• उमपा स्कूल के पोषण आहार में मिला चूहे लेंडी !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा स्कूल के पोषण आहार में मिला चूहे लेंडी ! 

     अस्मिता महिला मंडल बचत गट द्वारा दिया जाता है पोषण आहार ! 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर मनपा के स्कूल क्रमांक 21 में पोषण आहार में सुबह चूहे की लेंडी स्कूल की एक छात्रा जब खा रही थी तभी उसे दिखाई दिया तब बच्चे ने इसकी जानकारी स्कूल के शिक्षक को दिया. इस मामले के सामने आने के बाद स्कूल की प्रधानाचार्य वर्षा खत्री इन्होंने शिक्षण अधिकारी भाऊराव मोहिते इनके पास लिखित पत्र देकर शिकायत देकर खटिया आहार  बच्चों को दिया जा रहा ऐसा पत्र में दिया है .    
      उल्हानगर -3 के हिराघाट परिसर के महानगरपालिका स्कूल क्रमांक 21 जो हिंदी माध्यम का स्कूल है . इस स्कूल में 5 वी , 6 वी , 7 वी के कुल 87 विद्यार्थी शिक्षण ले रहे है . हर दिन की तरह आज सुबह 9. 30 बजे बच्चों की छुट्टी हुई . इसके बाद स्कूल के सभी बच्चों को पोषण आहार के रूप में खिचडी दिया जाता है .सुबह जब बच्चों खाने के लिए पोषण आहार दिया गया तो 5 वी में पढ़ने वाली विद्यार्थी लक्ष्मी सचदेव इसके थाली के खिचड़ी में चूहे लेडी दिखाई दिया और खाने से बदबू भी आने लगा था . जिसके बाद बच्ची ने इसके बारे में स्कूल के शिक्षक और स्कूल के प्रधानाचार्य वर्षा खत्री इनको बताया .इसी बीज इस मामले की जानकारी महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के  मनोज शेलार ,ऍड कल्पेश माने , मनपा के आरोग्य अधिकारी डॉ राजा राजा रिझवानी, मुख्य स्वच्छता निरीक्षक विनोद केणी , एकनाथ पवार ,शिक्षण मंडल के कर्मचारी हेमंत शेजवळ और अनिल जैस्वार इन्होंने घटना स्थल पर पहुचे और पूरे मामले की विस्तृत जानकारी लिया . इसी दरम्यान यह मामला सोशल मीडियावर पर आ गया उस पर लोगो ने अपनी नाराजगी ब्यक्त करते हुए पोषक आहार सप्लाई करने वाले बचत गट के विरुद्ध कठोर कारवाई करने की मांग लोगो के द्वारा किया है .      इस स्कूल के पोषण आहार सप्लाई करने का ठेका अस्मिता महिला मंडल के बचत गट को दिया गया है .इस बचत गट की जांच अभी शुरू किया गया है .स्कूल की प्रधानाचार्य वर्षा खत्री इन्होंने मनपा के शिक्षण मंडल के पास इस विषय में लिखित शिकायत देकर कहा है कि यह जो पोषण आहार बच्चे को दिया जा रहा था वह खटिया अस्तर का था इस लिए इसकी जांच करके कड़ी कार्यवाई करने को कहा है. बच्चे की खिचड़ी का सैम्पल लेकर फूड एंड ड्रग्स विभाग को भेजा जा रहा है वहा से जो रिपोर्ट आएगी उसके अनुसार आगे की कार्यवाई किए जाने की बात शिक्षण मंडल के कर्मचारी ने कही है ! वही अस्मिता महिला गट अध्यक्षा ज्योत्स्ना मालवणकर के पति दिलीप मालवणकर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पिछले 16 सालों से हम स्कूल के पोषण आहार देने का काम कर रहे है,ऐसा कभी नही हुआ अब मेरे साथ इसलिए हो रहा है क्योंकि हम शहर से भ्र्ष्टाचार मुक्त करने की लड़ाई लड़ रहे है इस लिए हमें बदनाम करने के लिए यह सब किया जा रहा है ऐसा उन्होंने कहा है ! बता दे इससे पहले भी उमपा के दूसरे स्कूलों में दिए जा रहे पोषण आहार में कीड़े भी मिल चुके है पहले कार्यवाई की बात कही जाती है बाद में ले देकर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है जब प्रशासन के द्वारा ऐसे लोगो के विरुद्ध कार्यवाई नही किया जाएगा तब तक ये लोग सुधरने वाले नही है और बच्चों को पोषण आहार के नाम पर खटिया सामग्री खिलाती जाती रहेगी इस समय रहते प्रशासन के द्वारा कार्यवाई की जानी चाहिए नही तो बिहार के जैसे यहाँ भी कभी बड़ा हादसा होने के अंदेशे से नाकारा नही जा सकता है ,  
  • No Comment to " उमपा स्कूल के पोषण आहार में मिला चूहे लेंडी ! "