• नान सिंधीयो को शहर से निकालने की हो रही राजनीति-संजय सिंह

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    नान सिंधीयो को शहर से निकालने की हो रही राजनीति-संजय सिंह

    सेंच्युरी कंपनी के प्रस्तावित रोड़ के साथ रिंग रोड को भी किया जाय रद्द - भाजप महासचिव व टीओके कार्याध्यक्ष ने किया मांग !  

    उल्हासनगर- उल्हासनगर नियोजित विकास आराखाडा के अनुसार  सेंच्युरी कंपनी के बीच से गुजरने वाले 24 मीटर रोड़ को रद्द करने का प्रस्ताव पर कल होने वाली महासभा इस पर चर्चा करके सर्व सम्मति से पास करके शासन को भेजना है , वही इस रोड़ के साथ शहर की गोरगरीब जनता के घरों को उजाड़ने वांले रिंग रोड को रद्द किए जाने की मांग भाजपा महासचिव संजय सिंग व टीओके कार्याध्यक्ष ने संतोष पांडेय इन्होंने किया है. उन्होंने तो यहाँ तक आरोप किया कि यह नान सिंधीयो को शहर से उजाड़ने की एक सोची समझी रणनीति के तहत सब किया जा रहा है इस लिए सिर्फ सेंचुरी कंपनी के विषय को ही लाया गया रिंग रोड़ का विषय नही लाया गया है ! ऐसा सीधा आरोप संजय सिंह ने किया है
     उल्हासनगर शहर के सुधारित विकास आराखाडा 21 / 4 / 2017 को मंजूर किया गया उसी नए डीपी प्लान में सेंच्युरी कंपनी के बीचों बीच से एक 24 मीटर का रोड़ बनाने का प्रस्ताव पास किया गया है , इस रोड़ की वजह से सेंच्युरी रेयॉन कंपनी की सल्फ्यूरीक ऍसिड एफ्लुएन्ट ट्रीटमेंट प्लांट और सल्फाईड प्लांट पूरी तरह से समाप्त हो जायेगे यही नही रोड़ को सार्वजनिक आवाजाही के लिए इस्तेमाल करने पर बड़ी जीवित व वित्तीय नुकसान होने की संभावनाओ से नकारा नही जा सकता है ऐसा कंपनी ने लिखीत पत्र के जरिये कहि है . इस प्लांट हटाना संभव नही है इस लिए प्रस्तावित रोड़ को रद्द किया जाय ऐसा नही होने से  कंपनी को बंद करना पड़ सकता है इससे 25 हजार कामगार व उनके परिवार को खाने के लाले पड़ने की नोबत आ सकती है . महाराष्ट्र प्रादेशिक व नगररचना अधिनियम 1966 के कलम 37 ( 1 ) के विकास आराखाड़ा में बदल करके इस रोड़ को हटाने की मांग वर्तमान में रही महापौर मीना आयलानी इन्होंने महाराष्ट्र सरकार से विनती किया था. उसके बाद राज्य सरकार ने इस विषय को मनपा की महासभा में सर्व सम्मति से पास करके अपनी राय शासन को भेजने को कहा है ,       कल की महासभा में सेंच्युरी कंपनी के अंदर से गुजरने वाले प्रस्तावित रोड़ को रद्द करने के प्रस्ताव पर चर्चा करके उसे पास या फेल करना है, वही इससे भी गभीर विषय है जो इसी विकास आराखाड़ा के अनुसार जो प्रस्तावित रिंग रोड है इससे भी बहुत सारे लोग बेघर होंगे उसे भी इसी के साथ रद्द करने की मांग भाजपा के महासचिव संजय सिंह इन्होंने करके कल की महासभा की राजनीति को गरम कर दिया है . प्रस्तावित रिंग रोड से धोबी घाट , आझादनगर सम्राट अशोक नगर ,सुभाष टेकडी के साथ शहर के अधिकांश झोपड़पट्टी परिसर इसकी चपेट में आने की वजह से शहर में रहने वाली नान सिंधी लोग बड़े पैमाने पर बेघर हो जायेगे. इसके चलते लाखो गोरगरीब और मध्यमवर्गीय परिवार के आशियाने उजड़ जायेगे और वो रोड़ पर आ जायेंगे.इस लिए इस परिसर के नगरसेवक चाहे वो किसी भी पार्टी के हो वो सब सेंच्युरी रोड़ के साथ रिंग रोड को भी रद्द करो नही तो सब लोग इसका विरोध करेंगे ऐसी जानकारी संजय सिंह ने दिया है. आगे सिंह ने यह भी कहा कि उल्हासनगर शहर से नान सिंधी लोगो को बाहर निकालने की एक सोची समझी राजनीति है इस लिए सेंचुरी कंपनी के रोड़ की रद्द करने की मांग किया गया तो रिंग रोड़ को रद्द करने का विषय को दर किनारा किया गया है , क्यो रिंग रोड़ में बाधित होने वालों में मराठी,उत्तर भारतीय,सिख समुदाय, बोध समाज के लोग,मुस्लिम लोग व इतर बहुभाषिक लोग है इस लिए इस मुद्दे को किनारे रखा गया है क्यो की एक बार कंपनी का मुद्दा हो गया तो रिंग रोड़ बनना तय है फिर गरीबो को बेघर होने से कोई नही बचा पायेगा , इसलिये जरूरी है कि दोनों रोडो को एक साध रद्द करके राज्य सरकार के पास भेजा जाना चाहिय, बहरहाल कल की महासभा में क्या होता सबकी नजर उस पर होगी !
  • 1 comment to ''नान सिंधीयो को शहर से निकालने की हो रही राजनीति-संजय सिंह"

    ADD COMMENT