Browsing "Older Posts"

  • मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षडयंत्र है मनपा पीआरओ भदाने का खुलासा !

    By fast headline india →
    मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षडयंत्र है मनपा पीआरओ भदाने का खुलासा !

     मेरे ऑफिस के किसी कर्मचारी को मिलाकर रचा गया यह षणयंत्र ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के पीआरओ युवराज भदाने ने आज मनपा के पत्रकार कक्ष में आकर अपने ऊपर लगे सारे आरोप सफाई देते हुए खुलासा किया कि यह मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षणयंत्र किया गया है इसके लिए मेरे विरोधियों ने मेरे आफिस के कर्मचारी को मिलाकर मेरे खिलाफ ये साजिश रची गई है सबको पता है कि मेरे खिलाफ कौन लोग है ऐसा उन्होंने कहा है ! 
    भदाणे आज उल्हासनगर मनपा में आये .तत्कालीन आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इनके कार्यकाल के समय ही विदेश जाने के लिए छुट्टी मांगी और उन्हें वो छुट्टी मिल गया था .14 तारीख को विदेश जाने से पहले ही उसी शाम को विद्यमान आयुक्त गणेश पाटील इन्होंने सभी अतिरिक्त पदभार ले लिया था जब इसकी जानकारी मिली तब तक मनपा बंद हो गई थी इस लिए फाईल जमा नही कर पाया .कॅबिन की दो चाभी है.एक कॅबिन में थी तो दुसरी मेरे पास रहता है .कॅबिन की तलाशी में मिले महाराष्ट्र शासन के मेरी फोटो लगाकर बने बोगस आयटी कार्ड मिला है .यह हमने नही बनाया किसी ने साजिस के तहत कॅबिनम में रखा था .रही बात फाईल का प्रश्न तो मेरे पास अनेक विभागो का पदभार मिला था उसी विभागों की संबंधित फाइल है इसके अलावा लीगल और मेरी खुद की फाइलें भी जो न्यायालयीन कामकाज के लिए इस्तेमाल होता है .जो ब्लेंक चेक है ये मालमत्ता टैक्स के बकाये दारो की है जिन्होंने अपनी रकम भरी लेकिन अपने चेक वापस नही ले गए वही केबिन में रखे थे किसी के भी चेक का दुरुपयोग नही किया गया है.ऐसा स्पष्ट किया इतना ही नही जो भी मुझे मनपा प्रशासन ने जिम्मेदारी दी उसको मैने पूरी लगन से अंजाम दिया है ऐसे मेरे कार्यो की सराहना करने की बजाय वादग्रस्त की प्रतिमा निर्माण किया जाता है लोगो के सामने मेरे को पावणखिंडीत गाठून बाजीप्रभू देशपांडे करने का दांव खेला जा रहा है ऐसा आरोप युवराज भदाणे इन्होंने पत्रकार कक्ष में आकर पत्रकारों बोलते समय कही है ! 

    गौर तलब हो कि युवराज भदाने हमेशा सुर्खियों में रहे है जैसे कि तत्कालीन आयुक्त निम्बालकर जाते-जाते भदाने को आयुक्त ने विशेष अधिकार दे दिया था इसी दुश्मनी के चलते आज भी एक्टरोंसीटी के आरोप में आयुक्त हाईकोर्ट व कल्याण कोर्ट के चक्कर काट रहे है।परन्तु आयुक्त गणेश पाटिल ने ऐसा नही किया और वो युवराज भदाने को हमेशा दूर रखा।जैसे ही आयुक्त गणेश पाटिल ने भदाने का पदभार वापस लिया वैसे ही भदाने अपने ऑफिस को लॉक करके उसकी चाभी लेकर छुट्टी पर चले गए ।जब इसकी जानकारी उनके प्रतिद्वंददी माने जाने वाले आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी ने भदाने की इस हरकत की शिकायत करते हुए कहा कि भदाने किस अधिकार के तहत आफिस की चाभी लेकर गये।आरोप यह भी था कि कई संदेहास्पद फाइल सहित कई दस्तावेज उनके आफिस में रखे हुए है इस आरोप के बाद शुक्रवार के दिन आयुक्त ने पीआरओ आफिस को सील लगा दिया था जिसे आज आयुक्त गणेश पाटिल ने महापौर,आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व कई अन्य पत्रकारों के समक्ष खोला गया ।आफिस का इन कैमरा पंचनामा किया गया जिसमें 128 विभिन्न विभागों की फाइल,महाराष्ट्र शासन का जारी उपायुक्त (प्रशासन) का आईकार्ड ,18 ब्लैंक चेक व शिक्षण मंडल की फाइल जब्त किया। बता दे कि गुरुवार को मनपा पीआरओ भदाने मनपा सुबह आ गए आने के बाद उन्होंने दोपहर 3 बजे के करीब मनपा के पत्रकार कक्ष में आकर सभी पत्रकारों के समक्ष अपने ऊपर लग रहे आरोप पर एक एक करके सफाई दिया और कहा कि जांच में पूरा मामला साफ हो जाएगा कि हमारे आफिस से मिली कोई भी वस्तु या फाइल गलत तरीके से या चुराकर नही रखा गया है जो भी मिला सबका लिगली जवाब है मेरे पास समय आने पर में इसका जवाब भी दूँगा रही बात चाभी की तो वो मैं नही लेकर गया था ऐसा उन्होंने स्पस्ट कहा है यह पूरा मामला मेरे प्रतिद्वंद्वी नगरसेवक भालेराव के द्वारा रची गई एक राजकीय षणयंत्र है बाकि कुछ नही है जांच के बाद सब के सामने सच आ जायेगा ! ऐसा भदाने ने पत्रकारों से कहा है !
  • मनपा मुख्यालय मनसे दो पदा अधिकारी आपस में भिड़े !

    By fast headline india →
    मनपा मुख्यालय मनसे दो पदा अधिकारी आपस में भिड़े ! 


    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के मुख्यालय में किसी अज्ञात कारणों की वजह से मनसे के दो पदा अधिकारी आपस में भिड़े मनपा के सुरक्षा रक्षको के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ !
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मनसे के जिल्हा सचिव संजय घुगे व शहर उपाध्यक्ष सचिन बेडके के बीच मनपा के मुख्यालय में लगे शिवजी महाराज के पुतले के सामने दोपहर 2,30 बजे के करीब किसी विषय पर बहस हो गई उसी को सचिन बेडके ने संजय घुगे  दोनों में हाता पाई शुरू हो गया इसको देकर लोगो की भीड़ जमा हो गया मनपा के सुरक्षा रक्षको ने बीच बचाव करके मामले को किसी तरह से शांत किया ! बहर हाल झगड़े की वजह अभी तक स्पष्ट नही हो पाया है !
  • मनपा के अधिकारियों व बिल्डरों की मिलीभगत से ५३५ करोड़ का हुआ घोटाला !

    By fast headline india →
    मनपा के अधिकारियों व बिल्डरों की मिलीभगत से ५३५ करोड़ का हुआ घोटाला !

    मनपा को फंड नही दे रहे मुख्यमंत्री - वामन म्हात्रे

     कल्याण- कल्याण डोंबिवली मनपा का ५३५ करोड़ रूपये का ओपन लैंड टैक्स, बिल्डरों और अधिकारियों की मिलिभगत से हुआ है. शहर के विकास के लिए मुख्यमंत्री पर इल्जाम लगाया जा रहा है कि मुख्यमंत्री फंड नही दे रहे हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री क्यों फंड देंगे ? ऐसा आरोप शिवसेना नगरसेवक वामन म्हात्रे ने सत्ताधारी और मनपा प्रशासन के साथ बिल्डरों पर भी लगाया है. वामन म्हात्रे ने मनपा पत्रकार कक्ष मे आयोजित पत्रकार परिषद में उक्त आरोप लगाए. साथ ही इस भ्रष्टाचार की शिकायत का शपथ पत्र भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महासंचालक व ब्यूरो थाने विमागीय अधीक्षक को देकर इसके जिम्मेदारों पर कड़ी कारवाई की मांग की है. कडोंमपा पत्रकार कक्ष मे आयोजित पत्रकार परिषद मे वामन म्हात्रे ने शपथ पत्र की प्रतियाँ पत्रकारों को देकर विस्तार से जानकारी दी कि सत्ताधारियों की सरपरस्ती में मनपा नगर रचना विभाग के अलावा कर संकलन विभाग, व बिल्डर वास्तुविद, ने परस्पर मिलिभगत से मनपा का सैकडों बिल्डरों के ओपन लैंड टैक्स का ५३५ करोड़ रूपयों को हड़पा है. म्हात्रे के अनुसार कुल १८५३बिल्डरों ने कर भरा ही नही है. लेकिन मनपा ने बिल्डरों अनापत्ति प्रमाण पत्र दे दिया है. अपने शपथ पत्र मे इतने स्तर की मनपा राजस्व की चोरी का भंडाफोड़ करने से उनकी जान का खतरा बढ़ गया है. इसके बावजूद मनपा राजस्व के चोरों का चेहरा बेनकाब कर रहे हैं. उन्होंने वर्ष १९९० से ओपन लैंड कर का ३९५ करोड़ रूपये का कर, व १९९६आज तक का५५ करोड़ रूपये का कर मनपा के नगर रचना विभाग, कर निर्धारक व कर संकलक ने ओपन लैंड का राजस्व वसूली नही की। लेकिन बिल्डरों को वापर परवाना( वैधता का प्रमाणपत्र) पत्र दे दिया है. म्हात्रे ने स्पष्ट करते हुए कहा है कि इसमे ईमारत निर्माण में अलग अलग मदों का राजस्व नही भरने पर दंड सहित कर वसूली करने से १००से १२५करोड़ रूपये का राजस्व मिलेगा. हालांकि वामन म्हात्रे ने पत्रकार परिषद मे दावा किया की पिछले दस वर्ष से मनपा की महासभा में इस राजस्व चोरी को उजागर कर रहा हूँ, लेकिन सत्ताधारी और निहित तत्वों की सांठगांठ के कारण मनपा के इस ५३५करोड़ रूपये के राजस्व का मामला दबा दे रहे हैं. ऐसा जवाब वामन म्हात्रे ने पत्रकारों के सवाल पर कि वह तो खुद ही सत्ताधारी हैं तो ऐसा क्यों हैं. विदित हो वामन म्हात्रे मनपा की स्थायी समिति सभा के तीन-तीन बार सभापति रह चुके हैं. इसके साथ ही अपने सहयोगियों पर भी आरोप लगाया की उनके अपने अपने स्वार्थ हैं. लेकिन सरासर करोड़ो रूपयों का राजस्व लुटाते हैं लेकिन शहर विकास के लिए मुख्यमंत्री पर इल्जाम लगाते हैं कि मुख्यमंत्री कल्याण-डोंबिवली के विकास के लिए फंड नही देते हैं. तल्खी से म्हात्रे ने खुद ही कहा ऐसी राजस्व चोरी करवाने वालों को मुख्यमंत्री क्यों फंड देंगे। इस तरह पूरे विस्तार से ओपन लैं टैक्स की चोरी का जानकारी देते हुए शपथ पत्र दिया है। साथ ही राज्य के प्रधान सचिव गृह विभाग, प्रधान सचिव नगरविकास, नगर विकास मंत्री, गृहमन्त्री, व मुख्यमंत्री को भी शिकायती शपथ पत्र दी है. आगे बताया कि, आर्थिक घोटाला का मुद्दा मैं १०-१२ बार महासभा में कहने का प्रयास किया लेकिन मुझपर दबाव बनाया गया. मुझे इस मुद्दे को महासभा में उठाना था लेकिन कोई अनुमोदक नही मिला. मैं स्पष्ट बोलता हु इसलिए लोग मेरी आवाज दबाने का प्रयास करते है. मनपा के अधिकारियों की मिलीभगत से ४१० करोड़ रुपये का मालमत्ता टैक्स में घोटाला किया है. इमारत के कम्प्लिशन सर्टिफीकेट माध्यम से मनपा का १२४ करोड़ रुपये से ज्यादा आर्थिक नुकसान हुआ है. बांधकाम बिल्डरों को नए इमारत बनने से पहले का टैक्स अदा करना पड़ता हैं, उसके बाद सभी टैक्स भरकर बांधकाम पूरा होने का सर्टिफिकेट लेना पड़ता हैं. (कम्प्लिशन सर्टिफीकीट) परंतु टैक्स बाकी रहते हुये प्रशासन, लोकप्रतिनिधी व अधिकारियो के मिलिभगत से लगभग १८०० लोगो को ये सर्टिफिकेट दिया गया है ऐसी जानकारी आरटीआई के माध्यम से खुलासा हुआ है ऐसा दावा म्हात्रे ने किया है. साथही मनपा प्रशासन का लगभग५३५ करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. जल्द ही ये सभी घोटाले का खुलासा होना चाहिये, पालिका अधिकारी और सबंधित अधिकारियों पर एम.आर.टी.पी. कलम से मामला दर्ज करके एन्टी करप्शन ब्यरो के माध्यम से जांच होनी चाहिए ऐसी मांग वामन म्हात्रे ने किया है.
  • आखिरकार खुला मनपा के पीआरओ भदाने का आफिस ! 18 ब्लैंक चेक,128 फाइल, 17 सी,डी ,11 रबर स्टैम्प महाराष्ट्र शासन के आई कार्ड मिलने से मचा हड़कंप !

    By fast headline india →
    आखिरकार खुला मनपा के पीआरओ भदाने का आफिस ! 

    18 ब्लैंक चेक ,दूसरे विभागों के 11 रबर स्टैंप, 128  फाइल सहित महाराष्ट्र शाशन के उपायुक्त पद का आईकार्ड मिलने से मचा हड़कंप !

     महापौर,आयुक्त ,सुरक्षा रक्षक सहित कई नगरसेवक व पत्रकारों के समक्ष किया गया पंचनामा !

