• मह‍िला ने शिक्षक दोस्त को सबक स‍िखाने के लिए भेजा फर्जी एसीबी अध‍िकारी, पुल‍िस ने क‍िया अरेस्‍ट !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मह‍िला ने शिक्षक दोस्त को सबक स‍िखाने के लिए भेजा फर्जी एसीबी अध‍िकारी, पुल‍िस ने क‍िया अरेस्‍ट ! 

     ठाणे-ठाणे में एक गिरोह खुद को एसीबी (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) का अधिकारी बताकर एक निजी क्लासेस में घुस गया था और क्लासेस को खाली कराने के बाद शिक्षक पर हमला कर दिया था. इस मामले में पुलिस ने पांचों फर्जी एसीबी अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है. इनमे से 4 अंधेरी और 1 घोडबंदर रोड निवासी बताए गए हैं. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में से एक का पीड़ित शिक्षक के साथ संबंध था. आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि शिक्षक का कई लड़कियों के साथ अवैध संबंध हैं. शिक्षक ने कई लड़कियों के साथ छल कर चूका है. ऐसे में इसे सबक सिखाने के लिए यह कदम उठाना पड़ा. 
    मिली जानकारी के अनुसार नौपाडा के वीर सावरकर पथ पर एक्सल कॉमर्स नामक निजी क्लासेस चलता है. इस क्लासेस में  ब्रम्हांड निवासी 39 वर्षीय  एल्विन जेवियर पी. परवेज नामक शिक्षक बीते दिनों छात्रों को पढ़ा रहा था. उसी समय 5 लोगों का एक गिरोह क्लासेस में आया और खुद का परिचय भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों के रूप में दिया. उन्होंने कहा कि हमारे इंचार्ज नीचे गाड़ी में बैठे हुए हैं ऐसे में पूछताछ के लिए उसे साथ नीचे चलना होगा. जबकि शिक्षक ने नीचे उतरने से साफ इंकार कर दिया. इससे भड़के पांचों ने शिक्षक की जमकर पिटाई कर दी. पिटाई करने के बाद पांचों वहां से चले गए. इसके बाद शिक्षक ने पांचों के खिलाफ नौपाडा पुलिस थाने में मामला दर्ज करा दिया था. पूछताछ में शिक्षक को पुलिस ने जानकारी दी थी कि पांचों का उसके साथ किसी तरह का परिचय नहीं है. इसके बाद नौपाडा पुलिस ने जांच शुरू की और जानकारी के आधार पर पांचों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस में दर्ज है धोखाधड़ी का मामला गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अंधेरी निवासी मोहित मदन वर्मा,मनोजकुमार मदन मोहन प्रसाद,मिथिलेश कुशेसर मुखिया, सुरज चांद पवार और घोडबंदर रोड के बालकुम निवासी मयूर शेखर राणे के रूप में हुई है. पुलिस के मुताबिक अंधेरी निवासी चारों आरोपियों के खिलाफ इससे पहले भी थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है. जबकि बालकुम निवासी मयूर का पहले अपहरण हो चूका है. पुलिस का कहना है कि मयूर का इस मामले में किसी तरह का संबंध नहीं है. पूछताछ में मयूर ने बताया है कि उसके महिला दोस्त और शिक्षक का संबंध था. कुछ समय एक बाद उनका यह रिश्ता टूट गया. मयूर ने बताया है कि परवेज का कई और लड़कियों से संबंध थे, उन्हें भी शिक्षक ने इस तरह फंसा कर रिश्ता समाप्त  कर लिया था. ऐसे में उसे सबक सिखाने के लिए इस तरह का कदम उठाना पड़ा था.

    Subjects:

  • No Comment to " मह‍िला ने शिक्षक दोस्त को सबक स‍िखाने के लिए भेजा फर्जी एसीबी अध‍िकारी, पुल‍िस ने क‍िया अरेस्‍ट ! "