान थे। इनके पिता ब्रिटिश भारतीय सेना में काम करते थे। ये महार जाति से ताल्लुक रखते थे, जिसे हिंदू धर्म में अछूत माना जाता था। घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण बाबा साहेब का पालन-पोषण बड़ी मुश्किल से हो पाया। इन परिस्थितियों में ये तीन भाई- बलराम, आनंदराव और भीमराव तथा दो बहनें मंजुला और तुलसा ही जीवित बच सके। सभी भाई-बहनों में सिर्फ इन्हें ही उच्च शिक्षा मिल सकी, लेकिन इसके लिए भी उन्हें बहुत संघर्ष करना पड़ा। अपनी जाति के कारण उन्हें सामाजिक प्रतिरोध का सामना करना पड़ रहा था। स्कूली पढ़ाई में सक्षम होने के बावजूद छात्र भीमराव को छूआछूत के कारण कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। स्कूल के सबसे मेधावी छात्रों में गिने जाने के बावजूद इन्हें पानी का गिलास छूने का अधिकार नहीं था, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। बाद में उन्होंने हिंदू धर्म की कुरीतियों को समाप्त करने का जिंदगी भर प्रयास किया।आर्थिक मुश्किलों के साथ ही बाबा साहेब को हिंदू धर्म की कुरीतियों का भी सामना करना पड़ा। उन्होंने इन कुरीतियों को दूर करने के लिए हमेशा प्रयास किया। लेकिन तमाम प्रयासों के बाद जब उन्हें लगा कि वे हिंदू धर्म की कुरीतियों को नहीं मिटा पाएंगे, तो उन्होंने 14 अक्टूबर, 1956 में अपने लाखों समर्थकों सहित बौद्ध धर्म अपना लिया।डॉ. भीमराव अंबेडकर की पहली शादी 9 साल की उम्र में ही हो गई थी, उनका पत्नी का नाम रमाबाई था। रमाबाई की मौत के बाद उन्होंने सविता से शादी कर ली। वे ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखती थीं। सविता ने भी इनके साथ ही बौद्ध धर्म अपना लिया था। अंबेडकर की दूसरी पत्नी सविता का निधन वर्ष 2003 में हुआ। 32 डिग्रियां और 9 भाषाओं के जानकार अंबेडकर की गिनती दुनिया के सबसे मेधावी व्यक्तियों में होती थी। वे 9 भाषाओं के जानकार थे। उन्हें देश-विदेश के कई विश्वविद्यालयों से पीएचडी की कई मानद उपाधियां मिली थीं। इनके पास कुल 32 डिग्रियां थीं। यही वजह है कि अंबेडकर को प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारत का पहला कानून मंत्री बनाया था। संविधान निर्माता...बाबा साहेब 15 अगस्त, 1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाली नई सरकार अस्तित्व मे आई, तो उसने अंबेडकर को देश का पहले कानून मंत्री के रूप में सेवा करने के लिए आमंत्रित किया, जिसे उन्होंने स्वीकार किया। देश के पहले संविधान के निर्माण के लिए उन्हें 29 अगस्त, 1947 को संविधान की प्रारूप समिति का अध्यक्ष बनाया गया। फिर दो वर्ष, 11 माह, 18 दिन के बाद संविधान बनकर तैयार हुआ। 26 नवंबर, 1949 को इसे अपनाया गया और 26 जनवरी, 1950 को लागू कर दिया गया। समान नागरिक संहिता के पक्षधर थे अंबेडकर एनडीए सरकार के अस्तिव के आने के बाद समान नागरिक संहित की आवाज कई बार उठी। लेकिन वास्तव में बाबा साहेब भी समान नागरिक संहिता के पक्षधर थे और कश्मीर के मामले में धारा 370 का विरोध करते थे।
  • 7 तमंचे व 6 गोली के साथ एक आरोपी गिरफ्तार एक फरार !

    By fast headline india →
    7 तमंचे व 6 गोली के साथ एक आरोपी गिरफ्तार एक फरार ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर क्राइम ब्रांच को एक जानकारी मिली थी कि उत्तर प्रदेश और बिहार से देशी बनावटी कट्टा लाकर विभिन्न उपनगरों में बेचने का काम धड़ल्ले से चल रहा है।उसी सूचना के आधार पर उल्हासनगर में 7 देशी कट्टा और 8 एमएम की 6 जिंदा कारतुष बेचने आये मुंब्रा-कलवा निवासी अनुज हरिश्चन्द्र जैसवाल नामक आरोपी को उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। जब कि राजू नामक उसका एक साथी फरार हो गया।
    एक आरोपी के पास इतनी बड़ी मात्रा में देशी कट्टा बरामद होने से पुलिस भी आश्चर्यचकित है।क्राइम ब्रांच की टीम गिरफ्तार आरोपी से यह पता लगाने में जुटी हुई है कि यह कट्टा व जिंदा कारतुष वह किसे बेचने वाला था और इसे खरीदने वाले का मंसूबा क्या है।  उल्हासनगर क्राइम ब्रांच के एसीपी मुकुंद हतोते, सीनियर पीआय महेश तरडे ने पत्रकार परिषद में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि शहद ब्रिज के नीचे दो संसयित अज्ञात आरोपी खड़े है।सूचना मिलते ही सीनियर पीआय तरडे ने एपीआय, शेख,एपीआय सालगुडे के साथ टीम भेज दी।सिविल ड्रेस में शहद ब्रिज के नीचे जैसे ही पुलिस अधिकारी पहुचे वैसे ही दोनो अज्ञात आरोपी को भनक लगी वैसे ही एक आरोपी अपने साथी को छोड़कर रफू चक्कर हो गया जब कि एक आरोपी को पुलिस ने दौड़ाकर गिरफ्तार कर लिया।गिरफ्तार आरोपी की शिनाख्त अनुज जैसवाल के रूप में की गयी है जो  मुंब्रा-कलवा की झोपड़पट्टी इलाके में रहता है और लोगो को उसपर कोई शक न हो इसलिए कलवा में ही भाजी बेचने का धंधा करता है।सीनियर पीआय महेश तरडे ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी अनुज जैसवाल व राजू के ऊपर दादर पुलिस स्टेशन में दो चोरी के संगीन अपराधिक मामले दर्ज है और आर्थर रोड में जब अनुज पहुचा तभी फरार आरोपी राजू से जेल में उसकी पहचान हुई और जमानत पर रिहा होने के बाद दोनों मिलकर चोरी की घटनाओं को अंजाम देने के साथ-साथ अवैध हथियारों की सप्लाई करने लगे। गिरफ्तार आरोपी अनुज के पास से पुलिस ने 7  देशी कट्टा और 8 एमएम का 6 जिंदा कारतुष बरामद कर लिया है अब क्राइम ब्रांच की टीम उसके फरार साथी के अलावा यह पता करने में जुट गई है कि गिरफ्तार आरोपी और उसका साथी यह देशी कट्टा किसे बेचने आया था । मामले की जांच एपीआय शेख कर रहे है।
  • आइपीएल मैच शुरू होते उल्हासनगर के पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ उनके गुर्गे हुए सक्रिय !

