• आइपीएल मैच शुरू होते उल्हासनगर के पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ उनके गुर्गे हुए सक्रिय !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    आइपीएल मैच शुरू होते उल्हासनगर के पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ उनके गुर्गे हुए सक्रिय !

     एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा की रडार पर आईपीएल मैच के बड़े सटोरिया !

     मोबाईल फोन ट्रेकिंग के जरिये पकड़ा गया करोडपती सटोरिया ! 

    उल्हासनगर-आगामी 7 अप्रैल से दो महीने तक शुरू हुए इंडिया का त्योहार  आईपीएल क्रिकेट मैच को देखते सटोरियो ने अपनी मंडी सजा ली थी, बड़े बुकियों के लिए एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा मुसीबत बन चुके है। उसके बादजूद उल्हासनगर शहर नामचीन पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ व उनके गुर्गे एक बार फिर से सक्रिय हो गए है वैसे देखा जाय ये अपना धन्दा गोलमैदान के सामने पालिहिल बिल्डिंग ग्राउंड फ्लोर से चलाते है यहा पर ही रात में लाखो का जुआ भी खेलाने का काम होता है और अब क्रिकेट के सट्टेबाजी के लिए वही से अपने गुर्गे को आपरेट करने काम को अंजाम दे रहे है ये नामचीन क्रिकेट बुकी ऐसे में प्रदीप शर्मा को ऐसे लोगो पर भी कार्यवाई करने की जरूरत तभी जाकर बुकी लोगो पर लगाम लगाई जा सकेगी !
    सूत्रों की माने तो बड़े सटोरियों पर ठाणे क्राइम ब्रांच और एंटी एक्सटॉर्शन सेल (खण्डनी विरोधी पथक) ने अपनी पैनी नजर गड़ा रखी थी।बताया जाता है कि मोबाइल  फोन ट्रेकिंग के जरिये डोंबिवली के करोड़ पति बुकी उमेश (डोंबिवली) को खंडनी विरोधी पथक ने चेन्नई और कलकत्ता नाइट राइडर की मैच शुरू होते ही गुप्त स्थान से  गिरफ्तार कर लिया,उमेश (डोंबिवली) की गिरफ्तारी की खबर फैलते ही ठाणे और मुम्बई के बुकियों में हड़कंप मच गया है।                      पुलिस सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार किए गए उमेश (डोंबिवली) नामक बुकी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत एनकाउंटर किंग प्रदीप शर्मा ने अपराधिक मामला  दर्ज किया है।यहां बता दे कि बुकियों के खिलाफ पहले कॉपी राइट एक्ट के तहत मामला पंजीकृत किया जाता था इसलिए ये कुख्यात बुकीयो को  बड़ी आसानी से जमानत मिल जाती थी,लेकिन अब बुकियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस कड़े कानून का इस्तेमाल कर रही है और गिरफ्तार बुकियों के खिलाफ आउट ऑफ इंडिया का डालरों में यूज किया जाने वाला करंसी का मामला दर्ज करना शुरू कर दिया है।बता दे कि आजकल मोबाईल फोन में लंदन से चलने वाले ऑनलाइन मैच शुरू हुआ है सट्टेबाजो ने अपने पंटरों (मैच खेलियो)  से पैसा लेकर मोबाइल में ही लिमिट दे दिया है।जिस तरह मोबाइल का बैलेंस खत्म होने पर उसे रिचार्ज किया जाता है ठीक उसी तरह पंटरों के ऑनलाइन में बैलेंस खत्म होने पर बुकी पेमेंट लेकर वापस उनका अकाउंट रिचार्ज करते है।बताया जाता है कि सौदा डालरों में होता है और एक-एक हप्ते में जीता हुआ पैसा या तो पंटर रोकड़ा लेते है या उन्ही पैसों से अपना डॉलर लिमिट बढ़वा लेते है।ऑनलाइन चल रहे इस सट्टे के कारोबार पर भी अब पुलिस ने पैनी नजर गड़ा रखा है ।बताया जाता है कि उमेश (डोंबिवली) इसी ऑनलाइन का बड़ा हिस्सा है और इस बड़े बुकी ने छोटे-छोटे बुकियों सहित क्रिकेट मैच के पंटरों को ऑनलाइन मैच का लाइन दिया है। महाराष्ट्र के अलावा दूसरे राज्यो के सटोरियों के साथ भी जुड़े है यहां के बुकियों के तार;: सूत्रों के मुताबिक आज की तारीख में राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडवनिष का गृह क्षेत्र नागपुर बुकियों का बड़ा अड्डा बन चुका है। बड़े बुकियों में  मेट्रो लोटस, नुकन्जा योगी,कोठारी (एल.टी),दिल्ली की मंडी में भरत (दिल्ली) सबसे बड़ा सटोरिया माना जाता है।रिंकू (नागपुर),छोटू (नागपुर),शीबू (लाइन वाला ,राजस्थान),जूनियर कोलकत्ता,जे.के.अहमदाबाद,बंटी (अजमेर),राकेश (राजकोट) तथा टोनी (अहमदाबाद ) की गिनती सबसे बड़े बुकियों में की जाती है क्योंकि इनका रोजाना टर्न ओवर 1000 करोड़ के आस पास बताया जाता है।उल्हासनगर के छोटे-मोटे बुकी , मामा (17) ,लंबू,परसा,सुरेश पिन्या, सुरेश नीग्रो,जीतू (पाली),उद्धि,गिरीश,महेश तलरेजा,कुणाल, दिनेश, खान (कैम्प-4),सुमीत (सप्लायर),गिरीश (चाय) कभी लोनावला, शिरडी,कोल्हापुर,उल्हासनगर में छुप-छुपाकर सटोरिया अपने धंधे को अंजाम दे रहे है।
  • No Comment to " आइपीएल मैच शुरू होते उल्हासनगर के पुराने क्रिकेट बुकी बेबी सेठ उनके गुर्गे हुए सक्रिय ! "