• त्यौहार आते ही एफडीए की नाटकीय कार्यवाई हुई शुरू !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
     त्यौहार आते ही एफडीए की नाटकीय कार्यवाई हुई शुरू !

     बर्फी बनानेवाली 'अवैध' कंपनी पर एफडीए ने मारा छापा छ लाख रुपए का मॉल किया जब्त ! 


    मुंबई- मुंबई में त्योहारों के मद्देनज़र एफडीए द्वारा चालाये जा रहे विशेष अभियान के अंतर्गत हर रोज बड़े पैमाने पर मिलावटखोरों पर कार्रवाई की जा रही है। मिलावटखोरों को निष्क्रिय करने के लिये महाराष्ट्र एफडीए आयुक्त पल्लवी दारडे ने सख्त निर्देश दिया है। जिसके बाद से ही लगातार एफडीए की रेड जारी है। हर साल जैसे ही त्यौहार आते है वैसे ही एफडीए की नाटकीय कार्यवाई शुरू हो जाती है पूरे साल भर नींद में सोते है और ऐसे समय जाकर कर कार्यवाई होती हैं !
    जानकारी के अनुसार जोन -12 के सहायक आयुक्त अजित मैत्रे अपने सह कर्मियों के साथ बोरिवली पूर्व में रेड किया। यह कार्रवाई सह आयुक्त शैलेष आढाव के निर्देशानुसार एफएसओ गायकवाड़ व छीरसागर ने किया। सहायक आयुक्त अजित मैत्रे ने कस्तूरबा रायडोंगरी बोरिवली पूर्व के आशापूरा ट्रेडर्स से बर्फी को लेकर कार्रवाई की। बर्फी जो गुजरात से ट्रांसपोर्ट होकर मुंबई आता था। जो बिना लाइसेंस के बेचा जा रहा था। जिस जगह आशापूरा ट्रेडर्स नाम की कम्पनी संचालित है वह जगह रहीवासी इलाका है। जहां से बिजनेस करना ही अपने आप में गैरकानूनी है। आशापूरा ट्रेडर्स फर्म कम्पनी का बोर्ड भी कम्पनी के बाहर नहीं लगा है। जो साफ साफ दर्शाता है कि कम्पनी एफडीए और पुलिस की आंखों में धूल झोंककर अपना कारोबार करता था और मुनाफा कमाता था। जबकि एक कम्पनी को चलाने के लिये बीएमसी, एफडीए और फ़ायर ब्रिगेड से परमीशन लेना होता है। ताज्जुब को बात है कि आशापूरा ट्रेडर्स के पास कोई भी लाइसेंस नहीं था। एफडीए ने दो फर्म के बर्फी को सीज किया। गुजरात गोल्ड प्रीमियम गोल्ड बर्फी और सिद्धिविनायक स्पेशल बर्फी, दोनों के कुल तीन सौ किलो से ज्यादा जप्त किया जिसकी कीमत छ लाख रुपये बतायी जा रही है। बर्फी का यह माल एक सौ उनतीस बैग जब्त किया गया।
  • No Comment to " त्यौहार आते ही एफडीए की नाटकीय कार्यवाई हुई शुरू ! "