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगर पालिका के तत्कालीन आयुक्त राजेन्द्र निम्बालकर के ट्रांसफर के बाद विवादास्पद जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाने को एक बार फिर से राजनीति षणयंत्र का शिकार बनाने की मंशा से टारगेट किया गया था ! इसी कड़ी उमपा की महापौर मीना आयलानी के दबाव में आयुक्त गणेश पाटिल ने युवराज भदाने का विशेष अधिकारी (अतिक्रमण विभाग) का पद भार वापस ले लिया।इसी से नाराज भदाने अपने ऑफिस की चाभी लेकर छुट्टी पर चले गए थे।जब इस बात का पता चला कि उमनपा आफिस की चाभी भदाने अपने साथ ले गए तो मानो उफान मच गया और विपक्षीय नेताओ ने भदाने पर आरोप प्रत्यारोप की झड़िया लगाते हुए इन कैमरा आफिस खोलने का आग्रह आयुक्त को किया ।नगरसेवकों के आग्रह पर आयुक्त ने इन कैमरा जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाने का आफिस खोला जिसमे उमनपा के विभिन्न विभागों की 128 फाइल,शिक्षण मंडल की फाइल,18 ब्लैंक चेक,17 सी डी,11 रबर स्टैंप तथा महाराष्ट्र शाशन के उपायुक्त पद आईकार्ड बरामद हुआ है।
     गौर तलब हो कि युवराज भदाने हमेशा सुर्खियों में रहे हुए है और अब तक के रिकार्ड में जिस उमनपा आयुक्त ने भदाने को अपने नजदीक किया वह आयुक्त हमेशा विवादों में रहा है।जैसे कि तत्कालीन आयुक्त निम्बालकर जाते-जाते भदाने को आयुक्त ने विशेष अधिकार दे दिया था इसी दुश्मनी के चलते आज भी अटरासीटी के आरोप में आयुक्त हाईकोर्ट व कल्याण कोर्ट के चक्कर काट रहे है।परन्तु आयुक्त गणेश पाटिल ने ऐसा नही किया और वो युवराज भदाने को हमेशा दूर रखा।जैसे ही आयुक्त गणेश पाटिल ने भदाने का पदभार वापस लिया वैसे ही भदाने अपने ऑफिस को लॉक करके उसकी चाभी लेकर छुट्टी पर चले गए।जब इसकी जानकारी उनके प्रतिद्वंददी माने जाने वाले आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी ने भदाने की इस हरकत की शिकायत करते हुए कहा कि भदाने किस अधिकार के तहत आफिस की चाभी लेकर गये।आरोप यह भी था कि कई संदेहास्पद फाइल सहित कई दस्तावेज उनके आफिस में रखे हुए है इस आरोप के बाद शुक्रवार के दिन आयुक्त ने पीआरओ आफिस को सील लगा दिया था जिसे आज आयुक्त गणेश पाटिल ने महापौर,आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व कई अन्य पत्रकारों के समक्ष खोला गया ।आफिस का इन कैमरा पंचनामा किया गया जिसमें 128 विभिन्न विभागों की फाइल,महाराष्ट्र शासन का जारी उपायुक्त (प्रसासन) का आईकार्ड ,18 ब्लैंक चेक व शिक्षण मंडल की फाइल आयुक्त ने जब्त किया।अब भदाने की विभागीय चौकशी की जायेगी या उनपर पुलिसिया कार्यवाही की जायेगी यह आयुक्त गणेश पाटिल पर निर्भर करता है।
  • उमपा की महापौर,व उनके बेटे निकले हाउस टैक्स डिफाल्टर ?

    By fast headline india →
    उमपा की महापौर,व उनके बेटे निकले हाउस टैक्स डिफाल्टर ?

    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगरपालिका के हाउस टैक्स वसुली करने के लिए करीब 4 बार अभय योजना लगाकर टैक्स पर लगे व्याज पर माफी किया था , कई बार नोटिस देने के बादजूद टैक्स वसुली को जैसा वसूली होना चाहिये वैसा प्रतिसाद नही मिल रहा है , महापौर मीना आयलानी इनके नेतृत्व में एक रैली निकाल कर लोगो से आवाहन किया गया था कि शहरवासियों को अपना हाउस टैक्स समय पर भर कर प्रशासन की मदत करे की अपील किया था ! परंतु आज उसी हाउस टैक्स डिफाल्टरो में महापौर और उनके बेटे के नाम पर हजारो का टैक्स बकाया होने का मामला सामने आया है, जिससे शहरवासियों में असंतोष का माहौल देखने को मिल रहा है .
    उल्हासनगर महानगरपालिके के पास पहले जकात , और उसके बाद एल बी टी यह महत्व पूर्ण उत्पन्न का श्रोत था , अभी ये दोनों ही उतपन्न बंद होने की वजह से मनपा का एक मात्र उतपन्न का जरिया है हाउस टैक्स है . शहर के व्यावसायिक और घरगुती हाउस टैक्स डुबाने वालो की संख्या बड़े पैमाने पर है . और इनको हाउस टैक्स जप्ती का नोटीस दिया कुछ ठिकानों पर जप्ती की कारवाई भी किया गया , इतना ही नही मनपाप्रशासन ने अभय योजना भी 4 बार लगा कर भारी छूट दिया फिर लोगो ने उसे भी रिस्पांस नही दिया,  हाउस टैक्स वसुली के लिए शहर की प्रथम नागरिक मीना आयलानी इनके नेतृत्व में एक रैली निकली गई जिसमें प्रशासकीय अधिकारी , कर्मचारी, स्कूल के विद्यार्थी व अनेक मान्यवर सामील हुए थे , इस रैली के माध्यम से शहरवासियों से उनके हाउस टैक्स भरने का आवाहन भी किया गया था . परंतु रैली की अगुआई करनी वाली महापौर मीना आयलानी ही अपना टैक्स खुद ही नही भरती है ऐसा मामला सामने आया है , महापौर के पुत्र धीरज आयलानी ये भी टैक्स डिफाल्टर है यह भी सामने आया है .       महापौर मीना आयलानी इनका उल्हासनगर-2 में सचदेव कॉम्प्लेक्स इस बिल्डिंग के, पहला महला पे चॉईस कलेक्शन यह दुकान है . इस दुकान 755 स्क्वेअर फूट है जिस हाउस टैक्स क्रमांक 11BO018326000  है . इस हाउस टैक्स का व्यावसायिक टैक्स पिछले दो सालों का भरा नही गया कुल 31,589 रुपये टैक्स बकाया है . तो महापौर के बेटे धीरज आयलानी इनका भी उसी बिल्डिंग में दुकान है. उसका हाउस टैक्स क्रमांक 11BO18325900 है . इस दुकान का भी 57,317 रुपये टैक्स बकाया है . पिछले चार सालों से धीरज आयलानी इन्होंने भी हाउस टैक्स नही भरा है . बता देे की
    हाउस टैक्स डुबाने ने वाले की यादी में कई बड़े नेताओं का नाम है उनमें एक नाम उपमहापौर जीवन ईदनानी का भी जो मामला अभी न्यायालय में है .ऐसे इस डिफाल्टरो की लिस्ट में महापौर का नाम आने से महापौर पद की गरिमा भी धूमिल हो रही है ऐसी प्रतिक्रिया शहरवासियों के द्वारा व्यक्त कि जा रही है . इस विषय में जब महापौर मीना आयलानी से बात किया गया तो उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी में मेरा व मेरे बेटे के नाम पर कोई टैक्स बाकी नही है ऐसा स्पष्ट कहा है . 
  • मह‍िला ने शिक्षक दोस्त को सबक स‍िखाने के लिए भेजा फर्जी एसीबी अध‍िकारी, पुल‍िस ने क‍िया अरेस्‍ट !

    By fast headline india →
    मह‍िला ने शिक्षक दोस्त को सबक स‍िखाने के लिए भेजा फर्जी एसीबी अध‍िकारी, पुल‍िस ने क‍िया अरेस्‍ट ! 

     ठाणे-ठाणे में एक गिरोह खुद को एसीबी (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) का अधिकारी बताकर एक निजी क्लासेस में घुस गया था और क्लासेस को खाली कराने के बाद शिक्षक पर हमला कर दिया था. इस मामले में पुलिस ने पांचों फर्जी एसीबी अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है. इनमे से 4 अंधेरी और 1 घोडबंदर रोड निवासी बताए गए हैं. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में से एक का पीड़ित शिक्षक के साथ संबंध था. आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि शिक्षक का कई लड़कियों के साथ अवैध संबंध हैं. शिक्षक ने कई लड़कियों के साथ छल कर चूका है. ऐसे में इसे सबक सिखाने के लिए यह कदम उठाना पड़ा. 
    मिली जानकारी के अनुसार नौपाडा के वीर सावरकर पथ पर एक्सल कॉमर्स नामक निजी क्लासेस चलता है. इस क्लासेस में  ब्रम्हांड निवासी 39 वर्षीय  एल्विन जेवियर पी. परवेज नामक शिक्षक बीते दिनों छात्रों को पढ़ा रहा था. उसी समय 5 लोगों का एक गिरोह क्लासेस में आया और खुद का परिचय भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों के रूप में दिया. उन्होंने कहा कि हमारे इंचार्ज नीचे गाड़ी में बैठे हुए हैं ऐसे में पूछताछ के लिए उसे साथ नीचे चलना होगा. जबकि शिक्षक ने नीचे उतरने से साफ इंकार कर दिया. इससे भड़के पांचों ने शिक्षक की जमकर पिटाई कर दी. पिटाई करने के बाद पांचों वहां से चले गए. इसके बाद शिक्षक ने पांचों के खिलाफ नौपाडा पुलिस थाने में मामला दर्ज करा दिया था. पूछताछ में शिक्षक को पुलिस ने जानकारी दी थी कि पांचों का उसके साथ किसी तरह का परिचय नहीं है. इसके बाद नौपाडा पुलिस ने जांच शुरू की और जानकारी के आधार पर पांचों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस में दर्ज है धोखाधड़ी का मामला गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अंधेरी निवासी मोहित मदन वर्मा,मनोजकुमार मदन मोहन प्रसाद,मिथिलेश कुशेसर मुखिया, सुरज चांद पवार और घोडबंदर रोड के बालकुम निवासी मयूर शेखर राणे के रूप में हुई है. पुलिस के मुताबिक अंधेरी निवासी चारों आरोपियों के खिलाफ इससे पहले भी थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है. जबकि बालकुम निवासी मयूर का पहले अपहरण हो चूका है. पुलिस का कहना है कि मयूर का इस मामले में किसी तरह का संबंध नहीं है. पूछताछ में मयूर ने बताया है कि उसके महिला दोस्त और शिक्षक का संबंध था. कुछ समय एक बाद उनका यह रिश्ता टूट गया. मयूर ने बताया है कि परवेज का कई और लड़कियों से संबंध थे, उन्हें भी शिक्षक ने इस तरह फंसा कर रिश्ता समाप्त  कर लिया था. ऐसे में उसे सबक सिखाने के लिए इस तरह का कदम उठाना पड़ा था.
  • ग्रामसेवक की वीडियो के कार्यालय में गुंडागर्दी ! शिकायत कर्ता को धमकाने का है ये मामला !

    By fast headline india →
    ग्रामसेवक की वीडियो के कार्यालय में गुंडागर्दी !

     शिकायत कर्ता से शिकायत वापस लेने के कार्यायल बंद कर धमकाया !

    म्हारल ग्राम पंचायत की हद में बन रही अवैध बिल्डिंग !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के पास म्हारल ग्राम पंचायत के वार्ड क्र.१ की हद में मालखान कंपाउंड के पास एक सार्वजनिक शौचालय का काम पिछले एक साल से लंबित हैं।इसकारण स्थानीय निवासियों और खासकर महिलाओं को इसकी वजह से काफी तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है। दूसरी तरफ यहाँ पर अवैध निर्माण का काम जोरों पर चल रहा है,इन दोनो प्रकरणों की जानकारी और शिकायत करने संजुलाल हीरालाल जाधव ग्राम पंचायत कार्यालय में गए थे। इसके लिए उन्होने आर टीआई द्वारा सभी कागजात मांगे थे।इस संदर्भ में उन्होंने ग्रामसेवक उदय शेलके के खिलाफ में जिला परिषद ठाणे में शिकायत दर्ज कराई है।
    इस शिकायत के मद्देनजर जिला परिषद ने उदय शेलके के खिलाफ जांच करके उसका रिपोर्ट पेश करने का आदेश २१ मई को दिया था।इसी बीच पंचायत समिति गट विकास अधिकारी कार्यालय कल्याण में जांच के संदर्भ में संजूलाल जाधव और ग्रामसेवक उदय शेलके आए थे।तभी शेलके ने संजूलाल जाधव से धक्कामुक्की करने लगा और धमकी दी कि तू मेरे खिलाफ शिकायत करके आर टीआई निकाल रहा है,मैं तेरे हाथपैर तोड़ डालूंगा।इस प्रकरण में जाधव ने शेलके के खिलाफ महात्मा फुले पुलिस स्टेशन कल्याण में शिकायत दर्ज कराई है।पुलिस ने इस मामले में २५ मई को शेलके के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मामला दर्ज किया है। इस संदर्भ में जब शेलके से संपर्क किया गया तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।इस संदर्भ में पत्रकारों से बातचीत में जाधव ने बताया कि महारल ग्राम पंचायत में लोगों को विकास कार्य और सुविधा ग्रामवासियों को नहीं मिल रही हैं।यहां पर ग्राम पंचायत के कुछ भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध निर्माण कार्य हो रहे हैं।जब इनके खिलाफ शिकायत की जाती हैं तो ये धमकियां देने लगते हैं, लेकिन मेरे लगातार कोशिश से भूमाफियाओं और भ्रष्ट अधिकारियों में खलबली मची है, इस संदर्भ में शासन को ध्यान देना आवश्यक है।
  • उल्हासनगर में गुंडाराज ! गुंडो का चाय का बिल देने से मना करने वाले नाबालिक को गुंडो ने पीटा फिर किया अपरहण,लूटपाट,सिगरेट दिए चटके !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में गुंडाराज ! 

    चाय का बिल देने से किया मना तो गुंडो ने सरेआम नाबालिक को पीटा फिर किया अपरहण,लूटपाट,सिगरेट दिए चटके !

    आरोपी है पुलिस के खबरी इस लिये पुलिस नही कर रही कार्यवाई रिश्तेदारो ने लगाया आरोप !

