• किले बंदी के तहत उल्हासनगर के नगरसेवक गोवा और पालघर के रिसोर्ट में हुए नजरबंद !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    किले बंदी के तहत उल्हासनगर के नगरसेवक गोवा और पालघर के रिसोर्ट में हुए नजरबंद !

     महापौर चुनाव के लिए रचा जा रहा है राजनीतिक जुआड का व्यूह योजना ?

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा के महापौर चुनाव के लिए भाजपा और उसके मित्र पक्षो के नगरसेवकों को गोवा के रिसोर्ट में तो शिवसेना व उसके मित्र पक्षों के नगरसेवकों को पालघर स्थित रिसोर्ट में नजरबंद करके रखा गया है। वही से महापौर का ताज अपने उम्मीदवार को पहनाने के राजनीतिक जुआड की ब्यूह योजनाओं को अंजाम देने में दोनों पार्टियां जुटी हुई है !
    २८सितंबर को होने वाले महापौर चुनाव में मुख्य लड़ाई भाजपा-टी ओ के-साई पक् के उम्मीदवार पंचम कालानी और साई पक्ष के बागी उम्मीदवार ज्योति भटिजा के बीच होने वाला है। इस चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस-४,रिपाई-२,कांग्रेस-१,भारिप-१,पी आर पी-१ का मत निर्णायक भूमिका निभाएंगे।इसके कारण बड़े पैमाने पर जोड़-तोड़ की राजनीति होने वाली है।उल्हासनगर मनपा में कुल ७८ नगरसेवक है,जिसमें महापौर पद के चुनाव के लिए ४०मतों की आवश्यकता होगी।भाजपा-टी ओ के के पास ३२ नगरसेवक है और उसके मित्र पक्ष साई पक्ष में फूट पड़ने के कारण १२ में से ५ मत गवांने की आशंका व्यक्त की जा रही है,अगर मत नहीं फूटे तो भी १ मत और मिलने से भाजपा को बहुमत मिल जायेगा।राष्ट्रवादी के ४मत भाजपा को मिल सकते है, ऐसी जानकारी राजकीय सूत्रों द्वारा मिली है।लेकिन सोशल मीडिया पर राष्ट्रवादी कांग्रेस के गट नेता द्वारा साई पक्ष के बागी उम्मीदवार ज्योति भटीजा को मतदान करने का व्हिप जारी करने के बाद यह मैसेज वायरल होने के बाद पंचम कालानी का सिरदर्द बढ़ गया है।अब उनका सारा ध्यान कांग्रेस, रिपाई व भारिप के नगरसेवकों पर है।दूसरी तरफ पालघर के रिसोर्ट से ही ज्योति भटीजा को विजयी करने के लिए शिवसेना रणनीति तैयार कर रही है।शिवसेना के पास २५ नगरसेवक है,साई पक्ष के ५ नगरसेवक को लिया तो इनकी संख्या ३० होगी,राष्ट्रवादी के ४मत जोड़ दे तो इनकी संख्या ३४ हो जाएगी।रिपाई के २मत है लेकिन उनकी भूमिका स्पष्ट नहीं है।इसी प्रकार भारिप, कांग्रेस व पी आर पी किसे मत देते है, यह उनपर अवलंबन है।महापौर पद के चुनाव के लिए भाजपा की तरफ से राज्यमंत्री व रायगढ़ के पालकमंत्री रविंद्र चव्हाण और शिवसेना की तरफ सेसार्वजनिक बांधकाम मंत्री एकनाथ शिंदे ने राजनीतिक मोर्चा संभाला है। अब इसमें कौन किसे मात देता है, यह २८सितंबर को स्पष्ट होगा।
  • No Comment to " किले बंदी के तहत उल्हासनगर के नगरसेवक गोवा और पालघर के रिसोर्ट में हुए नजरबंद ! "