• 250 करोड़ का पानी बिल बकाऐ पर बीएमसी हुई रेलवे पर मेहरबान !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    250 करोड़ का पानी बिल बकाऐ पर बीएमसी हुई रेलवे पर मेहरबान ! 

    बीएमसी और रेलवे अधिकारियों की साठगांठ ! 

    दोषी अधिकारियों से दंड की रकम वसूल करने की हुई मांग नागरिकों के पैसे रेलवे पर लुटाने पर उठे सवाल ! 

     मुंबई-मुंबई देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली पहचान सिर्फ ऊंची इमारतें, खूबसूरत समुद्री तट, नाइट लाइफ और मायानगरी ही नहीं हैं। मुंबई की एक पहचान यहां की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों से भी होती है। प्रति-दिन इन लोकल से करोड़ों की संख्या में यात्री सफर करते हैं। इन यात्रियों को मनपा की तरफ से कई सुविधाएं भी दी जाती हैं। इसके बावजदू रेलवे के ऊपर बीएमसी का ढाई सौ करोड़ रुपए पानी बिल बकाया है। बावजदू इसके मुंबई मनपा द्वारा आंख बंद कर रेलवे ब्रिज या फुट ओवर ब्रिज की मरम्मत के लिए हर साल करोड़ों रुपए लुटाए जाने का खुलासा आरटीआई के तहत समीर झवेरी द्वारा मांगी गई जानकारी से हुआ है।
     अभी हाल ही में अंधेरी में रेलवे ब्रिज गिरने से कई लोगों की मौत हो गई थी, तो कई लोग जख्मी हो गए थे। इस घटना के बाद रेलवे और मनपा के बीच ब्रिज की मरम्मत को लेकर विवाद छिड़ गया। इसके साथ ही मुंबई लोकल के ऊपर से गुजरने वाले दर्जनों ब्रिज की मरम्मत को लेकर भी सवाल खड़े हो गए हैं। इसमें सवाल भी उठाए गए कि इन ब्रिजों की मरम्मत रेलवे करे, तो वहीं रेलवे ने इन ब्रिज का काम मनपा की तरफ ढकेल दिया था। इस बीच आरटीआई एक्टिविस्ट समीर झवेरी द्वारा मुंबई मनपा से मंगाई जानकारी में बेहद चौंकाने वाले खुलासे हुए। इसमें बताया गया है कि मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे के ऊपर पिछले कई वर्षों से ढाई सौ करोड़ रुपए पानी बिल बकाया है। इसके बावजूद मनपा प्रति वर्ष रेलवे के ऊपर करोड़ों रुपए लुटा रही है। मुंबई मनपा द्वारा दी गई जानकारी में बताया गया है कि मुंबई मनपा की तरफ से पश्चिम रेलवे और मध्य रेलवे को जलापूर्ति की जाती है। इसके बदले रेलवे द्वारा पैसा दिया जाता है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों से मध्य और पश्चिम रेलवे ने पानी बिल नहीं भरा है। इसमे मध्य रेलवे का 100 करोड़ 84 लाख 38 हजार 873 रुपए है। इसके अलावा प्रति महीना दो प्रतिशत लेट पेमेंट है। वहीं पश्चिम रेलवे पर 136 करोड़ 95 लाख 78 हजार रुपए पानी बिल बकाया है। इसके साथ ही 2 प्रतिशत लेट पेमेंट प्रति महीना अलग से है। यह बिल वसूल करने के लिए मनपा की तरफ से कई बार लेटर भी भेजे गए हैं। इसके बावजदू रेलवे की तरफ से इस पर कोई कदम नहीं उठाया गया। रेलवे पर ढाई सौ करोड़ पानी बिल बाकी होने के बावजदू मनपा रेलवे पर प्रति महीना करोड़ों रुपए लुटाए जा रही है। रेलवे में मुंबई मनपा द्वारा नागरिकों की सुविधा के लिए कई जगहों पर रेलवे ब्रिज बनाए गए हैं और कुछ जगहों पर बनाए जा रहे हैं। इसके लिए रेलवे मनपा से भी इन ब्रिजों के निर्माण के लिए पैसे लेती है। रेलवे द्वारा मांग किए जाने पर प्रति वर्ष मनपा की तरफ से लाखों रुपए दिए गए हैं। पैसा देने के बाद वापस देखा नहीं जाता कि काम हुआ भी है या नहीं। वहीं इसे लेकर नागरिकों द्वारा नाराजगी व्यक्त की जा रही है। उनका कहना है कि अगर रेलवे पर बीएमसी के ढाई सौ करोड़ रुपए बाकी हैं, तो उसी पैसे से ही रेलवे क्यों नहीं काम करती है? मनपा की तिजोरी से क्यों पैसे लुटाए जा रहे हैं? मुंबई मनपा का रेलवे के ऊपर ढाई सौ करोड़ रुपए पानी बिल बाकी है। इसमें मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे दोनों का समावेश है। इसके बावजदू रेलवे द्वारा डिमांड किए जाने पर मुंबई मनपा प्रति वर्ष लाखों रुपऐ मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे को पब्लिक ब्रिज बनाने और मरम्मत करने के लिए दे रही है। अगर रेलवे को जरूरत है तो मुंबई मनपा के उनके ऊपर बकाए पैसे से ही काम करना चाहिए। इसके साथ ही रेलवे के जिन लापरवाह अधिकारियों के कारण यह पैसा नहीं भरा गया, उनके वेतन से यह पैसा वसूल करना चाहिए। समीर झवेरी, रेलवे एक्टिविस्ट मुंबई मनपा को हम टैक्स देते हैं, जिससे कि शहर का विकास हो सके। शहरभर में सड़क पर गड्ढों का अंबार है। इन सड़कों की मरम्मत तो नहीं हो पा रहा है, लेकिन रेलवे पर मेहरबान होकर उन पर पैसे लुटाए जा रहे हैं। रेलवे द्वारा पानी का बिल नहीं भरा गया है, तो उनके पानी कनेक्शन काट देनी चाहिए। मुंबई मनपा के अधिकारी रेलवे पर इतना क्यों मेहरबान हैं, इसकी अब सीबीआई जांच होनी चाहिए। - एड दिलीप इनकर, सामाजिक कार्यकर्ता
  • No Comment to " 250 करोड़ का पानी बिल बकाऐ पर बीएमसी हुई रेलवे पर मेहरबान ! "