    उल्हासनगर – उल्हासनगर नम्बर पांच में चाय का बिल देने से मना करने वाले नाबालिग लड़के से मारपीट व उसका अपहरण करके उसके पास रखे पैसे व उसके गले से चैन लूटने का मामला सामने आया है यह पूरा मामला एक दुकान में लगे सी सी टी वी रिकार्ड हुआ जिसमें साफ दिखाई दे रहा कुछलोग एक लड़को बुरी तरह से पीट रहे है ! इस मामले में हिलाइन पुलिस स्टेशन में 15 लोगो के विरुद्ध मामला दर्ज हुआ है .
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सागर पवार व उसका दोस्त कँम्प क्रं पाच के मठमंदिर के पास की चाय की दुकान पर चाय पीने गए थे . वही पहले से ही आकाश,राजु,पिंट्या व उसके और गई दोस्त भी चाय पी रहे थे. बता की जब सागर पवार ये अपना चाय का बिल देने गए तभी आकाश ने अपना व साथियों का चाय का बिल देने को कहा तो सागर ने सीधे कहा कि जब मै तुम्हे पहचानता ही नही तो तुम्हारे चाय का बिल हम क्यो दे बस इतना बोला इसके बाद इससे नाराज आकाश व उसके दोस्तों सागर को मारना शुरू कर दिया जिसके हाथ में जो लगा जैसे कोई लकड़ी डंडा तो कोई पत्थर कोई फाइट से उसके ऊपर धावा बोल दिया . यह पूरी वारदात वहा के दुकान में लगे सी सी टी वी के कैमरे में कैद हो गया फुटेज में यह भी दिखाई दिया कि पिटाई करने के बाद उस लड़के को जबरजस्ती अपने मोटरसाइकिल बैठाकर उसका अपहरण करके उसे सह्याद्री नगर यहाँ लाये यह पहले १०/१५ लोगो ने सागर को बेस बाँल के बैट पीटा फिर उसको जबजस्ती दारू पिलाया और सिगारेट के चटके दिए और फिर उसके पास रखे ८ हजार ५०० रुपये व उसके गले की सोने की चैन को जबजस्ती ले लिया फिर बोला इस बारे में किसी को कुछ बोला तो जान से मारने की धमकी दी उसे घायल अवस्था में छोड़ करके फरार हो गए .यह पूरा मामला सी सी टी वी रिकार्ड होने की वजह से इस मामले में हिललाइन पुलिस ने मामला दर्ज किया फुटेज में दिख रहे आरोपी आकाश, पिंट्या,राजु व अज्ञात १५ लोगो के विरूद्ध अपहरण करके हत्या करने का प्रयास व लूटपाट करने का मामला दर्ज किया है इस में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया है परंतु इस घटना को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी आकाश,पिंट्या व उसके दोस्त अभी फरार है इस मामले की जांच API रविंन्द्र करौती कर रहे है . सागर के रिश्ते दारो ने लगाया पुलिस पर गंभीर आरोप,,,,, आकाश यह पुलिस का खबरी है और वह हर दिन हिललाईन पुलिस स्टेशन आता जाता है और अभी व पुलिस के संपर्क में है यही कारण वह इसी का फायदा लेकर लोगो दमदाटी करके लोगो को झूठे मामले फंसवाने का काम करता है और पुलिस के नाम पर वसूली भी करता है उसको पता है कि पुलिस उसका कुछ कर नही सकती इसी का फायदा उठाकर रात में लुटपाट करके उनके साथ मार पीट भी बिंदास करते है आकाश,पिंट्या,राजु ये आज भी पुलिस के संपर्क पुलिस उनको मदत कर रही ऐसा आरोप सागर के रिश्ते दारो ने किया है अब पुलिस को इन आरोपो को गलत साबित करना है तो जल्द से जल्द सभी आरोपियों को पकड़ उनको सलाखों के पीछे पहुचा कर कड़ी सजा दिलाये तभी यह आरोप गलत समझा जाएगा पुलिस का अगला कदम क्या होता ये तो आने वाला समय ही बताएगा !
  • आर पी आई नगरसेवक को उमपा के सुरक्षा रक्षक से भिड़ना पड़ा महंगा सुरक्षा रक्षक ने जमकर लगाई फटकार !

    By fast headline india →
    आर पी आई नगरसेवक को उमपा के सुरक्षा रक्षक से भिड़ना पड़ा महंगा सुरक्षा रक्षक ने जमकर लगाई फटकार ! 

    नगरसेवक ने मनपा आयुक्त को लिखित शिकायत देकर की कार्यवाई की मांग !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के नगरसेवक व आर पी आई (आठवले गट) उल्हासनगर शहर अध्यक्ष भगवान भालेराव ने आज मनपा आयुक्त को लिखित शिकायत दिया कि उनके साथ मनपा के एक सुरक्षा रक्षक ने अपशब्द भाषा का इस्तेमाल किया इस लिए उस पर मनपा प्रशासन के द्वारा कार्यवाई किया जाय !
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले गुरुवार को जिला परिसर सदस्य का चुनाव था जिसकी वजह मनपा परिसर में गाड़ी पार्किंग नही करने का आदेश चुनाव अधिकारी ने दिया था उसी दिन उमपा के भाजपा नगरसेवक डॉ, प्रकाश नाथानी ने मनपा कैम्पस में गाड़ी पार्क कर दिया इसी को लेकर जब सुरक्षा रक्षक रविंद्र भोईर ने गाड़ी वहाँ नही पार्क करने को कहा तो उससे नाराज नाथानी ने सुरक्षा रक्षक को उल्टा पुल्टा शब्द बोला जिससे नाराज भोईर ने भी नाथानी से मुंह मारी हो गई तभी वहां पर आए भगवान भालेराव ने अपनी हेकड़ी दिखाते हुए बीच बचाव करने के बहाने भोईर को डांट फटकार लगाना शुरू किया फिर क्या यह इसका करारा जवाब देते हुए सुरक्षा रक्षक भोईर ने भी भालेराव को जमकर फटकार लगाई काफी देर चले इस वाद विवाद में दोनों ने एक दूसरे को काफी खरी घोटी सुनाई बाद में दूसरे सुरक्षा रक्षक ने बीचबचाव करके मामले को शांत किया और वाद विवाद शांत हुआ ! उसी को लेकर 25 मई अपने लेटर हेड पर लिखित शिकायत भगवान भालेराव ने मनपा आयुक्त को देकर सुरक्षा रक्षक रविंद्र भोईर पर कार्यवाई की मांग किया है मनपा प्रशासन अब इस मामले पर क्या कार्यवाई करती है यह तो सोमवार को ही पता चलेगा !
  • डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका का आज हुआ उद्धाघटन !

    By fast headline india →
    डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका का आज हुआ उद्धाघटन ! 

      श्रेय लेने के लिए जल्द बाजी में महापौर ने किया उद्धघाटन ?  

     उल्हासनगर -उल्हासनगर में साडे पाच करोड़ रुपये खर्च करके महानगरपालिका ने भव्य डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका का महापौर मीना आयलानी इनके हाथों द्वारा उद्धघाटन किया गया है .बता दे कि अभी तक इस पुस्तक की लाइब्रेरी में कोई भी सुविधा और विद्यार्थियों के लिए पढ़ने वाली किताबे उपलब्ध नही है , बिना सुविधा के ही महापौर ने सिर्फ श्रेय लेने के लिए जल्द बाजी में इसका उद्घघाटन का कार्यक्रम आयोजित किया है ऐसा लोगो के द्वारा आरोप लगाया जा रहा है.       उल्हासनगर - 3 के फालवर लाईन परिसर में मनपा के 29 नंबर विद्यालय के प्रांगण में 3 महले का डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका (लाइब्रेरी ) को बनाया गया है कुल 30 हजार स्केयर फूट में यह निर्माण किया गया जिसको बनाने के लिए साडे पाच करोड़ रुपये खर्च किया गया है . इस भव्य इमारत को बनाने का ठेका ठेकेदार सुनील पिंपळे , अभियंता भूषण पाटील इनके के उत्कृष्ट काम किया गया है . 2 साल पहले मनसे के शहराध्यक्ष बंडू देशमुख इन्होंने इस अभ्यासिका (लाइब्रेरी) की संकल्पना की थी उस समय तत्कालीन महापौर अपेक्षा पाटील , उपमहापौर, पंचशीला पवार, और स्थायी समिती सभापती राजश्री चौधरी इन्होंने इसके बनाने के लिए प्रशासन से मांग किया था .       इस अभ्यासिका यूपीएससी, एमपीएससी, और दूसरे स्पर्धा परीक्षा में मार्गदर्शन के लिए पुस्तके, विद्यार्थियों को मोफत सी सी सी ( केंद्र सरकार में नोकरी व आवश्यक समकक्ष परीक्षा ) और एमएसीआयटी ( राज्य सरकार और अन्य नोकरी आवश्यक संनलग्न परीक्षा ) इसका प्रशिक्षण , गरीब और मध्यमवर्गीय विद्यालय और महाविद्यालय के विद्यार्थियों को मार्गदर्शक ऐसी अभ्यासक्रम और सामान्य ज्ञान की पुस्तक, महान व्यक्ती और विचारवंत इनकी किताबे, आत्मकथा  ऐसी सभी किताबो का समावेश हो ऐसी अपेक्षा है . परंतु ऐसा किसी प्रकार की सुविधा अभी उपलब्ध नही है , केवळ सभागृह, अभ्यासकेंद्र , संगणक कक्ष इनका ही बांधकाम किया गया है , संगणक , वायफाय, एसी, दूरध्वनी,  पानी की व्यवस्था, प्रशिक्षित शिक्षक, स्टाफ अभी उपलब्ध नही है इसके बायजूद आज महापौर मीना आयलानी, इनके हाथों , डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका उद्धघाटन किया गया है .सिर्फ इस अभ्यासिका का श्रेय लेने के लिए जल्द बाजी उद्धघाटन का कार्यक्रम किया गया ऐसा आरोप महापौर हो रही है .इस कार्यक्रम में शहर के राजकीय नेते व इतर मान्यवर ने दूरी बना कर रखी थी .       इस कार्यक्रम में मनसे शहराध्यक्ष बंडू देशमुख इन्होंने खुलकर अपनी नाराजी व्यक्त किया .उन्होंने कहा कि डॉ बाबासाहेब आंबेडकर इनके नाम पर यह अभ्यासिका सुरू किया है परंतु अभ्यासिका में डॉ बाबासाहेब आंबेडकर का पुतळा नही है , उनको मिली पदवी इसका शो केस  प्रदर्शनी बना चाहिय था , इस अभ्यासिका में लाखो की संख्या में किताबे उपलब्ध होनी चाहिए थी तो मात्र उपलब्ध नही है, स्टाफ उपलब्ध नही है.       
  • प्रभाग अधिकारी और कर्मचारियों की होगी बदली ?

    By fast headline india →
    प्रभाग अधिकारी और कर्मचारियों की होगी बदली ?  


     अवैध बांधकाम मामले में बढ़ती शिकायतों की वजह से उठाया गया ये कदम ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर मनपा के चारो प्रभाग के अधिकारी और मुकादमो के ऊपर लगते अवैध बांधकाम को संरक्षण देने व मिली भगत के लगते आरोप को ध्यान में रखकर अधिकारी और कर्मचारियों के बदली करने संकेत प्रशासन के पास से मिला है . मनपा आयुक्त गणेश पाटील इनके नेतृत्व में इस विषय पर आज एक मीटिंग हुई जिसमें इनकी कार्य प्रणाली के विषय पर चर्चा हुई जिसके चलते सभी कर्मचारियों के चेहरों पर यह सिकन देखने को मिला है .    
      पिछले कुछ दिनों से उल्हासनगर महानगरपालिका के चारो प्रभाग में हो रहे अवैध बांधकाम और उसमें हो रहे भ्रष्टाचार के आरोप की वजह से मनपा प्रशासन की फजीहत हो रही है . तीन महीने पहले ही मनपा आयुक्त गणेश पाटील इन्होंने पदभार ग्रहण किया है . पदभार स्वीकार करने के कुछ दिनों बाद ही एक महिने की छुट्टी पर चले गए थे , जिसके चलते प्रशासन पर किसी का कोई नियंत्रण नही रह गया था . शहर के चारो प्रभाग में बड़े पैमाने अवैध बांधकाम सुरू होने की शिकायतें मनपा आयुक्त के पास आ रही थी , जिसमें बड़े पैमाने पर कल्याण - अंबरनाथ रोड़ के दोनों बाजू में हो रहे अवैध बांधकाम का समावेश है जिसमें इन अवैध बांधकामो को अधिकारी और कर्मचारी संरक्षण देकर भ्रष्टाचार करने का आरोप भी लगने लगा है .       मनपा आयुक्त गणेश पाटील छुट्टी से वापस आते ही उन्होंने मुख्य कार्यकारी अधिकारी पर प्रभारी पदभार मिले अधिकारी युवराज भदाणे इनका पदभार निकाल लिया , उसके बाद फाईलचोरी मामले में नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी इनके विरुद्ध तुरंत मामला दर्ज करने का आदेश अपने सहयोगी अधिकारियों को दिए . आयुक्त की तुरंत एक्शन के चलते रामचंदानी इनके विरुद्ध कठोर कारवाई होना संभव हुआ ऐसी चर्चा शहर भर में है.       आयुक्त गणेश पाटील इनके रडार पर अब प्रभाग अधिकारी और कर्मचारी है , बता दे कि कुछ अधिकारी और कर्मचारी कई सालों से एक ही जगह पर कुंडली मार कर बैठे है अब इन अधिकारी और कर्मचारी की बदली करने का निर्णय आयुक्त लेने वाले है ऐसा संकेत अभी मिल रहा है . इस विषय पर जब मुख्यालय उपायुक्त संतोष देहरकर इनसे बात किया गया तो उन्होंने इस पर बताया कि इस विषय को लेकर आयुक्त ने आज सुबह ही एक मीटिंग लिया जिसमें सभी अधिकारियों के कार्य प्रणाली को लेकर चर्चा हुआ और इसमें यह निर्णय लिया गया कि प्रभाग अधिकारी, बिट मुकादम और कर्मचारी इनकी बदली करने की जरूरत है जिसमें बिट मुकादम इनकी बदली लॉटरी पद्धधती से करने की बात देहरकर इन्होंने कहा है . 
  • तीन और दो के प्रभाग अधिकारियों की लगी केबी रोड़ की लॉटरी !

