• उमपा फाइल चोरी प्रकरण मामले में पुलिस ने प्रदीप रामचंदानी को लिया हिरासत में ! ऐसे चोरो को तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए -उमपा महापौर

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा फाइल चोरी प्रकरण मामले में पुलिस ने प्रदीप रामचंदानी को लिया हिरासत में ! 

    ऐसे चोरो को तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए -उमपा महापौर 

     भाजपा मनोनीत नगरसेवक रामचंदानी निकला फाइल चोर !  

     सोशल साइड पर फाइल चोरी करते सी सी टी वी फुटेज का वीडियो हुआ लीक !  

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका के सार्वजनिक बांधकाम विभाग के ऑफिस से फाइल चुराने के मामले सार्वजनिक विभाग के इंजीनियर जीतू चोइतानी महेस सितलानी और संदीप जाधव ने सेंट्रल पुलिस स्टेशन में फाइल चोरी होने का मामला दर्ज कराया है इस मामले में पुलिस ने भाजपा के मनोनीत नगरसेवक प्रदीप रामचंदानी को हिरासत में ले लिया है और चोरी गई फाइल की तलाश में जुट गई है !
    उल्हासनगर महानगर पालिका के भाजपा के मनोनित नगरसेवक प्रदीप रामचंदाणी जो मनपा के विवादित नगरसेवक व ठेकेदार हैं, और मनपा में कुछ अलग अलग ठेकेदारी की कंपनीयां भी चलाते है, एक ज़माने से प्रदीप मनपा में ठेकेदारी भी करते है और अभी तो हद ही कर दी है, मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग (PWD) में दिनांक १० मई २०१८ दोपहर तकरीबन एक बजकर पच्चास मिनट पर उन्होंने सरकारी अलमारी को ख़ोलकर एक फ़ाईल चोरी कर एक ऐसी गंदी व शर्मनाक हरकत कैमरे में कैद हुआ है  बता दे कि प्रदीप रामचंदानी के बेटे की नाम पर दो कंपनी है जिसमें दत्त मंजूर कामगार संघटना और एम रामचंदानी जिसके नाम पर अभी तक उमपा से लगभग 100 करोड़ से अधिक रुपये के काम भी किये जा चुके अभी भी करोड़ो के काम इन कंपनियों के नाम लिए ठेके चल भी रहे उसी कंपनी को ठेका दिलाने के उद्देश्य यह फाइल को चोरी किया गया है ऐसा शहर भर में चर्चा है ! वही इस विषय पर उमपा की महापौर मीना कुमार आयलानी ने कहा है कि ऐसे लोग जिनकी वजह से पार्टी का नाम बदनाम होता उनको पार्टी से बाहर निकालने की कार्यवाई होनी चाहिए ऐसी मांग हम पार्टी के वरिष्ठ लोगो से करने वाले है ! सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस रामचंदानी को उनके आफिस पर फाइल ढूढने के लिए लाई थी परंतु अभी तक चोरी हुई फाइल तो नही मिली परंतु आफिस दूसरी ठेर सारी फाइले मिली है जिन्हें पुलिस ने जप्त किया है और आगे पुलिस उनके घर की तलासी लेने की तैयारी में है कभी उनके घर की भी तलासी ली जा सकती है ! सवाल यह है ऐसी कौन सी फाइल थी जिसको चोरी करने की नोबत आई है इस गंभीर विषय को देख़ते हूए मनपा आयुक्त गणेश पाटिल जी को ऐसे चोर व बेईमान नगरसेवक का नगरसेवक पद्द तुरंत रद्द करना चाहिये और इसके ख़िलाफ़ एफ़. आइ. आर. दर्ज़ करनी चाहिये व साथ ही साथ इसकी पूरी संपती की ज़ांच लाच लुचपत विभाग से करानी चाहिये ! भाजपा पक्ष में एक कहावत बहुत ही अच्छी व सराहनीय है जिसे पारदर्शिता कहा जाता है, लेकिन अभी इस सी. सी. टी. वी. फ़ुटेज़ को देख़ने के बाद भाजपा जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलाणी जी द्वारा प्रदीप रामचंदाणी जैसे चोर नगरसेवक को अपने पक्ष से तुरंत बाहर का रास्ता दिख़ाया जाता है या उसे बचाया जाता है, इस गंभीर विषय पर पूरे शहर की नजर बना हुआ है अब सवाल यह है कि इससे पहले ऐसे ही कितनी फाइले चोरी करके अपने बेटे के नाम की कंपनी ए एम रामचंदानी को दिलाया है क्या इसमें मनपा के पी डब्लू डी की किसी कर्मचारी की भी मिली भगत है क्या ? यह पूरा मामला तो जांच होने के बाद ही सामने आयेगा ! इस पूरे मामले पर मनपा प्रशासन क्या करती उस पर पूरे शहरवासियों की नजर टिका हुआ है !
  • No Comment to " उमपा फाइल चोरी प्रकरण मामले में पुलिस ने प्रदीप रामचंदानी को लिया हिरासत में ! ऐसे चोरो को तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए -उमपा महापौर "