• मन्नत के देवता के रूप प्रसिद्ध लालबाग के राजा के भक्तों की भावनाओ से किया जा रहा खिलवाड़ ! आमजनता की इंट्री गेट चिकन सेंटर की दुकान के अंदर से !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मन्नत के देवता के रूप प्रसिद्ध लालबाग के राजा के भक्तों की भावनाओ से किया जा रहा खिलवाड़ !

     आम जनता की लाइन की बप्पा के दर्शन के इंट्री गेट करवाई जा रही गुना चिकन सेंटर की दुकान के अंदर से !

     सच्चे भक्तों ने ब्यक्त की अपनी नाराजगी !

    मुंबई-मुंबई समेत गुरुवार से गणपति भगवान की पूजा का शुभारंभ पूरे देश बड़े ही धूमधाम से शुरू हुआ है, हर जगह भक्त लोग भगवान के दर्शन करने लिए आज से ही पंडालों विराजे बप्पा के दर्शन करने पहुँच रहे है,पूरी दुनिया में मन्नत के देवता के रूप में प्रसिद्ध मुंबई के लालबाग के राजा का पंडाल है यहाँ पर लाखों की संख्या हर साल भक्तगण आकर दर्शन करते यही नही करोड़ो का दान भी करते है,लेकिन इस बार इस मंडल के जरिये एक बड़ी कमी सामने आई है दर असल मामला है आमजनता की लाइन की मंडप में घुसने से पहले एक इंट्री गेट है उस पर बोर्ड लगा है गुना चिकन होलसेल की दुकान इससे जो भक्त की नजर उस बोर्ड पर पड़ता है उसकी भावना को आहत करने काम कर रही है वह दुकान के अंदर से ही इंट्री करने का मार्ग बनाया गया है, हम दर्शन शुद्धता कर रहे है या अशुद्धता से इस वजह से सच्चे भक्तों की यह पीड़ा सामने आई है ! 
    बता दे कि पिछले लंबे समय से पूरी दुनिया प्रसिद्ध मुंबई का यह पंडाल सबसे ज्यादा चढ़ावे व लोगो की हर मनोकामनाओ को पूरा करने वाला इकलौता पंडाल है जहाँ विराजते है लालबाग के राजा इनकी एक झलक पाने के लिए लोग कई घण्टो की लाइन के बाद दर्शन मिलता है, यहां देखने वाली बात यह है कि जो भी भक्त दर्शन करने के लिए घर से आते है वह स्नान करके व नए वस्त्र पहन कर दर्शन करने आते पूरी शुद्धता से यहाँ आकर दर्शन करते है,ऐसे में ऐसे भक्तों को एक ऐसी दुकान से प्रवेश करने की जगह चुना गया जहाँ साल भर मुर्गियों को काट कर बेचा जाता है,जो लोग पूरी तरह से अपने तनमन वस्त्र से शुद्ध होकर दर्शन करने आये है उनका उस बोर्ड पर नजर जाते ही उसकी मनोदशा क्या होगी इडकी पीड़ा सिर्फ एक सच्चा भक्त ही बयान कर सकता है,यहा सवाल यह है कि संस्था के लोगो ने अगर इंट्री गेट चुने तो इन्हें बोर्ड को ढक देना चाहिये ताकि वहा से गुजरने वाले भक्त को यह बता ही नही चलता वह सच्चे मन से बप्पा का दर्शन करता और चला जाता अपने घर परंतु जिन भी भक्त की नजर उस बोर्ड पर पड़ रही है वह अपनी शुद्धता पर मन ही मन सवाल करने को बेबस हो जाता है और उसकी सच्ची भक्ति वहा विस्मित हो रही है सिर्फ एक बोर्ड की वजह से देखा जाय तो कुछ लोगो को यह एक मजाक लगेगा लेकिन जो लोग सच्चे भक्त होते है यह उनके ह्रदय की वेदना है समय रहते इससे मंडल ने सुधार नही इसका परिणाम बप्पा के जरिये उनको कभी किसी रूप में मिल सकता है ऐसा सच्चे भक्तों की भावना ब्यक्त किया है,बहरहाल इस पर मंडल के लोग अपनी गलती को सुधारते है क्या? जिससे सच्चे भक्तों की भावना आहत न हो यह तो आने वाले दिनों में दिखेगा !  हिन्दू त्यौहार का आयोजन करने वालो को ऐसी छोटी चीजो को भी ध्यान में रखना चाहिए क्यो की उनको भी पता होगा जो लोग मंदिर में या भगवान के दर्शन करने आते है वह लोग शुद्धता को लेकर कितने जागरूक रहते है इस लिए ऐसी गलतियों को सामने लाना जरूरी था ! बाकी सबकी अपनी सोच है अपनी समझ है जिसको जो ठीक लगे यह सच्चे भक्तों की वेदना आज देखने में आई इस लिए यह सामने लाने का एक छोड़ा सा प्रयास किया गया है,
  • No Comment to " मन्नत के देवता के रूप प्रसिद्ध लालबाग के राजा के भक्तों की भावनाओ से किया जा रहा खिलवाड़ ! आमजनता की इंट्री गेट चिकन सेंटर की दुकान के अंदर से ! "