    By fast headline india →
    तीन और दो के प्रभाग अधिकारियों की लगी केबी रोड़ की लॉटरी !

    रोड़ कटिंग की आड़ में बन रहे अवैध आर सी सी निर्माणों लाखो कर रहे वसूली ?

    मनपा आयुक्त की चुप्पी के पीछे का क्या है राज !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका के दो और तीन प्रभाग के अधिकारियों के संरक्षण में केबी रोड पर बन रहे अवैध आर सी सी निर्माण जिस पर मनपा आयुक्त की चुप्पी पर भी बड़ा सवाल उठ रहे है ! क्यो बन रहे अवैध निर्माण पर मनपा प्रशासन मूक दर्शक बना हुआ है क्या पैसे लेकर करवाया जा रहा है यह अवैध निर्माण ? तीन और दो के प्रभाग अधिकारियों की लगी केबी रोड़ की लॉटरी !

    गौरतलब हो कि केबी रोड़ को 100 फुट का रोड़ बनाने के लिए मनपा प्रशासन के द्वारा तोडू कार्यवाई किया गया था जिसमें ब्यापारीयो को काफी नुकसान उठाना पड़ा था ! आज उसी का फायदा उठाते हुए जिनका
    200 फुट गया था वो व्यापारी ने कानून का मखौल उड़ाते हुए सांठगाठ करके 3000 फुट का बांधकाम शुरू कर दिया गया है।जब तक मनपा की बाग डोर आयुक्त निम्बालकर के पास थी तब तक सब ठीकठाक था परंतु उनके जाते ही नवनियुक्त आयुक्त गणेश पाटिल पदभार ग्रहण करते ही जैसे अवैध निर्माण करने वालो की तो मानो लॉटरी लग गयी ।केबी रोड पर जी + 1 की बजाय जी +3 बनने लगा केबी रोड पर ठेका लेने वाला हर ठेकेदार नेताओ का बंधन कारक है।इसलिए प्रशासन आँखें मूंद करके बैठ गया।नए कमिश्नर पाटिल साहब ट्रेनिंग से वापस आ गए और उन्होंने महापौर के दबाव में सबसे पहले युवराज भदाने को ही डोमिनेट कर दिया । केबी रोड पर जहां 30 महीने पहले पतरे वाली दुकान थे अब वहां आलीशान बहुमंज़िली मार्केट का निर्माण शुरू है।
    धड़ल्ले से कानून की धज्जियां उड़ाते हुए दो मंज़िली, चौमंज़िली इमारतें बनाई जा रही हैं।अवैध निर्माण करने में उल्हासनगर के ठेकेदारों ने चीन देश की बांधकाम की क्षमता को तेजगति से पीछे छोड़ दिया है।इतनी रफ्तार से बनाई हुई अवैध इमारतों का भविष्य में क्या होगा ये आगे आनेवाला वक्त ही बताएगा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केबी रोड़ पर जिनका कुछ नही गया उनका आर सी सी अवैध निर्माण जोरो पर चल रहा है इन कामो के लिए प्रभाग तीन के वार्ड आफिसर नंदलाल समतानी और तीन के वार्ड आफिसर प्रबोधन मेवाड़े ने हर काम से लाखों रुपये लेने की बात भी सामने आ रहा है ऐसा उन्ही ठेकेदारों के द्वारा चर्चा करते लोगो ने सुना जिनके काम केबी रोड़ की आड़ में चल रहा है आम लोगो में ऐसी चर्चा है कि मनपा आयुक्त गणेश पाटिल को भी ये लोगो ने मैनेज किया है ! बहरहाल पर्दे की पीछे की सच्चाई क्या है ये तो वही लोग जानते है जिनके ऊपर प्रशासन चलाने की जिम्मेदारी है अगर इन आरोपो को गलत साबित करना है तो समय रहते केबी रोड़ कटिंग की आड़ में बन रहे अवैध निर्माण पर कार्यवाई होगी तभी जनता को लगेगा कि ये सारे आरोप बे बुनियाद है अन्यथा जनता को तो अभी तक लग रहा है कि दाल में कुछ काला है !

  • प्रभाग तीन सभापति नगरसेविका चैनानी के पति व बेटे पर लगा अवैध वसूली करने का आरोप ?

    By fast headline india →
    प्रभाग तीन सभापति नगरसेविका चैनानी के पति व बेटे पर लगा अवैध वसूली करने का आरोप ? 

     अवैध निर्माण व हाथगाडी वाले से धन उगाही का है ये मामला !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर प्रभाग समिति 3 की सभापति नगरसेविका ज्योति चैनानी को बनाया गया है परंतु आज उनके पति और बेटे ने प्रभाग समिति पर एक क्षत्र राज बना लिया है सभापति के नाम से ये दोनों अपने प्रभाग में खुलकर अवैध वसूली करने में जुटे है यही नही खुद अवैध निर्माण बनाने में भी जुटे है ऐसा आरोप नरेश गायकवाड़ ने लगाया है उन्हों मनपा आयुक्त को दिए लिखित पत्र में ऐसा आरोप किया है ! एक अवैध निर्माण करने वाले ठेकेदार नाम न छापने की शर्त बताया कि बाप अलग पैसा लेता बेटा अलग पैसा लेता है नही देने पर ठेकेदार के द्वारा बनाया जा अवैध निर्माण तोड़वाने की धमकी भी देते है !
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रभाग समिति 3 की चेयरमैन जब से नगरसेविका ज्योति चैनानी को मिला तब से ही उनके पति रमेश चैनानी व उनके सुपुत्र कैलाश चैनानी ने प्रभाग समिति कार्यायल पर एक क्षत्र राज्य स्थापित करके अवैध वसूली करने की बात सामने आ रही है ! बता दे कि जब सभापति पद ग्रहण किया तभी से इस प्रभाग समिति के अंदर सबसे ज्यादा अवैध निर्माण शुरू है इन अवैध निर्माणों से मोटी रकम लेकर ये लोग उन्हें संरक्षण देने का काम कर रहे है ऐसा आरोप स्थानीय समाज सेवियों के द्वारा किया गया है! पैनल क्रमांक 16 के रहवासियों में भी अपने इस नगरसेविका के खिलाफ जनाक्रोश देखने को मिल रहा है इस वार्ड के लोगो की पानी सप्लाई की काफी समस्या है बता दे कि बैरेक नम्बर1602,1604,1659 और1663 इन जगहों पर रहने वाले लोग को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है यही कारण है यहाँ के रहवासियों के द्वारा चैनानी बाप बेटे को लोगो ने कुछ दिन पहले ही पकड़ा था और जनता के गुस्से का शिकार होना पड़ा था कैसे तो ये बाप बेटे वहाँ निकले में कामयाबी मिली नही तो उस दिन जनता इनके साथ कैसा सलूक करती वो तो जनता ही जानती है पैनल के रहिवासियों का ये भी आरोप है कि ये बाप बेटे अपनी अवैध वसूली करने के चक्कर में गरीब हाथगाडी वालों की शिकायत करते है फिर शिकायत वापस लेने के नाम पर गरीबो से भी पैसों की वसूली करते है ! इस तरह के कारनामो की बदौलत ही अब साई पार्टी के इस नगगरसेवक कि हरकतों से पार्टी का भी नाम खराब हो रहा है ! इस बारे में नरेश गायकवाड़ एन सी पी पार्टी के विद्यार्थी सेना के पदाधिकारी ने इस प्रभाग समिति तीन के प्रभाग सभापति के चेयरमैन व उनके पति व बेटे के द्वारा किये जा रहे अवैध धन उगाही मामले में मनपा आयुक्त से लिखीत शिकायत कर कार्यवाई करने की मांग किया है !
    इस विषय पर प्रभाग समिति की चेयरमैन ज्योति चैनानी के पति रमेश चैनानी के मोबाइल पर संपर्क किया गया तो उन्होंने अपने ऊपर व परिवार पर लगाये सारे आरोप को बे बुनियाद बताया और कहा कि कुछ लोग हमारा नाम खराब करने के लिए इस तरह के झूठा आरोप लगा रहे है ऐसा चैनानी ने फोन पर कहा है !
  • भातसा नदी में तैरने गए तीन युवक की पानी में डुबने से हुई मौत !

    By fast headline india →
    भातसा नदी में तैरने गए तीन युवक की पानी में डुबने से हुई मौत ! 

    ठाणे से आये थे पिकनिक मनाने !

    कल्याण-कल्याण तहसील के खडवली के पास भातसा नदी में तैरने गए तीन लोगों की पानी डूबने की वजह से मौत होने का मामला सामने आया है मरने वालों के नाम रोशन कामत, सुरज सिंह और राजेश रयटा है ये तीनो लोग ठाणे के वागले इस्टेट के एकता रहिवासी संघ में रहने वाले थे .
    रबिवार की शाम को कल्याण तहसील खडवली के पास के अचपालीया फार्म हाऊस के पीछे भातसा नदीपर तीन युवक पिकनिक मनाने के लिए आये थे .उन्होंने नदी में तैरने के गए रोशन कामत(३० वर्ष) सुरज उदय सिंह(३० वर्ष), राजेश शेरसींग रयटा(३५ वर्ष) इनको पानी की गहराई का पता नही होने की वजह से तैरने के चक्कर में ज्यादा गहरे पानी में चले गए और वही पर पानी डूबने की वजह से इन तीनो की मौत हो गया ऐसा बताया जा रहा है. इस घटना की जानकारी मिलते ही घटनेबाबत कल्याण तहसील के पुलिस व बचाव पथक घटनास्थल पहुँचे उसके बचाव पथक की टीम ने नदी में डूबे तीन लोगो की तलासी अभियान शुरू किया परन्तु रात होने की वजह से तलासी अभियान को रोकना पड़ा परंतु दूसरे दिन सोमवार की सुबह एक बार फिर से बचाव पथक के द्वारा तलासी अभियान शुरू किया गया काफी देर कड़ी मेहनत के बाद बचाव पथक ने तीनों डूबे युवकों की डेड बॉडी ढूढने में सफलता मिली और तीनों के शरीर को पानी के बाहर निकाल लिया गया और तीनों की डेड बॉडी को पीएम करने के लिए उल्हासनगर के सेंट्रल अस्पताल में भेज दिया गया है आगे की मामले की जांच कल्याण ग्रामीण पुलिस कर रही है. बता दे कि अक्सर लोग मुंबई और थाणे शहर से यहाँ पिकनिक मनाने आते है दारू पीने के बाद लोग नदी में नहाने के लिए जाते ऐसे में इस तरह के हादसे होते इससे पहले भी इस तरह के कई हादसे हुई है लेकिन इस पर रोकथाम लगाने के लिए प्रशासन के द्वारा कोई ठोस कदम अभी तक नही लगाया है यही कारण है कि अभी इस तरह के हादसे का लोग शिकार हो रहे है जब तक कोई ठोस कार्यवाई नही होगी तब तक ऐसे हादसों पर लगाम लग पाना टेडी खीर साबित होगा !
  • शराब के नशे में धुत बेटे ने मां से की रेप की कोशिश पुलिस ने बेटे को किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    शराब के नशे में धुत बेटे ने मां से की रेप की कोशिश पुलिस ने बेटे को किया गिरफ्तार ! 

    उत्तर प्रदेश- उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जिले के आरसी मिशन थाना क्षेत्र के एक गांव में एक शख्स ने अपनी मां के साथ रेप की कोशिश की है. पिता की तहरीर के आधार पर केस दर्ज करके पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है.
    पीड़िता महिला को मेडिकल जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है. नगर पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) सुमित कुमार ने बताया कि आरसी थाना क्षेत्र में रहने वाला युवक केसरी (25) शहर में आइसक्रीम का ठेला लगाकर जीवन यापन करता है. शुक्रवार उसने शराब के नशे में अपनी 46 साल की मां से रेप करने की कोशिश की थी. उसके पिता की तहरीर के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया.और बेटे को गिरफ्तार कर लिया है !
  • भोजपुरी फिल्म की हिरोइन की सड़क हादसे में हुई मौत !

    By fast headline india →
    भोजपुरी फिल्म की हिरोइन की सड़क हादसे में हुई मौत ! 


    उत्तर प्रदेश- बलिया में भोजपुरी फिल्मों की मशहूर एक्ट्रेस मनीषा राय की एक सड़क हादसे में निधन हो जाने की खबर है. ये हादसा उत्तर प्रदेश के बलिया शहर में हुआ. जानकारी के मुताबिक मनीषा शूटिंग के लिए बाइक से मनियार जा रही थीं. इसी दौरान एक कार ने टक्कर मार दी. मनीषा की मौके पर ही मौत हो गई.
    बाइक चला रहे संजीव मिश्रा गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं. घटना शुक्रवार रात 8.30 बजे की है. हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया. मनीषा के शव का पोस्टमार्टम किया गया है.मनीषा राय को भोजपुरी की महशूर शॉर्ट फिल्म 'कोहबर' के लिए याद किया जाता है. इस फिल्म की काफी सराहना हुई थी. इसी टाइटल से फीचर फिल्म भी बनाने की तौयारी थी. रिपोर्ट्स के मुताबिक आज से शूटिंग के दूसरे शेड्यूल की शुरुआत होनी थी. बलिया के ही मनियर गांव में फिल्म की शूटिंग हो रही थी. लेकिन उससे पहले ही ये हादसा हो गया. मनीषा के निधन की खबर मिलने से भोजपुरी सिनेमा जगत स्तब्ध है. कई सितारों ने अपनी संवेदना व्यक्त की है.
  • नाला सफाई अभियान की युद्ध स्तर पर हुई शुरुआत ! महापौर व आयुक्त ने पोकलन की पूजा करके किया शुभारंभ !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में नाला सफाई अभियान की युद्ध स्तर पर हुई शुरुआत !