    By fast headline india →
    आइपीएल मैच शुरू होते उल्हासनगर के पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ उनके गुर्गे हुए सक्रिय !

     एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा की रडार पर आईपीएल मैच के बड़े सटोरिया !

     मोबाईल फोन ट्रेकिंग के जरिये पकड़ा गया करोडपती सटोरिया ! 

    उल्हासनगर-आगामी 7 अप्रैल से दो महीने तक शुरू हुए इंडिया का त्योहार  आईपीएल क्रिकेट मैच को देखते सटोरियो ने अपनी मंडी सजा ली थी, बड़े बुकियों के लिए एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा मुसीबत बन चुके है। उसके बादजूद उल्हासनगर शहर नामचीन पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ व उनके गुर्गे एक बार फिर से सक्रिय हो गए है वैसे देखा जाय ये अपना धन्दा गोलमैदान के सामने पालिहिल बिल्डिंग ग्राउंड फ्लोर से चलाते है यहा पर ही रात में लाखो का जुआ भी खेलाने का काम होता है और अब क्रिकेट के सट्टेबाजी के लिए वही से अपने गुर्गे को आपरेट करने काम को अंजाम दे रहे है ये नामचीन क्रिकेट बुकी ऐसे में प्रदीप शर्मा को ऐसे लोगो पर भी कार्यवाई करने की जरूरत तभी जाकर बुकी लोगो पर लगाम लगाई जा सकेगी !
    सूत्रों की माने तो बड़े सटोरियों पर ठाणे क्राइम ब्रांच और एंटी एक्सटॉर्शन सेल (खण्डनी विरोधी पथक) ने अपनी पैनी नजर गड़ा रखी थी।बताया जाता है कि मोबाइल  फोन ट्रेकिंग के जरिये डोंबिवली के करोड़ पति बुकी उमेश (डोंबिवली) को खंडनी विरोधी पथक ने चेन्नई और कलकत्ता नाइट राइडर की मैच शुरू होते ही गुप्त स्थान से  गिरफ्तार कर लिया,उमेश (डोंबिवली) की गिरफ्तारी की खबर फैलते ही ठाणे और मुम्बई के बुकियों में हड़कंप मच गया है।                      पुलिस सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार किए गए उमेश (डोंबिवली) नामक बुकी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा ने अपराधिक मामला  दर्ज किया है।यहां बता दे कि बुकियों के खिलाफ पहले कॉपी राइट एक्ट के तहत मामला पंजीकृत किया जाता था इसलिए ये कुख्यात बुकीयो को  बड़ी आसानी से जमानत मिल जाती थी,लेकिन अब बुकियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस कड़े कानून का इस्तेमाल कर रही है और गिरफ्तार बुकियों के खिलाफ आउट ऑफ इंडिया का डालरों में यूज किया जाने वाला करंसी का मामला दर्ज करना शुरू कर दिया है।बता दे कि आजकल मोबाईल फोन में लंदन से चलने वाले ऑनलाइन मैच शुरू हुआ है सट्टेबाजो ने अपने पंटरों (मैच खेलियो)  से पैसा लेकर मोबाइल में ही लिमिट दे दिया है।जिस तरह मोबाइल का बैलेंस खत्म होने पर उसे रिचार्ज किया जाता है ठीक उसी तरह पंटरों के ऑनलाइन में बैलेंस खत्म होने पर बुकी पेमेंट लेकर वापस उनका अकाउंट रिचार्ज करते है।बताया जाता है कि सौदा डालरों में होता है और एक-एक हप्ते में जीता हुआ पैसा या तो पंटर रोकड़ा लेते है या उन्ही पैसों से अपना डॉलर लिमिट बढ़वा लेते है।ऑनलाइन चल रहे इस सट्टे के कारोबार पर भी अब पुलिस ने पैनी नजर गड़ा रखा है ।बताया जाता है कि उमेश (डोंबिवली) इसी ऑनलाइन का बड़ा हिस्सा है और इस बड़े बुकी ने छोटे-छोटे बुकियों सहित क्रिकेट मैच के पंटरों को ऑनलाइन मैच का लाइन दिया है। महाराष्ट्र के अलावा दूसरे राज्यो के सटोरियों के साथ भी जुड़े है यहां के बुकियों के तार;: सूत्रों के मुताबिक आज की तारीख में राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडवनिष का गृह क्षेत्र नागपुर बुकियों का बड़ा अड्डा बन चुका है। बड़े बुकियों में  मेट्रो लोटस, नुकन्जा योगी,कोठारी (एल.टी),दिल्ली की मंडी में भरत (दिल्ली) सबसे बड़ा सटोरिया माना जाता है।रिंकू (नागपुर),छोटू (नागपुर),शीबू (लाइन वाला ,राजस्थान),जूनियर कोलकत्ता,जे.के.अहमदाबाद,बंटी (अजमेर),राकेश (राजकोट) तथा टोनी (अहमदाबाद ) की गिनती सबसे बड़े बुकियों में की जाती है क्योंकि इनका रोजाना टर्न ओवर 1000 करोड़ के आस पास बताया जाता है।उल्हासनगर के छोटे-मोटे बुकी , मामा (17) ,लंबू,परसा,सुरेश पिन्या, सुरेश नीग्रो,जीतू (पाली),उद्धि,गिरीश,महेश तलरेजा,कुणाल, दिनेश, खान (कैम्प-4),सुमीत (सप्लायर),गिरीश (चाय) कभी लोनावला, शिरडी,कोल्हापुर,उल्हासनगर में छुप-छुपाकर सटोरिया अपने धंधे को अंजाम दे रहे है।
  • उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने किया बाइक चोरो के गिरोह पर्दाफाश ! बाइक चोरो के गिरोह का सरदार निकला गैरेज मैकेनिक !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने किया बाइक चोरो के गिरोह पर्दाफाश !

    बाइक चोरो के गिरोह का सरदार निकला गैरेज मैकेनिक !

