• एमजोन कंपनी को लाखों की चुना लगाने वाले गिरोह के तार जुड़े उल्हासनगर के मोबाईल ब्यापारियों से व भाजपा नेता तक !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    एमजोन कंपनी को लाखों की चुना लगाने वाले गिरोह के तार जुड़े उल्हासनगर के मोबाईल ब्यापारियों से ! 

     भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड आफ म्युजिक,जय माता दी, मोबाईल दुकानों के मालिकों से भिवंडी क्राइम ब्रांच ने किया पूछताछ ! 

     40 लाख का माल किया बरामद ! पुलिस ने कुल १० लोगों को गिरफ्तार किया ! 

     भिवंडी -भिवंडी क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह का भांडाफोड़ किया है जो एमेजोन कंपनी को लाखों की चपत लगा दिए थे इस मामले को नारपोली पुलिस स्टेशन के क्राइम ब्रांच ने एमेजोन कंपनी के द्वारा ऑनलाइन की गई थी उसी शिकायत के आधार पर एक टीम बनाई गई. पुलिस की उस टीम ने करीब ४० लाख ५७ हजार का माल जप्त किया है जिसमें ५०० के करीब मोबाइल है और तीन लैपटॉप है,उसके तार उल्हासनगर के भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड ऑफ म्युजिक,जय माता दी मोबाईल शॉप से जुड़े होने का मामला सामने आया है ! बता दे कि क्राइम ब्रांच द्वारा पकड़े गए चोरो से मोबाइल खरीदने की रडार में उल्हासनगर भाजपा नगरसेविका के बेटे समेत साउंड ऑफ म्यूजिक, जय माता दी मोबाईल शॉप के मालिकों से पूछताछ किया और कभी इस मामले कुछ लोगो की गिरफ्तारी भी होना तय माना जा रहा है ! उक्त जानकारी सहायक पुलिस आयुक्त मुकुंद हातोटे द्वारा प्रेस कांफ्रेंस कर दी गयी है.उक्त मौके पर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शीतल राउत,जांच अधिकारी पुलिस उपनिरीक्षक रविंद्र पाटिल, संतोष चौधरी, लक्षमण जोरी, एपीआई भोलानाथ शेलके, पुलिस हवलदार राजेंद्र अल्हाट, विकास सिरसाठ, विष्णू सातपुते, राजेंद्र साबरे, बालू चौधरी, किशोर माने, रहीम शेख, रमेश शिंगे, नीता पाटिल, मेघना कुंभार आदि मौजूद थे. गौरतलब हो कि, क्राइम ब्रांच ठाणे सहायक आयुक्त मुकुंद हातोटे नें जानकारी देते हुए बताया कि, सितम्बर 2017 से जनवरी 2018 के दौरान अमेझान मोबाइल कंपनी द्वारा आनलाइन तरीके से ग्राहकों को मोबाइल होम डिलीवरी हेतु डिलीवरी डाट काम कंपनी को कार्य सौंपा था. अमेझान कंपनी के मोबाइल को ग्राहकों को होम डिलीवरी प्रदान कर रही डिलीवरी डाट काम कंपनी के फ्राड एक्ज्यूकेटिव अधिकारी मंगेश शरदराव मोहिते नें फरवरी 2018 को नारपोली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई कि, सही एड्रेस सहित अन्य कारणवश जो मोबाइल ग्राहकों तक नहीं पहुंचता ऐसे सभी मोबाइल बोरी में भरकर गोदाम में रखे जाते हैं जिसमें चोरी हुई है. क्राइम ब्रांच टीम नें वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों के कुशल मार्गदर्शन में मामले की तहकीकात कर उक्त चोरी में लिप्त 10 शातिर चोर सचिन शिवाजी पताले (32), उमेश गुलवी(22), संदीप सराफ(28), मखबूल हुसैन(19), सचिन उर्फ़ सच्चू पाटिल(26), अल्ताफ नईम हुसैन उर्फ़ लल्लू(27), म्रिगेश ध्रूब(33), जगदीश वाजे(21), आशीष दामसे(24) को अलग अलग ठिकानों से धर दबोचकर 406 मोबाइल व् 3 लैपटॉप जिसकी बाज़ार कीमत 46 लाख 57 हज़ार है बरामद किया है. सहायक पुलिस आयुक्त मुकुंद हातोटे ने बताया कि, ऑनलाइन तरीके से अमेजोन कंपनी द्वारा ग्राहकों को होम डिलीवरी हेतु डिलीवरी.कॉम को दिए जाते थे. डिलीवरी.कॉम के कर्मचारी ग्राहकों को घर पर जाकर डिलीवरी करते थे. जो मोबाइल ग्राहकों को किसी कारणवश डिलीवरी नही हो पाता था ऐसे सभी मोबाइल एकत्रित कर डिलीवरी.कॉम गोदाम में रखती थी जिसमे से शातिर चोरों द्वारा मोबाइल पीस को निकालकर फिर पैकिंग कर दी जाती थी. पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार 9 आरोपियों में से 4 कर्मचारी अमेजोन मोबाइल कंपनी एवं 4 आरोपी डिलीवरी.कॉम सहित 1 आरोपी मोबाइल खरीदी करने वाला शामिल है.

    Subjects:

  • No Comment to " एमजोन कंपनी को लाखों की चुना लगाने वाले गिरोह के तार जुड़े उल्हासनगर के मोबाईल ब्यापारियों से व भाजपा नेता तक ! "