     उल्हासनगर - उल्हासनगर मनपा की पहली बार जारी हुई निविदा प्रतिसाद मिला नही , जिसके बाद ई-टेंडरिंग के द्वारा फिर निविदा निकाला उसको स्थायी समितीने कल शाम को हरी झंडी दिखाने के बाद यह ठेका दिया गया. जिसके बाद उल्हासनगर में नाला सफाई की युध्द स्तर पर शुरुआत किया गया है जिसमें 4 पोकलन, 2 जेसीबी, 8 डंपर के साथ 10 हजार मजदूरो को काम पर लगाया गया है. 
    महापौर मिना आयलानी, आयुक्त गणेश पाटील इनके हाथों के द्वारा बड़े नाला सफाई के लिए लाए गए पोकलन मशीन की पूजा करके शुरू किया गया है . उस समय पूर्व विधायक कुमार आयलानी,सभागृह नेता जमनादास पुरस्वानी, नगरसेवक डॉ.प्रकाश नाथानी, महेश सुखरामानी, पूर्व नगरसेवक बच्चाराम रुपचंदानी, अशोक ठाकूर, मनपा मुख्य स्वच्छता निरीक्षक विनोद केणे, एकनाथ पवार उपस्थित थे. बता दे कि फरवरी मार्च में बारिस से पहले नाला सफाई की प्रक्रिया निविदा को हाथ में लिया जाता है . परंतु इस बार समय पर निविदा प्रतिसाद मिला नही इस लिए एक बार फिर से ई-टेंडरिंग के द्वारा निविदा मागाया गया . इस बार एक बार फिर से शशांक मिश्रा इनकी शुभम कन्ट्रक्शन कंपनी को नाला सफाई का ठेका मिला है .  शहर में बाढ़ के हालात न बने और पानी जमा नही हो सके इसके लिए वालधुनी नदी सहित 46 बड़े नालो के सफाई का काम हाथ में लिया है. इसके अलावा 10 हजार मजदूरों को छोटे नाले की सफाई करने के लिए लगाया गया है ऐसी जानकारी ठेकेदार शुभम कंपनी के मालिक शशांक मिश्रा ने बताई है . अभी तो साल में तीन बार नाला सफाई किया जाता है इस लिए उल्हासनगर बाढ़ जैसे हालत तो होंगे नही ऐसा विश्वास मुख्य स्वच्छता निरीक्षक विनोद केणे इन्होंने व्यक्त किया है.
  • फाइल चोर नगगरसेवक रामचंदानी को नही मिली कोर्ट से राहत ! दो दिन की फिर मिली पुलिस रिमांड !

    By fast headline india →
     फाइल चोर नगगरसेवक रामचंदानी को नही मिली कोर्ट से राहत ! 

    कोर्ट ने दो दिन के लिए फिर भेजा पुलिस रिमांड पर !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग से फाइल चुराने वाले भाजपा के मनोनीत नगगरसेवक प्रदीप रामचंदानी की मुसीबत कम होने का नाम ही नही ले रही दो बार पुलिस रिमांड के बाद शनिवार को कोर्ट में वापस हाज़िर किया गया जहाँ पर कोर्ट ने फिर से दो दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया है'सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दो बार पुलिस रिमांड देने के बाद भी पुलिस ने चोरी हुई फाइल रिकवरी नही कर पाई है यही कारण है कि कोर्ट तीसरी बार पुलिस रिमांड दिया है अब देखने वाली बात यह है कि पुलिस फाइल रिकवरी कर पाती या नही ?
     गौर तलब हो कि सोसल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हुआ वह 10 मई की शाम 4 बजे के दरम्यान का है उस वीडियो में पहले उमनपा के ठेकेदार शेषांक मिश्रा और जूनियर इंजीनियर जीतू चोयथानी से प्रदीप रामचंदानी डिस्कसन करते हुए दिखाई दे रहे है।उसके बाद जब प्रदीप की जूनियर इंजीनियर ने एक नही सुनी और तीनों लोग कैबिन के बाहर चले गए तब प्रदीप कान में फोन लगाये हुए वापस कैबिन में आता है जब कि वह सिर्फ दिखावे के लिए फोन कान में लगाकर रखा हुआ रहता है ,कान में फोन लगाकर ही वह कपाट से फाईल ढूढ कर निकालता है और घबराए हुए हालात में जब वह कुर्सी पर बैठता है तो मोबाइल टेबल पर रखकर फाईल को शर्ट में छुपाता है।उसके बाद दिखावे के लिए वापस मोबाइल कान में लगाकर निकल जाता है।इस वीडियो ने उफान मचा दिया है परंतु उमनपा का विपक्षीय दल शिवसेना,राकांपा,आरपीआय,कांग्रेस के नेताओ ने अब तक सत्तापक्ष या उनके चोर नगरसेवक के खिलाफ कोई टिपण्णी नही की,ऐसा लग रहा है कि चोर-चोर मौसेरे भाई क्योंकि उमनपा की मलाई सत्ता-विपक्ष दोनो मिल बाटकर अब तक खाते आ रहे है यहां बता दे कि इस घटना के पहले ठेके को लेकर ही रामचंदानी और ठेकेदार सुनील पिम्पले में विवाद हुआ था जिससे नाराज पिम्पले और उनके दो अन्य साथियों ने स्थाई समिति आफिस में रामचंदानी की जमकर पिटाई की थी,जिसकी शिकायत रामचंदानी ने की थी,उसके 6 माह बाद पीडब्लुडी विभाग में ही शिवसेना नगरसेवक सुरेश जाधव ने जमकर पीटा जिसका वीडियो वायरल हुआ था वह मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि फाइल चुराने का मामला प्रदीप रामचंदानी को भारी पड़ गया।
  • बॉबी डार्लिंग के पति को हुई जेल ! 

    By fast headline india →
    बॉबी डार्लिंग के पति को हुई जेल !  


    नई दिल्ली- बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री में गे का रोल कर फेमस होने वाली `बॉबी डार्लिंग` लंबे समय बाद फिर चर्चा में हैं। एक्ट्रेस बॉबी डार्लिंग ने पिछले साल फरवरी में भोपाल के एक बिजनेसमैन रमणिक से शादी की थी। उन्होंने हाल ही में दिल्ली पुलिस में अपने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा, अप्राकृतिक सेक्स और दहेज के लिए जोर जबरदस्ती करने का मामला दर्ज कराया था। 
    साथ ही रमणीक के लिए फांसी की सजा मांगी थी। स्पॉटबॉय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बॉबी के पति पिछले 2 दिन से जेल में हैं। बॉबी ने बताया- दिल्ली पुलिस ने रमणिक को 11 मई को गिरफ्तार किया था। बॉबी ने सेक्स चेंज करवाकर बिजनेसमैन रमणीक शर्मा से फरवरी 2017 में शादी की थी। बता दें कि रमणीक का पहले से ही क्रिमिनल रिकॉर्ड था। जिसके बारे में बॉबी को शादी से पहले बिल्कुल नहीं पता था। बॉबी ने बताया था, `शादी से पहले रणणीक ने खुद को भोपाल के रंग महल सिनेमा का मालिक बताया था। शादी के बाद मुझे पता चला कि वो दो नंबर का काम करता है।` बॉबी ने कहा था कि रमणिक ने मुझे अपने मुंबई वाले फ्लैट में को-ऑनरशिप देने और भोपाल वाले पेंटहाउस में हिस्सा देने के लिए फोर्स किया। उसने शादी के ठीक बाद मेरे पैसे से जबरदस्ती एक SUV कार खरीद ली। अब मेरे पास कुछ भी नहीं बचा है। बॉबी ने बताया था कि उनका पति उनकी बिल्डिंग के गार्ड्स को पैसे देता है ताकि वह बॉबी पर नजर रख सके। आगे बॉबी ने आरोप लगाते हुए कहा था, `रमणीक उसे अक्सर ब्लैकमेल करता रहता था कि अगर उसकी मर्जीसे काम नहीं करेंगी तो वो किसी और लड़की के साथ एक्ट्ररा मैरिटल अफेयर चलाएगा।
  • उल्हासनगर शहर विकास के लिए मुख्यमंत्री ने दिया 350 करोड़ की निधी !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर विकास के लिए मुख्यमंत्री ने दिया 350 करोड़ की निधी !

    महापौर की पहल की बदौलत मिला ये सौगात !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के विकास कार्यो को लेकर भाजपा के पूर्व विधायक व जिला अध्यक्ष कुमार आयलानी और उमपा की महापौर मीना आयलानी उपमहापौर जीवन ईदनांनी भाजपा नेता प्रकाश मखिजा इनके नेतृत्व में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ गुरुवार को एक महत्वपूर्ण बैठक हुआ जिसमें उल्हासनगर शहर के विकास कार्यो पर चर्चा हुआ इस विकाश कार्यो के लिए मुख्यमंत्री ने 350 करोड़ निधी देने का आश्वासन दिया है ! 
    गौरतलब हो कि महापौर मीना आयलानी के द्वारा मुख्यमंत्री को दिए पत्र में शहर के प्रमुख रोड़ का विकाश कराना ,बॅरेक्स को 18 फूट उचाई तक बनाने की मान्यता देना,बोट क्लब को विकसित करने का,उल्हासनगर महानगरपालिका में रिक्त पदों पर अधिकारी की पोस्टिंग करना, कल्याण अंबरनाथ रोड में बाधित लोगो को पर्यायी जागह उपलब्ध कराना,सरकारी जगह मनपा को हस्तारंण करना,उमपा की खुद की पानी की योजना पर कार्य करने के लिए निधी,डम्पिंग ग्राउंड, व 4000 से 5000 चौ मी तक क्लटर योजना, गार्डन के सुंदरी करण के निधी,अमृत योजना दो में निधी को मंजुरी देना,जी पी एस मॅपिंग टॅक्स सर्वे ,एवं कब्रस्तान के लिये संयुक्त मिटींग करने का आदेश नगरविकास के विभाग को इस वक्त दिया जाय इत्यादि महत्वपुर्ण विषय पर चर्चा की गयी और इसका लिखित पत्र भी मुख्यमंत्री को दिया गया ! मुख्यमंत्री ने सारे विकाश कार्यो को करने के लिए 350 करोड़ की निधी देने की मंजूरी देने को कहा है ! इस मीटिंग में भाजपा के पूर्व विधायक व जिला अध्यक्ष कुमार आयलानी और उमपा की महापौर मीना आयलानी उपमहापौर जीवन ईदनांनी भाजपा नेता प्रकाश मखिजा इनके के अलावा उमपाके आयुक्त गणेश पाटिल , उपायुक्त सन्तोष देयरकर एवं नगरविकास विभाग के अधिकारी ,एम एम आर डी ए के अधिकारी,महाराष्ट्र प्रदूषण विभाग के अधिकारी, ठाणे जिल्हाधिकारी एवं महसूल विभाग अधिकारियो की मौजूदगी में यह निर्णय मुख्यमंत्री के द्वारा लिया गया है ! महापौर के प्रयासों लगता है शहर विकाश की राहों पर जल्द ही अग्रसर होगा !
  • उल्हासनगर में भारत पेट्रोल पम्प कर्मियों की गुंडागर्दी पेट्रोल चोरी की शिकायत कर्ता को आफिस में बंद करके पीटा !

    By fast headline india →
    पेट्रोल पम्प पर पेट्रोल चोरी का मामला उजागर करनेवाले मोटरसाइकिल चालक को पम्प के ऑफिस बंद कर स्टाफ कर्मियों ने पीटा !

     पुलिस ने पेट्रोल पम्प के चार स्टाफ कर्मियों के विरुद्ध दर्ज किया मामला ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर चार नम्बर में श्रीराम चौक पर स्थित भारत पेट्रोल पम्प पर पेट्रोल चोरी की शिकायत करना एक मोटरसाइकिल सवार को  पड़ा महंगा। मोटरसायकल सवार ने जब मामला स्टाफ के सामने उठाया तो उन्होंने मोटरसाइकिल सवार की न सिर्फ पिटाई की बल्कि अपने आफिस में जबरदस्ती बिठाकर रखा और वह भी उसकी भरपूर पिटाई की। इस मारपीट में घायल पीड़ित धर्मेंद्र गुप्ता (40) फिलहाल शिवनेरी हॉस्पिटल में भर्ती है जहां उनका इलाज चल रहा है। वही धर्मेंद्र की शिकायत पर फिलहाल विठ्ठलवाड़ी पुलिस ने 4 स्टाफ के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और उनमे से एक आरोपी को अपनी हिरासत में लिया है जबकि तीन लोग अब भी फरार है। 
    मिली जानकारी के अनुसार धर्मेंद्र बुधवार देर रात पेट्रोल पम्प पर पेट्रोल भरने गए थे जहाँ पर स्टाफ से उन्होंने 120 रुपये का पेटोल भरने की मांग की जिसपर स्टाफ ने जो कि पहले ही किसी को 60 रुपये का यूनिट का पेट्रोल दे चुका था वहां उसने 00 यूनिट न करते हुए पेट्रोल वापस भरना शुरू किया और 120 यूनिट पर जाने पर पेट्रोल भरना रोक दिया इसपर आपत्ति जताते हुए पेट्रोल पंप स्टाफ से बाकी के 60 रुपये के पेट्रोल भरने की मांग की जिसमे स्टाफ उससे बहस करने लगे। मामला इतना बढ़ गया कि स्टाफ ने धर्मेंद्र को साइड में बुलाकारउससे मारपीट शुरू कर दी और उसे एक केबिन में ले जाकर 3 से 4 लोगो ने पीटना शुरू कर दिया जिसमे उसके नाक से खून भी निकल आया। जब धर्मेंद्र ने इस मामले की शिकायत पुलिस से करने की बात कही तो आरोपियों ने अपनी पहचान पुलिस तक मे होने की बात कहते हुए उसे भगा दिया। इसके पहले भी श्रीराम चोक पर स्थित यह पेट्रोल पंप विवाद में राह चुका है। इस पेट्रोल पंप पर दो बार पेट्रोल चोरी का मामला भी दर्ज हो चुका है। फिलहाल भारत पेट्रोल पंप के स्टाफ की बढ़ती दादागिरी से परेशान लोग सरकार से इस पम्प को बंद कराने की मांग कर रहे है।
  • फाइल चोर नगरसेवक रामचंदानी पर लगा कल्याण मनपा से भी फाइल चुराने आरोप ! नही मिली कोर्ट से राहत 19 तक पुलिस रिमांड बढ़ी !