    चोरी की 12 बाइक को किया जप्त !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर क्राइम ब्रांच की यूनिट ने बाइक चोरो के एक गिरोह के चार लोगों को गिरफ्तार किया इनके पास से चोरी की गई 12 मोटरसाइकिल भी जप्त किया है ! बाइक चोरो के गिरोह का सरदार निकला गैरेज मैकेनिक !
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर क्राइम ब्रांच की पेट्रोलिंग कर रहे तभी शहाड़ रोड़ पर एक संदिग्ध बाइक चालक दिखा जिसे जब पुलिस ने रोक कर बाइक के पेपर की जांच शुरू किया तो पता चला कि बाइक चोरी की उसके बाद पुलिस ने बाइक चालक यश आंनद राव व बाइक के पीछे बैठेअहमद रफीक शहा इन दोनो को गिरफ्तार किया उसके बाद जब इनसे पूछताछ शुरू किया तो उनसे मिली जानकारी पर सचिन बाबू पवार व प्रदीप हिरासिंग उर्फ रॉबिन को गिरफ्तार किया इनके पास से कुल 12 चोरी की बाइक को जप्त किया जिनकी बाजार में कुल कीमत 365000 रुपये बताई गई है, इन चोरो का सरदार यश राव पेशे से गैरेज मैकिनीक है चोरी करने के लिए ये अपनी मैकेनिक गिरी का इस्तेमाल किया करता था ,उल्हासनगर के क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश तरडे,पुलिस निरीक्षक मनोहर पाटिल,सबइंस्पेक्टर रशुद्दीन शेख,सालगुडे,नावले, उप सबइंस्पेक्टर , पादिर, चव्हाण पुलिस हवलदार नवले, जाधव व उनके सहयोगियों ने इस बाइक चोरी के गिरोह को पकड़े में कामयाबी हासिल किया है, वही इस गिरोह के पकड़े जाने से बाइक चोरी की घटनाओं में कमी आएगी ऐसी आशा स्थानीय लोगो ने ब्यक्त किया है !
  • आईपीएल मैच पर सट्टा लगा रहे सटोरियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    आईपीएल मैच पर सट्टा लगा रहे सटोरियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    भोपाल-आईपीएल मैच पर सट्टा लगा रहे तीन सटोरियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है की सटोरियों के पास से तीन लाख रुपये नगदी सहित आठ लाख रुपये का माल बरामद किया गया है। 
    फस्ट हेडलाइन इंडिया को मिली जानकारी के अनुसार बागसेवनिया इलाका स्थित की प्लाट नंबर 37 प्लेट नंबर 203 में लम्बे समय से सट्टा चल रहा था। पुलिस ने कल मंगलवार मुखबिर की सूचना पर मौके पर पहुच कर धरपकड़ की जहाँ से एक राजाराम शर्मा अंधेरे का फायदा उठा कर फरार हो गया वहीं तीन आरोपियो को पुलिस ने रगें हाथो गिरफ्तार किया है। जिनके पास से पुलिस ने तीन लाख रुपये नगद व दो दर्जन मोबाइल, एलईडी टीव्ही, लेपटॉप जब्त किया है। इंडिया वन समाचार को पुलिस ने बताया कि अरोपियों से पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम प्रदीप लालवानी पिता खेमचंद लालवानी उम्र 32 वर्ष निवासी जी 24 गोकुलधाम सोसायटी रोड बाईपास भोपाल, आरोपी प्रकाश चंचलानी पिता स्वर्गीय दौलतराम चंचलानी उम्र 38 वर्ष निवासी प्लॉट नंबर 37 फ्लैट नंबर 203 शिव शक्ति नगर बागसेवनिया और आरोपी रोहित प्रजापति पिता मोहन प्रजापति उम्र 30 साल निवासी 1168 दामखेड़ा सरगम कोलार भोपाल निवासी बताया जिनके पास से पुलिस ने 8 लाख रुपये का माल बरामद किया है। अरोपियों ने आगे पूछताछ में बताया की कि राजाराम शर्मा के साथ वह काम करते हैं उन्होंने ही यह क्रिकेट का सट्टा लेने का सामान दिलाया है IPL का सट्टा 7 अप्रैल से कर रहे हैं तथा सट्टे की राशि का उतारा इंदौर निवासी जयंती मामा को करते हैं BP 10 तारीख को कोलकाता नाइट राइडर्स और चेन्नई सुपर किंग के बीच हो रहे मुकाबले में करीबन 8 लाख 55 हजार रुपये के सट्टे का दाव लगा है का हिसाब-किताब राजाराम शर्मा वैजयंती मामा के पास रहता है अपराध सदर में आरोपी राजाराम वैजयंती मामा की तलाश की गई कोई पता नहीं चला अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया जा कर आरोपी से पूछताछ जारी है।
  • प्रभाग समितीयो के सभापतिओ का चुनाव हुआ सम्पन ! तीसरी बार स्थाई समिति चेयरमैन बनी जया मखीजा !

    By fast headline india →
    प्रभाग समितीयो के सभापतिओ का चुनाव हुआ सम्पन !   

    तीसरी बार स्थाई समिति चेयरमैन बनी जया मखीजा !

    सोनू छापरु और पप्पू गुप्ता समिति सभापति बने !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में आज मनपा मुख्यलय में सभापति उम्मीदवारो द्वारा अपना नामांकन पत्र वापस लेने के साथ ही दो प्रभाग समितियो का नाटकीय ढंग से चुनाव सम्पन हुआ. जिसमें प्रभाग 1से सोनू छापरु और प्रभाग 2 से पप्पू प्रभु गुप्ता समिति सभापति की कुर्सी पर विराजमान हुए.जिसमे भाजपा नगरसेविका जया प्रकाश माखीजा पहले ही निर्विरोध स्थायी समिति सभापति तीसरी बार चुनी गई है और प्रभाग समितियों के चुनाव में प्रभाग-4 में शिवसेना की ज्योति माने,प्रभाग -3 में साईपक्ष की ज्योती चेनानी चुन लिए गए थे।
     बता दे कि कि स्थाई समिति सभापती सहित प्रभाग समितियों के सभापतियों का कार्यकाल 31 मार्च को पूरा हो गया था.4 अप्रैल को स्थाई समिति सभापती सहित चार प्रभाग समितियों के लिए नामांकन पर्चा उमनपा सचिव के पास भरा गया.जिसमें भाजपा नगरसेविका जया प्रकाश माखीजा तीसरी बार स्थाई समिति सभापती पद पर निर्विरोध चुनी गयी थी वही प्रभाग समितियों के चुनाव में प्रभाग-4 में शिवसेना की ज्योति माने,प्रभाग -3 में साईपक्ष की ज्योती चेनानी निर्विरोध चुने गए.और प्रभाग समिति 1 और 2 के लिए 11 अप्रैल को मनपा सभाग्रह में पालघर जिल्हाधिकारी डॉ. प्रशान्त नारनवरे के मार्गदर्शन में प्रभाग समिति 1 से सोनू छपरु और प्रभाग समिति 2 में सभापति पद के लिए साई पक्ष से अजित प्रभुनाथ गुप्ता को निर्विरोध चुन लिया गया.हरेश जग्यसी और लक्ष्मी सुरेंद्र सिंग,भगवान शंकर भालेराव व शुभंगिनी राजेश निकम ने अपना नामंकन पत्र वापस लिए जाने से अजित गुप्ता और सोनू छपरु की रह आसान हो गयी.इस मौके पर महापौर श्रीमती मिना कुमार आयलानी , पूर्व विधायक तथा भारतीय जनता पार्टी के उल्हासनगर शहर जिल्हा अध्यक्ष श्री कुमार आयलानी तथा भारतीय जनता पार्टी साई पार्टी के नगरसेवक महेश सुखरामनी,पूर्व नगरसेवक प्रभु गुप्ता, शंकर (शैरी)लुंड,जीवन ईदनानी(उप महापौर) जमनु पुरस्वनी,मनोज लासी,कमलेश निकम,हरेश जग्यसी सहित कई नगरसेविका व पदाधिकारी उपस्तित रहे । प्रभाग समिति चुनाव में जिल्हाधिकारी डॉ प्रशान्त नारनवरे द्वारा पत्रकरो सभाग्रह को प्रवेश नही देने के आदेश से पत्रकारों में नाराजगी व्यक्त की।
  • बंडू देशमुख बने उल्हासनगर शहर मनसे नए अध्यक्ष !

