• उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट !

     डेवलपमेंट प्लान नई अधिसूचना में प्रगट हुआ दो और कब्रस्तान !   

     उल्हासनगर- उल्हासनगर मनपा के डेवलपमेंट प्लान पर आए 137 इपी में से केवल 4 इपी पर ही विचार कर इस विनाशकारी डीपी को शहर में लागू कर दिया गया है. अब शहर के राजनेता विधानसभा चुनाव के पहले इस डीपी का किस तरह उपयोग करते है, इसपर सभी की निगाहें टिकी हुई है. कब्रिस्तान के मुद्दे पर मनपा प्रशासन की काफी किरकिरी हुई है, 24 अप्रैल को मुंबई हाईकोर्ट में कब्रिस्तान के विचाराधीन मामले पर सुनवाई थीं, शायद इसी लिए 4 इपी पर मंजूरी मिली और यह उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट दिए है ऐसा दिखने में आ रहा है !
      जनवरी 2014 में महासभा द्वारा मंजूर किए गए डेवलपमेंट प्लान पर 17 हजार आपत्ति दर्ज हुई थी. उन आपत्तियों पर चर्चा कर सरकारी मान्यता के लिए 645 आपत्तियां मुख्यालय भेजी गई थी, इनमें से 540 आपत्ति मान्य कर ली गई थी. बची हुई आपत्तियों तथा जगहों के आरक्षण को कायम रखना, सड़क चौड़ीकरण में बदलाव आदि 137 बदल इपी में सूचित किये गए. इन बदलाव पर 4 जनवरी तक कोकण भवन के सहायक संचालक नगररचनाकार प्रकाश गुप्ते के पास आपत्ति दर्ज करवाना था, जिसपर जिरह कर डीपी को अंतिम रूप दिया जाना था. महासभा द्वारा निर्णय लिए गए इपी में से रिंगरूट की इपी महत्वपूर्ण थी. तकरीबन 10 हजार परिवार को बर्बाद करने वाले इस रिंगरूट को रद्द करने की मांग सभी राजनीतिक दलों ने की थी. नगरविकास मंत्रालय ने 23 अप्रैल को एक अधिसूचना जारी की है, इस अधिसूचना में इपी 1, इपी 18, इपी 19 तथा इपी 129 इन चारों पर ही विचार किया गया एवं उसमें उचित बदल किये गए हैं. इपी स्वीकारने के बाद अंतिम डेवलपमेंट प्लान को नागरिकों के लिए दो वर्ष मनपा के दार्शनिक स्थान पर लगाया जाएगा. जिनपर निर्णय लिया गया उनमें आईडीआई, खेमाणी, तथा उल्हासनगर नंबर 5 में कैलाश कॉलोनी के भूखंड है.
  • No Comment to " उमपा के तीन कब्रस्तान चॉकलेट ठराव के बाद सरकार ने तीन कब्रस्तान के दिये चॉकलेट ! "