• मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षडयंत्र है मनपा पीआरओ भदाने का खुलासा !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षडयंत्र है मनपा पीआरओ भदाने का खुलासा !

     मेरे ऑफिस के किसी कर्मचारी को मिलाकर रचा गया यह षणयंत्र ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के पीआरओ युवराज भदाने ने आज मनपा के पत्रकार कक्ष में आकर अपने ऊपर लगे सारे आरोप सफाई देते हुए खुलासा किया कि यह मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षणयंत्र किया गया है इसके लिए मेरे विरोधियों ने मेरे आफिस के कर्मचारी को मिलाकर मेरे खिलाफ ये साजिश रची गई है सबको पता है कि मेरे खिलाफ कौन लोग है ऐसा उन्होंने कहा है ! 
    भदाणे आज उल्हासनगर मनपा में आये .तत्कालीन आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर इनके कार्यकाल के समय ही विदेश जाने के लिए छुट्टी मांगी और उन्हें वो छुट्टी मिल गया था .14 तारीख को विदेश जाने से पहले ही उसी शाम को विद्यमान आयुक्त गणेश पाटील इन्होंने सभी अतिरिक्त पदभार ले लिया था जब इसकी जानकारी मिली तब तक मनपा बंद हो गई थी इस लिए फाईल जमा नही कर पाया .कॅबिन की दो चाभी है.एक कॅबिन में थी तो दुसरी मेरे पास रहता है .कॅबिन की तलाशी में मिले महाराष्ट्र शासन के मेरी फोटो लगाकर बने बोगस आयटी कार्ड मिला है .यह हमने नही बनाया किसी ने साजिस के तहत कॅबिनम में रखा था .रही बात फाईल का प्रश्न तो मेरे पास अनेक विभागो का पदभार मिला था उसी विभागों की संबंधित फाइल है इसके अलावा लीगल और मेरी खुद की फाइलें भी जो न्यायालयीन कामकाज के लिए इस्तेमाल होता है .जो ब्लेंक चेक है ये मालमत्ता टैक्स के बकाये दारो की है जिन्होंने अपनी रकम भरी लेकिन अपने चेक वापस नही ले गए वही केबिन में रखे थे किसी के भी चेक का दुरुपयोग नही किया गया है.ऐसा स्पष्ट किया इतना ही नही जो भी मुझे मनपा प्रशासन ने जिम्मेदारी दी उसको मैने पूरी लगन से अंजाम दिया है ऐसे मेरे कार्यो की सराहना करने की बजाय वादग्रस्त की प्रतिमा निर्माण किया जाता है लोगो के सामने मेरे को पावणखिंडीत गाठून बाजीप्रभू देशपांडे करने का दांव खेला जा रहा है ऐसा आरोप युवराज भदाणे इन्होंने पत्रकार कक्ष में आकर पत्रकारों बोलते समय कही है ! 

    गौर तलब हो कि युवराज भदाने हमेशा सुर्खियों में रहे है जैसे कि तत्कालीन आयुक्त निम्बालकर जाते-जाते भदाने को आयुक्त ने विशेष अधिकार दे दिया था इसी दुश्मनी के चलते आज भी एक्टरोंसीटी के आरोप में आयुक्त हाईकोर्ट व कल्याण कोर्ट के चक्कर काट रहे है।परन्तु आयुक्त गणेश पाटिल ने ऐसा नही किया और वो युवराज भदाने को हमेशा दूर रखा।जैसे ही आयुक्त गणेश पाटिल ने भदाने का पदभार वापस लिया वैसे ही भदाने अपने ऑफिस को लॉक करके उसकी चाभी लेकर छुट्टी पर चले गए ।जब इसकी जानकारी उनके प्रतिद्वंददी माने जाने वाले आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी ने भदाने की इस हरकत की शिकायत करते हुए कहा कि भदाने किस अधिकार के तहत आफिस की चाभी लेकर गये।आरोप यह भी था कि कई संदेहास्पद फाइल सहित कई दस्तावेज उनके आफिस में रखे हुए है इस आरोप के बाद शुक्रवार के दिन आयुक्त ने पीआरओ आफिस को सील लगा दिया था जिसे आज आयुक्त गणेश पाटिल ने महापौर,आरपीआय गटनेता भगवान भालेराव व कई अन्य पत्रकारों के समक्ष खोला गया ।आफिस का इन कैमरा पंचनामा किया गया जिसमें 128 विभिन्न विभागों की फाइल,महाराष्ट्र शासन का जारी उपायुक्त (प्रशासन) का आईकार्ड ,18 ब्लैंक चेक व शिक्षण मंडल की फाइल जब्त किया। बता दे कि गुरुवार को मनपा पीआरओ भदाने मनपा सुबह आ गए आने के बाद उन्होंने दोपहर 3 बजे के करीब मनपा के पत्रकार कक्ष में आकर सभी पत्रकारों के समक्ष अपने ऊपर लग रहे आरोप पर एक एक करके सफाई दिया और कहा कि जांच में पूरा मामला साफ हो जाएगा कि हमारे आफिस से मिली कोई भी वस्तु या फाइल गलत तरीके से या चुराकर नही रखा गया है जो भी मिला सबका लिगली जवाब है मेरे पास समय आने पर में इसका जवाब भी दूँगा रही बात चाभी की तो वो मैं नही लेकर गया था ऐसा उन्होंने स्पस्ट कहा है यह पूरा मामला मेरे प्रतिद्वंद्वी नगरसेवक भालेराव के द्वारा रची गई एक राजकीय षणयंत्र है बाकि कुछ नही है जांच के बाद सब के सामने सच आ जायेगा ! ऐसा भदाने ने पत्रकारों से कहा है !
  • No Comment to " मुझे बदनाम व फंसाने के लिए रचा गया एक राजनीतिक षडयंत्र है मनपा पीआरओ भदाने का खुलासा ! "