    By fast headline india →
    बंडू देशमुख बने उल्हासनगर शहर मनसे नए अध्यक्ष ! 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के उल्हासनगर शहर अध्यक्ष पद पर बंडू देशमुख की नियुक्ति हुआ है .मंगलवार की सुबह मनसे प्रमुख राज ठाकरे के घर "राजगड "में यह घोषणा किया गया है.          महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के जिल्हा उपाध्यक्ष पद पर पिछले कई सालों से बंडू देशमुख के किये गए कार्यो की बदौलत ही उन्हों इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिली है . विद्यालय के विद्यार्थी ,महाविद्यालय के विद्यार्थी के अनेक प्रश्न को हल किया है , अनेक विद्यालय ,महाविद्यालय प्राथमिक सुविधा और खस्ता हाल पड़े विद्यालयों के नवनिर्माण में भी बड़ी भूमिका को अदा किया है , महानगरपालिका के अत्याधुनिक डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका को बनवाने में भी बंडू देशमुख और उनके सहकारी मनोज शेलार इनका महत्व पूर्ण योगदान है. यह तीन महलो की अभ्यासिका बनाने की संकल्पना भी देखा जाय तो बंडू देशमुख की थी . इनके द्वारा किये गए कामो को ध्यान में रखते हुए उन्हें उल्हासनगर शहर के अध्यक्ष पद पर चुना गया है !
  • भाजपा के पूर्व विधायक व जिल्हा अध्यक्ष के भाई पर 23 लाख बिजली चोरी का दर्ज हुआ मामला !

    By fast headline india →
    भाजपा के पूर्व विधायक व जिल्हा अध्यक्ष के भाई पर 23 लाख बिजली चोरी का दर्ज हुआ मामला !            

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में विधुत चोरी रोकने के लिए महावितरण प्रयत्न कर रहा है इसके लिए आये दिन छापे मारी करके विधुत चोरो को पकड़ कर उनपर कड़ी व कानूनी कार्यवाही किया जा रहा है है ! ऐसे ही एक मामले में उल्हासनगर शहर के भाजपा के पूर्व विधायक व जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी के भाई प्रकाश इनके इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाने वाली कंम्पनी पर छापा मारकर २३ लाख की बिजली चोरी करने का मामला पकड़ा गया है . इस मामले में अंबरनाथ पुलिस ठाणे में शिकायत दर्ज किया गया है.        
     बता दे कि पिछले कुछ साल पहले ही बढ़े बिजली के बिल के चलते विधुत चोरी के मामलों में बढ़ोतरी हुआ है इस का सीधा नुकसान आमजनता को भुगतना पड़ रहा है जो लोग ईमानदारी से अपना बिल भरते है. यही कारण है कि पिछले साल में राज्यभर में बिजली की बड़ी कटौती करना व उसमें हुई कमियों के लिए श्रेणीनिहाय भारनियमन करना पड़ा था . परंतु कई जगहों पर महावितरण के कर्मचारियो की मिलीभगत से विधुत चोरी हो रही है ऐसे अनेक मामले सामने आया है. उल्हासनगर शहर के ऐसे ही एक मामले में भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी के भाई प्रकाश इनके साईबाबा इलेक्ट्रॉनिक इस कारखाना है.इसी कारखाने में २३ लाख रूपये के बिजली चोरी करके महावितरण को आर्थिक नुकसान करने का मामला प्रकाश में आया है .             उल्हासनगर ओटी सेक्शन में प्रकाश आईलानी और नितिन आईलानी के अपने साईबाबा इलेक्ट्रीक इंडस्ट्री इस व्यवसाय में लगाये गए मीटर को रिमोट कंट्रोल सर्किट लगाकर बिजली चोरी कर रहे थे .पिछले दो साल से यह पूरा चोरी का मामला शुरू है . इसके आधार पर पिछले दो के कुल २ लाख युनीट की बिजली चोरी का अंदाज महावितरण विभाग ने किया है .इस यूनिट के हिसाब से महावितरण ने २३ लाख ३७ हजार ३८० रूपये का आर्थिक नुकसान होने का अनुमान लगाया है . इस पूरे मामले में अंबरनाथ पुलिस ठाणे में एफआईआर दर्ज कराया है . पुलिस ने भारतीय विद्युत कानून २००३ के कलम के तहत मामला दर्ज किया गया है. वही इस मामले में यह सवाल उठ रहा है पिछले दो सालों हो रही चोरी महावितरण के कर्मचारी और अधिकारी की नजर में क्यों नही आया , कही इस चोरी के पीछे महावितरण के किसी कर्मचारीयो की मिलीभगत तो नही है ?
  • 2 शिवसेना नेताओं की हत्या के आरोप में एनसीपी और भाजपा विधायक गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    2 शिवसेना नेताओं की हत्या के आरोप में एनसीपी और भाजपा विधायक गिरफ्तार ! 


    अहमदनगर- महाराष्ट्र पुलिस ने शिवसेना के 2 नेताओं की हत्या के मामले में सोमवार को एनसीपी विधायक संग्राम जगताप और भाजपा विधायक शिवाजी कार्डिले को गिरफ्तार किया। समर्थकों के विरोध के चलते इलाके में तनाव है और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। 
    पुलिस ने 7 अप्रैल को अहमदनगर में हुई हत्या के केस में जगताप, कार्डिले और एनसीपी के दूसरे विधायक अरुणकाका को आरोपी बनाया है। तीनों विधायकों पर हत्या की साजिश रचने का आरोप है। बता दें कि संग्राम जगताप अहमदनगर सिटी और शिवाजी कार्डिले अहमदनगर की राहुरी सीट से विधायक हैं। साजिश के तहत हत्या की गई: पुलिस - अहमदनगर पुलिस के मुताबिक, हमलावरों ने वारदात को अंजाम देने के लिए शनिवार को शिवसेना नेता संजय कोटकर और वसंत ठुबे की गाड़ियों का पीछा किया। उन्हें रोककर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। - एसडीओपी अक्षय शिंदे ने बताया कि अभी जांच जारी है। इसके बाद ही हत्या के पीछे की वजह पता चलेगी। आगे और गिरफ्तारियां हो सकती हैं। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस को 12 अप्रैल तक एनसीपी और बीजेपी विधायकों की कस्टडी मिली है। तोड़फोड़ करने वाले कई शिवसैनिक भी गिरफ्तार - शिवसेना नेताओं की हत्या के बाद अहमदनगर के समर्थ पुलिस स्टेशन में शिवसैनिकों ने तोड़फोड़ की थी। इस मामले में 40 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। करीब एक दर्जन की गिरफ्तारी हो चुकी है। उपचुनाव में भाजपा-शिवसेना को हार मिली - अहमदनगर के शाहुनगर इलाके में शनिवार को स्थानीय उपचुनाव के नतीजों के बाद शिवसेना नेता संजय कोटकर और वसंत ठुबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वारदात के बाद दोनों के शव काफी देर तक सड़क पर पड़े रहे। - बता दें कि उपचुनाव में भाजपा-शिवसेना को हराकर कांग्रेस के विशाल कोटकर विजयी घोषित हुए। वे पूर्व महापौर की हत्या के मामले में सजा काट रहे संदीप कोटकर के भाई हैं।
  • उल्हासनगर में एक युवक की हत्या !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में एक युवक की हत्या !