    By fast headline india →
    फाइल चोर नगरसेवक का एक और नायाब कारनामा ! 

    कल्याण मनपा से भी फाइल चुराने का लगा आरोप ! 



    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका से फाइल चुराने के आरोप में गिरफ्तार चोर भाजपा मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी का एक और नया कारनामा सामने आया है कल्याण मनपा से भी एक फाइल गायब करने का आरोप लगा है अटाली परिसर में गटर और पगडण्डी बनाने के लिए 10 लाख की निधि से काम करने का ठेका रामचंदानी कंपनी को मिला था परंतु एक साल होने के बावजूद उक्त काम समय पर पूरा नही हुआ अब उस काम की फ़ाइल ही कल्याण मनपा से गयाब होने का सनसनी खेज मामला सामने आया है . 
    गौरतलब हो कि उल्हासनगर महानगर पालिका के अलावा प्रदीप रामचंदानी कल्याण ,डोम्बिवली मनपा के ठेके लेते है निधि लेलेते है काम आधा अधूरा ही छोड़ देते है इसी कार्य पद्धति ही ऐसी है जब काम पूरा करने की बात अधिकारी करते है तो उनको डराने के लिये राज्य में भाजपा की सत्ता है तेरी बदली करवा दूंगा ऐसा दम डटी देता है जिसके चलते प्रशासन भी इसके कारनामो पर पर्दा डालती है परंतु उल्हासनगर मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग में फाइल चुराते हुए सीसीटीवी कैमरे में दिखाई देने के बाद पुलिस ने मनपा के अधिकारियों की शिकायत के बाद इसको गिरफ्तार किया उसके बाद से ही रामचंदानी के परिवार की विवादित चीजे बाहर आने लगी है एम रामचंदानी दत्तात्रय मंजूर कामगार संघटना वाणी देवी नामक कंपनियों से रामचंदानी परिवार उल्हासनगर और कल्याण मनपा में भी कम पैसो पर टेंडर उठाने का करते है 2017 -2018 के बजट में नगरसेवक गोरखनाथ जाधव अम्बिवाली गॉव प्रभाग के एरिये में गटर और पगडण्डी बनाने का 10 लाख रुपये की निधि से ठेका दिया था परंतु काम आधा अधूरा छोड़ कर ही निकल लिया अब इसी काम की फ़ाइल जिसका टेंडर नो 52 था वह कल्याण मनपा से गायब है इस विषय पर शिवसेना नगरसेवक गोरखनाथ जाधव ने कल्याण मनपा को फाइल गायब होने की लिखित शिकायत देकर जाँच कर करवाई करने की मांग की है उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि रामचंदानी ऐसे ही आधे अधूरे काम करके पूरा बिल निकलवा लेता है और बाद में उस काम की फाइल भी गायब करलेता है ताकि उसका रिकॉर्ड ही किसी को न मिले इसलिये जरूरी है कि कल्याण मनपा के क्षेत्र में रामचंदानी द्वारा किये गए सभी कामो की निपक्ष जांच हो ऐसा अपने पत्र में शिवसेना नगरसेवक ने लिखा है वहीं बता दे कि उल्हासनगर मध्यवर्ती पुलिस के द्वारा बुधवार की दोपहर तीन बजे भाजपा के चोर नगरसेवक को चोपड़ा कोर्ट में पेश किया जहाँ पर मामले की सुनाइए करनेवाले न्यायधीश ने पुलिस रिमांड को बढ़ाते हुए 19 मई तक कर दिया है.
  • 50 हजार की रिश्वत मांगने के मामले उमपा की अतिरिक्त आयुक्त विजया कंठे के विरुद्ध दर्ज हुआ मामला !

    By fast headline india →
    50 हजार की रिश्वत मांगने के मामले उमपा की अतिरिक्त आयुक्त विजया कंठे के विरुद्ध  दर्ज हुआ मामला  !

     न्यायालय के आदेश के बाद पुलिस में दर्ज हुआ मामला ! 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगर पालिका की हद में एक ब्यक्ति के घर के सामने से रस्ता बनाने के लिए मांग किया  था जिसमें उसके घर के रास्ते में बने अबैध निर्माण पर  तोडू कार्यवाई  करने के लिए उल्हासनगर महानगर पालिका तत्कालीन महिला उपायुक्त के द्वारा 50 हजार रुपये की रिश्वत की मांग किया था . जिसका वीडियो भी शोसल मीडिया पर वायरल भी हुआ था !
    इसी मामले सामने वाले ब्यक्ति ने न्याय पाने के लिए न्यायालय की शरण लिया न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई करने के बाद आदेश दिया मामला दर्ज करने का उसी आदेश के उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस ठाणे में महिला अधिकारी के विरुद्ध मामला दर्ज किया है ! पुलिस दर्ज शिकायत के अनुसार राजू भागवत झनकर इन्होंने अपने घर के सामने रस्ता बनाने के लिए उसमें अड़चन बने अवैध निर्माण पर कार्यवाई करके रस्ता बनाने के लिए महानगर पालिका में अर्जी किया था उसी अर्जी सुनवाई थी उस दरम्यान अवैध निर्माण होने वाली कार्यवाई की प्रत सुनवाई में देने के लिए शिकायत कर्ता ने उल्हासनगर महानगर पालिका की तत्कालीन उप आयुक्त विजया कंठे इनके आफिस में गए थे उस समय उनसे 50 हजार रुपये रिश्वत की मांग किया था . जिसके बाद यह मामला न्यायालय में पहुँच गया उसी की मामले में न्यायालय के आदेश के बाद उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस स्टेशन में यह मामला भ्रष्टाचार प्रतिबंध अधिनियम १९८८ और कलम ७,१३,१५ के आधार पर मामला दर्ज किया है. इस मामले की आगे जांच पुलिस उपनिरीक्षक संजय साडीगले कर रहे है .
  • सजा भुगत रहे कैदियों को जेल से अब जल्द नही मिलेगी छुट्टी !

    By fast headline india →
    सजा भुगत रहे कैदियों को जेल से अब जल्द नही मिलेगी छुट्टी ! 

     अपराधों पर नकेल लगाने के लिए बदली नीति ! 

     21 अपराधों पर पेरोल-फरलो कठिन किया गया !

     मुंबई-मुंबई में गंभीर अपराधों में वृद्धि होने और उन पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने अपराधियों को जेल में बंद रहते हुए थोड़ी-थोड़ी अवधि के लिए अपने घर-परिवार के पास भेजने की नीति को अब और कठोर करने का मन बनाया है। कानून की भाषा में इसे को पेरोल और फरलो कहा जाता है या थोड़े दिन की छुट्टी। सरकार मान रही है कि जिन अपराधियों को हत्या, बलात्कार जैसे जघन्य अपराधों के लिए जेल में भेजा गया है, उन्हें बहुत जटिल स्थितियों में ही पेरोल या फरलो दिया जाए।
    इसी तरह नशीले पदार्थों की तस्करी, अबोध बच्चों के साथ यौन संबंधी अपराध करने को भी इसी श्रेणी में रखने को कहा गया है। हालांकि 2016 में सरकार की यह नीति काफी कठिन थी, लेकिन 2017 में इसे उदार बनाया गया था। सरकार की नीति बदलती रही है। पेरोल-फरलो के दुरुपयोग को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है। गौरतलब है कि ऐडवोकेट पल्लवी पुरकायस्था का हत्यारा वॉचमैन सज्जाद मोगल था, जो काश्मीर का रहने वाला था। जेल से कुछ दिन का पेरोल पाकर वह दोबारा जेल में आया ही नहीं। मुंबई पुलिस उसे काश्मीर से पकड़ कर लाई थी। अभिनेता संजय दत्त के पेरोल-फरलो पर भी काफी विवाद हुआ था। नियम में क्या - नए महाराष्ट्र प्रिजंस (मुंबई फरलो ऐंड पेरोल) संशोधित नियम 2018 के अनुसार, कैदियों की 21 श्रेणियां बनाई हैं , जिनमें कैदी फरलो के हकदार नहीं होंगे - इनमें जेल में हिंसा जैसे मारपीट, दंगा करना, विद्रोह, नशीले पदार्थों की तस्करी, रेप करने की कोशिश के साथ हत्या - आजीवन कारावास, आतंकी घटनाओं में लिप्त कैदी, सरकार के विरुद्ध विद्रोह, फिरौती के लिए अपहरण - अवयस्कों के साथ यौनाचार और मानव तस्करी जैसे अपराधों को भी इसी श्रेणी में रखा गया है
  • फाइल चोर नगरसेवक की जल्द होगी भाजपा से हकालपट्टी -श्वेता शालिनी

    By fast headline india →
    फाइल चोर नगरसेवक की जल्द होगी भाजपा से हकालपट्टी -श्वेता शालिनी

    उल्हासनगर महानगर पालिका के मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी का सफेदपोश चेहरा तब शहर वाशियो के सामने आया जब सोसल मीडिया पर उनके द्वारा यूएमसी पीडब्ल्यूडी विभाग के कपाट से फाईल चुराने का वीडियो वायरल हुआ।सफेदपोश नकाब की आड़ में की गई इतनी बड़ी घिनौनी हरकत से भाजपा पार्टी की साफ सुधरी छबि को धूमिल करने का काम किया है वही जब इस मामले पर तेज तर्रार प्रवक्तता श्वेता शालिनी से मोबाईल पर बात किया गया तो उन्होंने बड़े साफ शब्दों कहा कि बीजेपी पार्टी कभी भी  किसी भी गलत बातों का समर्थन नही करती है रही बात मनोनीत नगरसेवक जो मामला सामने आया है तो पार्टी ऐसे चोर लोगो के खिलाफ शक्त से शक्त कार्यवाई करेगी!और जल्द ही कार्यवाई का ऐलान उल्हासनगर शहर के जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी के द्वारा होगा ऐसा श्वेता शालिनी कहा है !
     गौर तलब हो कि सोसल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हुआ वह 10 मई की शाम 4 बजे के दरम्यान का है उस वीडियो में पहले उमनपा के ठेकेदार शेषांक मिश्रा और जूनियर इंजीनियर जीतू चोयथानी से प्रदीप रामचंदानी डिस्कसन करते हुए दिखाई दे रहे है।उसके बाद जब प्रदीप की जूनियर इंजीनियर ने एक नही सुनी और तीनों लोग कैबिन के बाहर चले गए तब प्रदीप कान में फोन लगाये हुए वापस कैबिन में आता है जब कि वह सिर्फ दिखावे के लिए फोन कान में लगाकर रखा हुआ रहता है ,कान में फोन लगाकर ही वह कपाट से फाईल ढूढ कर निकालता है और घबराए हुए हालात में जब वह कुर्सी पर बैठता है तो मोबाइल टेबल पर रखकर फाईल को शर्ट में छुपाता है।उसके बाद दिखावे के लिए वापस मोबाइल कान में लगाकर निकल जाता है।इस वीडियो ने उफान मचा दिया है परंतु उमनपा का विपक्षीय दल शिवसेना,राकांपा,आरपीआय,कांग्रेस के नेताओ ने अब तक सत्तापक्ष या उनके चोर नगरसेवक के खिलाफ कोई टिपण्णी नही की,ऐसा लग रहा है कि चोर-चोर मौसेरे भाई क्योंकि उमनपा की मलाई सत्ता-विपक्ष दोनो मिल बाटकर अब तक खाते आ रहे है यहां बता दे कि इस घटना के पहले ठेके को लेकर ही रामचंदानी और ठेकेदार सुनील पिम्पले में विवाद हुआ था जिससे नाराज पिम्पले और उनके दो अन्य साथियों ने स्थाई समिति आफिस में रामचंदानी की जमकर पिटाई की थी,जिसकी शिकायत रामचंदानी ने की थी,उसके 6 माह बाद पीडब्लुडी विभाग में ही शिवसेना नगरसेवक सुरेश जाधव ने जमकर पीटा जिसका वीडियो वायरल हुआ था वह मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि फाइल चुराने का मामला प्रदीप रामचंदानी को भारी पड़ गया।प्रदीप रामचंदानी पर शिकायत दर्ज न हो इसलिए स्थाई समिति के सुपर सभापती ने राज्य मंत्री रविन्द्र चौहान के पीए मिश्रा को बारबार फोन कर चौहान साहेब का फोन आयुक्त को करवाने के लिए दबाव बना रहे थे।राज्य मंत्री चौहान का फोन आने के बावजूद आयुक्त गणेश पाटिल ने एक नही सुनी और शहर अभियंता शीतलानी को शिकायत दर्ज करवाने का आदेश दिया।उमनपा में दबाव फेल होता देख भाजपा के नेता सेंट्रल पुलिस को मैनेज करने की फिराक में जुट गए जिसकी भनक जैसे ही डीसीपी अंकित गोयल को लगी वैसे ही खुद डीसीपी सेंट्रल पुलिस स्टेशन पहुच गए और फौजदारी मुकदमा दर्ज होने और रामचंदानी की गिरफ्तारी तक वही बैठे रहे नतीजतन भाजपा के नेताओ का मंसूबा फेल हो गया।गिरफ्तार नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी को 16 मई तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश न्यायालय ने दिया है। वही इस मुद्दे पर जब भाजपा के उल्हासनगर शहर अध्यक्ष कुमार आयलानी बात किया तो वो स्पष्ट उत्तर देने की बजाय टाल मटोल करते दिखाई दिए इससे इतना तो समझ में आ रहा है कि कहि न कही नीचे लेवल के पदा अधिकारी इस चोर पर कार्यवाई के पक्षधर नही है ऐसा लगता है !
  • उमपा फाइल चोर नगरसेवक का एक और नायाब कारनामा हुआ उजागर ! सरकारी जमीन के फर्जी कागजात बनाकर जमीन बेचने का लगा आरोप !

    By fast headline india →
    उमपा फाइल चोर नगरसेवक का एक और नायाब कारनामा हुआ उजागर ! 

