• कोणार्क कम्पनी के कामगारों ने किया हड़ताल ! शहर भर में लगा कचरे का अंबार !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    कोणार्क कम्पनी के कामगारों ने किया हड़ताल !

    शहर भर में लगा कचरे का अंबार !

    मनपा के दावों की खुली पोल !


    उल्हासनगर -उल्हासनगर शहर की कचरा उठाने वाली कोणार्क कंपनी के लगभग 550 कामगारो ने विविध मांगो को लेकर सोमवार से हड़ताल पर चले गए है , जिसके चलते शहर का कचरा उठाने वाली ब्यवस्था पूरी तरह ठप्प पड़ गया शहर भर में हर जगह कचरों के ढेर के अंबार लगे हुए है .     
    उल्हासनगर शहर की कचरा उठाने का ठेका उल्हासनगर महानगरपालिका ने कोणार्क कंपनी को दिया है . यह कंपनी महानगरपालिका से हर एक दिन का कचरा उठाने के लिए 4 लाख 25 हजार रुपये दिया जाता है . मनपा की आर्थिक परिस्थिती घराब होने के बायजूद कंपनी को पाला पोसा जा रहा है . बता दे कि कंपनी कामगारो नाम मात्र पगार पर काम कराने का आरोप कामगारों ने आरोप किया है .       बता दे कि अभी कामगारो को 8 हजार रुपये के आसपास वेतन मिलता है जब कि केंद्र शासन के न्यूनतम वेतन श्रेणी के अनुसार इन कामगारों के अनुसार कम से कम 13 हजार रुपये वेतन मिलने ,और कामगारों को पेमेंट स्लिप दिया जाय , कुछ कामगार युनियन में काम कर रहे उनके साथ कंपनी का बर्ताव सही नही है ऐसा आरोप लढा कामगार संघटना के अध्यक्ष संदीप गायकवाड इन्होंने किया है . हमारी मांग जब तक पूरी नही होती तब तक ये हड़ताल जारी रहेगा , इन कामगारो के न्याय हक के लिये लढा संघटने के नेतृत्व में एक जुट है .       मनपा के मुख्यालय उपायुक्त संतोष देहरकर, कोणार्क कंपनी के संचालक और लढा संघटना के अध्यक्ष संदीप गायकवाड इनकी मनपा मुख्यालय में एक महत्व पूर्ण बैठक हुई परंतु किसी निर्णय पर नही पहुची है ऐसी जानकारी गायकवाड दिया है . बता दे कि एक दिन की हड़ताल में पूरे शहर के गली चौराहे व रोड़ के किनारे कचरे के अंबार लगे दिखे मनपा के आरोग्य विभाग के मुख्य स्वच्छता निरीक्षण विनोद केणी से बात किया गया उन्होंने कहा कि मनपा ने सफाई के लिए जेसीबी व दूसरी गाड़िया लगाई परंतु शहर की हालत देख कर सारे दावों की पोल खुलती नजर आ रही है !
  • No Comment to " कोणार्क कम्पनी के कामगारों ने किया हड़ताल ! शहर भर में लगा कचरे का अंबार ! "