    दो लोग घायल निजी अस्पताल हो रहा इलाज !


     उल्हासनगर-उल्हासनगर के गोलमैदान के समीप स्थित एचपी गैस इमारत वाली बिल्डिंग हर्षा अपार्टमेंट के 2 रे महले पर रहने वाले जीतू मगनानी नामक युवक की आपसी विवाद के चलते हत्या कर दी गयी।
    उल्हासनगर पुलिस घटना स्थल पर पहुचकर पंचनामा करने में जुट गई है। सूत्रों के मुताबिक उल्हासनगर के गोलमैदान परिसर में स्थित हर्ष अपार्टमेंट रहिवाशी जीतू मगनानी ट्रांसपोर्टर मनु लंबू के यहां कैशियर का काम करता था,वही काम करने वाले रवि नामक युवक के साथ कलेक्शन को लेकर दोनों में अनबन चल रही थी,बताया जाता है कि आज दोनो के बीच इस कदर वाद-विवाद हुआ कि रवि नामक युवक ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर मन्नू मगनानी व दो अन्य लोगो पर गोलमैदान स्थित पानी की टांकी के नीचे अंधेरी जगह देखकर प्राणघातक हमला किया जिसमें जीतू की मौत हो गयी जब घायलावस्था में दिनेश उर्फ डीके नामक युवक को कल्याण के क्रिटिकेयर में एडमिट किया गया एक अन्य युवक बुरी तरह घायल है जिसे उपचार के लिए मध्यवर्ती अस्पताल में भर्ती कराया गया है।पुलिस घटना स्थल पर पहुचकर मामले की तहकीकात में जुट गई है।
  • गैंगस्टरो नया वसूली का हथियार बना RTI ?

    By fast headline india →
    नए जमाने के गैंगस्‍टर, बंदूक से नहीं RTI से करते हैं धन उगाही !

     ठाणे- मुंबई या उससे सटे उपनगरों में उगाही कभी बंदूक की नोक पर होती थी, पुलिस का कहना है कि अब वह आरटीआई के जरिए हो रही है। ठाणे और वसई में पिछले कुछ दिनों में इस संबंध में कई लोग गिरफ्तार हुए हैं। 
    अडिशनल एसपी राज तिलक रौशन के अनुसार, हमने वसई में 12 एफआईआर दर्ज की हैं। हमारी कार्रवाई जारी रहेगी।  महाराष्ट्र पुलिस से जुड़े एक सीनियर अधिकारी ने एनबीटी से बताया क‍ि कुछ आरटीआई कार्यकर्ता नए जमाने के गैंगस्टर हैं। कई आरटीआई डालकर सिर्फ डराने और पैसे उगाने का काम कर रहे हैं। कई मामलों में तो यह बात सामने आई कि कुछ राजनेता किसी के जरिए आरटीआई निकलवाते हैं। फिर वो राजनेता संबंधित विभाग को लेटर लिखते हैं और बताते हैं कि फलां-फलां सर्वे में यह- यह कमियां है। फिर उस लेटर को सर्वे वाली जमीन के मालिक यानी बिल्डर को दिखाते हैं और फिर उससे उगाही करते हैं।  पुलिस अधिकारी का दावा है कि आरटीआई का सिर्फ कुछ राजनेता ही नहीं, कई पत्रकार और वकील भी दुरुपयोग कर रहे हैं। राज तिलक रौशन कहते हैं, हमें ऐसे गलत लोगों के बारे में जानकारियां तो मिल रही थीं, पर कोई शिकायत करने को तैयार नहीं था। हमने कुछ पीड़ितों को भरोसे में लिया। जब एक ने शिकायत की और गिरफ्तारी हुई, तो फिर धीरे-धीरे और भी पीड़ित आगे आए। नामी आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली कहते हैं कि 'आरटीआई का उद्देश्य था कि गलत काम न हो और करप्शन पर पाबंदी लगे। आज जिन लोगों के नाम सुनने में आ रहे हैं, उनमें से अधिकांश नेता, कार्यकर्ता और व्यावसायिक शिकायतकर्ता हैं जो रोजाना पुलिस और मनपा अफसरों के नजदीकियों में से एक होते हैं। आरटीआई के बाद उस आवेदक की जानकारी, जिसकी पोल खुलने वाली होती हैं, उससे मिलकर पेशकश होती हैं और फिर पूरा खेल शुरु हो जाता है।  आरटीआई से इस तरह की धांधली या अन्य प्रकार की जानकारी मिलते ही यदि सरकार या अधिकारी उसे संज्ञान में लेकर कार्रवाई करे, तो मेरा दावा हैं कि किसी भी तरह की ब्लैकमेलिंग होगी ही नहीं। हर आरटीआई को ऑनलाइन किया जाए, ताकि कोई उसका दुरुपयोग न कर सके।' पूर्व विधायक विवेक पंडित का कहना है कि इस मामले में मनपा अधिकारी, पुलिस प्रशासन व हप्ता देने वाले बिल्डरों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। इस बारे में अड‍िशनल एसपी वसई राज त‍िलक रौशन ने कहा, 'हमने कुछ पीड़ितों को भरोसे में लिया। जब एक ने शिकायत की और गिरफ्तारी हुई, तो फिर धीरे-धीरे और भी लोग आगे आए।' 
  • पत्रकार के विवाद के बाद मुश्किल में कपिल ? सोनी टीवी के शो से धोना पड़ सकता है हात !

    By fast headline india →
    पत्रकार के विवाद के बाद मुश्किल में कपिल ?

    फैमिली टाइम विद कप‍िल' से हो सकती है कपिल शर्मा की छुट्टी !