    सरकारी जमीन के फर्जी कागजात बनाकर जमीन बेचने का लगा आरोप ! 

    आर टी आई कार्यकर्ता ने 2017 में सेंट्रल पुलिस स्टेशन में दी है लिखित शिकायत ! 

    भाजपा के एक कद्दावर नेता की बदौलत पुलिस नही की अब तक कार्यवाई ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के सार्वजनिक बांधकाम विभाग से फाइल चोरी के मामले पकड़े गए मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी का एक और नायाब कारनामा सामने आया है ! एक सरकारी जमीन का फर्जी पेपर बनाकर बेचने का मामला सामने आया है ! 

    बता दे कि यह पूरा मामला एक आर टी आई कार्यकर्ता सुशील शुक्ला के द्वारा सामने लाया गया है शुक्ला ने इस विषय की लिखित शिकायत सेंट्रल पुलिस स्टेशन में 4-3-2017 में किया था जो मामला भाजपा के एक कद्दावर नेता ने पुलिस पर दबाव लाकर दबा दिया गया था यही कारण है कि सारे सबूत देने के बाद भी पुलिस ने अभी तक उस मामले में कोई कार्यवाई नही किया है ऐसा शुक्ला ने कही है ! उनके दिए लिखित शिकायत के अनुसार यह मामला तब का जब प्रदीप रामचंदानी नगरसेवक नही थे सिर्फ ठेकेदार था उस समय रामचंदानी को प्रवीण इंटरनेशनल होटल शांतिनगर के बालधुनि नदी का पुल बनाने का ठेका मिला था उसको बनाते समय इनको अपना सामान रखने के लिए जगह की जरूरत थी तो वही बगल एक छोटा सा कचराडंपिग की जगह थी जिसे उस समय इन्हें इनका समान रखने के लिए मनपा ने दिया था इन्होंने उस जगह पर अपना सामान रखने के लिए पतरा लगाया हुआ था परंतु जब पुल का काम समाप्त हो गया तब उस जगह के बेचने का खयाल दिमाग में आया तो जगह का फर्जी पेपर बनाया और 14 जुलाई 2004 में वह जगह चंदा गुप्ता नामक महिला को 2 लाख रुपये में बेच दिया बाद इसी जगह पर दो अवैध गाले बने जिन्हें 26 लाख बेचा गया है ! यह जमीन एक सरकारी भूखंड थी जिसका फर्जी पेपर बना कर उसे बेचा गया जब यह मामले की जानकारी आर टी आई कार्यकर्ता सुशील शुक्ला इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने इस कि पूरी जानकारी पहले आर टी आई के जरिये इकठ्ठा किया फिर सारे सबूत के साथ इसकी लिखित शिकायत सेंट्रल पुलिस स्टेशन में किया जिसकी जांच उस समय पुलिस अधिकारी ने शुरू भी किया था परंतु बाद में भाजपा के एक कद्दावर नेता के दबाव में आकर पुलिस मामले को दबा दिया और अभी तक उस मामले की जांच को पूरा नही किया गया है ! जब चोरी के मामले की जानकारी मीडिया के खबरे से मिली तब उन्होंने यह मामला मीडिया के लोगो को देकर पूरे मामले की विस्तृत जानकारी दी और इस मामले में भी पुलिस से कार्यवाई करने की मांग किया है ! अभी ऐसे कुछ मामले और सामने आ सकते है इस लिए पुलिस को रामचंदानी से अच्छे से पूछताछ करना चाहिए ताकि उसके द्वारा किये गए सारे मामलों का पर्दाफाश हो सके !
  • उमपा के फाइल चोर नगरसेवक रामचंदानी को कोर्ट ने 16 मई तक भेजा पुलिस रिमांड पर !

    By fast headline india →
    उमपा के फाइल चोर नगरसेवक रामचंदानी को कोर्ट ने 16 मई तक भेजा पुलिस रिमांड पर !

    फाइल अभी तक नही हुआ है रिकवरी सूत्र !

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका के सार्वजनिक बांधकाम विभाग के ऑफिस से फाइल चुराने के मामले सार्वजनिक विभाग के इंजीनियर जीतू चोइतानी महेस सितलानी और संदीप जाधव ने सेंट्रल पुलिस स्टेशन में फाइल चोरी होने का मामला दर्ज कराया है इस मामले में पुलिस ने भाजपा के मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी को हिरासत में ले लिया है और चोरी गई फाइल की तलाश में जुट गई है !पुलिस ने रविवार को चोपड़ा कोर्ट में  हाजिर किया जहाँ पर न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई की और चोर नगरसेवक से फाइल रिकवरी करने के लिए 16 मई तक पुलिस रिमांड का आदेश दिया है ! कुछ और चोरी की फाइलों से उठ सकता है पर्दा ?


    उल्हासनगर महानगर पालिका के भाजपा के मनोनित नगरसेवक प्रदीप रामचंदाणी जो मनपा के विवादित नगरसेवक व ठेकेदार हैं, और मनपा में कुछ अलग अलग ठेकेदारी की कंपनीयां भी चलाते है, एक ज़माने से प्रदीप मनपा में ठेकेदारी भी करते है और अभी तो हद ही कर दी है, मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग (PWD) में दिनांक १० मई २०१८ दोपहर तकरीबन एक बजकर पच्चास मिनट पर उन्होंने सरकारी अलमारी को ख़ोलकर एक फ़ाईल चोरी कर एक ऐसी गंदी व शर्मनाक हरकत कैमरे में कैद हुआ है  बता दे कि प्रदीप रामचंदानी के बेटे की नाम पर दो कंपनी है जिसमें दत्त मंजूर कामगार संघटना और एम रामचंदानी जिसके नाम पर अभी तक उमपा से लगभग 100 करोड़ से अधिक रुपये के काम भी किये जा चुके अभी भी करोड़ो के काम इन कंपनियों के नाम लिए ठेके चल भी रहे उसी कंपनी को ठेका दिलाने के उद्देश्य यह फाइल को चोरी किया गया है ऐसा शहर भर में चर्चा है ! वही इस विषय पर उमपा की महापौर मीना कुमार आयलानी ने कहा है कि ऐसे लोग जिनकी वजह से पार्टी का नाम बदनाम होता उनको पार्टी से बाहर निकालने की कार्यवाई होनी चाहिए ऐसी मांग हम पार्टी के वरिष्ठ लोगो से करने वाले है ! सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस रामचंदानी को उनके आफिस पर फाइल ढूढने के लिए लाई थी परंतु अभी तक चोरी हुई फाइल तो नही मिली परंतु आफिस दूसरी ठेर सारी फाइले मिली है जिन्हें पुलिस ने जप्त किया है और आगे पुलिस उनके घर की तलासी लेने की तैयारी में है कभी उनके घर की भी तलासी ली जा सकती है ! सवाल यह है ऐसी कौन सी फाइल थी जिसको चोरी करने की नोबत आई है इस गंभीर विषय को देख़ते हूए मनपा आयुक्त गणेश पाटिल जी को ऐसे चोर व बेईमान नगरसेवक का नगरसेवक पद्द तुरंत रद्द करना चाहिये 
  • उमपा फाइल चोरी प्रकरण मामले में पुलिस ने प्रदीप रामचंदानी को लिया हिरासत में ! ऐसे चोरो को तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए -उमपा महापौर

    By fast headline india →
    उमपा फाइल चोरी प्रकरण मामले में पुलिस ने प्रदीप रामचंदानी को लिया हिरासत में ! 

    ऐसे चोरो को तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए -उमपा महापौर 

     भाजपा मनोनीत नगरसेवक रामचंदानी निकला फाइल चोर !  

     सोशल साइड पर फाइल चोरी करते सी सी टी वी फुटेज का वीडियो हुआ लीक !  

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका के सार्वजनिक बांधकाम विभाग के ऑफिस से फाइल चुराने के मामले सार्वजनिक विभाग के इंजीनियर जीतू चोइतानी महेस सितलानी और संदीप जाधव ने सेंट्रल पुलिस स्टेशन में फाइल चोरी होने का मामला दर्ज कराया है इस मामले में पुलिस ने भाजपा के मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी को हिरासत में ले लिया है और चोरी गई फाइल की तलाश में जुट गई है !
    उल्हासनगर महानगर पालिका के भाजपा के मनोनित नगरसेवक प्रदीप रामचंदाणी जो मनपा के विवादित नगरसेवक व ठेकेदार हैं, और मनपा में कुछ अलग अलग ठेकेदारी की कंपनीयां भी चलाते है, एक ज़माने से प्रदीप मनपा में ठेकेदारी भी करते है और अभी तो हद ही कर दी है, मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग (PWD) में दिनांक १० मई २०१८ दोपहर तकरीबन एक बजकर पच्चास मिनट पर उन्होंने सरकारी अलमारी को ख़ोलकर एक फ़ाईल चोरी कर एक ऐसी गंदी व शर्मनाक हरकत कैमरे में कैद हुआ है  बता दे कि प्रदीप रामचंदानी के बेटे की नाम पर दो कंपनी है जिसमें दत्त मंजूर कामगार संघटना और एम रामचंदानी जिसके नाम पर अभी तक उमपा से लगभग 100 करोड़ से अधिक रुपये के काम भी किये जा चुके अभी भी करोड़ो के काम इन कंपनियों के नाम लिए ठेके चल भी रहे उसी कंपनी को ठेका दिलाने के उद्देश्य यह फाइल को चोरी किया गया है ऐसा शहर भर में चर्चा है ! वही इस विषय पर उमपा की महापौर मीना कुमार आयलानी ने कहा है कि ऐसे लोग जिनकी वजह से पार्टी का नाम बदनाम होता उनको पार्टी से बाहर निकालने की कार्यवाई होनी चाहिए ऐसी मांग हम पार्टी के वरिष्ठ लोगो से करने वाले है ! सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस रामचंदानी को उनके आफिस पर फाइल ढूढने के लिए लाई थी परंतु अभी तक चोरी हुई फाइल तो नही मिली परंतु आफिस दूसरी ठेर सारी फाइले मिली है जिन्हें पुलिस ने जप्त किया है और आगे पुलिस उनके घर की तलासी लेने की तैयारी में है कभी उनके घर की भी तलासी ली जा सकती है ! सवाल यह है ऐसी कौन सी फाइल थी जिसको चोरी करने की नोबत आई है इस गंभीर विषय को देख़ते हूए मनपा आयुक्त गणेश पाटिल जी को ऐसे चोर व बेईमान नगरसेवक का नगरसेवक पद्द तुरंत रद्द करना चाहिये और इसके ख़िलाफ़ एफ़. आइ. आर. दर्ज़ करनी चाहिये व साथ ही साथ इसकी पूरी संपती की ज़ांच लाच लुचपत विभाग से करानी चाहिये ! भाजपा पक्ष में एक कहावत बहुत ही अच्छी व सराहनीय है जिसे पारदर्शिता कहा जाता है, लेकिन अभी इस सी. सी. टी. वी. फ़ुटेज़ को देख़ने के बाद भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलाणी जी द्वारा प्रदीप रामचंदाणी जैसे चोर नगरसेवक को अपने पक्ष से तुरंत बाहर का रास्ता दिख़ाया जाता है या उसे बचाया जाता है, इस गंभीर विषय पर पूरे शहर की नजर बना हुआ है अब सवाल यह है कि इससे पहले ऐसे ही कितनी फाइले चोरी करके अपने बेटे के नाम की कंपनी ए एम रामचंदानी को दिलाया है क्या इसमें मनपा के पी डब्लू डी की किसी कर्मचारी की भी मिली भगत है क्या ? यह पूरा मामला तो जांच होने के बाद ही सामने आयेगा ! इस पूरे मामले पर मनपा प्रशासन क्या करती उस पर पूरे शहरवासियों की नजर टिका हुआ है !
  • भाजपा मनोनीत नगरसेवक रामचंदानी निकला फाइल चोर !

    By fast headline india →

    भाजपा मनोनीत नगरसेवक रामचंदानी निकला फाइल चोर ! 

    सोशल साइड पर फाइल चोरी करते सी सी टी वी फुटेज का वीडियो हुआ लीक !


     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के भाजपा के मनोनित नगरसेवक प्रदीप रामचंदाणी जो मनपा के विवादित नगरसेवक व ठेकेदार हैं, और मनपा में कुछ अलग अलग ठेकेदारी की कंपनीयां भी चलाते है, एक ज़माने से प्रदीप मनपा में ठेकेदारी भी करते है और अभी तो हद ही कर दी है, मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग (PWD) में दिनांक १० मई २०१८ दोपहर तकरीबन एक बजकर पच्चास मिनट पर उन्होंने सरकारी अलमारी को ख़ोलकर एक फ़ाईल चोरी कर एक ऐसी गंदी व शर्मनाक हरकत कैमरे में कैद हुआ है 
    सवाल यह है ऐसी कौन सी फाइल थी जिसको चोरी करने की नोबत आई है इस गंभीर विषय को देख़ते हूए मनपा आयुक्त गणेश पाटिल जी को ऐसे चोर व बेईमान नगरसेवक का नगरसेवक पद्द तुरंत रद्द करना चाहिये और इसके ख़िलाफ़ एफ़. आइ. आर. दर्ज़ करनी चाहिये व साथ ही साथ इसकी पूरी संपती की ज़ांच लाच लुचपत विभाग से करानी चाहिये ! भाजपा पक्ष में एक कहावत बहुत ही अच्छी व सराहनीय है जिसे पारदर्शिता कहा जाता है, लेकिन अभी इस सी. सी. टी. वी. फ़ुटेज़ को देख़ने के बाद भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलाणी जी द्वारा प्रदीप रामचंदाणी जैसे चोर नगरसेवक को अपने पक्ष से तुरंत बाहर का रास्ता दिख़ाया जाता है या उसे बचाया जाता है, इस गंभीर विषय पर पूरे शहर की नजर बना हुआ है अब सवाल यह है कि इससे पहले ऐसे ही कितनी फाइले चोरी करके अपने बेटे के नाम की कंपनी ए एम रामचंदानी को दिलाया है क्या इसमें मनपा के पी डब्लू डी की किसी कर्मचारी की भी मिली भगत है क्या ? यह पूरा मामला तो जांच होने के बाद ही सामने आयेगा ! इस पूरे मामले पर मनपा प्रशासन क्या करती उस पर पूरे शहरवासियों की नजर टिका हुआ है !
  • मुंबई पुलिस के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट हिमांशु राय ने गोली मारकर की खुदकुशी !

