• टीओके की कूटनीति हुई कामयाब पंचम कलानी के महापौर बनने की राह हुई आशान !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    टीओके की कूटनीति हुई कामयाब पंचम कलानी के महापौर बनने की राह हुई आशान ! 

     सभापती चुनाव में सत्ताधारी भाजपा - टीओके - साई पक्ष दिखी एकता ! 

     सभी समिती पर सत्ताधारीयो ने किया कब्जा ! 
     फाइल फोटो

     उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका के नौ विशेष समिती के सभापती चुनाव में आखिरकार सत्ता पक्ष की एक जुटता खुलकर दिखाई दिया और सारी अटकलों को विराम लगाते हुए सत्ताधारी भाजपा- टीओके और साई पक्ष के सभी उम्मीदवार आख़िरकार चुनकर आ गए,इसके पीछे की राजनीति व कूटनीति में इस बार टीओके ने सबको मात देते हुए अपनी मांग मंगवाने में बड़ी सफलता हासिल करते हुए अपना महापौर पद पर कब्जा जमाने में बड़ी कामयाबी की तरफ कदम बढ़ा चुकी और जल्द ही पंचम कलानी की ताजपोशी हो सकती ऐसा मनपा के गलियारों चर्चा हैं, वही इस पर साफ संकेत भाजपा के सभागृह नेता जमनु पुरस्वानी ने पत्रकारो के सवालों के जबाब देते समय स्पष्ट किया है, सत्ताधारी पक्ष के नौ में से सात सभापती बिनविरोध चुने गए है.      
     बता दे कि सार्वजनिक बांधकाम सभापती चुनाव साई पक्ष की कविता पंजाबी इन्होंने शिवसेना उम्मीदवार स्वप्नील बागुल को हराया तो गलिच्छ वस्ती निर्मुलन सभापती चुनाव में साई पक्ष के गजानन शेळके इन्होंने पी आर पी के प्रमोद टाले को हराया .  पाणीपुरवठा व जलनिस्सारण समिती सभापती पद पर भाजपा- टी ओ के की  सरोजिनी मुरलीधर टेकचंदानी इन्हें निरबिरोध चुना गया . यही नही दूसरी समिती के चुनाव में भी विरोधी उम्मीदवार ने अपना नामांकन वापस ले लिया  नियोजन बांधकाम व विकास समिती सभापती पद पर भाजपा की मीना सोंडे , आरोग्य परीक्षण व वैद्यकीय सहायक समिती सभापती पद पर साई पक्ष की  इंदिरा उदासी , माध्यमिक शिक्षण व पूर्व प्राथमिक शिक्षण समिती सभापती पद पर भाजप -टीओके के रवी जग्यासी, क्रीडा समाजकल्याण सांस्कृतिक कार्यक्रम समिती सभापतीपदी भाजपा की  गीता साधवानी , महिला -बालकल्याण समिती सभापती पद भाजपा - टी ओ के की छाया चक्रवर्ती महसूल समिती सभापती पद साई पक्ष की दीप्ती दुधानी ये सभी चुनकर आये है .      मंगलवार के हुए चुनाव में सत्ताधारी भाजपा - टी ओ के - साई पक्ष की एकजूटता दिखाई दिया है . विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लम्बी खींचतान के बाद महापौर पद को लेकर भाजपा और टी ओ के बीच सहमती बन चुकी है और विद्यमान महापौर मीना आयलानी ( भाजपा ) इन्होंने अपना राजीनामा दे दिया है और अगली महापौर पंचम कलानी का बनना तय माना जा रहा है . क्यो नौ समिती के चुनाव से इतना स्पष्ट हो गया है कि सत्ता में आई दरार भरी जा चुकी हैं यही कारण है कि चुनाव में कोई भी क्रॉस ओटिंग नही हुआ है यह इस बात का संकेत अब सब ठीक हो गया है वही इस विषय मे साई पक्ष ने भी इसमें खुलकर कुछ भी कहने से बचते दिखाई दिए है. जबतक महापौर पद पर पंचम कलानी बैठ नही जाती तब तक राजनीति की गहमा गहमी आगे भी देखने को मिल सकता है !
  • No Comment to " टीओके की कूटनीति हुई कामयाब पंचम कलानी के महापौर बनने की राह हुई आशान ! "