     मुंबई- कपिल शर्मा एक के बाद एक विवादों में घिरते जा रहे हैं। इन विवादों का असर उनके नए शो 'फैमिली टाइम विद कप‍िल'  पर भी पड़ रहा है। इस शो के तीन एपिसोड ऑनएयर होने के बाद चौथा एपिसोड शनिवार रात टेलीकास्ट नहीं हुआ। अब रिपोर्ट्स के मुताबिक कपिल शर्मा की इस शो से छुट्टी हो सकती है। 
    आपको बता दें कि हाल ही में जर्नलिस्ट और एक्स गर्लफ्रेंड के खिलाफ कपिल शर्मा ने एफआईआर दर्ज कराई है। इसके अलावा कपिल ने जर्नलिस्ट को भद्दी-भद्दी गालियां भी दी थी।  एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक इस पूरे मामले पर द फैमिली टाइम विद कप‍िल शो के प्रोड्यूसर कप‍िल से नए शो पर मीटिंग करने वाले हैं।  ये मीटिंग कप‍िल के नए शो के फ्यूचर को लेकर होनी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक कॉमेडियन ने रानी मुखर्जी का शूट कैंसिल करने के बाद प्रोड्क्शन हाउस से कोई कनेक्शन नहीं रखा है।  चैनल ने शो की टीआरपी 2.2 अनाउंस का अंदाजा लगा था हालांकि ये 1.9 रही। जो कि अच्छी बताई जा रही है।  हालांकि शो का पहला एपिसोड अच्छा नहीं रहा है लेकिन क्रिएटिव टीम इसपर काम कर रही है। 
  • पत्रकार की न्यूज से बौखलाए कामेडीयन कलाकार कपिल शर्मा के बेतुके बोल !

    By fast headline india →
    पत्रकार की न्यूज से बौखलाए कामेडीयन कलाकार कपिल शर्मा के बेतुके बोल !


    मुंबई-मुंबई मशहूर कॉमेडियन व अभिनेता कपिल शर्मा आजकल गलत वजहों से सुर्खियों में रहते हैं। सलमान खान को जेल होने पर गाली-गलौज भरी प्रतिक्रिया के बाद अब कपिल शर्मा ने ‘स्पॉट ब्वाय’ वेबसाइट के एडीटर से गाली-गलौज की और धमकी दी है।
     एक वेबसाइट की खबर के अनुसार, कपिल शर्मा ने स्पॉटब्वॉय के पत्रकार पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि कपिल शर्मा ने पत्रकार को फोन किया और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। पत्रकार ललवानी ने घटना के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कपिल शर्मा ने न सिर्फ उसको भला बुरा कहा उसकी बेटी के लिए भी आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया। कपिल ने उसकी बेटी पर भी अभद्र आरोप लगाए। कपिल शर्मा ने डिजिटल मीडिया में उन्हें बदनाम करने के आरोप में अपनी पूर्व मैनेजरों प्रीति और नीति सिमोस तथा एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट चलाने वाले पत्रकार के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। प्रीति और नीति उनके पिछले टीवी शो ‘द कपिल शर्मा शो की क्रिएटिव निर्देशक भी रह चुकी हैं। कपिल ने अपनी शिकायत में एक पत्रकार द्वारा चलाई जा रही वेबसाइट पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया कि उनके द्वारा वेबसाइट को अत्याधिक रकम दिये जाने से इनकार करने के बाद पत्रकार ने ‘डिजिटल मीडिया में दुष्प्रचार कर उनको बदनाम करने की कोशिश की है। अभिनेता ने कहा कि उनकी नकारात्मक और खराब छवि दिखाने के लिये उनकी व्यक्तिगत जानकारी को भी लीक कर दिया गया। कपिल ने कहा कि वेबसाइट पर उनके करियर, संबंधों, मंगेतर और दोस्ती के बारे में निजी बातों को छापकर उस पत्रकार ने उनको मानसिक और भावनात्मक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। गौरतलब है कि कल अभिनेता सलमान खान का बचाव करते हुये कपिल शर्मा के ट्विटर हैंडल से कई भद्दी व अपमानजनक बातें ट्विटर पर पोस्ट की गई थीं। हालांकि, ट्वीट्स हटा दिए गए थे और उनके पेज पर यह जानकारी दी गई कि उनका अकाउंट हैक कर लिया गया था। हालांकि, कपिल ने आज खुलासा किया कि उनका अकाउंट हैक नहीं हुआ था और उन्होंने ही ये ट्वीट किये थे, जिसे बाद में उनकी टीम ने डिलीट कर दिया। कपिल ने आज ट्वीट किया, ‘मैंने जो भी लिखा था अपने दिल से लिखा था.. मेरी टीम ने ये ट्वीट डिलीट कर दिए थे, लेकिन मैं इस बिकाऊ रिपोर्टर से डरने वाला नहीं हूं। वह महज कुछ रुपयों के लिए किसी के बारे में कुछ भी लिख सकता है, बेशर्म।’
  • सल्लू मियां को मिली जमानत !

    By fast headline india →

    दबंग को मिली जमानत !

    सलमान खान को जोधपुर सेशन कोर्ट से जमानत मिल गई है !

    जोधपुर-सलमान खान को जोधपुर सेशन कोर्ट से जमानत मिल गई है. रविन्‍द्र कुमार जोशी की अदालत में सलमान खान को जमानत को जमानत दे दी गई.
    देर रात डीजे रविन्द्र कुमार जोशी के तबादले के बाद कयास लगाया जा रहा था कि सलमान खान की जमानत पर फैसला कुछ दिनों के लिए टाला भी जा सकता है. हालांकि कोर्ट के फैसले से फिलहाल सलमान खान को बड़ी राहत मिली है.
    बता दें कि अक्टूबर 1998 में दो काले हिरणों का शिकार करने के मामले में जोधपुर की एक अदालत ने गुरुवार को सलमान खान को पांच साल की सजा सुनाई थी. अदालत ने सलमान पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था. इसके बाद सलमान खान को जोधपुर सेंट्रल जेल में ले जाया गया. सलमान दो रात जेल में बिता चुके हैं. मिल रही जानकारी के अनुसार सलमान का परिवार भी जोधपुर पहुंच चुका है. उनकी बहनें अलविरा और अर्पिता पहले से ही जोधपुर में मौजूद

  • उप चुनाव में रांकपा उम्मीदवार सुमन सचदेव हुई विजयी !

    By fast headline india →
    उप चुनाव में रांकपा उम्मीदवार सुमन सचदेव हुई विजयी ! 
    दूसरे नम्बर रही टीओके-भाजपा की उम्मीदवार !