    By fast headline india →

    मुंबई पुलिस के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट हिमांशु राय ने गोली मारकर की खुदकुशी !


     मुंबई -मुंबई में आईपीएस ऑफिसर और मुंबई पुलिस के पूर्व ज्वॉईंट कमिश्नर हिमांशु रॉय ने आत्महत्या कर ली। हिमांशु रॉय ने अपनी ही सर्विस रिवॉल्वर से खुद पर गोली चलाकर आत्महत्या कर ली। हिमांशु रॉय 1998 बैच के आईपीएस ऑफिसर थे। वो अतिरिक्त पुलिस महारासंचालक के पद पर भी कार्यरत थे। 
    2013 में आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में उन्हें विंदू दारा सिंह को गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही हिमांशु रॉय ने दाऊद के भाई इकबाल कास्कर के चालक आरिफ की गोलीबारी, पत्रकार जेड किलिंग केस, विजय पलंडे, लैला खान डबल मर्डर केस जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों को हल करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई। पिछले कुछ सालों से, वह कैंसर से पीड़ित थे। प्राथमिक अनुमान यह है कि उन्होने इस बीमारी के कारण आत्महत्या की।
  • महाराष्ट्र में बाल-मृत्यु दर तोड़े पिछले रिकार्ड ! 11 महीने में 13,541 शिशुओं की मौत !

    By fast headline india →
    महाराष्ट्र में बाल-मृत्यु दर तोड़े पिछले रिकार्ड ! 11 महीने में 13,541 शिशुओं की मौत ! 

    मुंबई-मुंबई  महाराष्ट्र में बाल-मृत्यु दर के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। राज्य में 11 महीनों के भीतर 1300 से ज्यादा शिशुओं की मौत हुई है। ये सभी बच्चे एक साल से कम उम्र के थे। इनमें भी एक-तिहाई बच्चों की मृत्यु जन्म के पहले महीने में हो गई थी।  शिशु मृत्यु दर को रोकने के लिए सरकार द्वारा कई तरह के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, बावजूद इसके राज्य में 11 महीनों में 13,000 से अधिक शिशुओं की मौत हुई है। मौत का कारण जानने के लिए 11,532 मामलों की जांच से 22 प्रतिशत मौत का कारण प्री-मैच्योर डिलिवरी और कम वजन होने की बात सामने आई। यह खुलासा हुआ है सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत राज्य परिवार कल्याण विभाग द्वारा दी गई जानकारी में हुआ है। 
     65 प्रतिशत की मौत जन्म के एक महीने में  आरटीआई कार्यकर्ता चेतन कोठारी को मिली जानकारी के अनुसार, अप्रैल 2017 से फरवरी 2018 के बीच 13541 शिशुओं की मौत हुई है। मौत के मुंह में समाने वाले 65 प्रतिशत शिशुओं की मौत जन्म के एक महीने के अंदर ही हो गई। मरने वालों में 54 प्रतिशत लड़के, जबकि 46 प्रतिशत लड़कियां हैं। आरटीआई के जरिए जानकारी निकालने वाले आरटीआई कार्यकर्ता चेतन कोठारी ने कहा कि राज्य में शिशु और बाल मृत्यु दर में बढ़ोतरी हो रही है। इसका मुख्य कारण इसके लिए चलाए जाने वाले कार्यक्रम का लोगों तक न पहुंच पाना है। अभी भी आदिवासी इलाकों में कुपोषण की समस्या और गर्भवती महिलाओं को मिलने वाला पोषित भोजन बड़ी चुनौती है।  गर्भावस्था के दौरान दिक्कत  आंकड़ों के अनुसार, 22 प्रतिशत शिशु की मौत का कारण समय से पहले डिलिवरी और जन्म के दौरान कम वजन रहा। वहीं 7 प्रतिशत बच्चों की मौत का कारण निमोनिया, 12 प्रतिशत का बर्थ ट्रॉमा, 10 प्रतिशत में जन्म से दिल में छेद इत्यादि रहा। जन आरोग्य अभियान के सह समन्वयक डॉ. अभिजीत मोरे ने कहा कि राज्य में गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को मिलने वाली देख-रेख और नियमित जांच जैसी सुविधाओं की कमी है। नैशनल फैमिली हेल्थ सर्वे 4 के अनुसार, राज्य की केवल 32 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं को ही ऐंटीनैटल केयर यानी गर्भवस्था के दौरान मिलने वाली सुविधाओं का लाभ मिला था, जो कि बेहद कम है।  इसके अलावा 2014 से पहले विलेज चाइल्ड डिवेलपमेंट सेंटर नाम से एक प्रोग्राम चलाया जाता था। इसके अंतर्गत जन्म के बाद कम वजन वाले बच्चों को पोषित आहार के लिए पैसे मिलते थे, जिसे मौजूदा सरकार ने 2014 में बंद कर दिया। पहले की तुलना में शिशु मृत्युदर में सुधार हुआ है, हालांकि अभी भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। स्वास्थ्य विभाग से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिशु मृत्यु के पीछे कई कारण हैं। इसे रोकने के लिए तरह-तरह के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। 
  • 21 किलो गांजे के साथ एक रिक्सा चालक को उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    21 किलो गांजे के साथ एक रिक्सा चालक को उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार ! 

    उल्हासनगर स्टेशन के पास व शहाड़ स्टेशन के पास खुलेआम बिकता है गांजा ?


    उल्हासनगर -उल्हासनगर में दो बड़े बैंग से लगभग सव्वा तीन लाख रुपये किमत का गांजा को बेचने आये एक रिक्सा चालक को उल्हासनगर क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है . उसके पास 21 किलो से ज्यादा गांजा जप्त किया है. क्राइम ब्रांच विभाग के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश तरडे इन्होंने ये जानकारी दी है .
    उल्हासनगर के कॅम्प नंबर 4 सुभाष टेकडी परिसर में रहने वाले गणेश शेट्टी नाम के रिक्सा चालक के पास बड़ी मात्रा में गांजा होने की जानकारी मिली थी जिसके बाद वरीष्ठ अधिकारियो के मार्गदर्शन में सहाय्यक पुलिस निरीक्षक युवराज सालगुडे, अशरुद्दीन शेख, श्रीकृष्ण नावले, उपनिरीक्षक गणेश तोरगल, उदय पालांडे, आर.टी.चव्हाण, एस.के.पवार, रमजू सौदागर, महाशब्दे, माळी, जी.के.जंगम, जगदीश कुलकर्णी, जावेद मुलानी, एन.एन.वाघमारे, डी.बी.भोसले इन्होंने गणेश शेट्टी के घर पर छापा मार कर ये माल को जप्त किया है.  घर की तलासी के , दो बड़े बैंग में छुपा कर रखे लगभग 21 किलो से ज्यादा गांजा जिसकी बाजार भाव में आज के हिसाब से कीमत सव्वा तीन लाख रुपये से ज्यादा है. टेकडी परिसर में गांजा बेचने के लिए रखा था ऐसी पूछताछ के दौरान शेट्टी कबूल किया है . 14 मई तक पुलिस को रिमांड पर रहने का आदेश न्यायालय ने दिया है.इतनी बड़ी मात्रा में उल्हासनगर में गांजा जप्त किया गया है इससे इतना तो स्पष्ट हो रहा है उल्हासनगर शहर में इतने बड़े पैमाने युवाओं को नशेड़ी बनाया जाने षडयंत्र हो रहा है क्या? बता दे कि स्थानीय सूत्रों की माने तो उल्हासनगर स्टेशन 1 प्लेटफार्म के बगल की झोपड़पट्टी में खुलेआम गांजा बिकता है उसके अलावा शाहड़ स्टेशन के पास भी कुछ लोग गांजा व दूसरे नसीले पदार्थ बेचते है इस लिए जरूरी है कि पुलिस को इसके जड़ तक जाए ताकि यह पूरे नशे के कारोबार बंद हो सके और नशे की लत के कारण दूसरे परिवार बर्बाद न हो क्यो जो लोग नशा करते जब उन्हें पैसे नही मिलता तो वही लोग लूटपाट और रात को चोरी भी करते इसी नशा को करने के लिए अब सवाल यह क्या पुलिस इस पूरे रैकेट का पर्दाफाश करके नशे के कारोबार को पूरी तरह से बंद कराएगी क्या ?
  • बलात्कार के आरोपी को एक दिन में पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    बलात्कार के आरोपी को एक दिन में  पुलिस ने किया गिरफ्तार  !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन को एक बड़ी सफलता मिली है पुलिस ने एक ही दिन में बलात्कार के मामले में भूषण अशोक खंडागले (२१) को गिरफ्तार किया है, जहां आरोपी को मा. न्यायालय ने १२ मई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है !
     मिली जानकारी के अनुुसार पीड़िता अपने परिवार के साथ आनंद नगर उल्हासनगर ३ में रहती है, जहां पीड़िता की दोस्ती बगल में रहने वाले अशोक खांडगले से हुई| पीड़िता और अशोक आपस में मिलने लगे, एक दिन अशोक ने पीड़िता को प्यार के लिए प्रपोज किया और उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई| १४/०२/२०१८ वैलेंटाइन डे पर दोनों सिद्धीविनायक मंदिर (दादर) गए, अशोक ने मंदिर मेंं पीड़िता के मांग में सिंदूर भरा और गले में काला धागा बांधकर कहा कि आज से हम पति-पत्नी हैं अशोक ने पीड़िता को यह बात किसी को भी न बताने को कहा और पीड़िता ने भी इस बात को छुपाए रखा अशोक और पीड़िता ने अपने प्रेम संबंध की बात घर में बताई और शादी करने की जिद करने लगे, पर अशोक की मां ने शादी से इंकार किया| अशोक की मां ने पीड़िता की बड़ी बहन को कहा कि अपनी बहन को मेरे बेटे से दूर रखो ये शादी नहीं हो सकती उसके बाद अशोक और पीड़िता ने एक दूसरे से मिलना बंद कर दिया अचानक ७ मई को अशोक ने पीड़िता को फोन किया और कहा कि आज मेरा जन्मदिन है, तुम तैयार होकर मुझसे मिलने आ जाओ अशोक ने पीड़िता को न्यूइरा स्कूल के यहां बुलाया और बाद में पीड़िता को नवीन लॉज में लेकर गया लॉज में ले जाने के बाद अशोक ने पीड़िता को कहा कि मेरे सब दोस्त आ रहे हैं हम मिलकर जन्मदिन मनाएंगे उसके बाद अशोक ने पीड़िता से जबरन बलात्कार किया पीड़िता  वहां से भागकर मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन गई और अपने साथ हुई पूरी आप बीती पुलिस को बताई पुलिस ने आरोपी अशोक के विरुद्ध आइपीसी धारा ३०७, ५०६ के तहत ममला दर्ज किया और आरोपी की तलाश में जुट गई| पीएसआई दीपक भोई को सूचना मिली कि आरोपी अशोक अपने घर में छुपा बैठा है, जहां पीएसआई दीपक भोई और पुलिस नाईक महाजन ने आरोपी अशोक को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया|   
  • ट्रक चोर नगरसेवक निकला करोड़ पती !

    By fast headline india →
    ट्रक चोर नगरसेवक निकला करोड़ पती ! 

    एक साल में चोरी के पांच सौ ट्रक बेचने का पुलिस ने किया पर्दाफाश !

    भिवंडी-भिवंडी एआइऍमआईऍम के नगरसेवक शेख जाफर ने पिछले सालो करीब ५०० ट्रक गुजरात और महाराष्ट्र में बेचकर करोड़ों कि कमाई किया  है!जिसमें से ३६ ट्रक के सुराग भिवंडी पुलिस में लगा लिए हैं जिसमें से २१ ट्रक भिवंडी क्राइम ब्रांच मैं जप्त भी किए हैं प्रत्येक ट्रक जाफर १५  से २५ लाख  रुपए में बेच दिया करता था. 
    पुलिस सूत्रों की माने जाफर एम आई एम के वरिष्ठ नेता के आशीर्वाद से या धंधा करते आया है अब तक ट्रक बेचने के कारोबार से शेख जाफर ने १० करोड रुपए का रिकॉर्ड तोड़ किया है ट्रक को बेचने में उसके नकली दस्तावेज बनाकर शेख जाफर उस्ताद है भिवंडी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए शेख जाफर के अलावा उसके अन्य ३ साथी को भी भिवंडी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. फिलहाल शेख जाफर औरंगाबाद पुलिस के ताबे में है. पिछले कुछ महीनों के दौरान छोटे वाहनों के चोरी के मामले में उसे गिरफ्तार किया गया था. जांच के दौरान उसके पास से १०  हायवा ट्रक के बनावटी कागज बरामद हुए. जांच पड़ताल के दौरान टिटवाला से एक ट्रक चोरी होने की शिकायत पुलिस निरीक्षक शीतल रावत को मिली थी .शीतल रावत को सूत्रों ने बताया कि वैजापुर में शेख जाफर ने अनेक ट्रक बेचे हैं .टिटवाला से गायब हुआ ट्रक वैजापुर के व्यापारी ने इक्विटो फाइनेंस कंपनी की मदद से खरीदा गया है भिवंडी पुलिस ने इक्विटो फाइनेंस कंपनी के अधिकारी से पूछताछ की तो उन्हें यह जानकारी सामने आई है कि इक्विटो फाइनेंस कंपनी ने वैजापुर के व्यापारी को ट्रक खरीदने के लिए देकर जिसका पहला हफ्ता शेख जाफर ने बैंक में जमा किया है जिसके आधार पर शेख जाफर को शुक्रवार के दिन औरंगाबाद से गिरफ्तार किया गया है गिरफ्तारी के दौरान शेख जाफर ने पुलिस को बताया कि वह एआइऍमआईऍम के वरिष्ठ नेता के आशीर्वाद से यह गोरखधंधा करता है