    उल्हासनगर-उल्हासनगर के पैनल क्रमांक 17 में हुए चुनाव में रांकपा उम्मीदवार सुमन सचदेव ने जीत हासील किया है । सुमन सचदेव को कुल 2690 मत मिले जब कि भाजपा टीओके के उम्मीदवार साक्षी पमनानी को 2487 मत मिले 203 मतों से रांकपा की उम्मीदवार ने विजय हासिल किया है !
    शनिवार की सुबह मतगणना शुरू हुई जिसमें टीओके-भाजपा उम्मीदवार साक्षी पमनानी, तथा राकांपा की सुमन सचदेव के बीच कांटे की टक्कर हुई और जिसमें रांकपा उम्मीदवार ने बाजी मार लिया ! गौरतलब हो कि राकांपा नगरसेविका पूजा कौर लभाना का जाती प्रमाणपत्र बोगस की शिकायत कांग्रेस की पूर्व नगरसेविका जया साधवानी ने की थी।साधवानी की शिकायत पर जाच करते हुए कोकण आयुक्त ने पूजा लभाना का जाती प्रमाणपत्र बोगस करार देते हुए डिस्क्वाली फाय करने का आदेश तत्कालीन उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर को दिया था।कोकण आयुक्त के आदेश पर उमनपा आयुक्त ने पूजा लभाना का नगरसेवक पद रद्द कर दिया था। पैनल नम्बर 17 में 20 हजार मतदाता है और शाम 5.30 बजे तक सिर्फ 38 प्रतिशत मतदान हुआ जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि उपचुनाव में मतदाताओं को मतदान के प्रति कोई दिल चस्पी नही थी। के पैनल क्रमांक 17 में हुए चुनाव में रांकपा उम्मीदवार सुमन सचदेव ने जीत हासील किया है ।
    उल्हासनगर महानगर पालिका के उप चुनाव में
    पॅनल 17 के कुल उम्मीदवारो को मिले मत इस प्रकार है
    साक्षी पमनानी(भाजप) 2487 सुमन सचदेव(राष्ट्रवादी) 2690जया साधवानी(काँग्रेस)    913अपक्ष (सोनावणे)       28 नोटा 91 कुल मतदान हुआ 6209 राष्ट्रवादी कांग्रेस उम्मीदवार ने 203 मत से विजय हासिल किया !
  • उमपा उप चुनाव में 38 प्रतिसत हुआ मतदान ! 10 लोगो पुलिस ने लिया हिरासत में !

    By fast headline india →
    उमपा उप चुनाव में 38 प्रतिसत हुआ मतदान !

     शांति पूर्ण चुनाव कराने के पुलिस ने 10 लोगो लिया हिरासत में ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के पैनल क्रमांक 17 में आज हुए उपचुनाव के प्रति मतदान को लेकर लोगो का रूझान कम था,शाम 5.30 बजे तक कुल 38 प्रतिशत मतदान हुआ।शांती-सुव्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस ने राकांपा के एक और भाजपा-टीओके के 9 लोगो  डिटेक्ट कर चुनाव सम्पन्न होने तक पुलिस स्टेशन में बैठाकर रखा।शनिवार की सुबह मतगणना शुरू होगी तब तक टीओके-भाजपा उम्मीदवार साक्षी पमनानी,कांग्रेस की जया साधवानी तथा राकांपा की सुमन सचदेव के भाग्य का फैसला ईवीएम मशीन में बंद हो चुका है।

    गौर तलब हो पैनल 17 की राकांपा नगरसेविका पूजा कौर लभाना का जाती प्रमाणपत्र बोगस की शिकायत कांग्रेस की पूर्व नगरसेविका जया साधवानी ने की थी।साधवानी की शिकायत पर जाच करते हुए कोकण आयुक्त ने पूजा लभाना  का जाती प्रमाणपत्र बोगस करार देते हुए डिस्क्वाली फाय करने का आदेश तत्कालीन उमनपा आयुक्त राजेन्द्र निम्बाल्कर को दिया था।कोकण आयुक्त के आदेश पर उमनपा आयुक्त ने पूजा लभाना का नगरसेवक पद रद्द कर दिया था।

                  पैनल नम्बर 17 में 20 हजार मतदाता है और शाम 5.30 बजे तक सिर्फ 38 प्रतिशत मतदान हुआ जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि उपचुनाव में मतदाताओं को  मतदान के प्रति कोई दिल चस्पी नही थी।उपचुनाव में भाग्य आजमाने उतरी टीओके-भाजपा की संयुक्त उम्मीदवार साक्षी पमनानी,राकांपा उम्मीदवार सुमन सचदेव तथा कांग्रेस की जया साधवानी के जय-पराजय का फैसला ईवीएम मशीन में बंद हो चुका है जिसका परिणाम कल घोषित होगा और किसके सिरहाने विजय का सेहरा बंधेगा इस पर शहर वाशियो की निगाहें टिकी हुई है।
  • लोकल ट्रेन में एक नशेड़ी ने महिला के साथ की बदसलूखी लोग बनाते रहे वीडियो,नही किया किसी ने मदत !

    By fast headline india →
    लोकल ट्रेन में एक नशेड़ी ने महिला के साथ की बदसलूखी लोग बनाते रहे वीडियो,नही किया किसी ने मदत !

    आरोपी जीआरपी ने किया गिरफ्तार ! 

     मुंबई-मुंबई में रेलवे की तरफ से लोकल ट्रेन में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर तमाम दावे किये जाते है. लेकिन गुरुवार रात को चलती मुंबई लोकल ट्रेन में एक महिला के साथ जो घटना हुई है उसने रेलवे के सुरक्षा को लेकर सभी दावों पर सवालिया निशान खड़े कर दिए है.
    गुरुवार रात को लोकल ट्रेन में महिला के साथ बदसलूखी का मामला सामने आया है.ठाणे से सीएसएमटी जाने वाली लोकल ट्रेन के हैंडीकैप कम्पार्टमेंट में एक व्यक्ति ने महिला के साथ बदसलूखी की.जब महिला ने इसका विरोध किया तो उस व्यक्ति ने महिला की जमकर पिटाई कर दी. हैरानी वाली बात तो ये है जब शख्स महिला के साथ बदसलूखी कर रहा था. उस समय डिब्बे में अन्य यात्री भी मौजूद थे. लेकिन किसीने भी महिला को बचाने की कोशिश नहीं की.बल्की वीडियो बनाने में जुटे रहे ! जानकारी के मुताबिक घटना गुरुवार रात ११ बजे की है. ठाणे सीएसटी लोकल में कुर्ला रेलवे स्टेशन दुव्यांग डिब्बे में एक नशेड़ी व्यक्ति चढ़ता है. और डीबी में बैठी एक महिला के साथ बदसलूखी करने लगता है. वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है व्यक्ति के हाथ में बोतल भी है और उसमे पानी जैसा कुछ पदार्थ है.वीडियो में दिखाई दे रहा है कि व्यक्ति सीट पर बैठी महिला के ऊपर चढ़ने की कोशिश कर रहा है. महिला के विरोध करने के बावजूद वह नहीं मान रहा. वीडियो में ये भी दिखाई दे रहा है कि दिव्यांग कम्पार्टमेंट के बगल के लेडीज डिब्बे में एक पुलिस वाला भी है, उस व्यक्ति को ऐसा करने से रोकता है लेकिन व्यक्ति नहीं मानता. बाद में दादर रेलवे स्टेशन पर रेलवे पुलिस ने उस व्यक्ति को धरदबोचा. जानकारी के मुतिबिक, जीआरपी ने IPC की 307, 354, 323, 504 धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. हालांकि, एक बात यह भी साम ने आ रही है कि आरोपी व्यक्ति पीड़िता का पति है. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है
  • बिजली चोरी करने वालो की आई सामत ! ९ लोगो के ऊपर दर्ज हुआ मामला !

    By fast headline india →
    बिजली चोरी करने वालो की आई सामत ! 

     ९ लोगो के ऊपर दर्ज हुआ मामला !

     उल्हासनगर - घर के सामने से गुजर रहे बिजली सर्व्हिस वायर को जोड़कर अनधिकृत रूप से बिजली चोरी कर इस्तेमाल करने वाले ९ लोगो को खिलाफ़ मामला दर्ज किया है. 
    महावितरण कंपनी व अंबरनाथ पुलिस सयुक्त कार्यवाही से बिजली चोरो में हड़कंप मच गया है. फिलहाल अम्बरनाथ पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है। उल्हासनगर शहर के नेताजी चौक परिसर में रहनेवाले नरेश रामचंद्र भोईर अपने घर के सामने से गुजर रहे सर्व्हिस वायर को टॅप मारकर बिजली चोरी किया करता था.जिसकी जानकारी मिलने पर पुलिस और महावितरण विभाग की टीम ने छापा मारकर बिजली चोरी का पर्दापश किया. भोईर ने ६०० युनिट कर कुल १६ हजार ६५० रुपये की बिजली चोरी को. इसी प्रकार से गायकवाडपाडा परिसर में रहनेवाले सुनील चोळेकर ने २०६ युनिट कर २६२० रुपये की बिजली चोरी की. . वैष्णवी कॉलनी उल्हासनगर -५ के सिद्दार्थ एस जोगदंड से बिजली विभाग ने २०६ युनिट कुल २६२० रुपये की बिजली चोरी पकड़ी गई.ओ टी सेक्शन , उल्हासनगर - ५ में रहनेवाले सुनील आर भोसले पर ४३० युनिट बिजली कुल ४४०७ रुपये की चोरी. > दुर्गापाडा ,उल्हासनगर - ५ के गोपाळ प्रधान द्वारा १६२ युनिट कर बिजली विभाग को १६०० रुपये का चूना लगाया.इसी परिसर में रहनेवाले मुख्तार खान को ६६० युनिट कुल ६२०७ रुपये की बिजली बिजली चोरी. गंगाबाई थाडोमल नामक महिला ने ६० युनिट.वीर सावरकरनगर उल्हासनगर - ५ परिसर में त्रिंबक पाखरे नामक व्यक्ती ने २७६ युनिट का चोरी कर २७६० रुपये की बिजली चोरी का पर्दापश किया. महावितरण कंपनी के अधिकारी जयेश यशवंत बेंढारी की शिकायत के बाद प्रमोद शहाजी जाधव ,अंबरनाथ पुलिस स्टेशन के सहाय्य्क पुलिस निरीक्षक कुंभार और बिजली विभाग के सयुक्त टीम ने बुधवार सुबह से ही कार्यवाही शुरू कर बिजली चोरी करने वालो पर कार्यवाही कर सभी के खिलाफ मामला दर्ज कर किया.मामले की जांच अम्बरनाथ पुलिस कर रही है।
  • दबंग को हुई 5 साल की जेल !

    By fast headline india →
    काले हिरण शिकार मामले दबंग को 5 साल की हुई जेल ! 

    जयपुर- आज जोधपुर की एक अदालत ने बड़ा फैसला सुनाते हुए काले हिरण शिकार मामले में अभिनेता सलमान खान को तो दोषी करार दिया और पांच साल की कैद की सजा सुनाई है!
    लेकिन इसके साथ अन्य सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया है। आपको बता दें कि 28 मार्च को इस मामले में सीजेएम ग्रामीण देवकुमार खत्री की कोर्ट में सुनवाई हुई थी, इसके बाद जज ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।दरअसल ये बात आज से करीब 20 साल पुरानी है, जब राजस्थान के जोधपुर में सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू और सोनाली बेंद्र मशहूर निर्माता-निर्देशक सूरज बड़जात्या की फिल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग कर रहे थे। इसी दौरान इन सब पर आरोप लगा कि इन्होंने काले हिरण का शिकार किया था, जो संरक्षित वन्यजीवों की श्रेणी में आता है। इसके बाद सलमान खान अरेस्ट भी हुए थे और पुलिस को सलमान के रूम से एक रिवॉल्वर और राइफल भी बरामद की थी। जिनका लाइसेंस पीरियड खत्म हो चुका था।इसके बाद 15 अक्टूबर, 1998 को वन अधिकारी ललित बोड़ा ने इस मामले में जोधपुर के लूणी पुलिस थाने में सलमान खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। जिसमें ये कहा गया कि सलमान खान ने 1-2 अक्टूबर, 1998 की रात कांकाणी गांव की सरहद पर दो काले हिरणों का शिकार किया था।बिश्नोई समाज का कहना है कि जब गोलियों की आवाज सुनकर वो लोग घटना स्थल पर पहुंचे तो वहां दो काले हिरण मृत पड़े थे, गांव वालों के बयान के मुताबिक सलमान ने ही दोनों को मारा है, जबकि बाकी उनके साथी ने उन्हें उकसाने का काम किया था।काला हिरण शिकार मामले में कुल चार केस दर्ज हुए थे। सलमान पर मथानिया और भवाद में काले हिरण के शिकार के दो अलग-अलग मामले, कंकाणी में दो काले हिरण शिकार मामला और लाइसेंस समाप्त हो जाने के बाद भी रायफल रखने (आर्म्स एक्ट) का आरोप।सलमान खान को पहली बार 17 फरवरी 2006 के दिन एक साल की सजा हुई, इसके बाद एक हिरण के शिकार के मामले में सलमान को 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा हुई, जिसके लिए उन्हें जेल जाना पड़ा लेकिन 8 दिन बाद वह जोधपुर हाईकोर्ट से बेल पर छूट गए थे।हिरण शिकार के तीन मामलों में अब तक सलमान खान 18 दिन जोधपुर जेल में रह चुके हैं, शिकार के मामले में सलमान को वन विभाग ने सबसे पहले 12 अक्टूबर 1998 में हिरासत में लिया था, इसके बाद सलमान 17 अक्टूबर तक पुलिस और न्यायिक हिरासत में रहे।काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर की सीजेएम कोर्ट ने 4 जनवरी 2018 को सुनवाई पूरी कर ली थी लेकिन इस मामले में फैसला आज के लिए सुरक्षित रख लिया था, जिसमें आज सलमान दोषी करार हुए हैं और बाकी सब दोषमुक्त।